अंडरवायर ब्रा पहनने से होता है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

ब्रेस्ट कैंसर को लेकर महिलाओं के मन में कई तरह के प्रश्न होते है। कई बार सही जानकारी न होने की वजह से मन में शंका बनी रहती है।ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा को लेकर कई अफवाहों के बारे में आपने सुना होगा। इनमें से कई को आप सच भी मानते होंगे। हम स्तन से जुड़ी परेशानियों के बारे में सुनते है और मन में विचार आता है कि कहीं ब्रा, ब्रेस्ट कैंसर का कारण न बन जाए। हो सकता है कि ऐसा आपने भी कई बार सुना होगा। लेकिन ये सच नहीं है। ब्रा पहनने की वजह से स्तन कैंसर नहीं होता है। ये बात सच है कि सही साइज की ब्रा न पहनने की वजह से स्तन में दर्द महसूस हो सकता है। ब्रा चूज करते समय हम इन बातों का ध्यान नहीं रखते है। इस कारण स्तन से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस लेख में हम आपके ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा से जुड़े कई कंफ्यूजन को दूर करने की कोशिश करेंगे…

ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा: क्या है अफवाह ?

ऐसी अफवाहें भी सामने आती रहती हैं कि एंटीपर्सपिरेंट (Antiperspirants) अंडरवायर ब्रा रात में पहनने से स्तन कैंसर हो जाता है। ऐसी अफवाह कई बार पढ़ने को मिल जाती है। तर्क ये दिया जाता है कि एंटीपर्सपिरेंट केमिकल स्किन के माध्यम से अवशोषित होते हैं। जब शरीर में पसीना आता है, तो ये टॉक्सिन्स को बाहर आने से रोक देता है। यही टॉक्सिंस स्तन में इकट्ठा होकर गांठ का रूप ले लेता है। इस तरह ब्रा स्तन कैंसर का कारण बन जाती है।

और पढ़ें: स्तन से जुड़ी हर परेशानी कैंसर नहीं होती

ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा: सच्चाई क्या है ?

सच ये है कि ऊपर दी गई बात का आज तक प्रमाण नहीं मिला है। अभी तक डॉक्टर्स को ऐसा तथ्य नहीं मिला है जिसमें कहा जा सके कि अंडरवायर ब्रा रात को पहनकर सोने से स्तन कैंसर हो जाता है।

यहां तक कि सबसे स्ट्रांगेस्ट एंटीपर्सपिरेंट (Antiperspirants) आर्मपीट में पसीने को अवरुद्ध नहीं करता है। अधिकांश कैंसर पैदा करने वाले पदार्थ किडनी द्वारा हटा दिए जाते हैं और यूरीन के माध्यम से या लिवर द्वारा संसाधित होते हैं। शरीर से विषाक्त पदार्थों को रिलीज करने के लिए पसीना एक महत्वपूर्ण तरीका नहीं है।

ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा: क्या वाकई फर्क नहीं पड़ता है ?

जी हां, इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि आपने ब्रा पहनी या फिर नहीं। महिलाओं में ब्रा पहने या फिर न पहनें इससे ब्रेस्ट कैंसर का कोई लेना-देना नहीं है। साथ ही इस बात से भी फर्क नहीं पड़ता कि महिला ओवरवेट है और बड़े ब्रेस्ट साइज के कारण वो हमेशा ब्रा पहन रही हैं। वजन की बात यहां इसलिए की गई है क्योंकि लोगों में इस बात को लेकर भी भम्र रहता है।

और पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर से डरें नहीं, आसानी से इससे बचा जा सकता है

ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा: कहां से उड़ी थी ये अफवाह ?

इस मिथक को सबसे पहले सिडनी रॉस सिंगर और सोमा ग्रिजमाइजर ने अपनी पुस्तक ‘ड्रेस्ड टू किल: द लिंक बिटवीन ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा’ में उठाया था। स्तन के आकार और स्तन कैंसर के जोखिम की जांच के दौरान उन्होंने ये बात कही थी। उन्होंने   1991 और 1993 के बीच 5,000 महिलाओं पर अध्ययन करने पर पाया कि स्तन कैंसर का जोखिम उन महिलाओं में बढ़ गया है, जिन्होंने अपनी ब्रा प्रति दिन 12 घंटे से अधिक पहनी थी। इस बारे में उन्होंने कई निष्कर्ष भी निकाले थे, जो कि मान्य नहीं है।

और पढ़ें:  ऐसे 5 स्टेज में बढ़ने लगता है ब्रेस्ट कैंसर

ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम कारक, जिन्हें नियंत्रित नहीं किया जा सकता है:

  • 99% ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं को होता है।
  • उम्र के साथ ब्रेस्ट कैंसर के होने की संभावना बढ़ जाती है। लगभग 65% महिलाओं में 55 वर्ष से अधिक उम्र में ब्रेस्ट कैंसर डायग्नोज किया जाता है।
  • 45 वर्ष की आयु के बाद, डार्क स्किन की तुलना में व्हाइट स्किन वाले लोगों को ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना अधिक होती है।
  • कैंसर की फैमिली हिस्ट्री है। कुछ इनहेरेटेड जीन म्यूटेशन होते हैं जो ब्रेस्ट कैंसर के होने का खतरा बढ़ाते हैं। हालांकि ऐसा 5-10 प्रतिशत मामलों में देखने को मिलता है।
  • यदि आपको पहले ब्रेस्ट कैंसर हुआ है तो ये दोबारा हो सकता है, क्योंकि कुछ एब्नॉर्मल ब्रेस्ट सेल्स होते हैं जो इनवेसिव कैंसर के विकास के जोखिम को बढ़ाते हैं।
  • पीरियड्स की शुरुआत (12 साल की उम्र से पहले) होने पर स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • मेनोपॉज देर से (55 साल की उम्र के बाद) शुरू होने से स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

और पढ़ें: रेड मीट बन सकता है ब्रेस्ट कैंसर का कारण, खाने से पहले इन बातों का ख्याल रखना जरूरी

ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम कारक, जिन्हें नियंत्रित किया जा सकता है:

  • जो महिलाएं बच्चे को देर से जन्म देती हैं या बच्चा पैदा ही नहीं करती हैं उन्हें ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। इसके विपरीत, कम उम्र में बच्चा करना और स्तनपान कराने से स्तन कैंसर होने का खतरा कम होता है।
  • जो महिलाएं मेनोपोज के लिए हॉर्मोनल थेरेपी लेती हैं, उनमें स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • अधिक वजन या मोटापे के कारण पोस्टमेनोपॉजल ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • फिजिकल एक्टिव न रहने से भी इसका जोखिम बढ़ जाता है।
  • जो महिलाएं औसतन प्रतिदिन 2 ड्रिंक (एल्कोहॉल ) लेती हैं उनमें भी स्तन कैंसर का जोखिम 21 प्रतिशत ज्यादा होता है।
  • जो महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान डाइथिलसटिलबिसट्रोल (Diethylstilbestrol) (DES) दवा लेती हैं उन्हें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा अधिक होता है।
  • स्मोकिंग और टोबैको का सेवन करने से भी ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम होता है।
  • गर्भनिरोधक दवाओं को लेने से भी स्तन कैंसर के विकास का जोखिम बढ़ सकता है। कुछ अध्ययनों में इस बात की पुष्टी नहीं हुई है वहीं कुछ में ऐसा पाया गया है।

 ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण क्या है ?

ब्रेस्ट में गांठ, स्किन में बदलाव, निप्पल के आकार में बदलाव, स्तन का सख्त होना, स्तन के आस-पास (अंडर आर्म्स) गांठ होना, निप्पल से रक्त या तरल पदार्थ का आना या स्तन में दर्द महसूस होना ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है। ऐसा एल्कोहॉल या सिगरेट का सेवन करना, पहले गर्भ धारण में देरी होना, बच्चों को स्तनपान न करवाना, शरीर का वजन अत्यधिक बढ़ना, बदलती लाइफस्टाइल, गर्भनिरोधक दवाईयों का सेवन करना या जेनेटिकल (परिवार में अगर किसी को ब्रेस्ट कैंसर हुआ हो) कारणों की वजह से भी कैंसर का खतरा बढ़ सकता है।

कैंसर से लड़ना संभव है अगर वक्त पर इलाज शुरू किया जाए। एक्सपर्ट्स का मानना है की ब्रेस्ट कैंसर की स्टेज पर भी निर्भर करता है की पेशेंट को ठीक होने में कितना वक्त लगेगा।

और पढ़ें: Breast Cancer Genetic Testing : ब्रेस्ट कैंसर जेनेटिक टेस्टिंग क्या है?

हमें उम्मीद है आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा से जुड़े कुछ मिथ को दूर करने की कोशिश की गई है। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल है तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। ब्रेस्ट कैंसर और ब्रा से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए बेहतर होगा आप हेल्थ स्पेशलिस्ट से कंसल्ट करें। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Fibrocystic Breast: फाइब्रोसिस्टिक ब्रेस्ट क्या है?

जानिए फाइब्रोसिस्टिक ब्रेस्ट क्या है in hindi, फाइब्रोसिस्टिक ब्रेस्ट के कारण और लक्षण क्या है, fibrocystic breast को ठीक करने के लिए क्या उपचार है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

ब्रेस्ट मिल्क बाथ से शिशु को बचा सकते हैं एक्जिमा, सोरायसिस जैसी बीमारियों से, दूसरे भी हैं फायदे

ब्रेस्टफीडिंग शिशु के लिए फायदेमंद तो है ही वहीं ब्रेस्ट मिल्क बाथ से शिशु को कई प्रकार की बीमारी से बचा सकते हैं। ब्रेस्ट मिल्क बाथ के फायदे जानेंगे इस आर्टिकल में। Breast milk bath क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट कैंसर से हो सकता है खतरा, जानें उपचार के तरीके

प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट कैंसर in Hindi, Pregnancy Me Breast Cancer के कारण,लक्षण, ब्रेस्ट कैंसर का उपचार, ब्रेस्ट कैंसर के लिए टेस्ट। ब्रेस्ट कैंसर

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रेग्नेंसी प्लानिंग, प्रेग्नेंसी फ़रवरी 28, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

प्रेग्नेंसी में कैंसर का बच्चे पर क्या हो सकता है असर? जानिए इसके प्रकार और उपचार का सही समय

प्रेग्नेंसी में कैंसर in Hindi, Pregnancy Me Cancer के लक्षण, कारण, गर्भावस्था के दौरान कैंसर का उपचार, गर्भावस्था में कैंसर का निदान।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रेग्नेंसी प्लानिंग, प्रेग्नेंसी फ़रवरी 26, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ब्रेस्ट कैंसर से जुड़े मिथ, भ्रम में न पड़ें, जानिए क्या है फेक्ट

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
प्रकाशित हुआ अगस्त 6, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
ब्रेस्ट कैंसर टेस्ट -Breast Cancer

जानिए ब्रेस्ट कैंसर के बारे में 10 बुनियादी बातें, जो हर महिला को पता होनी चाहिए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
प्रकाशित हुआ अगस्त 6, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Vertigo : वर्टिगो क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Vertigo : वर्टिगो क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Breast reconstruction, ब्रेस्ट रिकंस्ट्रक्शन

Breast reconstruction: ब्रेस्ट रिकंस्ट्रक्शन क्या है?

के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें