home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद ये सावधानियां रखना है बेहद जरूरी, रिकवरी हो सकेगी फास्ट

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद ये सावधानियां रखना है बेहद जरूरी, रिकवरी हो सकेगी फास्ट

हार्ट बायपास सर्जरी (Heat bypass surgery) के जरिए हार्ट में एक नया रूट बनाया जाता है जिसे ‘बायपास’ कहा जाता है। इस रास्ते से हार्ट ब्लॉकेज के आसपास ब्लड और ऑक्सिजन पहुंचती है और हार्ट मसल्स का ब्लड फ्लो इम्प्रूव हो जाता है। यह सर्जरी कोरोनरी हार्ट डिजीज के इलाज के लिए की जाती है। कोरोनरी आर्टरी ऐसी आर्टरी है जो हमारे हार्ट में खून पहुंचाती है। आर्टरी वाल में फैट्स के जमने से खून का बहना रुक जाता है। यह सर्जरी कोरोनरी हार्ट डिजीज से छुटकारा नहीं दिला सकती, लेकिन इसके लक्षणों जैसे कि एंजाइना (Angina), सांस लेने में समस्या का इलाज कर सकती है। हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रखना बेहद जरूरी होता है। इस आर्टिकल में हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) क्या रखनी चाहिए इसके बारे में जानकारी दी जा रही है।

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery)

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद रिकवर होने में 6-8 हफ्ते से लेकर 3 महीने तक लग सकते हैं। हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने से पहले डॉक्टर आपको एक्सरसाइज, दवाइयां, फॉलो अप अपॉइंटमेंट्स, घाव भरने और उसकी केयर करने से संबंधित जानकारियां दी जाएंगी और इन सबका ध्यान आपको रखना होगा। डायट, एक्सरसाइज व अन्य फिजिकल एक्टिविटीज, मेडिकेशन को लेकर अधिक सर्तक रहने की जरूरत होगी।

और पढ़ेंः राइट हार्ट फेलियर : हार्ट फेलियर के इस प्रकार के बारे में यह सब जानना है जरूरी!

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां: डायट (Diet) का ख्याल रखना है जरूरी

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रखना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने डायट पर ध्यान दें। रिकवरी के इस फेज में आपको हेल्दी डायट पर फोकस करना होगा। यह बॉडी को जल्दी हील करने के साथ ही दूसरे कॉम्प्लिकेशन्स का रिस्क कम करने में मदद करेगी। कई स्टडीज में इस बात की पुष्टि की गई है कि हेल्दी डायट जिसमें फल, सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स, सीड्स आदि का उपयोग किया जाता है वह हार्ट डिजीज (Heart disease) के रिस्क को कम करने में मदद करती है।

हो सकता है इस दौरान आपकी भूख कम हो जाए, मुंह का टेस्ट चेंज हो और आपका खाने का मन ना करें। ऐसा लंबे समय तक चलने वाली उन दवाओं की वजह से हो सकता है जो रिकवरी में मदद करने के लिए दी जाती हैं। ऐसे में खाने से परहेज ना करें। चाहे तो थोड़े-थोड़े समय के अंतराल पर भोजन करें। हेल्दी डायट कई ऐसे हार्ट प्रोटेक्टिव न्यूट्रिएंट्स को प्रदान करती है जिसमें विटामिन (Vitamin), मिनरल्स (Minerals) के साथ ही एंटीऑक्सिडेंट्स (Antioxidants) और डायटरी फायबर (Dietary fiber) शामिल हैं। इन चीजों को डायट में शामिल करें।

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery)

मीट (Meat)

मीट के ऑल्टरनेटिव्स के रूप में आप अंडे, टोफू, दालें और नट्स को भी चुन सकते हैं।

फिश (Fish)

सामन में हार्ट हेल्दी ओमेगा-3 फैटी एसिड्स (Omega-3 fatty acids) मौजूद होता है।

साबुत अनाज (Wholegrain)

साबुत अनाज के बेस्ट ऑप्शन में होलग्रेन मील और होलग्रेन ब्रेड, ब्राउन राइस, होलमील पास्ता, किनोआ, बाजरा, ओट्स आदि को शामिल करें।

डेयरी (Dairy)

लो फैट प्रोडक्ट्स (Low fat products) को ही चुनें।

हेल्दी फैट्स (Healthy fats)

हेल्दी फैट्स को बादाम, अखरोट, अलसी के बीज, एवोकाडो से प्राप्त करें। शुगरी फूड्स को अवॉइड करें। ये वजन बढ़ने का कारण बनते हैं।

लिक्विड इंटेक (Liquid intake)

शुगरी सॉफ्ट ड्रिंक्स (Sugary soft drinks) को अवॉइड करें और एल्कोहॉल को कम मात्रा में पिएं।

नमक का उपयोग उचित मात्रा में करें। हायर इंटेक अवॉइड करें क्योंकि यह ब्लड प्रेशर को कम करने और फ्लूइड रिटेंशन को रोकने में मदद करता है। इस बारे में आप डायटीशियन से सलाह भी ले सकते हैं। हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रखकर (डायट से संबंधित) आप अच्छी तरह रिकवर हो सकते हैं।

और पढ़ें : High Triglycerides : हाई ट्राइग्लिसराइड्स क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery): मेडिकेशन का रखें ध्यान

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) दवाओं को लेकर भी आपको रखनी होंगी। आपको लंबे समय तक पेन मेडिसिन भी लेनी पड़ सकती हैं। डॉक्टर कॉम्प्लिकेशन को रिस्क को कम करने और आगे के कार्डिएक (Cardiac) इवेंट को रोकने के लिए भी दवाएं दे सकते हैं। हर मरीज को उसकी स्थिति के हिसाब से दवाएं दी जाती हैं। इन सभी दवाओं को समय पर और जैसा डॉक्टर ने निर्धारित किया है वैसे ही लें। दवा के विषय में किसी प्रकार को कोई कंफ्यूजन होने पर डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery)

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां: फिजिकल एक्टिविटीज (Physical activities) से संबंधित सावधानियां

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रिवकरी में मददगार होती हैं। भले ही आप आराम करके थक गए हों, लेकिन आपको रेगुलर फिजिकल एक्टिविटीज को धीरे-धीरे शुरू करना होगा। निम्न टिप्स मदद कर सकते हैं।

  • ड्राइविंग (Driving)– 4-6 हफ्ते तक ड्राइविंग करने से मना किया जाता है। क्योंकि सर्जरी के 6 हफ्ते तक आयसाइट और फोकस प्रभावित हो सकता है। कई लोगों को ड्राइविंग शुरू करने में ज्यादा समय भी लग सकता है। इस बारे में डॉक्टर से जरूर सलाह लें।
  • सेक्स (Sex)- सेक्स के लिए भी एनर्जी की जरूरत होती है। आमतौर पर 3-4 हफ्ते बाद आप सेक्स कर सकते हैं। कुछ समय के लिए सेक्शुअल एक्टिविटीज में लो इंटरेस्ट भी अच्छा है ताकि अच्छी तरह से रिकवर हो सकें।
  • जॉब पर जाना (Job)- आप जॉब पर जाना तब से शुरू कर सकते हैं जबसे आपकी बॉडी, फोकस और कॉन्फिडेंस इसकी इजाजत दे दें। ज्यादातर लोग लाइट ऑफिस वर्क के लिए 6 हफ्ते के बाद जाने लगते हैं और हैवी ऑफिस वर्क के लिए 3 महीने के बाद जाना शुरू करते हैं।
  • गार्डनिंग (Gardening)- छठवें हफ्ते से आप गार्डनिंग को एंजॉय कर सकते हैं।
  • घर के काम (Household work)- घर के काम जैसे कि लाइट कुकिंग, कपड़ों की तह लगाना, डस्टिंग, फूलों को सजाना जैसे काम आप शुरू कर सकते हैं, लेकिन हेवियर टास्ट को फैमिली मेंबर्स को ही करने दें।

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां: एक्सरसाइज (Exercise) से संबंधित सावधानियां

एक्सरसाइज आपकी रिकवरी को स्पीड देने में मदद करती है। साथ ही यह एक हेल्दी लाइफस्टाइल के लिए जरूरी है। यह ब्लड प्रेशर, वजन और कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को कंट्रोल करने में मदद करती है। जो हार्ट हेल्थ (Heart health) से जुड़े हुए फैक्टर्स हैं। सर्जरी के बाद एक्सरसाइज की शुरुआत सिंपल वॉक से करें। फिर धीरे-धीरे समय और इंटेंसिटी को बढ़ाएं। रोज वॉक करें। इसके अलावा आप स्विमिंग, या किसी प्रकार की हैवी एक्सरसाइज करने के लिए 3 महीने तक इंतजार करना होगा।

और पढ़ें : कार्डिएक अरेस्ट से बचने के लिए रखें इन बातों का खास ख्याल

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां: घाव की रिकवरी (Wound recovery) से संबंधित सावधानियां

अपनी सर्जरी के बाद पहले 6 हफ्तों के लिए, आपको चलते समय अपनी बाहों और ऊपरी शरीर का उपयोग करने में सावधानी बरतनी चाहिए।

  • हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रखने के दौरान पीछे की तरफ ना झुकें।
  • किसी को भी किसी भी कारण से अपनी बाहों को खींचने न दें। उदाहरण के लिए, यदि वे आपको घूमने या बिस्तर से बाहर निकलने में मदद कर रहे हैं।
  • 2 से 3 किलोग्राम से अधिक भारी कुछ भी न उठाएं।
  • हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रखने के दौरान कम से कम 2 से 3 हफ्ते तक घर का हल्का-फुल्का काम भी न करें।
  • अपनी बाहों और कंधे का अधिक उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टस से संपर्क करें।
  • अपने दांतों को ब्रश करना ठीक है, लेकिन ऐसी अन्य गतिविधियां न करें जो आपकी बाहों को आपके कंधों के ऊपर तक रखें। जब आप बिस्तर या कुर्सी से उठने के हाथों का उपयोग कर रहे हों तो आपको दोनों हाथों को क्लोज रखें ।
  • आप अपने जूते बांधने के लिए आगे झुक सकते हैं। अगर आपको अपने ब्रेस्टबोन पर खिंचाव महसूस हो तो हमेशा रुकें।

आपका डॉक्टर आपको बताएगा कि आपके सीने के घाव की देखभाल कैसे करना है। आपको संभवतः अपने सर्जिकल कट को हर दिन साबुन और पानी से साफ करने और धीरे से सूखने के लिए कहा जाएगा। किसी भी क्रीम, लोशन, पाउडर या तेल का उपयोग तब तक न करें जब तक कि आपका डॉक्टर आपको इसके लिए ना कहें।

और पढ़ें: हार्ट ट्रांसप्लांट : जानिए किन स्थितियों में की जाती है यह हार्ट सर्जरी?

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery): कॉम्प्लिकेशन के इन लक्षणों को ना करें इग्नोर

वैसे तो हार्ट बायपास सर्जरी के कॉम्प्लिकेशन आम नहीं है, लेकिन फिर भी निम्न लक्षण दिखाई देने पर डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

  • सीने में दर्द जो कि सर्जरी के घाव से संबंधित ना हो
  • बहुत ज्यादा बुखार होना
  • हार्ट रेट (Heart rate) बढ़ना
  • चक्कर आना या बेहोशी
  • सर्जिकल साईट के पास दर्द होना.
  • सर्जिकल साईट से ब्लीडिंग होना
  • अधिक कमजोरी का एहसास होना
  • बेवजह वजन बढ़ना
  • उल्टी और मितली होना
  • गले में खराश होना

और पढ़ें: पुरुष हार्ट हेल्थ को लेकर अक्सर करते हैं ये गलतियां

हार्ट बायपास सर्जरी (Heart bypass surgery) के बाद मैं हार्ट की और समस्याओं के रिस्क को कैसे कम कर सकता हूं?

हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) रखकर आप आगे की समस्यों को रोकने में मदद कर सकते हैं। इस दिशा में कदम उठाना बेहद जरूरी है ताकि आगे किसी प्रकार की सर्जरी की जरूरत ना पड़े। हार्ट डिजीज (Heart disease) के निम्न रिस्क फैक्टर्स को कंट्रोल में रखना जरूरी है।

सर्जरी के लिए हमेशा तजुर्बेदार डॉक्टर ही चुनें। साथ ही किसी रिलेटिव या दोस्त से आपकी मदद करने के लिए कहे। सर्जरी के बाद घर के लिए भी अच्छे से तैयारियां करना जरूरी होता है। दवाईयां, TV , टेलीफोन , टिशूज को आसपास ही रखे।स्नैक्स रख ले जो आसानी से पकाएं जा सके। सर्जरी के बाद आपको आराम करना पड़ेगा इसलिए पहले ही छुट्टी की एप्लिकेशन दे। सर्जरी के पहले आपको हॉस्पिटल में रखा जाएगा और एक्स रे , ब्लड टेस्ट , एनेस्थेसिया टेस्ट करवाए जाएंगे। उम्मीद करते हैं कि आपको हार्ट बायपास सर्जरी के बाद सावधानियां (Precautions after heart bypass surgery) क्या और कैसे रखें इससे संबधित जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Heart bypass surgery – discharge/
https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000102.htm/ Accessed on 26th October 2021

Coronary bypass surgery/https://www.mayoclinic.org/tests-procedures/coronary-bypass-surgery/about/pac-20384589/Accessed on 26th October 2021

Coronary Artery Bypass Surgery. http://my.clevelandclinic.org/services/heart/services/coronary-artery-bypass-surgery. Accessed on 26th October 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड