home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

माउथ इंफेक्शन (Mouth Infection) के प्रकार और इससे बचने के उपाय

माउथ इंफेक्शन (Mouth Infection) के प्रकार और इससे बचने के उपाय

क्या आपको पता है कि स्वस्थ सेहत के लिए आपके दातों का स्वस्थ होना जरूरी है, क्योंकि माउथ इंफेक्शन कई गंभीर ​बीमारियों का सं​केत हो सकती हैं। अगर दांतों की परेशानी लंबे वक़्त से चल रही है तो उसे अनदेखा न करें। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन (NCBI) के अनुसार दांतों में होने वाली बीमारी की वजह से दिल और दिमाग तथा अन्य बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है।

और पढ़ेंः जब सताए दांतों में सेंसिटिविटी की समस्या, तो ऐसे पाएं निजात

माउथ इंफेक्शन के कारण

अधिकांश माउथ इंफेक्शन अलग-अलग परेशानियों के कारण होते हैं। कई चीजें मुंह में जलन और घावों को जन्म दे सकती हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • खराब फिटिंग वाले डेन्चर
  • एक तेज या टूटा हुआ दांत
  • ब्रेसेस या अन्य उपकरण जैसे रिटेनर
  • गर्म भोजन या पेय पदार्थों की वजह से मुंह का जलना
  • तंबाकू उत्पाद

माउथ इंफेक्शन के साथ मुंह के छाले इन कारणों से होता है

  • बीटा-ब्लॉकर्स सहित कुछ दवाएं
  • एसिडिक फूड
  • तंबाकू छोड़ना
  • गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल परिवर्तन
  • तनाव
  • विटामिन और फोलेट की कमी

और पढ़ेंः दांतों की समस्या को दूर करने के लिए करें ये योग

अस्वस्थ दांतों से जुड़ी बीमारियां

  1. दिल की समस्या
  2. बढ़ता सर्वाइकल पेन
  3. ओरल कैंसर (मुंह का कैंसर) का खतरा।
  4. तनाव की समस्या।
  5. सतर्क रहें डायबिटीज मरीज ।
  6. बैक्टीरियल निमोनिया का खतरा
  7. जन्म लेने वाले शिशु का वजन कम हो सकता है।

मुंह को स्वस्थ रखने में बैक्टेरिया की अहम भूमिका होती है और तकरीबन 700 से अधिक बैक्टेरिया मुंह में मौजूद होते हैं, जो दांतों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। लेकिन, अगर मुंह की सफाई ठीक से न की जाए तो यही बैक्टेरिया नुकसानदायक हो जाते हैं।

और पढ़ें: जानिए मुंह में छाले (Mouth Ulcer) होने पर क्या खाएं और क्या न खाएं

दिल की समस्या

माउथ इंफेक्शन के बहुत से कारण हो सकते हैं। जैसे लोगों को लगता है कि मीठा खाने से मुंह की समस्या हो सकती है। दांतों में होने वाली समस्याओं के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए दांतों की नियमित रूप से साफ-सफाई बहुत जरूरी है। इससे माउथ इंफेक्शन नहीं होगा। अगर आपको किसी प्रकार का ओरल इंफैक्शन होता है ​तो हदय से जुड़ी बीमारियों (Cardiovascular Disease) का खतरा बढ़ जाता है। ऐसा डॉक्टर भी कहते हैं कि माउथ इंफेक्शन की परेशानी सीधे आपके दिल की समस्या से जुड़ी हुई है।

ओरल कैंसर (मुंह का कैंसर)

मुंह के कैंसर का खतरा तब सबसे ज़्यादा बढ़ जाता है जब लोग शराब, पान—मसाला और गुटखा जैसी चीज़ों का सेवन अधिक करते हैं। इसलिए ऐसे चीजों से दूर रहना चाहिए। माउथ इंफेक्शन की वजह से ओरल कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। दांत के डॉक्टर भी हमेशा यह सलाह देते हैं कि माउथ इंफेक्शन आगे चलकर ओरल कैंसर का कारण बन सकता है। पुरुषों में वृद्ध लोगों में ओरल कैंसर अधिक आम है, और सामाजिक-आर्थिक स्थिति से कमजोर लोगों को भी ये परेशानी होती है।

कुछ एशियाई-प्रशांत देशों में, तीन शीर्ष कैंसरों के बीच ओरल कैंसर की घटनाएं घटती हैं। तम्बाकू, शराब और एस्कुट नट (सुपारी) का उपयोग मुख कैंसर के प्रमुख कारणों में से हैं। उत्तरी अमेरिका और यूरोप जैसे क्षेत्रों में , “उच्च जोखिम” मानव पैपिलोमावायरस संक्रमण पुरुषों के बीच ओरो-ग्रसनी कैंसर के बढ़ते प्रतिशत के लिए जिम्मेदार हैं।

