home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बच्चों के लिए साबूदाना : बन सकता है शुरुआती सालों में टेस्टी खाना!

बच्चों के लिए साबूदाना : बन सकता है शुरुआती सालों में टेस्टी खाना!

साबूदाना (Sabudana), जिसे आमतौर पर उपवास के खाने के तौर पर जाना जाता है, यह एक प्रकार का स्टार्च होता है। ये ट्रॉपिकल पाम ट्री से निकाला जाता है। इसे मुख्य रूप से सागो पाम से प्राप्त किया जाता है। यह पौधा आमतौर पर इंडोनेशिया, फिलीपींस, पापुआ न्यू गिनी, मलेशिया जैसे देशों में मुख्य रूप से पाया जाता है, लेकिन दुनिया भर में इस पौधे की क़िस्में मौजूद है। आमतौर पर साबूदाना एक हेल्दी खाद्य पदार्थ के रूप में जाना जाता है, लेकिन क्या बच्चों के लिए साबूदाना सही है और क्या बच्चों के लिए साबूदाना पहली डायट बन सकता है? इसके बारे में जानकारी होना आवश्यक है। बच्चों को किसी भी तरह का खाना देने से पहले उसके बारे में पूरी तरह से जान लेना आपके लिए जरूरी माना जाता है, इसलिए आज हम बात करने जा रहे हैं बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) कैसे फायदेमंद होता है। लेकिन उससे पहले जानते हैं साबूदाना से जुड़ी और भी खास बातें।

और पढ़ें : बच्चे के लिए ढूंढ रहे हैं बेस्ट बेबी फूड ब्रांड्स, तो ये आर्टिकल कर सकता है मदद

कैसे बनता है साबूदाना (Sabudana)?

साबूदाना सागो पाम नामक पौधे से बनता है। इस पौधे का बॉटनिकल नाम साइकस रिवॉल्युटा है। यह किसी भी तरह की मिट्टी में आसानी से उगाया जा सकता है। इसी से निकले स्टार्ट से साबूदाना (Sabudana) बनाया जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में कार्ब (Carb) होता है, जो आपको ऊर्जा प्रदान करता है। मार्केट में आपको सागो पाम पौधे का स्टार्च (Starch) आटे के रूप में भी प्राप्त हो सकता है, यही स्टार्च का शुद्ध रूप माना जाता है। इसी आटे को पानी में मिलाकर और पका कर साबूदाना बनाया जाता है। आइए अब जानते हैं साबूदाना से आपको कौन-कौन से फायदे हो सकते हैं।

और पढ़ें : बच्चे के शरीर में प्रोटीन की कमी पर सकती है भारी, ना करें इन संकेतों को अनदेखा…

साबूदाना (Sabudana) से होते हैं ये फायदे

साबूदाना (Sabudana) अपने आप में एक सुपरफूड माना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, खनिज, प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम के अलावा अन्य पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। यह आपकी हड्डियों को मजबूत बनाए रखने का काम करता है, क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन के और आयरन पाया जाता है। इसके अलावा ये फैट, कोलेस्ट्रॉल और सोडियम (Fat, Cholesterol and Sodium) फ्री होता है, जिसकी वजह से ये सुपर फूड की तरह खाया जा सकता है।

इसके अलावा साबूदाना (Sabudana) पाचन तंत्र के लिए बेहद अच्छा माना जाता है, इसलिए व्यक्ति के बीमार पड़ने पर भारत में साबूदाना खिलाने की प्रथा प्रचलित है। वहीं इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो पेट संबंधित समस्याएं जैसे कब्ज, गैस, अपच आदि समस्याओं को ठीक करने की क्षमता रखती है। लेकिन बड़ों की ही तरह साबूदाना की यह सारी खासियत बच्चों को मिलती है या नहीं, यह जानना बेहद जरूरी है। आइए अब जानते हैं बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) का उपयोग करना कितना सही है।

और पढ़ें : कहीं आपके बच्चे में तो नहीं है इन पोषक तत्वों की कमी?

बच्चों के लिए साबूदाना : सही या नहीं? (Sabudana benefits for babies)

हर मां के लिए वो समय बहुत परेशानी भरा रहता है, जब वह पहली बार अपने बच्चे को सॉलि़ड फूड खिलाना शुरू करती है। क्योंकि बच्चों का डायजेस्टिव सिस्टम बहुत सेंसिटिव होता है, इसलिए माओं को सोच समझकर अपने बच्चों के लिए खाना चुनना पड़ता है। साथ ही साथ उन्हें ऐसे खाने का चुनाव करना पड़ता है, जो पोषक तत्वों से भरपूर हो और निगलने में आसान हो। आमतौर पर माएं सूजी का प्रयोग बच्चों के लिए करती हैं, लेकिन इसके अलावा साबूदाना (Sabudana) भी माओं की पहली पसंद में से एक है। बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) का प्रयोग करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि इसमें प्रोटीन, विटामिन के, पोटैशियम, कैल्शियम (Protein, Vitamin K, Potassium, Calcium) की भरपूर मात्रा होती है, जो बच्चे की बढ़ती उम्र में मददगार साबित होती है।

इसके अलावा बच्चे की हड्डियों को मजबूत बनाने और फ्लेक्सिबिलिटी को बनाए रखने के लिए साबूदाना एक अच्छा फूड माना जाता है, इसलिए बच्चों के लिए साबूदाना शुरुआती समय में सुपर फ़ूड की तरह काम करता है। आइए जानते हैं बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) के और क्या फायदे हो सकते हैं।

बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies)

और पढ़ें : टोडलर ग्रोथ स्पर्ट्स : बच्चे की ग्रोथ के महत्वपूर्ण चरण, जानिए विस्तार से!

बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) : डायजेशन करे बेहतर

छोटे बच्चों को किसी भी तरह का खाना खिलाए जाने से पहले यह ध्यान रखा जाता है कि यह खाना पचने में आसान हो। साथ ही इस खाने से उनके पेट में समस्याएं उत्पन्न ना हो। साबूदाना (Sabudana) अपने आप में बच्चों के डायजेस्टिव सिस्टम के लिए एक सुपर फूड माना जाता है। यदि बच्चों को खाद्य पदार्थ के रूप में यह दिया जाए, तो उन्हें कॉन्स्टिपेशन, अपच, ब्लोटिंग (Constipation, Indigestion, Bloating) इत्यादि समस्याओं से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा बच्चों के लिए साबूदाना का प्रयोग करने से गैस, डायरिया, ब्लोटिंग जैसी समस्याएं जो बच्चे को पहले साल में ज्यादा परेशान कर सकती है, ठीक हो सकती है।

बच्चों के लिए साबूदाना : कैल्शियम से भरपूर

साबूदाना (Sabudana) टेपियोका रूट से बना होता है, इसलिए इसमें भरपूर मात्रा में पोटेशियम, आयरन, विटामिन के और मुख्य रूप से कैल्शियम पाया जाता है। इसके साथ-साथ इसमें बड़ी मात्रा में मिनरल्स पाए जाते हैं, जो बच्चे की बोन हेल्थ के जरूरी माने जाते हैं। यह बच्चे के डेवलपमेंट और ग्रोथ के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। यह उन बच्चों को कैल्शियम (Calcium) प्रदान करता है, जिन्होंने ब्रेस्टफीडिंग करना छोड़ दिया है और जो अन्य किसी तरह का दूध पीना नहीं चाहते। ऐसी स्थिति में बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) कैल्शियम की जरूरत को पूरा करने का एक जरिया बन सकता है।

और पढ़ें : बच्चों के लिए मल्टीविटामिन्स ढूंढ रहे हैं, तो यहां मिल सकती है आपको हेल्प!

बच्चों के लिए साबूदाना : एनर्जी से भरपूर

जैसा कि आप सभी जानते हैं शुरुआती सालों में बच्चे अपनी ज्यादा से ज्यादा एनर्जी खर्च करते हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें एक्टिव रखने का सबसे अच्छा तरीका है कि उन्हें सही खाद्य पदार्थ दिए जाएं। टैपिओका रूट (Tapioca root), जिससे साबूदाना (Sabudana) बनाया जाता है, इसमें भरपूर मात्रा में स्टार्च पाया जाता है और इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है, जो बच्चों के शुरुआती साल में उन्हें एनर्जी देता है, इससे बच्चा जल्दी नहीं थकता और उसका डेवलपमेंट ठीक तरह से होता है। इसलिए बच्चों के लिए साबूदाना एनर्जी का एक अच्छा स्रोत माना जाता है।

बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) : वजन बढ़ाने का कारगर उपाय

कई बच्चे अपने शुरुआती सालों में खाना खाने में परेशानी पैदा करते हैं, ऐसी स्थिति का उनके शरीर पर सीधा असर पड़ता है। यदि आप भी बच्चे के वजन को लेकर परेशान हैं, तो आप बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana) का चुनाव कर सकती हैं। इसमें भरपूर मात्रा में कार्ब होते हैं, जो ईटिंग डिसऑर्डर और पीकी ईटर्स बच्चों के लिए एक अच्छा और हेल्दी खाना साबित होता है। यह बच्चों को भरपूर मात्रा में एनर्जी देता है और वजन बढ़ाने में उनकी मदद करता है। इसलिए बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) वजन बढ़ाने का एक अच्छा जरिया हो सकता है।

बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana) : गर्मियों का सुपर फूड

गर्मियों में बच्चे के पेट को ठंडा रखने के लिए माओं को अलग-अलग तरह के खाने पर निर्भर रहना पड़ता है, ऐसी स्थिति में बच्चों के लिए साबूदाना एक समर फूड के रूप में काम आ सकता है। यह बच्चे के शरीर का तापमान सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। इस तरह बच्चे को गर्मियों की वजह से कम समस्याओं का सामना करना पड़ता है। बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) गर्मियों के दिनों का एक सुपरफूड साबित हो सकता है।

यह तो थी बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana) के फायदे की बात, लेकिन इसका इस्तेमाल करने का भी एक खास तरीका है। आइए जानते हैं बच्चों के लिए साबूदाना का इस्तेमाल कैसे किया जाए।

और पढ़ें : बच्चों के लिए बेस्ट वेजिटेबल्स : समझें बच्चों की जरूरतों को!

बच्चे के जन्म को बेहतर रूप से समझने के लिए देखें ये 3 डी मॉडल

बच्चों के लिए साबूदाना : इस्तेमाल करने के भी हैं तरीके (Use of Sabudana for babies)

बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) का इस्तेमाल बच्चे की 6 महीने की उम्र के बाद किया जा सकता है। सबसे पहले उन्हें थोड़ी मात्रा में साबूदाना दिया जान जाना चाहिए। 7 महीने के बच्चे को 2 टेबल स्पून से ज्यादा साबूदाना का सेवन नहीं करवाना चाहिए। पहले यह देखना जरूरी होता है कि बच्चा साबूदाना (Sabudana) ठीक तरह से खा रहा है या नहीं। इसके अलावा उसे पाचन तंत्र से संबंधित कोई समस्या या किसी तरह की एलर्जी तो नहीं हो रही। इन स्थितियों को देखने के बाद ही बच्चे को साबूदाना दिया जाना चाहिए।

बच्चों के लिए साबूदाना का इस्तेमाल करने से पहले आपको डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए। आप चाहें तो अपने पीडियाट्रिशियन से बात करके बच्चे के लिए साबूदाना का चयन कर सकती हैं। आप चाहे तो बच्चे के लिए साबूदाना (Sabudana) कई तरह से बना सकती हैं, जिसमें साबूदाना की खीर और साबूदाना खिचड़ी बेस्ट ऑप्शन माने जाते हैं। यह दोनों ही रेसिपी बच्चे के लिए निगलने में आसान और पचाने में आसान मानी जाती है। साथ ही साथ यह टेस्ट में भी बेहतर होती हैं, इसलिए बच्चे के लिए साबूदाना बनाने की यह दो विधियां अपनाई जा सकती हैं।

और पढ़ें : छोटे बच्चों के लिए मेलाटोनिन सप्लिमेंट आखिर क्यों होते हैं जरूरी? पाइए इस सवाल का जवाब यहां!

बच्चों के लिए साबूदाना (Sabudana benefits for babies) का चुनाव करने से पहले आपको पीडियाट्रिशियन की सलाह जरूर लेनी चाहिए। वह आपके बच्चे की जरूरत के अनुसार सीमित मात्रा का चुनाव कर सकते हैं, जिससे बच्चे की सेहत पर इसका बुरा प्रभाव नहीं पड़ता। इसलिए हमेशा डॉक्टर की सलाह के बाद ही बच्चे के खाने में किसी खाद्य पदार्थ को जोड़ना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/08/2021 को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x