कभी खुशी, कभी गम…कुछ ऐसी ही है बायपोलर डिसऑर्डर की समस्या

By

बायपोलर डिसऑर्डर की समस्या से पीड़ित व्यक्ति किसी भी एक पल में अपने मूड स्विंग्स की आदत से परेशान रहता है। एक ऐसी मानिसक स्थिति है, जिसमें रोगी हिंसक भी हो सकता है। कुछ अनुमानों के अनुसार, बाइपोलर डिसऑर्डर से पीड़ित लोगों में 11 से 16 प्रतिशत लोगों में हिंसक मामले सामने आए हैं। आमतौर पर हिंसा अत्यधिक मूड खराब या दवा, शराब के उपयोग के कारण होती हैं। मूड स्विंग्स सप्ताह या साल में दो से चार बार से लेकर कई बार तक हो सकता है। बायपोलर डिसऑर्डर की वजह से रिश्तों में खटास, नौकरी या स्कूल में खराब प्रदर्शन और यहां तक ​​कि आत्महत्या की स्थिति भी आ सकती है। यहां बायपोलर डिसऑर्डर की समस्या के बारे में अधिक जानने के लिए आप यह क्विज खेल सकते हैं और अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं।

powered by Typeform

और पढ़ें:-

Down Syndrome : डाउन सिंड्रोम क्या है?जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Dementia : डेमेंशिया क्या है?

Menopause :मेनोपॉज क्या है? जानिए इसके कारण ,लक्षण और इलाज

Leprosy: कुष्ठ रोग क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और उपाय

Share now :

रिव्यू की तारीख फ़रवरी 13, 2020 | आखिरी बार संशोधित किया गया फ़रवरी 13, 2020

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे