home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हार्ट के लिए भी हायड्रेशन है जरूरी है, पानी ना पीने से हार्ट पर पड़ता है लोड!

हार्ट के लिए भी हायड्रेशन है जरूरी है, पानी ना पीने से हार्ट पर पड़ता है लोड!

जब तापमान बढ़ जाता है उस समय पर्याप्त मात्रा में पानी पीना जरूरी है। यह तब और भी जरूरी हो जाता है जब आप स्पोर्ट पर्सन हो, ट्रैवलिंग कर रहे हों या धूप का सामना अधिक करते हों। डीहायड्रेशन (Dehydration) एक गंभीर कंडिशन हो सकती है जिसकी वजह से पैरों में सूजन, सिर में दर्द और हीट स्ट्रोक जैसी परेशानी हो सकती है। इसका हार्ट हेल्थ पर भी प्रभाव होता है। हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For People With Heart Disease) है। दरअसल बॉडी के हायड्रेटेड रहने से हार्ट आसानी से ब्लड को ब्लड वेसल्स में मसल्स में पंप कर पाता है। जिससे मसल्स अच्छी तरह काम करती हैं। अगर आप हायड्रेटेड हो तो हार्ट पर ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती है। इस आर्टिकल में हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For Heart) क्या है इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For Heart)

डीहायड्रेशन की परेशानी तब होती है भोजन और पानी के माध्यम से प्राप्त फ्लूइड पसीने, बीमारी, बुखार (Fever) और यूरिनेशन (Urination) के जरिए खो देते हैं। डीहायड्रेशन का शरीर के अंगों और शरीर की कार्य प्रणाली पर बुरा प्रभाव पड़ता है। जिसमें हार्ट (Heart) और कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम (Cardiovascular system) शामिल हैं। जब हम डीहायड्रेटेड होते हैं तो ब्लड वॉल्यूम या कहें कि बॉडी के जरिए सर्कुलेट होने वाले ब्लड की मात्रा कम हो जाती है। इसकी क्षतिपूर्ति करने के लिए दिल तेजी से धड़कता है जिससे हार्ट बीट (Heart beat) और ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) बढ़ जाता है।

इसके अलावा, जब बॉडी डीहायड्रेटेड होती है, तो ब्लड अधिक सोडियम (Sodium) रीटेन करता है, जिससे ब्लड गाढ़ा होता है और आपके ब्लड का शरीर में सर्कुलेशन कठिन हो जाता है। अपने शरीर को हायड्रेट रखने से आपके हृदय को अधिक आसानी से रक्त पंप करने में मदद मिलती है और ऑक्सीजन को मांसपेशियों तक पहुंचने में मदद मिलती है, जिससे मांसपेशियों को कुशलता से काम करने में मदद मिलती है। हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For Heart) कितना महत्व समझा जा सकता है।

और पढ़ें: क्या हार्ट पेशेंट्स के लिए प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन फायदेमंद हो सकता है?

हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For People With Heart Disease) क्यों माना जाता है

जब आप जिनता फ्लूइड कंज्यूम करते हैं उससे अधिक खो देते हैं तब डीहायड्रेशन की समस्या होती है। जिससे हार्ट पर अधिक दवाब आता है जिससे हार्ट डिजीज (Heart disease) के डेवलप होने का डर होता है। इसलिए हायड्रेट रहना बेहद जरूरी है। अमेरिकन जर्नल मेडिकल एपिडेमेलॉजी के अनुसार जो लोग दिन में 5 या इससे ज्यादा गिलास पानी पीते हैं उनमें उन लोगों की तुलना में जो दिन में 2 गिलास से कम पानी पीने है जानलेवा कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary heart disease) का बहुत रिस्क कम होता है।

अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिसिन के अनुसार पुरुषों को 3.7 लीटर (3.7 Liters) और महिलाओं को (2.7 Liters) के लगभग पीना चाहिए। कई बार हम बॉडी के संकेतों का समझ नहीं पाते और प्यास को भूख समझ लेते हैं। यह सही है कि हम 20 प्रतिशत पानी फूड से प्राप्त करते हैं, लेकिन प्योर H2O का कोई सब्सिट्यूट नहीं है। इसलिए अपने साथ पानी की बोटल जरूर रखें खासकर जब इस समय ज्यादातर लोग वर्क फ्रॉम हो कर रहे हों।

हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For People With Heart Disease)

और पढ़ें: हार्ट पेशेंट्स के लिए योग है बेहतर उपाय लेकिन ये योग कहीं पैदा न कर दें खतरा!

हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For Heart) : पानी ही सबसे बेहतर

हायड्रेट रहने के लिए पानी ही सबसे अच्छा है। क्योंकि यह कैलोरी फ्री, कम कीमत में उपलब्ध और आसानी से उपलब्ध है। आमतौर पर हर दिन 8 दिन पानी पीने की सलाह दी जाती है। पानी के अलावा, दूध, जूस और हर्बल चाय जैसे पेय पदार्थ ज्यादातर पानी से बने होते हैं। आपके द्वारा खाए जाने वाले ठोस खाद्य पदार्थ, विशेष रूप से फल और सब्जियां भी पर्याप्त मात्रा में पानी प्रदान कर सकते हैं। खीरे में 96% पानी होता है और तरबूज में 92% पानी होता है।