तनाव

दांतों की समस्या के कारण कई बार आपको तनाव भी हो सकता है। दर्द की वजह से तनाव के साथ-साथ चिड़चिड़ापन भी होने लगता है। तनाव वैसे तो आपके पूरे स्वास्थ के लिए अच्छा नहीं है।

सतर्क रहें डायबिटीज के मरीज

डायबिटीज के मरीज़ों को मुंह की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। टूथ ब्रश करने के दौरान भी सतर्क रहना चाहिए, क्योंकि हल्के से कंटने से भी उनकी परेशानी बढ़ सकती है। डायबिटीज वालों का घाव जल्दी ठीक नहीं होता है।

बेक्टेरियल निमोनिया

यह प्रायः जब कोई मरीज अस्पताल में भर्ती होता है उसी दौरान बेक्टेरियल निमोनिया का खतरा बढ़ जाता है।

बच्चे का वजन सामान्य से कम होना

गर्भावस्था के दौरान कई बार गर्भवती महिला को मुंह में छाले हो जाते हैं और ऐसे में गर्भवती महिलाएं ठीक से आहार नहीं ले पाती हैं। जिसका असर मां और शिशु दोनों पर ही पड़ता है।

और पढ़ेंः दूध की बोतल भी बच्चे के दांत कर सकते हैं खराब, सीखें दांतों की देखभाल करना

इन बातों का भी रखें ख्यालः

अगर आप स्मोकिंग करते हैं, तो उसे आपको छोड़ना चाहिए। सिगरेट में बहुत से घातक पदार्थ होते हैं जो हमारे मसूड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।

ये छोटे बच्चों से लेकर बड़े लोगों तक सभी को प्रतिदिन के तौर पर इसे फॉलो करना बहुत जरूरी है। अगर आपको दांतों या मसूड़ों से जुड़ी कोई भी समस्या होती है, तो तुरंत डेंटिस्ट के पास जाएं।

अगर आप इन आदतों को प्रतिदिन फॉलो करते हैं तो भी आपको साल में कम से कम दो बार अपने डेंटिस्ट के पास जरूर जाना चाहिए।

मुंह के अच्छे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए सही आहार

ओरल हाइजीन बनाए रखने के लिए नियमित तौर पर फ्लॉस और ब्रश करना बेहद जरूरी है। लेकिन, मुंह के स्वास्थ्य को बनाए रखें के लिए सेहतमंद और संतुलित आहार भी जरूरी होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) द्वारा पूरी दुनिया में किए गए अनेकों शोध से कलेक्ट किए गए डेटा से पता चलता है कि स्वस्थ आहार लेने और अच्छा ओरल स्वास्थ्य बनाए रखने के बीच में गहरा संबंध है। माउथ इंफेक्शन के लिए कई बार आपकी डायट जिम्मेदार होती है। ऐसे में सही समय पर खाना और सही आहार जरूरी है। आप अपने दांत की देखभाल खुद कर सकते हैं अगर सही खाना खाते हैं।

और पढ़ेंः पूरी जिंदगी में आप इतना समय ब्रश करने में गुजारते हैं, जानिए दांतों से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य

दांतों के साथ ऐसी लापरवाही नहीं करे

  • डेंटिस्ट से एप्पोइंटमेंट डेट पर जरूर मिलें।
  • दांत में हो रहे किसी भी समस्या पर (मामूली दांत दर्द होने पर भी) डॉक्टर से मिलें।
  • दांतों या मसूड़ों में हो रही परेशानी को डॉक्टर से छुपाए नहीं।
  • दांतों की सफाई पर हर दिन ध्यान दें।
  • जरूरत से ज़्यादा टूथ पिक का इस्तेमाल नहीं करना करना चाहिए। इससे चोट लगने की संभावना बनी रहती है।

कम वक़्त में कुछ बातों को ध्यान में रख कर और अपना कर आप माउथ इंफेक्शन से बच सकते हैं। दांतों की नियमित साफ-सफाई आपको कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकते हैं। ये जरूर ध्यान रखें की डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Oral infections and antibiotic therapy. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21093623/. Accessed on 8 September, 2020.

Oral Health. https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/oral-health. Accessed on 8 September, 2020.

Mouth Disorders. https://medlineplus.gov/mouthdisorders.html. Accessed on 8 September, 2020.

Orf Virus (Sore Mouth Infection). https://www.cdc.gov/poxvirus/orf-virus/index.html. Accessed on 8 September, 2020.

Mouth ulcers. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/mouth-ulcers. Accessed on 8 September, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/04/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x