home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Precocious puberty: असामयिक यौवन क्या है?

परिचय|लक्षण|डॉक्टर को कब मिलें|कारण|निदान|इलाज|जोखिम|जटिलताएं
Precocious puberty: असामयिक यौवन क्या है?

परिचय

असामयिक यौवन क्या होता है?

आपने कई बार ऐसा देखा होगा की कुछ बच्चों का शरीर में समय से पहले ही वयस्कों के परिवर्तन होने लगते हैं, हम अपने मन से इसके कई अलग-अलग कारण निर्धारित कर देते हैं, जबकि इसके कुछ विशेष कारण और लक्षण होते हैं जिस कारण ये बदलाव आपको जल्दी देखने को मिलते हैं।सबसे पहले आपको बता दें की इस बदलाव का सही नाम असामयिक यौवन होता है जिसे इंग्लिश में (Precocious puberty) कहते हैं।

असामयिक यौवन (Precocious puberty) बच्चों में तब होती है जब बच्चे का शरीर बहुत जल्द वयस्क (यौवन) में बदलने लगता है। जब लड़कियों में 8 साल की उम्र से पहले और लड़कों में 9 साल की उम्र से पहले यौवन ( puberty )शुरू होता है, तो इसे अनिश्चित यौवन या असामयिक यौवन((Precocious puberty)माना जाता है। इस दौरान बच्चों के यौवन में हड्डियों और मांसपेशियों का विकास काफी तेजी से होता है, शरीर के आकार और अंग में परिवर्तन भी जल्दी बदलने लगता है इससे शरीर की प्रजनन (reproduce) करने की क्षमता का विकास जल्दी होने लगता है, जो आमतौर पर समाज में स्वीकारना मुश्किल होता है।

-वैसे अक्सर युवावस्था का कारण बहुत कम ही पाया जा सकता है। शायद ही कभी, कुछ शर्तों में, जैसे कि संक्रमण, हार्मोन विकार, ट्यूमर, मस्तिष्क की असामान्यताएं या चोटें, अनिश्चित यौवन का कारण बन सकती हैं। पूर्व यौवन (precocious puberty) के लिए उपचार में आमतौर दवा दी जाती है जिससे शरीर के विकास में देरी हो।

-सभी बच्चों में 10% के बच्चों को ही सही मायने में असामयिक यौवन होता है,” इस बारें में वाशिंगटन डीसी के वाशिंगटन मेडिकल सेंटर में एंडोक्रिनोलॉजी विभाग के प्रमुख, पॉल कपलोविट्ज़, एमडी, कहते हैं की, “बहुत सारे माता-पिता जो अपने बच्चों में बदलाव को लेकर चिंतित हैं उनको बता दें की ” बच्चों में कई कपलोइट्ज़ में समय से पहले स्तन विकास और समय से पहले पक्षाघात (प्यूबिक हेयर की उपस्थिति) जैसी स्थितियां होती हैं और ये स्थितियां युवावस्था के संकेत नहीं हैं, बल्कि सामान्य बदलाव हैं, जिसे कपलोविट्ज़ कहते हैं।

और पढ़ें : Multiple Sclerosis : मल्टिपल स्क्लेरोसिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लक्षण

असामयिक यौवन के लक्षण क्या हैं?

असामयिक यौवन के लक्षण में लड़कियों में 8 साल की उम्र से पहले और लड़कों में 9 साल की उम्र से पहले ही विकास देखा जाता है। इस दौरान बच्चों का शरीर उस तरह के बदलावों को शुरू करता है जो आमतौर पर पहली बार विकसित होते हैं जब एक बच्चा अपनी किशोरावस्था के लगभग करीब होता है। लड़कों और लड़कियों दोनों में असामयिक यौवन के कुच लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं।

लड़कियों के लिए, अन्य असामयेक यौवन लक्षणों में शामिल हैं,

  • मासिक धर्म की शुरुआत जल्दी होना
  • स्तन विकास जल्दी होना
  • प्रजनन की भावना उत्पन्न होना

लड़कों के लिए, असामयिक यौवन के अन्य लक्षण हैं,

  • बढ़े हुए अंडकोष और लिंग
  • चेहरे के बालों का विकास
  • सहज इरेक्शन और स्खलन
  • गहरी आवाज

डॉक्टर को कब मिलें

डॉक्टर को कब दिखाएं?

जिस प्रकार के लक्षण बताएं गए हैं, जल्दी विकास के दौरान यदि वो सारे लक्षण दिखाई दे रहें है तो अपने बच्चे को डॉक्टर से जरुर मिलाएं,यदि आपके बच्चे में असामयिक यौवन के कोई लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो डॉक्टर इसके लिए उचित सलाह देगा।

और पढ़ें :: Pompe Disease: जानें पोम्पे रोग क्या है?

कारण

असामयिक यौवन का क्या कारण है?

ये सच है की कुछ कुछ बच्चों में असामयिक यौवन होते हैं लेकिन असामयिक यौवन क्या होता है ये जानने से बेहतर है की हम ये जानें कि असामयिक यौवन शुरू होने का क्या कारण है। तो आपको बता दें की आपका मस्तिष्क एक हार्मोन के उत्पादन के साथ प्रक्रिया शुरू करता है जिसे गोनैडोट्रोपिन-रिलीज़िंग हार्मोन (GnRH) कहा जाता है।

-यह हार्मोन जब पिट्यूटरी ग्रंथि तक पहुंचता है, तो आपके मस्तिष्क में एक छोटी ग्रंथि महिलाओं में (एस्ट्रोजन) और पुरुषों के लिए अंडकोष (टेस्टोस्टेरोन) के लिए अंडाशय में अधिक हार्मोन के उत्पादन की ओर जाता है।

-एस्ट्रोजन महिला यौन विशेषताओं के विकास का कारण है। टेस्टोस्टेरोन पुरुष यौन विशेषताओं की वृद्धि और विकास का कारण है। कुछ बच्चों में यह प्रक्रिया जल्दी क्यों शुरू होती है यह इस बात पर निर्भर करता है कि उनके पास केंद्रीय असामयिक यौवन या परिधीय असामयिक यौवन है। आपको बता दें की असामयिक यौवन मुख्य रुप से दो प्रकार के होते हैं पहला केंद्रीय पूर्व यौवन(central precocious puberty ) और परिधीय असामिय यौवन(peripheral precocious puberty)।इनके होने के कारण अलग-अलग होते हैं लेकिन आपके शरीर में इनके द्वारा किए गए परिवर्तन समान होते हैं।

केंद्रीय असामयिक यौवन(central precocious puberty)

केंद्रीय असामयिक यौवन (सीपीपी) तब होता है जब मस्तिष्क असामान्य रूप से कम उम्र में गोनाडोट्रोपिन का स्राव करता है। पिट्यूटरी एक ग्रंथि होती है जिसके द्वारा हार्मोन जारी किया जाता हैं। वे लड़कियों के अंडाशय और लड़कों के अंडकोष में स्थित गोनाड्स को संकेत देते हैं, जो यौवन से जुड़े शारीरिक परिवर्तनों के लिए सेक्स हार्मोन का उत्पादन करते हैं।ज्यादातर मामले में यह अक्सर स्पष्ट नहीं होता है कि केंद्रीय असामयिक यौवन (central precocious puberty ) का क्या कारण है। इस स्थिति वाले अधिकांश बच्चों को कोई अन्य गंभीर चिकित्सा समस्या नहीं होती हैं जो शुरुआती यौवन को शुरू कर सकती हैं।लेकिन कुछ मामलों में, केंद्रीय असामयिक यौवन के साथ जुड़ा हो सकता है,

  • जन्म के समय मस्तिष्क में तरल पदार्थ का निर्माण
  • मस्तिष्क या स्पाइनल कॉर्ड में चोट
  • हाइपोथायरायडिज्म, एक अंडरएक्टिव थायरॉयड ग्रंथि
  • ब्रेन या स्पाइनल ट्यूमर
  • परिधीय अनिश्चितकालीन यौवन

परिधीय अनिश्चित यौवन (पीपीपी)(peripheral precocious puberty)-

पीपीपी काफी रेयर ही होता है यह ज्यादा आम नहीं है, CPP के विपरीत, PPP, पिट्यूटरी ग्रंथि के समय से पहले गोनैडोट्रॉपिंस के रिलीज से उत्तेजित नहीं होता है। बल्कि यह शरीर के और कई भागों में हार्मोन और एंड्रोजन के एस्ट्रोजन के प्रारंभिक उत्पादन के परिणामस्वरूप होता है। यही कारण है कि इसे कभी-कभी गोनाडोट्रोपिन स्वतंत्र अनिश्चित यौवन (GIPP) के रूप में संदर्भित किया जाता है। एण्ड्रोजन और एस्ट्रोजन का प्रारंभिक उत्पादन निम्न समस्याओं के कारण हो सकता है जो इस प्रकार हैं।

  • मैककिन-अलब्राइट एक ऐसा सिंड्रोम है, एक असामान्य आनुवंशिक विकार है जो हार्मोन उत्पादन, त्वचा के रंग और हड्डी के स्वास्थ्य के साथ समस्याएं पैदा कर सकता है।
  • अंडकोष
  • अधिवृक्क ग्रंथि
  • अंडाशय
  • पीयूष ग्रंथि
  • लड़कों में वृषण ट्यूमर
  • लड़कियों में डिम्बग्रंथि अल्सर
  • पिट्यूटरी या अधिवृक्क ग्रंथियों में ट्यूमर

निदान

असामयिक यौवन का निदान क्या है?

-असामयिक यौवन का निदान करने के लिए बाल रोग विशेषज्ञ सबसे पहले आपके बच्चे के बारें में और आपके परिवार के इतिहास के बारें में जानेगा।

इसके अलावा आपके बच्चे की एक शारीरिक परीक्षा भी आवश्यक होगी।

  • आपका डॉक्टर आपके बच्चे की हड्डियों की “उम्र” निर्धारित करने में मदद के लिए एक एक्स-रे करने के लिए कह सकता है, हड्डियां कितनी तेजी से बढ़ रही हैं इस निदान से इसकी पुष्टि हो सकती है।
  • एक गोनैडोट्रोपिन-रिलीजिंग हार्मोन (Gn-RH) परीक्षण किया जाता है इसके अलावा अन्य हार्मोनों के स्तर की जांच के लिए एक रक्त परीक्षण भी किया जाता है, जो लड़कों में टेस्टोस्टेरोन और लड़कियों में प्रोजेस्टेरोन, प्रीकोसिस्टेंट यौवन के निदान की पुष्टि करने में मदद कर सकता है।
  • केंद्रीय असामयिक यौवन वाले बच्चों में, Gn-RH अन्य हार्मोन के स्तर को बढ़ाने का कारण होगा।वहीं परिधीय पूर्ववर्ती यौवन के साथ बच्चों में हार्मोन का स्तर समान रहेगा।
  • एक दर्द रहित, गैर-इनवेसिव चुंबकीय अनुनाद इमेजिंग (एमआरआई) स्कैन पिट्यूटरी ग्रंथि की समस्याओं को जानने में मदद कर सकता है।

इलाज

असामयिक यौवन का इलाज क्या है?

जैसा ही हम पहले भी बता चुके हैं की असामयिक यौवन के लिए उपचार इसके कारण पर निर्भर करता है।लेकिन, कुछ मामलों में,असामयिक यौवन को पहचानने का भी कोई सही कारण नहीं है। जैसे की, आपके बच्चे का इलाज उसकी उम्र के आधार पर या उसकी लंबाई को देखकर नहीं किया जा सकता है, इसके लिए आपके बच्चे को डॉक्टर कई महीनों तक मॉनीटर (monitor) करना चाहते हैं कि वह कैसे और कितनी तेजी से असामयिक यौवन के रुप में विकसित हो रहा है।

केंद्रीय असामयिक यौवन का इलाज(Treating central precocious puberty)

केंद्रीय असामयिक यौवन वाले ज्यादातर बच्चे, जिनमें कोई अंडरलाइंग मेडिकल कंडीशन (underlying medical condition) स्थिति नहीं है, उनका इलाज दवा के माध्यम से किया जा सकता है। GnRH एनालॉग थेरेपी द्वारा इस उपचार में आमतौर पर एक दवा का मासिक इंजेक्शन दिया जाता है, जैसे कि ल्यूप्रोलाइड एसीटेट (ल्यूप्रॉन डिपो), या ट्रिप्टोरेलिन (ट्रेलस्टार, ट्रिप्टोडुर किट), जो अब आगे के विकास के लिए देरी करता है।

-बच्चे को यह दवा तब तक मिलती रहती है जब तक कि वह युवावस्था की सामान्य उम्र तक नहीं पहुंच जाती। औसतन, 16 महीने बाद वह दवा लेना बंद कर देती है, तो यौवन की प्रक्रिया दोबारा से शुरू हो जाती है।

-केंद्रीय असामयिक यौवन के लिए एक अन्य उपचार विकल्प एक हिस्ट्रेलाइन इम्प्लांट है, जो एक वर्ष तक रहता है। यह उपचार नियमित रूप से इंजेक्शन के दर्द और असुविधा के बिना केंद्रीय असामयिक यौवन के लिए असरदार हो सकता है, लेकिन इसमें एक मामूली सर्जरी प्रक्रिया करने की जरुरत होती है। इंप्लांट को आपके बच्चे के ऊपरी बांह के अंदर एक चीरा के माध्यम से आपके बच्चे की त्वचा के नीचे रख दिया जाता है। एक वर्ष के बाद, यह इंप्लांट हटा दिया जाता है यदि इतने समय में इससे राहत नहीं मिलती है और जरुरत के आधार पर नया इंप्लांट लगा दिया जाता है।

अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति का इलाज(Treating an underlying medical condition)

यदि एक और चिकित्सा स्थिति आपके बच्चे के असामयिक यौवन का कारण बन रही है, तो यौवन को बढ़ने से रोकने के लिए उस स्थिति का इलाज करना जरुरी हो जाता है। जैसे की, यदि एक बच्चे में ट्यूमर है जो हार्मोन का उत्पादन कर रहा है और असामयिक यौवन का कारण बन रहा है, तो आमतौर पर यौवन तब बंद हो जाएगा जब ट्यूमर सर्जरी द्वारा यह हटा दिया जाता है।

असामयिक यौवन के निवारण(complications of precocious puberty)

  • असामयिक यौवन को हम होने से नहीं रोक सकते लेकिन वो उपाय जो हमारे बच्चे के असामयिक यौवन के विकास को कम करने में सहायता कर सके उसके बारें में तो जान सकतें है, जो इस प्रकार हो सकते हैं।
  • अपने बच्चे को स्वस्थ रहने के लिए कहते रहें।
  • हो सके तो अपने बच्चे को एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन के बाहरी स्रोतों से दूर रखें – जैसे कि घर में वयस्कों के लिए प्रिस्क्रिप्शन दवाएं या एस्ट्रोजन या टेस्टोस्टेरोन युक्त आहार की खुराक।

जोखिम

असामयिक यौवन के जोखिम क्या है?

असामयिक यौवन के कारण बच्चों को कुछ जोखिम हो सकते हैं जो इस प्रकार हो सकते हैं।

मोटा होना(Being obese)- आमतौर पर जो बच्चे अधिक वजन वाले होते हैं, उनमें असामयिक यौवन विकसित होने का खतरा अधिक होता है।

अफ्रीकी(Americans )-अमेरिकी होने के नाते आपको असामयिक यौवन अन्य जातियों के बच्चों की तुलना में अधिक प्रभावित कर सकता है।

लड़की(As a Girl)- एक लड़की होने का नाते लड़कियों में असामयिक यौवन विकसित होने की गुंजाइस अधिक होती है।

अन्य चिकित्सा शर्तों के बाद(Having other medical conditions)-कभी-कभी असामयिक यौवन(Precocious puberty) मेक्यून-अलब्राइट सिंड्रोम या जन्मजात अधिवृक्क हाइपरप्लासिया की जटिलता भी हो सकती है, ये ऐसी स्थितियां होती हैं जिनमें पुरुष हार्मोन (एण्ड्रोजन) का असामान्य उत्पादन शामिल है।बहुत ही रेयर मामलों में, अनिश्चित यौवन भी हाइपोथायरायडिज्म से जुड़ा हो सकता है। केंद्रीय तंत्रिका तंत्र की रेडिएशन चिकित्सा के बाद ट्यूमर, ल्यूकेमिया या अन्य स्थितियों के लिए रेडिएशन उपचार से युवावस्था का खतरा बढ़ सकता है।

सेक्स हार्मोन के संपर्क में होना(Being exposed to sex hormones)- एक एस्ट्रोजन या टेस्टोस्टेरोन क्रीम या अन्य पदार्थों के संपर्क में आने से जिनमें ये हार्मोन होते हैं (जैसे कि एक वयस्क की दवा या पूरक आहार), आपके बच्चे के विकास के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

जटिलताएं

असामयिक यौवन की जटिलताएं क्या हैं?

छोटा कद(Short height)- असामयिक यौवन वाले बच्चे अपने उम्र के बाकी बच्चों की तुलना में जल्दी विकसित हो सकते हैं इससे उनकी लंबाई भी सकती है। क्योंकि उनकी हड्डियां सामान्य लोगों से अधिक तेजी से मैच्योर होती हैं, उनकी विकास प्लेटें कम उम्र में सील हो जाएंगी, वे अक्सर वयस्कता में औसत से छोटी रहोगी।

सामाजिक और भावनात्मक समस्याएं(Social and emotional problems)- लड़कियां और लड़के जो अपने साथियों से बहुत पहले यौवन शुरू करते हैं, वो अपने आपको बाकी बच्चों से अलग महसूस कर सकते हैं जो उनके लिए अच्छी बात नहीं है, वे अपने शरीर में होने वाले परिवर्तनों के बारे में जागरूक हो सकते हैं। यह उनके आत्मसम्मान को भी प्रभावित कर सकता है इसके कारण वो नशे के सेवन का या अवसाद का जोखिम बढ़ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Daphal के द्वारा मेडिकल समीक्षा
shalu द्वारा लिखित
अपडेटेड 03/04/2020
x