हालांकि, कई प्रोसेस्ड फूड्स (Processed foods) जैसे चिप्स और क्रेकर्स, लगभग नमी से रहित होते हैं और इनमें बहुत अधिक नमक होता है। जैसा कि हम ऊपर बता चुके हैं कि अतिरिक्त नमक आपके रक्त को गाढ़ा कर देता है और ब्लड के सर्कुलेशन को कठिन बना देता है। अतिरिक्त नमक से छुटकारा पाने के लिए शरीर को अधिक तरल पदार्थ की आवश्यकता होती है।

ये सोर्स भी नहीं है काम के : कैफीन युक्त फूड्स (Caffeinated foods)

कैफीनयुक्त पेय, जैसे कि कॉफी और सोडा, आपके दैनिक पानी के सेवन में योगदान कर सकते हैं, लेकिन कैफीन एक मूत्रवर्धक के रूप में कार्य करता है और आपको अधिक तरल पदार्थ खोने का कारण बन सकता है, और अतिरिक्त चीनी शरीर को पानी को अवशोषित करने से रोक सकती है। एल्कोहॉलिक ड्रिक्स भी एक डियूरेटिक्स हैं। एल्कोहॉलिक ड्रिंक्स लेते समय, खूब पानी पीना सुनिश्चित करें।

स्पोर्ट्स ड्रिंक और एनर्जी ड्रिंक्स (Sports drinks and energy drinks)

स्पोर्ट्स ड्रिंक में शुगर और कैलोरी की मात्रा अधिक होती है और इसका उपयोग केवल तभी किया जाना चाहिए जब आप एक घंटे से अधिक समय तक इंटेंस एक्सरसाइज कर रहे हों। ये पेय लंबे समय तक व्यायाम के दौरान ऊर्जा के लिए आवश्यक पसीने और चीनी के माध्यम से लॉस हुए इलेक्ट्रोलाइट्स को रिप्लेस करने में मदद करते हैं।

एनर्जी ड्रिंक स्पोर्ट्स ड्रिंक से अलग हैं। एनर्जी ड्रिंक्स आमतौर पर इलेक्ट्रोलाइट्स को रिप्लेस करने के लिए तैयार नहीं किए जाते हैं। एनर्जी ड्रिंक्स में आमतौर पर बड़ी मात्रा में कैफीन या अन्य स्टिम्यूलेंट्स (Stimulants), शुगर (Sugar) और अन्य एडिटिव्स (Additives) होते हैं। इस प्रकार कहा जा सकता है कि हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For Heart) जानने के बाद सबसे जरूरी यही हो जाता है कि पर्याप्त मात्रा में फ्लूइड इंटेक लें और इसके लिए पानी का सेवन ही सबसे बेहतर है।

और पढ़ें: एक्सरसाइज के दौरान मेटफॉर्मिन का ग्लूकोज होमियोस्टेटिस पर प्रभाव क्या होता है?

पानी की जरूरतों को प्रभावित करने वाले फैक्टर्स (Factors Affecting Water Requirements)

आपकी व्यक्तिगत पानी की जरूरत कई फैक्टर्स पर निर्भर करती है, जिसमें आपका स्वास्थ्य, आप कितने सक्रिय हैं और आप कहां रहते हैं जैसे फैक्टर्स शामिल हैं। आपको इन फैक्टर्स के आधार पर अपने फ्लूइड इंटेक को बढ़ाने या कम करने की आवश्यकता हो सकती है जो निम्न हैं।

एक्सरसाइज (Exercise)

एक्सरसाइज करने वाले लोगों को पसीना अधिक आता है ऐसे में फ्लूइड लॉस को कवर करने के लिए एक्सट्रा पानी की जरूरत हो सकती है। वर्कआउट के बाद और पहले पानी पीना जरूरी है। यह एक्सरसाइज इंटेंस और एक घंटे से अधिक समय के लिए करते हैं तो इलेक्ट्रोलाइट्स (Electrolytes) को रिप्लेस करने के लिए स्पोर्ट्स ड्रिंक्स का सहारा ले सकते हैं।

वातावरण (Environment)

गर्म या नमी वाले मौसम में पसीना अधिक आ सकता है और इसकी वजह से अतिरिक्त फ्लूइड इंटेक के सेवन की जरूरत पड़ सकती है। हाय एल्टिट्यूड पर डीहायड्रेशन की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें: हार्ट डिजीज के रिस्क को कम कर सकता है केला, दूसरी हेल्थ कंडिशन में भी है फायदेमंद

संपूर्ण स्वास्थ्य (Overall health)

बुखार, दस्त या उल्टी होने पर आपका शरीर तरल पदार्थ खो देता है। डायबिटीज या कोई हार्ट कंडिशन, या यदि आप 50 वर्ष से अधिक उम्र के हैं, या वजन अधिक है, तो आपको अतिरिक्त सावधानी बरतनी पड़ सकती है और अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाना पड़ सकता है। अन्य स्थितियां जिनमें तरल पदार्थ के सेवन में वृद्धि की आवश्यकता हो सकती है, उनमें यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन (UTI) और किडनी स्टोन (Kidney stones) शामिल हैं।

हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For Heart) तो है ही अन्य फैक्टर्स भी हैं जो हार्ट हेल्थ को अच्छा रखने में मदद करते हैं। इनमें शामिल हैं: हार्ट हेल्दी फूड्स चुनना, तनाव का प्रबंधन करना, नियमित शारीरिक गतिविधि में संलग्न होना, अच्छी गुणवत्ता वाली नींद लेना और अपने रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल की अक्सर जांच करवाना और इसे कंट्रोल में रखना।

उम्मीद करते हैं कि आपको हार्ट के लिए हायड्रेशन का महत्व (Importance Of Hydration For People With Heart Disease) और इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/12/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड