अगर गैस की समस्या से आपको बचना है तो इन फूड्स का सेवन न करें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जनवरी 19, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सुबह-सुबह हम जल्दबाजी में घर का काम खत्म करके कुछ भी हल्का फुल्का खाकर दिन भर के लिए आप घर से बाहर निकल जाते हैं।थककर जब घर लौटते हैं तो उस समय जो बनाना सबसे सरल होता है, वहीं बनाकर हम खा लेते हैं। तो वहीं कुछ लोग खाने के इतने शौकीन होते हैं की थकने के बाद भी वो रात में अपना मनपसंद भोजन ही करना पसंद करते हैं। इसके चलते गैस की समस्या आपको परेशान कर देती है। दरअसल इतनी थकान के बाद आप इतना सोच नहीं पाते हैं की आपके लिए क्या हेल्दी है।

यही आपकी गलती ज्यादातर मामले में आपके गैस की समस्या बनती है। यदि आपको बार-बार गैस की समस्या हो जाती है। लेकिन आप खाने के शौकीन है तो आपको खुद को रोकने की जरुरत है। कई बार आप नही समझ पाते हैं ऐसे में क्या न खाएं। आज इस लेख में आपकी बार-बार होने वाली गैस की समस्या से राहत मिल जाएगा इसके साथ ही आप यह जानेगें की आपको रात में क्या खाने से बचना है।

और पढ़ें – फूड प्वाइजनिंग के लक्षण, कारण और बचाव

रात का खाना क्यों जरुरी होता है?

बहुत से लोगों के मन में ये सवाल आना लाजमी है, की आखिर रात का खाना क्यों इतना जरूरी होता है। आपको शायद पता नहीं होगा लेकिन दुनिया में लगभग 70 हजार लोग अनिद्रा से पीड़ित हैं। दरअसल रात का खाना ही यह तय करता है, की आपको रात में नींद कैसे आएगी, नींद आएगी या नहीं। दरअसल रात में नींद न आने के 2 सबसे प्रमुख कारण हो सकते हैं एक तो कुछ लोगों को अनिद्रा की समस्या होती है दूसरा उनको रोत के खाने का कारण गैस की समस्या हो जाती है।

दिल में जलन के कारण वो ठीक तरीके से नींद नहीं ले पाते हैं। इसीलिए रात को केवल ऐसे खाद्य पदार्थों को चयन करना चाहिए जिनसे आपकी नींद पर प्रभाव न पड़े।जिनको एसीडिटी की समस्या होती है उनको इस बात जरुर गौर करना चाहिए। आखिर गैस की समस्या पर क्या न खाएं?

और पढ़ें – पेट के लिए लाभदायक सेतुबंधासन करने का आसान तरीका, फायदे और सावधानियों के बारे में जानें

गैस की समस्या क्यों होती है?

गैस की समस्या के कई कारण है। लेकिन यदि हम आमतौर पर गैस के बारे में कहे तो सही ढ़ंग से खान-पान न करना, सोने के समय के करीब भोजन करना, हाई डोज की दवा का सेवन करना,अपनी दिनचर्या को सही रुटीन से फॉलो न करने से आपको गैस की समस्या होती है।

कभी-कभी हर रात आपको गैस की समस्या होना गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग का संकेत हो सकता है, लेकिन यह जरुरी नहीं है। बहुत से ऐसे घरेलू उपचार हैं जिनसे आप गैस से छुटकारा पा सकते हैं।आपको यह भी तय करना जरुरी है की गैस की समस्या पर क्या न खाएं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें – पेट दर्द (Stomach pain) के ये लक्षण जो सामान्य नहीं हैं

गैस की समस्या के कारण कब्ज

एक सामान्य वयस्क दिन में 13 से 21 बार गैस पास करते हैं। गैस पाचन प्रक्रिया का एक सामान्य प्रोसेस है। लेकिन अगर गैस आपकी आंतों में बढ़ने लगती है और आप उसे पास नहीं कर पाते हैं तो आपको दर्द और असुविधाजनक महसूस हो सकता है।

गैस कब्ज और दस्त होने पर और अधिक गंभीर हो जाती है। कब्ज में खाना मल के जरिए पास नहीं हो पाता है और आंतों में और अधिक गैस बढ़ने लगती है।

इस स्थिति में गैस से पहले कब्ज का इलाज करना ज्यादा जरूरी हो जाता है। कब्ज से छुटकारा पाने के लिए सबसे बेहतरीन उपाय है डायट में बदलाव करना। कब्ज के कारण होने वाली गैस से छुटकारा पाने के लिए लो-फर्मेंटेबल, ओलिगोसैकेराइड्स, डिसाकेराइड्स, मोनोसैकेराइड्स और पॉलीओल्स (FODMAPs) डायट का पालन करना चाहिए। इसमें शामिल हैं –

  • सेब
  • खुबानी (आड़ू)
  • बींस और दाल
  • लहसुन
  • आइस क्रीम
  • दूध
  • प्याज
  • बेर
  • अनाज

आप इन सभी आहार को धीरे-धीरे अपनी डायट में शामिल कर सकते हैं और यह जान सकते हैं कि किसके कारण आपको गैस की समस्या होने लगती है।

और पढ़ें : दूसरी तिमाही की परेशानी कब्ज, हार्ट बर्न और गैस से राहत पाने के कुछ आसान टिप्स

गैस की समस्या पर क्या न खाएं

आइए जानते हैं गैस की समस्या पर क्या न खाएं जिससे आपको रात में एक अच्छी नींद मिल सके।

तेल मसालेदार भोजन 

गैस की समस्या पर क्या न खाएं में सबसे पहले आता मसालेदार भोजन। जी हां मिर्च और मसालेदार भोजन आपको रात में नहीं खाना चाहिए। गैस  को दूर भगाने का एक अच्छा तरीका है। यदि आप खाने के बाद जल्दी सोना चाहते हैं। तो आपको बिस्तर पर जाने से पहले मसालेदार भोजन खाने से बचना चाहिए। इससे आपको गैस होने की संभावना अधिक होती है।

इसके आलवा हमारी नींद को प्रभावित करने वाले मसालों में से एक तरीका हमारे गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स (जीईआरडी) को ट्रिगर करता है। यदि गैस की समस्या को हटा दें तो भी यह नींद जल्दी न आने का कारण बनता है।, मसालेदार खाद्य पदार्थ शरीर के तापमान को बढ़ाकर नींद को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं।

और पढ़ें – पेट की परेशानियों को दूर करता है पवनमुक्तासन, जानिए इसे करने का तरीका और फायदे

बींस

यदि आप अभी भी यही सोच रहे हैं की,गैस की समस्या पर क्या न खाएं तो उसमें आप बींस का नाम शामिल कर सकते हैं। ये गैस बनाने वाले आहार में आता है। तो रात में इसका सेवन करने से बचे। बीन्स में बहुत सारे रैफ़िनोज़ होते हैं, जो एक जटिल चीनी है जिसे शरीर को पचाने में परेशानी होती है।

रैफिनोज बड़ी आंतों में छोटी आंतों से गुजरता है जहां बैक्टीरिया इसे तोड़ते हैं, हाइड्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड और मीथेन गैस का उत्पादन करते हैं, इसीलिए इसका उपयोग रात में न करें।

और पढ़ें – Indigestion: बदहजमी या अपच क्या है? जानें लक्षण, कारण और उपाय

प्याज

प्याज में फ्रक्टोज नामक एक प्राकृतिक शर्करा होती है। रैफिनोज और सोर्बिटोल की तरह, फ्रुक्टोज गैस में योगदान देता है जब आंतों में बैक्टीरिया इसे तोड़ते हैं। जो आपके शरीर में गैस बनाने का कार्य कर सकता है।

और पढ़ें – उबकाई/डकार (Belching) क्यों आती है?

सोडा 

जिन खाद्य पदार्थों में सोडा की मौजूदगी होती है उन्हें रात में लेने से बचना चाहिए। सोडा रहित कोल्ड ड्रिंक पेट में गैस बनाता हैंं। इनको जल्दी पचाना मुश्किल होता है।कोलड्रिंक्स में एयर होती है जो गैस का कारण बनती है। कोलड्रिंक को मीठा करने के लिए फ्रक्टोज भी मिलाया जाता है। ये भी पचने में मुश्किल होता है और गैस बनाता है। 

डेयरी प्रोडक्ट

डेयरी प्रोडक्ट का रात में  अधिक प्रयोग से आपको रात में गैस की समस्या हो सकती है। जिससे आपकी रात भर की नींद खराब हो सकती है। बादाम का दूध या सोया “डेयरी” उत्पाद, या लैक्टोज युक्त खाद्य पदार्थ खाने से आपको गैस की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें – दूध या अन्य डेयरी प्रोडक्ट डाइजेस्ट नहीं होने के ये कारण भी हो सकते हैं

कैफीन से गैस की समस्या

कैफीन बिस्तर पर जाने से पहले लेने से आपकी पूरी नींद खराब हो सकती है। जब आप पूरी रात सो नहीं पाते हैं तो आपकी सुबह अच्छी नहीं हो पाती है। इस कारण दिन भर आपको गैस और दिल में जलन की शिकायत होती है। कैफीन एक उत्तेजक पदार्थ  है, इसलिए आपको सोने में मदद करने के बजाय, यह आपको जगाए रखता है।

लेकिन यह कुछ लोगों के लिए बेअसर हो जाता है। जिन लोगों को प्रतिदिन यह रात में लेने की आदत है। इसके बाद भी उनको नींद आ जाती है। तो उनको इसकी आदत हो जाती है। उनका शरीर इसके प्रभाव से लड़ने की क्षमता रखता है। इस कारण उन्हे इसके बाद भी नींद आ जाती है।

और पढ़ें – पेट की समस्या से बचने के प्राकृतिक और घरेलू उपाय

फल

गैस की समस्या पर क्या न खाएं इसके नाम पर कुछ भी आपके ,सामने आ सकते हैं जो गैस बनाने का कार्य करते हैं जिसमें सेब, आड़ू, नाशपाती, जैसे फल शामिल है। इन फलों में प्राकृतिक चीनी शराब, सोर्बिटोल होते है जो आसानी से डाइजेस्ट नहीं होते हैं। कई फलों में घुलनशील फाइबर भी होता है, जो एक प्रकार का फाइबर होता है जो पानी में घुल जाता है।

सॉर्बिटोल और घुलनशील फाइबर दोनों को बड़ी आंतों से भी गुजरना चाहिए, जहां बैक्टीरिया हाइड्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड और मीथेन गैस बनाने के लिए उन्हें तोड़ते हैं। इस कारण ये गैस बनाने का कारण बन सकता है।

और पढ़ें – प्रोटीन का पाचन और अवशोषण शरीर में कैसे होता है? जानें प्रोटीन की कमी को दूर करना क्यों है जरूरी

ओट्स से गैस की समस्या

वैसे तो ओट्स बहुत हेल्दी होता है। लेकिन इसमें मौजूद हाई सॉल्यूबल फाइबर कंटेंट आपके गैस बनने का कारण होता है।चाहे आप ओट्स खाएं,ओट्स बिस्कुट यह सभी आपके अंदर गैस बनाने का कारण बनते हैं।गैस की समस्या पर क्या न खाएं इसके जवाब में ओट्स का नाम भी है।

सब्जियां

गोभी, शतावरी और फूलगोभी जैसी कुछ सब्जियों को अतिरिक्त गैस का कारण माना जाता है। फाइबर ज्यादा होने के कारण ही खाद्य पदार्थ गैस बनाते हैं।

और पढ़ें : एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं ये 10 खाद्य पदार्थ, ओट्स से लेकर सोया प्रोड्क्टस तक हैं शामिल

गैस की समस्या होने पर क्या खाएं

आमतौर पर गैस की समस्या आहार से होती है। खाना मुख्य रूप से छोटी आंत में पचता है। अन्य बचा हुआ खाना बैक्टीरिया, फंगी और यीस्ट के साथ कोलन में चला जाता है जो कि पाचन का ही हिस्सा होता है।

ज्यादातर लोगों में आहार में बदलाव लाने से गैस के लक्षणों को कम हो जाता है। गैस का पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका है अपने आहार की लिस्ट बनाना और यह जानना की कौन-सा आहर आपको गैस की समस्या देता है। अपच, कब्ज, दस्त और गैस की समस्या होने पर निम्न आहारों का  सेवन करने से राहत मिलती है –

गैस की परेशानी कई बार दर्दनाक हो सकती है लेकिन यह खतरनाक नहीं होती है। अगर गैस का दर्द या पेट फूलना आपके लिए समस्या है तो अपनी डायट और जीवनशैली में परिवर्तन कर के आप इससे छुटकारा पा सकते हैं। ज्यादातर मामलों में इन दोनों उपायों की मदद से समस्या को पूरी तरह से खत्म किया जा सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जब ब्लोटिंग से पेट की गाड़ी का सिग्नल हो जाए जाम, तो ऐसे दिखाएं हरी झंडी!

कॉन्स्टिपेशन और ब्लोटिंग की तकलीफ से राहत पाने के लिए बिसाकोडिल का करें इस्तेमाल। लैक्सेटिव भी दिला सकता है कब्ज से तुरंत राहत। Constipation and bloating

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
हेल्थ सेंटर्स, स्वस्थ पाचन तंत्र, कब्ज जनवरी 11, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें

सर्दियों में डायजेशन प्रॉब्लम से बचने के लिए अपने खान-पान में शामिल करें ये चीजें, रहें फिट

सर्दियों में पाचन संबंधी समस्याएं बढ़ जाती है, क्योंकि इस मौसम में लोगों का खानपान बदल जाता है। इस मौसम में लोगों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए, जानें डायजेस्टिव हेल्थ इन विंटर के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
हेल्थ सेंटर्स, स्वस्थ पाचन तंत्र जनवरी 8, 2021 . 10 मिनट में पढ़ें

आयुर्वेदिक डिटॉक्स क्या है? जानें डिटॉक्स के लिए अपनी डायट में क्या लें

प्राचीनकाल से चली आ रही आयुर्वेदिक चिकित्सा के चमत्कारी प्रभाव के बारे में सभी जानते हैं। आयुर्वेदिक चिकित्सा कई गंभीर बीमारियों में रामबाण माना जाता है। अगर हम आयुर्वेदिक डिटॉक्स की बात करें, तो इस पद्विति के अंदर शरीर से गंदगी को बहार निकाला जाता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
जड़ी बूटी दिसम्बर 17, 2020 . 11 मिनट में पढ़ें

पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग के हो सकते हैं कई कारण, जानें क्या हैं एक्सपर्ट की राय

क्या आपको पता है कि पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग क्यों होती है, इसके बहुत से कारण हो सकते हैं, जानें क्या कहते हैं इस पर एक्सपर्ट और उनकी राय।

के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन नवम्बर 21, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

कब्ज के कारण वजन बढ़ना : कैसे निपटें इस समस्या से? Constipation and weight gain - कब्ज और वेट गेन

कॉन्स्टिपेशन और बढ़ता वजन, क्या पहली मुसीबत दूसरी का कारण बन सकती है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ जनवरी 18, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें
पीरियड्स और कॉन्स्टिपेशन दोनों से कैसे निपटें - Constipation During Periods

पीरियड्स और कॉन्स्टिपेशन: जैसे अलीबाबा के चालीस चोरों की बारात हो! 

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ जनवरी 18, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें
सर्दियों में पीरियड्स पेन (Periods pain during winter)

सर्दियों में पीरियड्स पेन को कहें बाय और अपनाएं ये उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ जनवरी 16, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें
बिसाकोडिल दिला सकती है कब्ज से राहत

जब कब्ज और एसिडिटी कर ले टीमअप, तो ऐसे जीतें वन डे मैच!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ जनवरी 11, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें