हमारे ऑव्युलेशन कैलक्युलेटर का उपयोग करके जानें अपने ऑव्युलेशन का सही समय

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

ऑव्युलेशन क्या है?

ऑव्युलेशन एक चरण है जो एक महिला के मासिक धर्म चक्र के दौरान होता है। जब एक अंडाशय उस अंडे का निर्माण करता है जो गर्भाशय की ओर फैलोपियन ट्यूब के माध्यम से बढ़ता है इसे ऑव्युलेशन कहा जाता है। ऑव्युलेशन महिलाओं के लिए प्रजनन का सबसे अच्छा समय माना जाता है।

ऑव्युलेशन एक महीने की अवधि में एक से अधिक बार हो सकता है। ऑव्युलेशन का सही समय निर्धारित करना मुश्किल है और यह अलग-अलग हो सकता है। जब आप अपने मासिक धर्म चक्र को सही तरीके से जानती हैं, तो आपके गर्भधारण की संभावना भी बेहतर हो जाती है।

गर्भ धारण के आपके प्रयास शरीर के वजन जैसे अन्य स्वास्थ्य पहलुओं से भी प्रभावित हो सकते हैं। स्वस्थ जीवन जीने और गर्भावस्था की तैयारी के लिए आपके शरीर की ऊंचाई के अनुसार स्वस्थ वजन होना महत्वपूर्ण है। अपने बीएमआई की जाँच करें और पता करें कि आपका आदर्श वजन क्या होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: यीस्ट इंफेक्शन कैसे फर्टिलिटी को कर सकता है प्रभावित?

ऑव्युलेशन में कब और क्या होता है?

एक सामान्य मासिक धर्म चक्र 28- 35 दिनों के बीच होता है। ऑव्युलेशन की प्रक्रिया आम तौर पर आपके चक्र के 11 और 21 दिनों के बीच होती है। इस ऑव्युलेशन स्पैन के दौरान ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (एलएच) नामक एक हार्मोन का अचानक उछाल होता है। यह उछाल अंडाशय से सबसे परिपक्व अंडे के निर्माण का कारण बनता है। जबकि अंडा पतली फैलोपियन ट्यूब से गर्भाशय की ओर जाता है, प्रोजेस्टेरोन नामक एक अन्य हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है जो गर्भाशय को तैयार करने में मदद करता है।

हर महिला का सटीक 28-दिवसीय चक्र नहीं हो सकता है, इसलिए ऑव्युलेशन समय भिन्न हो सकता है। आमतौर पर, आपके चक्र के मध्य-बिंदु के 4 दिन पहले या 4 दिनों में ओवल्यूशन होता है।

ऑव्युलेशन के लिए समय मायने रखता है

एक महिला का शरीर आमतौर पर हर महीने एक अंडा जारी करता है जिसे ओवल्यूशन कहा जाता है। अंडाशय छोड़ने के 24 घंटों के भीतर इस अंडे को जल्द ही निषेचित करने की आवश्यकता होती है, जिससे अंडा भंग हो जाता है। शुक्राणु गर्भाशय में 3-5 दिनों तक जीवित रह सकता है। इसलिए, यदि आप अपने ओव्यूलेशन शेड्यूल के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं, तो आप और आपका पार्टनर गर्भधारण की संभावना के अनुसार सेक्स की योजना बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें: क्या 50 की उम्र में भी महिलाएं कर सकती हैं गर्भधारण?

जानें अपने ऑव्युलेशन का सही समय

आमतौर पर, आपको गर्भधारण की सबसे अच्छी संभावना होने के लिए अपने ऑव्युलेशन से 1-2 दिन पहले सेक्स करना चाहिए। यदि आपके पास 28-दिन का एक नियमित मासिक धर्म है, तो 14 दिन पीछे से गिनें जब अगली अवधि शुरू होने की उम्मीद हो। इस अवधि के दौरान हर दूसरे दिन सेक्स करने की कोशिश करें। इसे ‘फर्टाइल विंडो’ कहा जाता है। याद रखें, कि हर दूसरे दिन सेक्स करने से किसी पुरुष का स्पर्म काउंट कम हो सकता है।

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, आपका चक्र शायद कम या लंबी अवधि का हो। इसलिए, संभावित दिन जानने के लिए एक ऑव्युलेशन कैलक्युलेटर उपयोगी हो सकता है।

ऑव्युलेशन के लक्षण क्या हैं?

कुछ लक्षण जो आपको अपने ऑव्युलेशन चरण को महसूस करने में मदद करते हैं, वे हैं:

  • स्तन की कोमलता
  • सेक्सुअल ड्राइव में वृद्धि
  • पेट के एक तरफ दर्द या बेचैनी जिसे मितेलस्कमर (mittelschmerz) भी कहा जाता है।
  • हल्का रक्तस्राव
  • ऑव्युलेशन के दौरान, आपका सर्वाइकल म्यूकस अधिक खिंचाव और फिसलन वाला हो जाता है जो शुक्राणु को अंडे तक आसानी से पहुंचने में मदद करता है।

हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें

हर महिला की एक अलग चक्र और शरीर रचना होती है। कुछ में निश्चित तिथि या समय पर ऑव्युलेशन नहीं हो सकता है। कुछ को अनियमित मासिक चक्र का भी सामना करना पड़ता है जिससे सबसे अच्छा ऑव्युलेशन डेट का पता लगाना मुश्किल हो जाता है। ऐसे मामलों में, अपने चिकित्सक से परामर्श करें जो सही चिकित्सा या उपचार से आपकी सहायता कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान फोलिक एसिड लेना क्यों जरूरी है?

हेलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, परीक्षण या उपचार प्रदान नहीं करता है। नीचे दिए गए टूल्स भी सहायक हो सकते हैं।

Share now :

रिव्यू की तारीख नवम्बर 15, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया दिसम्बर 12, 2019

सूत्र