home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें सेक्स और हमारे दिल के बीच का रिश्ता?

जानें सेक्स और हमारे दिल के बीच का रिश्ता?

सेक्स स्वस्थ जीवन का एक अहम हिस्सा है। हालांकि, कुछ ह्दय रोगी इस कशमकश में रहते हैं कि सेक्स की वजह से उनपर कोई विपरीत असर न पड़ जाए। इसके उलट अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन का कहना है कि ह्रदय रोगियों के लिए सेक्स करना सुरक्षित होता है और इससे फायदा ही होता है। इस लेख में ह्रदय रोगियों में सेक्स को लेकर जो प्रश्न हैं उन्हें दूर करने की कोशिश करते हैं।

क्या सेक्स एक एक्सरसाइज है?

जवाब है हां, सेक्स एक एकसरसाइज है। जब आप सेक्स करते हैं तब आप एक तरह से एक एक्सरसाइज कर रहे होते हैं। इसी वजह से अगर कोई ह्दय रोगी वॉकिंग कर सकता है या सीढ़ियां चढ़ सकता है और इसके बाद भी उसे सीने में दर्द या कोई तकलीफ नहीं होती, तो सेक्स बिल्कुल कर सकता है। ह्रदय रोगियों में सेक्स को लेकर कई तरह का डर होता है, लेकिन उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। इस लेख में आगे हम जानते हैं एक्सपर्ट्स की ह्रदय रोगियों में सेक्स को लेकर क्या राय है…

और पढ़ें: सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के इन उपायों को आजमाएं और सेक्स-लाइ‍व को रिजूवनेट करें

क्या सेक्स हमारे दिल के लिए अच्छा है?

एक शोध के मुताबिक जो पुरुष महीने में कम या एक बार सेक्स करते हैं उनहें दिल की बीमारी होने की संभावना बढ़ जाती है। वहीं सेक्शुअली एक्टिव पुरुषों में ये संभावना कम होती है। हालांकि, इस शोध से यह सिद्ध नहीं होता कि सेक्स से दिल की बीमारियां रोकी जा सकती है। हां ये जरूर है कि स्वस्थ जीवन में सेक्शुअल एक्टिविटी की अपनी एक जगह है।

और पढ़ें: सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा (इजैक्युलेशन) को कैसे बढ़ाएं?

क्या हृदय रोग से ग्रसित लोगों के लिए सेक्स करना सुरक्षित है?

हृदय रोग से ग्रसित लोगों के मन में सबसे बड़ा डर जो होता है वो यह कि सेक्स करते समय उन्हें हार्ट अटैक आ सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, सेक्स के दौरान आपकी हृदय गति बढ़ जाती है, लेकिन ज्यादातर हार्ट पेशेंट्स को इसकी चिंता नहीं करनी चाहिए। सामान्य तौर पर यदि आप बिना किसी कठिनाई के सीढ़ियां चढ़ रहे है या जॉगिंग कर रहे हैं तो आपके लिए सेक्स करना भी सुरक्षित है।

सेक्स के दौरान हार्ट अटैक आने की संभावना न के बराबर है। इससे आपको डरने की जरूरत नहीं है। जब तक आप निम्नलिखित लक्षण का अनुभव नहीं कर रहे हैं, यह चिंताजनक बात नहीं है।

  • छाती में दर्द (Chest pain)
  • सांस लेने में कठिनाई (Shortness of breath)
  • दिल की अनियमित धड़कन (Irregular heartbeat)
  • मतली या अपच (Nausea or indigestion)

और पढ़ें: मॉर्निंग सेक्स के फायदे पाने के लिए जानिए कुछ बेहतरीन टिप्स

ह्रदय रोगियों में सेक्स को लेकर क्या कहते हैं शोध?

द जर्नल ऑफ द अमेरिकन एसोसिएशन की एक स्टडी के अनुसार, सेक्स एरोबिक एक्टिविटी का फॉर्म है जो एंजायना को ट्रिगर कर सकता है। हृदय में खराब बल्ड फ्लो होने के कारण चेस्ट पेन की शिकायत हो सकती है। यह हार्ट अटैक होने की संभावना को बढ़ाता है, लेकिन इसकी संभावना बहुत कम होती है। स्टडी में सामने आया कि हर 10 हजार लोग जो हफ्ते में एक बार सेक्स करते हैं उनमें से दो या तीन को हार्ट अटैक आने की संभावना होती है।

अगर दिल के मरीज हैं तो सेक्स करने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

ह्रदय रोगियों में सेक्स को लेकर सावधानी बरतने की जरूरत होती है। सेक्सशुअल रिलेशन बनाने से पहले निम्न बातों का ध्यान रखें…

  • अगर आप दिल के मरीज हैं तो सेक्शुअल एक्टिविटी से पहले एक बार अपने डॉक्टर से पूरा चेकअप कराएं और सलाह लें।
  • अगर आप को सेक्स संबंधी परेशानियां या किसी तरह का डिसफंक्शन महसूस हो रहा है तो जांच कराएं कि कहीं ये दिली की बीमारी की वजह से तो नहीं है

और पढ़ें: सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन के कारण और उनसे राहत पाने के उपाय

ह्दय रोग के बाद कब शुरू करें सेक्स?

ह्रदय रोगियों में सेक्स का अच्छा प्रभाव तभी देखा जा सकता है जब कुछ बातों का ध्यान रखा जाए। अगर हाल ही में आपका हार्ट अटैक का उपचार या किसी तरह की हार्ट सर्जरी हुई है, तो हमेशा डॉक्टर की सलाह लेकर जानें कि आपके वापस सेक्शुअली एक्टिव होने का अभी सही समय है या नहीं। कई मामलों में सेक्शुअल एक्टिविटी से कुछ समय के लिए दूरी बना ली जाने चाहिए। ऐसा कुछ लक्षणों पर निर्भर करता है। जैसे अगर आप सेक्शुअल एक्टिविटी या किसी और फिजिकल एक्टिविटी के दौरान सीने में दर्द महसूस करते हैं तो आपको इनके पूर्ण रूप से ठीक होने तक सेक्स नहीं करना चाहिए। अगर आपकी सर्जरी हुई है, तो भी आपको घाव भरने तक का इंतेजार करना चाहिए।

सेक्स प्रॉब्लम?

कई बार दिल की बीमारियों की वजह से शरीर में ऐसे बदलाव आते हैं, जिनकी वजह से ह्रदय रोगियों में सेक्स से जुड़ी कई तरह की प्रॉब्लम्स शुरू हो जाती है। कुछ लोगों में सेक्स की इच्छा खत्म हो जाती है। उदाहरण के तौर पर पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन यानी सेक्स ऑर्गन में खून का प्रवाह न के बराबर होता है या इतना कम होता है कि सेक्शुअल एक्टिविटी न की जा सके। वहीं महिलाओं में वेजाइनल ड्रायनेस यानी सेक्स ऑर्गन में सूखापन आ जाता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर्स की मदद लेकर उचित इलाज कराया जाना जरूरी होता है।

और पढ़ें: छोटे लिंग के साथ बेहतर सेक्स करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके

हार्ट के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है सेक्स

नुकसान पहुंचाने की बजाय सेक्स हार्ट को कई तरह से फायदा पहुंचा सकता है। एक शोध के अनुसीर, जो पुरुष हफ्ते में दो बार सेक्स करते हैं और महिलाएं जो सेक्सुअली सेटिस्फाइड रहती हैं उन्हें हार्ट अटैक आने का खतरा कम होता है। सेक्स एक एक्सरसाइज है, जो स्ट्रेस को दूर, बेहतर नींद, हृदय को मजबूत बनाता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, सेक्स अकेलेपन, डिप्रेशन और एंग्जायटी को कम करता है, जिसका सीधा कनेक्शन हृदय रोग से होता है।

क्या सेक्स के दौरान दिल का दौरा पड़ने की संभावना है?

जब भी आप शारीरिक रूप से सक्रिय होते हैं, चाहे वह यौन क्रिया हो या एक रनिंग या किसी अन्य प्रकार के एरोबिक व्यायाम, तब आपका जोखिम थोड़ा बढ़ जाता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार स्टेबल हार्ट वाले लोगों के लिए, नियमित शारीरिक गतिविधि के दीर्घकालिक लाभ होते हैं, जिसमें सेक्स भी शामिल है। यह जोखिम को दूर करता है।

और पढ़ें: बायसेक्सुअल के बारे में जाने हर जरूरी बात, यह कैसे हैं गे और लेस्बियन से अलग

हमे उम्मीद है आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में ह्रदय रोगियों में सेक्स को लेकर कंफ्यूजन से जुड़ी जानकारी दी गई है। यदि आपको इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी चाहिए तो आप अपना प्रश्न कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हम अपने एक्सपर्ट्स द्वारा आपके प्रश्नों का उत्तर दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लेना ना भूलें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Piyush Singh Rajput द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/07/2019
x