home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स : जानिए किन कंडिशन्स में किया जाता है इन दवाओं का उपयोग

स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स : जानिए किन कंडिशन्स में किया जाता है इन दवाओं का उपयोग

यू.एस. सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल लगभग 610,000 लोग हार्ट डिजीज (Heart disease) से मरते हैं। हृदय रोग के कई कारणों में से एक हाय कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol) है। इसलिए इसे कंट्रोल और मैनेज करने के लिए स्टेटिन (Statin) का उपयोग किया जाता है। स्टेटिन हाय कोलेस्ट्रॉल के इलाज के लिए फर्स्ट-लाइन मेडिसिन है क्योंकि यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (LDL Cholesterol) को कम करने और हार्ट अटैक (Heart attack) को रोकने में इफेक्टिव हैं, लेकिन इन दवाओं के साथ समस्या यह है कि ये सभी पर काम नहीं करती हैं और इनके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं। इसलिए, हो सकता है आपको स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) की जरुरत पड़े। ये स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) क्या हैं? जानिए इस आर्टिकल में।

स्टेटिन्स (Statins) क्या हैं?

स्टेटिन (Statins) प्रिस्क्रिप्शन मेडिसिन्स हैं जिन्हें कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए डिजाइन किया गया है। ये लिवर में कोलेस्ट्रॉल उत्पन्न करने के लिए आवश्यक एंजाइम को रोकने काम करते हैं। उस एंजाइम की मदद के बिना, शरीर आपके द्वारा कंज्यूम किए जाने वाले फैट को कोलेस्ट्रॉल में नहीं बदल सकता है। आपकी आर्टरीज (Arteries) में बहुत अधिक कोलेस्ट्रॉल का सर्कुलेशन खतरनाक है क्योंकि यह प्लाक (Plaque) बनाता है। प्लाक ब्लड सर्कुलेशन में समस्या कर सकता है और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ सकता है। चलिए अब स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स के बारे में जान लेते हैं।

स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) क्या है?

जिन लोगों को स्टेटिन सूट नहीं करती या किसी दूसरी कंडिशन के चलते कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए इन स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) का यूज किया जाता है जो निम्न हैं।

स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स: 1.फायब्रेट्स (Fibrates)

फायब्रेट्स वे दवाएं हैं जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम कर सकती हैं, लेकिन वे मुख्य रूप से उच्च ट्राइग्लिसराइड के लेवल के ट्रीटमेंट के लिए उपयोग की जाती हैं। ट्राइग्लिसराइड्स एक प्रकार का फैट है जो ब्लड में पाया जाता है। जब ट्राइग्लिसराइड का लेवल बहुत अधिक होता है, तो यह हार्ट डिजीज और पैंक्रियाटाइटिस (Pancreatitis) को डेवलप कर सकता है। हालांकि, ये दवाएं एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को 15 से 20 प्रतिशत तक ही कम करने में प्रभावी होती हैं । ये हार्ट अटैक या स्ट्रोक के रिस्क को कम करने के लिए इफेक्टिव नहीं है और इन्हें स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) के रूप में अनुशंसित नहीं किया जाता है।

2.पीसीएसके 9 इन्हिबिटर्स (PCSK9 inhibitors)

पीसीएसके 9 इन्हिबिटर्स का उपयोग स्टेटिन के साथ या उसके बिना किया जा सकता है, हालांकि जब इसका इस्तेमाल स्टेटिन के साथ किया जाता है तो ये एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को 75 प्रतिशत तक कम करने में मदद कर सकती हैं। स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) के रूप में उपयोग की जाने वाली ये दवाएं उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद होती हैं जो मांसपेशियों में दर्द और स्टेटिन के अन्य साइड इफेक्ट्स को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। ये उनके लिए भी बेनेफिशियल हैं जो लोग केवल स्टेटिन का उपयोग करके अपने कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में नहीं रख सकते हैं।

और पढ़ें: हाय कोलेस्ट्रॉल और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन : एक-दूसरे से जुड़ी हुई हैं ये दोनों समस्याएं!

3.कोलेस्ट्रॉल एब्जॉर्पशन इन्हिबिटर्स (Cholesterol absorption inhibitors)

यदि आपको स्टेटिन सूट नहीं करता है या आप साइड इफेक्ट का अनुभव करते हैं, तो डॉक्टर हाय कोलेस्ट्रॉल के इलाज के लिए एक अलग मेडिसिन आपको प्रिस्क्राइब कर ​​सकता है। कोलेस्ट्रॉल एब्जॉर्पशन इन्हिबिटर्स एक अच्छा स्टेटिन ऑल्टरनेटिव (Statin alternatives) है। ये दवाएं आपकी छोटी आंत को आपके द्वारा कंज्यूम किए जाने वाले कोलेस्ट्रॉल को ठीक से अवशोषित करने से रोकती हैं। यदि इसे एब्सॉर्ब नहीं किया जाएगा, तो यह ब्लडस्ट्रीम तक नहीं पहुंचेगा। कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद के लिए डॉक्टर इस स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) के साथ आपको कम फैट वाला आहार लेने की सलाह दे सकते हैं।

4.सेक्वेस्ट्रेंट (Sequestrants)

बाइल एसिड-बाइंडिंग रेजिन्स (Bile acid–binding resins) या सेक्वेस्ट्रेंट स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) हैं। ये दवाएं आपकी आंतों में बाइल को बाइंड करके काम करती हैं और इस तरह आपके ब्लड स्ट्रीम में कोलेस्ट्रॉल के एब्जॉर्पशन को ब्लॉक करती हैं। ये हाय कोलेस्ट्रॉल के इलाज के लिए उपलब्ध सबसे पुरानी दवाएं हैं। हालांकि, ये अन्य दवाओं की तरह प्रभावी नहीं हैं, इसलिए इसका इस्तेमाल अक्सर सामान्य से थोड़ा ज्यादा कोलेस्ट्रॉल लेवल होने पर किया जाता है।

लंबे समय तक लेने पर सेक्वेस्ट्रेंट विटामिन की कमी का कारण बन सकते हैं। विटामिन के की कमी विशेष रूप से खतरनाक है, क्योंकि यह विटामिन ब्लीडिंग को रोकने में मदद करता है।

और पढ़ें: हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में जानें यहां

5. स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स: नियासिन (Niacin)

नियासिन (विटामिन बी3 या निकोटिनिक एसिड) ‘बैड’ एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है और ‘गुड’ हाई डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है, लेकिन इस बात के बहुत कम एविडेंस हैं कि यह हार्ट अटैक या स्ट्रोक के रिस्क को कम करता है। यह आमतौर पर इंटेंस स्किन फ्लशिंग का कारण बनता है और इसे स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) के रूप में अनुशंसित नहीं किया जाता है।

6.रेड यीस्ट राइस एक्सट्रैक्ट (Red yeast rice extract)

रेड यीस्ट राइस एक्सट्रैक्ट एक ट्रेडिशनल चाइनीज कोलेस्ट्रॉल लोवरिंग एजेंट (Chinese cholesterol-lowering agent) है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि रेड यीस्ट राइस एक्सट्रैक्ट एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। रेड यीस्ट राइस एक्सट्रैक्ट में मोनाकोलिन (monacolins) के जैसे मोनाकोलिन के (monacolin K) होते हैं। यह पदार्थ उन्हीं एंजाइमों को ब्लॉक करता है जो स्टेटिन टारगेट करते हैं। इसलिए, यह स्टेटिन की तरह इफेक्टिव होता है।

7. ओमेगा-3 फैटी एसिड

शोध से पता चलता है कि मछली के तेल में नैचुरली रूप से पाए जाने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड आमतौर पर कार्डियोवैस्कुलर डिजीज (Cardiovascular disease) के रिस्क को कम करने में मदद के लिए अकेले या स्टेटिन के साथ उपयोग की जाती हैं। जरूरी नहीं कि वे आपके “खराब” कोलेस्ट्रॉल को कम करें। लेकिन उन्हें ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल (जिसे “अच्छा” कोलेस्ट्रॉल भी कहा जाता है) को बढ़ाने के लिए इफेक्टिव पाया गया है।

हाय कोलेस्ट्रॉल वाले लोगों को स्टेटिन दवाएं लेने की आवश्यकता हो सकती है। कुछ लोग स्टेटिन को टॉलरेट नहीं कर पाते हैं वो हाय कोलेस्ट्रॉल के इलाज के लिए नैचुरल ट्रीटमेंट अपनाने की कोशिश करते हैं। कुछ लोग कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए नैचुरल रेमेडीज में ओमेगा-3 फैटी एसिड और रेड यीस्ट राइस एक्सट्रैक्ट को शामिल करते हैं। स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) के तौर पर इनका उपयोग करने से पहले, डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह जरूर लें। किसी भी दवा का उपयोग अपनी मर्जी से ना करें।

साथ ही लाइफस्टाइल में ऐसे कई चेंजेज हैं जो आप कर सकते हैं जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में हेल्पफुल हो सकते हैं। ये हाय कोलेस्ट्रॉल से लड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सीडीसी ने कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए कुछ लाइफस्टाइल चेंजेंस सजेस्ट किए हैं।

और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल और स्ट्रेस का क्या संबंध?

हार्ट हेल्दी फूड का सेवन करें (Have heart healthy foods)

स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए, एक्स्ट्रा वजन कम करके और हार्ट-हेल्दी फूड्स खाने से शुरुआत करें। हार्ट हेल्दी अर्थ है आपके द्वारा खाए जाने वाले सैचुरेटेड फैट की मात्रा को कम करना। इसका मतलब अपनी डाइट में फायबर, फल, सब्जियां, साबुत अनाज और मछली को बढ़ाना भी है।

वजन को कंट्रोल में रखें (Aim for a healthy weight)

मोटापा और अधिक वजन ऐसी स्थितियां हैं जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकती हैं, सीडीसी ने 18.5-24.9 के बीच बॉडी मास इंडेक्स की सिफारिश की है।

रेगुलर एक्सरसाइज करें ( Get Regular exercise)

एक व्यक्ति को हर सप्ताह कम से कम 150 मिनट के लिए एक्सरसाइज करने की सलाह दी जाती है। आप अन्य तरीकों से फिजिकल एक्टिविटीज को अपने रूटीन का हिस्सा बना सकते हैं, जैसे 1 से 2 किलोमीटर जाने के लिए गाड़ी की जगह पैदल चलना, लिफ्ट की जगह सीढ़ियां चढ़ना।

धुम्रपान छोड़ दें (Quit smoking)

स्मोकिंग से आर्टरीज हार्ड हो जाती हैं। इसलिए, स्मोकिंग छोड़ने से हार्ट डिजीज का खतरा कम हो जाता है।

और पढ़ें: हायपरलिपोप्रोटीनेमिया : हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल की इस कंडिशन के बारे में क्या यह सब जानते हैं आप?

एल्कोहॉल के इंटेक को सीमित करें (Limit alcohol intake)

एल्कोहॉल का अधिक सेवन कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करता है। सीडीसी पुरुषों के लिए एक दिन में दो ड्रिंक्स और महिलाओं के लिए एक एल्कोहॉलिक ड्रिंक्स की सिफारिश करती है।

उम्मीद करते हैं कि आपको कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) कंट्रोल और कोलेस्ट्रॉल की दवाओं यानी कि स्टेटिन ऑल्टरनेटिव्स (Statin alternatives) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/10/2021 को