home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

रूट कैनाल उपचार के बाद न खाएं ये 10 चीजें

रूट कैनाल उपचार के बाद न खाएं ये 10 चीजें

रूट कैनाल कराने के बाद खाने-पीने की चीजों का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। अगर आप रूट कैनाल करवाने वाले हैं या कराई हो, तो इसके बाद नरम खाद्य पदार्थ खाने की कोशिश करें, जिन्हें बहुत कम चबाने की आवश्यकता होती है, जैसे दही, अंडे और मछली। इसके बाद, कठोर या गर्म खाद्य पदार्थों से बचें, जो आपके दांतों को चोट पहुंचा सकते हैं। कुछ डेंटिस्ट कुछ घंटों तक ना खाने का सुझाव देते हैं जब तक कि आपके मुंह में सुन्नता खत्म नहीं हो जाती है। लेकिन आज हम उन 10 खाद्य पदार्थों के बारे में आपको बताने जा रहे है जिनका सेवन आपको रूट कैनाल के बाद नहीं करना है।

और पढ़ें : मुंह से जुड़ी 10 अजीबोगरीब बातें, जो शायद ही जानते होंगे आप

जानिए कि रूट कैनाल (Root Canal) क्या है

दांतों में संक्रमण होने पर रूट कैनाल किया जाता है। बात करें दांत की बनावट की तो दांत के 3 भाग होते हैं। डेंटीन दांत का मुख्य भाग होता है और तीसरा भाग है दांतों का गूदा जोकि नर्म होता है। नसें व ब्लड वैसल दांतों की जड़ (एपेक्स) के माध्यम से अंदर जाती हैं। यह जड़ के कैनाल से होकर पल्प चैंबर तक पहुंचती हैं। दांतों के क्राउन के अंदर पल्प चैंबर होता है। दांत के पल्प के सूज जाने या संक्रमित हो जाने पर ही रूट कैनाल किया जाता है। रूट कैनाल में इस इंफेक्टेड भाग को निकाल दिया जाता है। रोग ग्रस्त पल्प को हटाने के बाद उस जगह को साफ किया जाता है और सही आकार देकर भर दिया जाता है। इसी प्रक्रिया को रूट कैनाल कहा जाता है।

रूट कैनाल संक्रमण के लक्षण क्या हैं?

रूट कैनाल संक्रमण के लक्षणों को सही समय पर पहचानना जरूरी है, ताकि समस्या ज्यादा न बढ़े। इसके कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं :

और पढ़ें : ब्रश करने का यह तरीका अपनाएंगे तो, दूर हो जाएंगी मुंह की समस्याएं

रूट कैनाल(Root Canal) कैसे किया जाता है?

रूट कैनाल की प्रक्रिया ज्यादा जटिल नहीं है, नीचे जानिए ये कैसे किया जाता है :

  • सड़े हुए दांत के ऊपरी हिस्से यानी क्राउन से ड्रिल कर कैनाल को खोल दिया जाता है। इसके बाद सारे पल्प को निकाल दिया जाता है।
  • पूरे कैनाल की हाइड्रोजन पैराक्साइड व सोडियम हायपोक्लोराइड से सफाई की जाती है। कैल्शियम फिलर से इसे पूरी तरह भर दिया जाता है।
  • इसके बाद दांत को सिल्वर फिलिंग या टूथ कलर फिलिंग करके सील कर दिया जाता है।
  • दांत को मजबूत करने के लिए रूट कैनाल ट्रीटमेंट के बाद कैप लगाई जाती है।
  • यदि शुरुआती अवस्था है तो एक या दो सिटिंग से ही इलाज पूरा किया जा सकता है।

और पढ़ें : अपॉइंटमेंट से पहले कॉमन डेंटल केयर और प्रोसीजर के बारे में अवेयर रहें

रूट कैनाल (Root Canal) के बाद क्या न खाएं?

अगर आपने रूट कैनाल कराया है तो इसके बाद खाने पीने की चीजों का खास ख्याल रखना होता है। आपको रूट कैनाल के बाद ऐसी कोई चीज नहीं खानी चाहिए जो आपके दांतों के लिए हानिकारक साबित हो। नीचे हम कुछ ऐसी खाने की चीजों की लिस्ट दे रह हैं, जो आपको रूट कैनाल के बाद इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए। ये चीजें इस प्रकार हैं :

  1. खैनी : यदि आप नशे के आदी हैं, तो हम आपको बता दें कि रूट कैनाल के बाद इस तरह का नशा नुकसानदायक हो सकता है। जितना हो सके खैनी और तंबाकू से बचें।
  2. शराब : किसी भी हालत में रूट कैनाल के बाद शराब न पिएं। ये आपके लिए बेहद नुकसानदायक हो सकता है।
  3. पान सुपारी : अगर आप पान सुपारी खाते हैं, तो फिलहाल के लिए उसे बंद कर दें, क्योंकि ये रूट कैनाल के बाद आपके दांतों और सेहत के लिए बेहद खतरनाक हो सकता है।
  4. कड़क फल : किसी भी प्रकार के कड़क फल खाने से बचें, जो आपको चबाने या निगलने में तकलीफ दें।
  5. गाजर मूली : गाजर मूली को सैलेड के रूप न खाएं। इससे आपको दांतों की तकलीफ हो सकती है।
  6. साबूत अनाज : किसी भी प्रकार के साबुत अनाज जैसे चना, जौ, बाजरा, ऐसे चीजें जिसे चबाने में जोर लगे, उसका सेवन करने से बचें।
  7. कोल्ड ड्रिंक्स : ट्रीटमेंट के बाद कोल्ड ड्रिंक्स या सॉफ्ट ड्रिंक्स का सेवन न करें। इसमें अम्लता होती है, जो दांतों के लिए नुकसानदायक है।
  8. ड्राई फ्रूट्स : जो भी टाइट ड्राई फ्रूट्स हैं, उन्हें रूट कैनाल के बाद खान से बचें, क्योंकि इनको चबाने से आपको तकलीफ हो सकती है।
  9. खट्टे फल : इस प्रक्रिया के कुछ समय तक किसी भी प्रकार के खट्टे फल जैसे नींबू, संतरा आदि का सेवन न करें। ये फल हाई एसिडिक होते हैं, जो दांतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  10. कैंडी और कुकिज : इस प्रक्रिया के बाद कैंडी और कुकीज से दूर रहें। एक तो इन्हें चबाने में दिक्कत होगी, दूसरा कुछ कैंडी में खट्टापन लाने के लिए उसमें सिट्रिक एसिड डाला जाता है, जो दांतों के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है। आप इस तरह से दांतों की देखभाल कर सकते हैं।

और पढ़ें : 7 साल के बच्चे के मुंह से निकले 526 दांत, हैरान कर देगी पूरी खबर

रूट कैनाल (root canal) के बाद क्या खाएं?

ऊपर तो आपने जाना कि रूट कैनाल के बाद क्या नहीं खाना चाहिए। लेकिन लोगों को इस बात की भी कम जानकारी होती है कि इसके बाद किन चीजों का सेवन करना चाहिए। नीचे हम कुछ ऐसी चीजें बता रहे हैं, जिन्हें आप रूट कैनाल के बाद खा सकते हैं, जैसे :

  • आप क्रीम, सूप, चीज, दही, मिल्कशेक, हलवा, तरल प्रोटीन सप्लिमेंट आप खा सकते हैं। ये चीजें कड़क नहीं होती और आपके मुंह को आराम भी पहुंचाती हैं।
  • कैलोरी और हाई प्रोटीन से युक्त नरम मलाईदार खाद्य पदार्थ खाएं। उच्च-कैलोरी खाद्य पदार्थ खाने से आपके शरीर को पर्याप्त ऊर्जा देने में मदद मिलेगी। इन्हें खाने से दर्द भी कम होगा।
  • आप एक चम्मच ठंडी क्रीम वेनिला एक्सट्रेक्ट और थोड़ी-सी शक्कर के साथ मिलाकर खा सकते हैं।

और पढ़ें : माउथ इंफेक्शन (Mouth Infection) के प्रकार और इससे बचने के उपाय

इंफेक्शन हो जाने पर अगर दांत दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप रूट कैनाल कराते हैं, तो उपचार जब चल रहा हो, तब ऊपर बताए गए सारे खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। उपचार पूरा होने के बाद आप अपना खाना अपनी पसंद से चुनकर खा सकते हैं। उम है उम्मीद है कि रूट कैनाल के बाद आपको किन खाद्य पदार्थों को खाना है और किनको नहीं इसके बारे पता चल गया होगा। सटीकता के लिए एक बार अपने डॉक्टर से भी बात करे। डॉक्टर आपको रूट कैनाल के बाद किन बातों और खान पान का कैसे ध्यान रखना है, इसके बारे में व्यापक रूप से समझा पाएगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shivani Verma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/07/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x