home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

ओपिओइड इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन : ओपिओइड के कारण होने वाली कब्ज से कैसे पाएं छुटकारा

ओपिओइड इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन : ओपिओइड के कारण होने वाली कब्ज से कैसे पाएं छुटकारा

कब्ज यानी कॉन्स्टिपेशन वो समस्या है, जब मल त्याग में समस्या होती है। यह समस्या परेशान करने वाली होती है। अगर इसका उपचार न किया जाए तो यह गंभीर रोगों का कारण भी बन सकती है। कई तरीकों से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। कब्ज के होने के कारण भी कई हो सकते हैं जैसे ख़राब लाइफस्टाइल या खानपान, कोई मेडिकल स्थिति आदि। क्या आपने ओपिओइड इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन के बारे में सुना है? यानी, ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ का होना। अगर नहीं, तो जानिए ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) के बारे में विस्तार से।

ओपिओइड इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन क्या है (What is Opioid Induced Constipation)

ओपिऑइड्स वो दवाई है जिसका प्रयोग कई समस्याओं की स्थिति में दर्द से राहत पाने के लिए किया जाता है। ओपिओइड ड्रग्स से दर्द से तो राहत मिलती है। लेकिन, इन दवाओं का कब्ज सहित अन्य समस्याओं पर प्रतिकूल प्रभाव भी हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें: कभी सोचा नहीं होगा आपने धनिया की पत्तियां कब्ज और गठिया में दिला सकती हैं राहत

जैसा की आपको पता है कि ओपिओइड का प्रयोग गंभीर दर्द को दूर करने में लिए जाता है। लेकिन, इन दवाईयों के कारण कब्ज भी हो सकती है जिसे ओपिओइड-इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन कहा जाता है। ओपिओइड-इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन से व्यक्ति के जीवन पर असर पड़ सकता है। हालांकि, इस समस्या का उपचार अक्सर प्राकृतिक साधनों के माध्यम से या ओवर-द-काउंटर दवाओं से संभव है। इस दवाई में मॉर्फिन (Morphine), कौडीन (Codeine), ऑक्सीकोडॉन (Oxycodone) और मेथाडोन (Methadone) जैसे तत्व होते हैं।

ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़

ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ होने के कारण क्या है (Causes of Opioid Induced Constipation)

ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) की समस्या बहुत अधिक बढ़ सकती है। ओपिओइड शरीर में खास प्रोटीन को बाइंड कर सकती है, जिसे ओपिओइड रिसेप्टर्स कहा जाता है। यह दिमाग, स्पाइनल कॉर्ड और गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में मौजूद होती हैं। इन रिसेप्टर्स को बाइंड करने के साथ ही ओपिऑइड्स मस्तिष्क के दर्द को महसूस करने की क्षमता को रोकते हैं। हालांकि, ओपियोइड केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को दबा या धीमा कर सकते है। सेंट्रल नर्वस सिस्टम पैन रिस्पांस के लिए जिम्मेदार है, लेकिन यह शरीर की गतिविधियों को भी नियंत्रित करता है, जिसमें इन्वॉलन्टरी मूवमेंट्स भी शामिल हैं, जो पाचन को संभव बनाते हैं। इन्हीं कारकों से ओपिओइड कब्ज का कारण बन सकती है।

सौंदर्य, त्वचा और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए क्लिक करें

ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ होने के लक्षण (Symptoms Opioid Induced Constipation)

ओपिओइड ड्रग्स का प्रयोग हालांकि कुछ खास स्थितियों में ही किया जाता है। लेकिन, इसके कारण प्रभावित व्यक्ति की समस्याएं बढ़ जाती हैं।ओपिओइड-इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन के सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं

  • सूखा, सख्त मल (Dry, Hard Stools)
  • शौच करने में कठिनाई, जिसके परिणामस्वरूप स्ट्रैनिंग और दर्द हो सकता है (Difficulty Defecating, which can result in Straining and Pain)
  • मल त्याग की लगातार इच्छा (Constant Feeling of Needing to use the Bathroom)
  • पेट में सूजन, बढ़ना या उभार (Bloating, Distention, or Bulging in the Abdomen)
  • पेट का नरम होना (Abdominal Tenderness)
  • मतली और उल्टी (Nausea and Vomiting)
  • थकान और सुस्ती (Tiredness and Lethargy)
  • भूख में कमी (Appetite Loss)
  • तनाव (Depression)

Quiz : कब्ज में क्या खाएं और क्या नहीं, जानें क्विज से

ओपिऑइड्स का उपयोग किन स्थितियों में किया जाता है (Under what Conditions are Opioids used?)

ओपिऑइड्स की सलाह गंभीर दर्द को दूर करने के लिए दी जाती है। डॉक्टर अक्सर कैंसर के उपचार के पैलिएटिव एलिमेंट (Palliative Element) के रूप में भी ओपिऑयड्स को लिखते हैं। डॉक्टर अक्सर कैंसर वाले लोगों के लिए ओपियोइड दवाओं को लिखते हैं, खासकर जब कैंसर की बीमारी लास्ट स्टेजेज पर हो।

यह भी पढ़ें: नवजात बच्चे को कब्ज होने पर क्या करें? जानें लक्षण और कारण

ओपिओइड इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन का उपचार (Treatment of Opioid Induced Constipation)

ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) होने पर इसका उपचार भी संभव है। इस स्थिति से राहत पाने के लिए अक्सर होम रेमेडीज का प्रयोग किया जाता है। जानिए कैसे किया जाता है इस समस्या को दूर:

होम रेमेडीज (Home remedies)

कुछ प्राकृतिक तरीकों से ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) से राहत पाने में मदद मिल सकती है, जैसे :

  • अधिक पानी पीना (Enough Water) : डीहाइड्रेशन से बोवेल मूवमेंट में मुश्किल हो सकती है। इसलिए आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए यह जरूरी है। पानी के साथ ही अन्य तरल पदार्थों जैसे नारियल पानी, चाय आदि का सेवन करना भी फायदेमंद हो सकता है।
  • अधिक फायबर युक्त आहार लें (Fiber food): अधिक फायबर युक्त आहार लेने से आपको बोवेल एक्टिविटी को प्राकृतिक तरीके से सामान्य करने में मदद मिलती है। अपने आहार में सब्जियों, फलों और साबुत अनाज को शामिल करें। हालांकि, बहुत अधिक फायबर लेने से आपको डायरिया और पेट में ऐंठन हो सकती है। इसलिए, सही मात्रा में इसका सेवन ही फायदेमंद है। इस बारे में अपने डॉक्टर की सलाह लें
  • आइस या हीट थेरेपी का प्रयोग (Use of Ice and Heat Therapy) : कब्ज के कारण पेट फूलना या पेट में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इन समस्याओं से राहत पाने के लिए हीट या कोल्ड थेरेपी का प्रयोग करें।
  • फिजिकल एक्टिविटी को बढ़ाएं (Physical Activities) : व्यायाम और शारीरिक गतिविधि से इंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में संकुचन बढ़ती है और बोवेल एक्टिविटी को बढ़ावा मिलता है। दिन में कम से कम 30 मिनट तक व्यायाम करें। हालांकि किसी भी व्यायाम की शुरुआत से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

यह भी पढ़ें: कब्ज की शिकायत दूर करने के कुछ घरेलू उपाय, दिलाएंगे राहत

  • कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन छोड़ दें (Don’t eat some foods): जो खाद्य पदार्थ इस समस्या को बढ़ाते हैं उन्हें अपने आहार में शामिल न करें। अधिक बसा युक्त या प्रोसेस्ड आहार को पचाना मुश्किल होता है। इसलिए इनका सेवन न करें। इसके साथ जंक फ़ूड को भी छोड़ दें।
  • स्मोकिंग से बचे (Avoid Smoking) : स्मोकिंग भी पेट की समस्याओं जिनमें कब्ज भी शामिल है, उन्हों बदतर बना सकती है। इसलिए ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) की समस्या से बचने के लिए भी स्मोकिंग करना छोड़ दें
  • तनाव (Stress) : तनाव भी कब्ज की समस्या को बदतर बना सकता है। इसलिए, तनाव से बचने के लिए योगा और मैडिटेशन करें, अच्छा खाएं और खुश रहें। अधिक तनाव की स्थिति में डॉक्टर से इलाज कराएं।
  • अन्य सावधानियां (Other Precautions): जब भी मल त्याग की इच्छा हो तुरंत मल त्यागें। मल त्याग में देरी न करें। ऐसा करने से मल सूखा और सख्त हो सकता है। जिससे मल त्याग में समस्या हो सकती है। इसके साथ ही रोजाना के ही समय पर मल त्याग की आदत डालें।

 कब्ज़

दवाइयां

ओपिओइड के प्रयोग का सबसे सामान्य साइड इफ़ेक्ट है कब्ज। ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) होने की स्थिति में डॉक्टर आपको कुछ दवाईयां लेने की सलाह दे सकते हैं, जैसे:

  • ऑस्मोटिक लैक्सटिवस (Osmotic Laxatives) : इनसे आंतों में पानी की मात्रा बढ़ती है जिससे मल सॉफ्ट होता है।
  • एमोलिएंट्स या लुब्रिकेंट्स (Emollients or Lubricants) : यह मल को नरम और चिकना करने में मददगार हैं।
  • स्टीमुलेंट कैथारिक्स (Stimulant Cathartics): उत्तेजक कैथेटर आंतों में मूवमेंट को बढ़ाता है, जिससे मल त्याग में आसानी होती है।
  • प्रोस्टाग्लैंडिन या प्रोकाइनेटिक दवाएं (Prostaglandins or Prokinetic Drugs): प्रोस्टाग्लैंडिन या प्रोकाइनेटिक दवाएं आंतों की पानी और इलेक्ट्रोलाइट्स को अवशोषित करने के तरीके को बदलकर मल के मूवमेंट को बढ़ाती हैं।
  • दवाएं (Medicines) : दवाइयां जो आंत्र पर ओपिओइड के प्रभाव को रोकती हैं, वो कब्ज को कम करने में मदद कर सकती हैं। डॉक्टर की सलाह के बाद ही इन्हें लेना चाहिए

हर्बल रेमेडीज

कुछ प्राकृतिक हर्बल रेमेडीज का प्रयोग भी ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) की समस्या को रोकने में मददगार हो सकती है। यह हर्बल तरीके बिलकुल सुरक्षित होते हैं और इनके प्रयोग से कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है। यह हर्बल चीजें इस प्रकार हैं:

  • एलोवेरा (Aloe Vera)
  • शहद (Honey)
  • चिया सीड्स (Chia Seeds
  • कैस्टर आयल (Castor Oil)
  • ओट्स (Oats)
  • कीवी (Kiwifruit)

ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation)

ओपिओइड के अन्य दुष्प्रभाव (Side effects of Opioids)

ओपिओइड ड्रग से कब्ज ही नहीं बल्कि अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। इसके कुछ दुष्प्रभाव इस प्रकार हैं:

  • नींद न आना (Drowsiness)
  • जी मिचलाना (Nausea)
  • सांस लेने में समस्या और श्वसन प्रणाली संबंधी सामान्य अवसाद (Slower Breathing and General Depression of the Respiratory System)

यह भी पढ़ें: Constipation: कब्ज (कॉन्स्टिपेशन) क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

जो कोई भी व्यक्ति दर्द से राहत के लिए ओपियोइड दवा का उपयोग कर रहा है, उसे पता होना चाहिए कि कब्ज एक आम दुष्प्रभाव है। बहुत सारा पानी पीना, उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ खाना, और सक्रिय रहना आदि प्रभाव को कम करने में मदद कर सकते है। ओपिओइड ड्रग्स से कब्ज़ (Opioid Induced Constipation) में अगर यह पर्याप्त नहीं हैं, तो डॉक्टर से सलाह लें। कुछ अन्य उपचार विकल्प आपको समस्या को कम करने में प्रभावी साबित हो सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Opioid Induced Constipation. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK493184/ .Accessed 05-04-21

Opioid-induced Constipation in Patients With Cancer-related Pain. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT01384292 .Accessed 05-04-21

Medical Management of Opioid-Induced Constipation. https://www.gastrojournal.org/article/S0016-5085(18)34782-6/pdf .Accessed 05-04-21

Opioid-Induced Constipation: Clinical Guidance and Approved Therapies. https://www.uspharmacist.com/article/opioidinduced-constipation-clinical-guidance-and-approved-therapies .Accessed 05-04-21

Opioid-induced constipation – a preventable problem. https://www.apsoc.org.au/PDF/Publications/Veterans_MATES_27_Managing_Constipation_with_Pain_Medicines_TherBrief_JUN11.pdf

.Accessed 05-04-21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड