home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

शरीर में जिंक की कमी, बन सकती हैं पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की वजह!

शरीर में जिंक की कमी, बन सकती हैं पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की वजह!

कई पुरुष यह सवाल करते हैं कि क्या मिनरल्स उनके शरीर में टेस्टोस्टेरोन लेवल (Testosterone Levels) और लिबिडो (Libido) को बढ़ाने के लिए मदद कर सकते हैं? तो इसका उत्तर है हां, मिनरल पुरुषों के यौन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हैं। ऐसा ही एक मिनरल है जिंक। जिंक एक ऐसा वायटल मिनरल (Vital Mineral), जिसका प्रयोग हमारा शरीर कई तरीकों से करता है। दरअसल, जिंक मनुष्य के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण रोल निभाता है। इन प्रक्रियाओं में ग्रोथ, इम्यूनिटी और प्रजनन आदि शामिल हैं। यह शरीर को टेस्टोस्टेरोन सहित कई हार्मोन बनाने और उन्हें रेगुलेट करने में भी मदद करता है। यही नहीं, कई बार किए गए शोध में बात साबित हुई है की पर्याप्त जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) नहीं होने के बीच में गहरा लिंक है। जिंक की कमी का यौन स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है। आइए, जानते हैं जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) के बारे में विस्तार से:

इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या है? (What is Erectile Dysfunction)

जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) के बीच के लिंक के बारे में जानने से पहले इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बारे में जानना जरूरी है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन वह स्थिति है, जिसमें पुरुषों में संभोग के लिए पर्याप्त रूप से इरेक्शन नहीं हो पाता। एक शोध के मुताबिक दस में से एक पुरुषों को जीवन में कभी न कभी यह समस्या अवश्य होती है। यही नहीं, हर व्यक्ति के लिए इस समस्या के लक्षण अलग हो सकते हैं। इसके कारण भी कई हो सकते हैं जैसे कुछ पुरुष अधिक शराब, स्ट्रेस, रिलेशनशिप प्रॉब्लम या अधिक थकावट के कारण इरेक्शन में समस्या महसूस करते हैं। इरेक्टाइल डिसफंक्शन के अन्य कारण इस प्रकार हैं:

यह भी पढ़ें : परफॉरमेंस एंग्जायटी और इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बारे में यह बातें जानना न भूलें!

  • वैस्कुलर डिजीज (Vascular Disease)
  • न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर्स (Neurological Disorders)
  • साइकोलॉजिकल स्टेट्स (Psychological States)
  • ट्रामा (Trauma)
  • कोई गंभीर बीमारी (Chronic Illness)

परफॉरमेंस एंग्जायटी और इरेक्टाइल डिसफंक्शन

जिंक के बारे में अधिक जानें (Zinc)

जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) में बीच में लिंक के बारे में जानने से पहले जिंक के बारे में जानना भी जरूरी है। जिंक वो मिनरल है जो शरीर को सामान्य फंक्शनिंग में मदद करता है। जिंक का प्रयोग शरीर का हर सेल करता है। इसका अर्थ यह है कि यह इम्यून फंक्शन (Immune Function) में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लेकिन, हमारा शरीर खुद जिंक नहीं बना पाता है। इसलिए इसे हम अपने आहार से प्राप्त कर सकते हैं। जिंक का प्रयोग जिंक डेफिशियेंसी (Zinc Deficiency) और इनके परिणामों से बचने और उपचार के लिए किया जाता है। इसका एक फायदा यह भी है कि जिंक की सही मात्रा पुरुषों में टेस्टोरोन की मात्रा को बनाए रखने में मददगार है। यही नहीं, जिंक स्पर्म के स्वास्थ्य के साथ ही पुरुषों के संपूर्ण स्वास्थ्य को बनाये रखने में महत्वपूर्ण है।

जिंक डेफिशियेंसी क्या है? (What Is Zinc Deficiency)

जिंक डेफिशियेंसी का अर्थ है शरीर में पर्याप्त जिंक की सप्लाई न होना। ऐसा तब होता है जब कोई व्यक्ति आहार या सप्लीमेंट्स के माध्यम से उतना जिंक नहीं प्राप्त कर पता, जितना उसे चाहिए होता है। हर व्यक्ति के लिए जिंक की मात्रा की जरूरत अलग होती है। इसके लिए कई चीजों का ध्यान में रखा जाता है। जैसे पुरुषों को महिलाओं की तुलना में अधिक जिंक लेने की सलाह दी जाती है। आपको कितना जिंक लेना है, इसके लिए उम्र भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जिंक की कितनी मात्रा आपको लेनी है इसके लिए डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

पारंपरिक खानपान, योग एवं स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए क्लिक करें

शरीर में जिंक की कमी के बारे में कैसे पता चलता है? (Zinc Deficiency in Body)

जिंक की कमी का निदान ब्लड टेस्ट से किया जाता है। इसके लिए आपके डॉक्टर आपको सलाह दे सकते हैं। इस टेस्ट के परिणाम से उन्हें यह पता चलता है कि मरीज के शरीर में कितना जिंक है। डॉक्टर यह जान पाते हैं कि मरीज के शरीर में पर्याप्त मिनरल है या कम। इस टेस्ट की सलाह तब दी जाती है, जब उन्हें लगता है कि रोगी के शरीर में जिंक की मात्रा कम है या उन्हें इसका कोई लक्षण नजर आता है। शरीर में कम जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) दोनों के बारे में टेस्ट से पता चल सकता है, जो डॉक्टर की सलाह के बाद कराने चाहिए।

जिंक डेफिशियेंसी के लक्षण कौन से हैं? (Symptoms of Zinc Deficiency)

जिंक डेफिशियेंसी के लक्षण गंभीर मामलों में अलग हो सकते हैं। यही नहीं, गंभीर मामलों में जिंक की कमी जानलेवा भी हो सकती है। जिंक की कमी के कई लक्षण और स्थिति अन्य हेल्थ डिसऑर्डर्स से जुड़ी होती है। जिंक की कमी के लक्षण इस प्रकार हैं:

  • ग्रोथ का कम होना और रुक जाना (Slowing or Stopping of Growth)
  • कमजोर इम्यून सिस्टम (Weak Immune System)
  • इन्कम्प्लीट या सेक्सुअल मैच्योरिटी में देरी (Delayed or Incomplete Sexual Maturity)
  • सेंसरी इम्पेयरमेंट (Sensory Impairment)
  • भूख में कमी (Loss of Appetite)
  • लंबे समय तक डायरिया (Long-Term Diarrhea)
  • निमोनिया (Pneumonia)
  • त्वचा पर रैशेज (Skin Rashes)
  • बालों का झड़ना या पतला होना (Hair Loss or Thinning)
  • दिमागी रूप से थकावट महसूस करना (Mental Tiredness)
  • बीमारियों से लड़ने में समस्या (Trouble Fighting off Illnesses)
  • वजन कम होना (Weight Loss)
  • जिंक की कमी के कारण त्वचा में घाव या घावों का देरी से भरना और अल्पजननग्रंथिता (Hypogonadism) और नपुंसकता (Impotence) जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं

यह भी पढ़ें : नपुंसकता और बांझपन में क्या है अंतर, जानने के लिए पढ़ें

जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन में क्या है लिंक? (Zinc And Erectile Dysfunction)

अब जानते हैं जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) के बीच में लिंक के बारे में। कई अध्ययनों और क्लीनिकल ट्रायल्स से यह साबित हुआ है कि पुरुषों की सेक्शुअल हेल्थ और जिंक में कनेक्शन है। यह भी पाया गया है कि जिंक स्पर्म प्रोडक्शन में भी भूमिका निभाता है। इसके अतिरिक्त, जिंक भी हार्मोन उत्पादन में भी सहायक है। इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि जिंक इरेक्टाइल फंक्शन पर सीधे तौर पर प्रभाव नहीं डालता है। लेकिन, इसका यह अर्थ बिलकुल भी नहीं है कि इसकी कमी का पुरुषों की सेक्शुअल स्वास्थ्य और परफॉरमेंस पर नहीं पड़ता है।

जिंक के कुछ खास एक्शन्स की वजह से इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक समस्या की तरह विकसित हो सकता है। यह बात भी साबित हो चुकी है कि खाने में जिंक लेने का प्रभाव भी पुरुषों के यौन स्वास्थ्य पर पड़ता है। एक शोध में कुछ युवा लोगों को ऐसी चीजों को खिलाया गया जिसमें कम जिंक की मात्रा थी, ताकि उनके शरीर में जिंक की कमी हो। कुछ दिन के बाद उनमें टेस्टोस्टेरोन लेवल की जांच की गई तो उसमें कमी पाई गई। जिसका कारण लौ जिंक डायट थी। जब यह शोध बुजुर्गों में किया गया और उनके आहार में जिंक कि मात्रा बढ़ाई गई, तो उनमे टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) लेवल दोगुना था। इससे साबित हुआ है कि जिंक टेस्टोस्टेरोन कि मात्रा को बढ़ाने में लाभदायक है।

US नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन (US National Library of Medicine) के द्वारा मेल सेक्शुअल एबिलिटी का अध्ययन करने के लिए चूहों का प्रयोग किया गया और यह पाया गया है कि जिंक थेरेपी से मेल चूहों की यौन क्षमता सुधरती हैहालांकि, यह प्रभाव इसकी खुराक पर निर्भर करता हैजिससे लिबिडो (Libido) यानी कामेच्छा भी कम होती है। यही नहीं, टेस्टोस्टेरोन सेक्स ड्राइव को रेगुलेट करने में भी महत्वपूर्ण है। अगर टेस्टोस्टेरोन की कमी हो, तो पुरुष कामेच्छा में कमी महसूस करते हैं। जिससे इरेक्टाइल फंक्शन में समस्या हो सकती है। कुछ स्थितियां जो जिंक के अब्सॉर्प्शन में समस्या पैदा कर सकती हैं वो इस प्रकार हैं :

  • क्रोहन’स डिजीज (Crohn’s Disease)
  • सीलिएक डिजीज (Celiac Disease)
  • इंफ्लेमेटरी बोवेल डिजीज और अल्सर (Inflammatory Bowel Disease and Ulcers)
  • लिवर और किडनी डिजीज (Liver and Kidney Disease)

यह भी पढ़ें : डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन – जानिए कैसे लायें सुधार

क्या जिंक की कमी का प्रोस्टेट हेल्थ पर असर होता है?

प्रोस्टेट पुरुष शरीर में प्रजनन प्रणाली का एक अनिवार्य हिस्सा है। यह एक ग्रंथि है जो प्रोस्टेट फ्लूइड का उत्पादन करती है, इसे प्रोस्टेट फ्लूइड को शुक्राणु के साथ मिलाया जाता है। इन दोनों के मिलने से सीमेन बनता है जो पुरुष स्खलन के बाद बाहर निकलता है। जिंक प्रोस्टेट ग्रंथि को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है। ऐसा माना गया है कि प्रोस्टेटायटिस (Prostatitis) जिन पुरुषों के शरीर में जिंक की मात्रा कम होती है, उनमें विकसित हो सकता है। यानी जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) के साथ ही जिंक और प्रोस्टेट कैंसर में भी कनेक्शन हो सकता है। जिंक की कमी वाले लोगों में प्रोस्टेट कैंसर का खतरा अधिक होता है। इसलिए, इस रोग से बचने के लिए पर्याप्त जिंक को लेने की सलाह दी जाती है।

जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन

कौन सी चीजों से मिल सकता है जिंक? (Foods that Provide Zinc)

जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) दोनों से पुरुषों का जीवन प्रभावित होता है। अगर आप जिंक डेफिशियेंसी से बचना चाहते हैं तो सबसे अच्छा तरीका है अपने खानपान में बदलाव करना। इसके लिए कुछ खास चीजों को अपने आहार में शामिल करें जिसमें जिंक अधिक मात्रा में हो। इससे यह चीज सुनिश्चत होगी कि आपका शरीर पर्याप्त मिनरल प्राप्त कर रहा है। इससे जिंक का स्तर भी सामान्य रीस्टोर हो जाएगा। कई चीजों में जिंक होता है, इनमें से कुछ खाद्य पदार्थों को सेक्स ड्राइव और सम्पूर्ण सेक्शुअल फंक्शन को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। यह आहार कुछ इस प्रकार हैं:

  • रेड मीट (Red Meat)
  • सीड्स (Seeds)
  • गेहूं(Wheat Germ)
  • मुर्गी का मांस (Poultry meat)
  • बादाम (Almonds)
  • मटर (Peas)
  • काजू (Cashews)

यह सच है कि जिंक के लिए बहुत सीमित खाद्य विकल्प हैं। कुछ सप्लीमेंट भी एक आदमी को पर्याप्त मात्रा में जिंक प्रदान कर सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में:

पुरुषों का बॉडी चेकअप होता है जरूरी, क्या आप जानते हैं इस बारे में ?

जिंक सप्लीमेंट्स के बारे में जानें (Zinc Supplements)

खाने के अलावा सप्लीमेंट भी जिंक प्रदान कर सकते हैं। कई तरह के सप्लीमेंट में केवल जिंक होता है लेकिन कई सप्लीमेंट्स मिनरल और विटामिन का कॉम्बिनेशन होते हैं। जब भी आप सप्लीमेंट लेते हैं तो इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि इन्हें खासतौर पर पुरुषों के लिए ही बनाया गया हो। जब आप सप्लीमेंट का प्रयोग कर रहे हैं तो आपको इस बात को भी सुनिश्चित करना चाहिए कि आपको इससे पर्याप्त जिंक मिल रहा हो। इसके साथ ही जिंक की ओवरडोज न लेने की सलाह दी जाती है। अधिक जिंक लेने से भी कई समस्याएं हो सकती है और यह पुरुषों के लिए अधिक मात्रा हानिकारक हो सकती है। जिंक की सही मात्रा के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : लाइलाज नहीं है नपुंसकता रोग, ये सेक्स मेडिसिन दूर कर सकती हैं समस्या

जिंक और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Zinc and Erectile Dysfunction) के गहरे संबंध के बारे में आप जान ही चुके होंगे। सेक्शुअल डिसफंक्शन पुरुषों में इरेक्टाइल फंक्शन में रिडक्शन का कारण बन सकते हैं और यह समस्या किसी अंडरलाइंग इशू का कारण हो सकती है। कुछ मामलों में जिंक की कमी का कारण भी कोई ऐसा अंडरलाइंग फैक्टर भी हो सकता है, जो पुअर इरेक्शन के लिए जिम्मेदार हो। जिंक का रोजाना उचित सेवन सभी पुरुषों के लिए आवश्यक है। लेकिन, जिंक की सही मात्रा और सप्लीमेंट्स के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Effects of zinc supplementation on sexual behavior of male rats. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2800928/ .Accessed on 22/4/21

Efficacy of Vitamin D/Zinc Supplementation on Erectile Dysfunction. https://www.jsm.jsexmed.org/article/S1743-6095(19)30206-1/fulltext .Accessed on 22/4/21

What is Zinc and How effective is Zinc?. https://edmedical.org/zinc-and-testosterone/ .Accessed on 22/4/21

Erectile Dysfunction. https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/10035-erectile-dysfunction .Accessed on 22/4/21

Can supplements save your sex life?. https://edmedical.org/zinc-and-testosterone/ .Accessed on 22/4/21

लेखक की तस्वीर
AnuSharma द्वारा लिखित
अपडेटेड 3 weeks ago
x