दाढ़ी के बाल क्यों झड़ते हैं? जानें इससे जुड़ी पूरी जानकारी

    दाढ़ी के बाल क्यों झड़ते हैं? जानें इससे जुड़ी पूरी जानकारी

    पहले के दौर में लोग मूंछों पर ताव देते थे जो उनकी शान का प्रतीक होता था। वहीं बदलते दौर में दाढ़ी और मूंछों के स्टाइल स्टेटमेंट बन गई है। आज ज्यादा जवान लड़कों और पुरुषों के चेहरे पर दाढ़ी दिखती है। लेकिन, किसी पुरुष के चेहरे पर दाढ़ी जितनी देखने में आकर्षक लगती है, उतना ही मुश्किल उसे उगाना और उसकी केयर करना होता है। अधिकतर पुरुष अपनी दाढ़ी के बाल मुलायम, लंबे और घने चाहते हैं।

    दाढ़ी के बाल (Beard Hair) कैसे उगते हैं?

    दाढ़ी के बाल और मूंछें आना लड़कों में यौवनावस्था आने के कुछ आखिरी बदलावों में शामिल है। जो कि आमतौर पर, लड़कों के 15 से 16 साल की उम्र के बीच होते हैं। जब लड़के अपनी यौवनावस्था में दाखिल होते हैं, तो उनमें मेल हॉर्मोन कहा जाने वाला टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ने लगता है। टेस्टोस्टेरोन के बढ़ने से लड़कों के चेहरे पर फेशियल हेयर यानि मूंछों और दाढ़ी के बाल मोटे होने और डार्क होने शुरू हो जाते हैं। सभी पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर अलग-अलग हो सकता है, जिसकी वजह से सभी पुरुषों की दाढ़ी के बालों का घनत्व और लंबाई प्रभावित होती है। इसके अलावा, आपकी दाढ़ी के बाल सिर के बालों की तरह जेनेटिक फैक्टर पर भी निर्भर करते हैं। दूसरी तरफ, दाढ़ी के बालों के बढ़ने की गति टेस्टोस्टेरोन के ही बायप्रोडक्ट डिहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन की मात्रा से निर्धारित होती है। डिहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन हेयर फॉलिकल की ऑइल ग्लैंड में एक एंजाइम के द्वारा सक्रिया होता है, जो कि आपके दाढ़ी के बाल बढ़ने की गति को संयमित करता है।

    यह भी पढ़ें: Fish Oil : फिश ऑयल क्या है?

    दाढ़ी के बाल क्यों झड़ते हैं और यह कितना सामान्य है?

    सिर के बाल की तरह दाढ़ी के बाल का भी एक प्राकृतिक जीवन चक्र होता है। जिस वजह से तकिए या कंघे में दाढ़ी के बाल दिखना स्वाभाविक है। आपके बालों की उम्र औसतन दो से सात साल के बीच होती है। जब, दाढ़ी के बाल अपने सभी चरणों को पार कर लेते हैं, तो वो झड़ जाते हैं, जो कि पूरी तरह से सामान्य है। सिर के बाल और दाढ़ी के बाल का जीवन चक्र के चरण मुख्य रूप से एक तरह के होते हैं। आइए, इन चरणों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

    पहला चरण – एनाजेन

    यह दाढ़ी के बाल के विकास का पहला चरण होता है, जिसे एनाजेन कहा जाता है। इस चरण में बाल त्वचा को भेदता हुआ तबतक पूरा विकसित होता रहता है, जबतक कि उसे काटा या स्टाइल न किया जाए। इस चरण के दौरान बालों की जड़ पहले एक बल्बनुमा आकार लेती है और फिर उसमें से बाल निकलता है। औसतन, नया बाल हर महीने आधा इंच विकसित होता है और जब वह बड़ा हो जाता है तो उसे विकास की गति हर महीने एक चौथाई इंच तक सीमित हो जाती है। जब बाल अपने विकास की पूरी लंबाई प्राप्त कर लेता है, तो एनाजेन चरण समाप्त हो जाता है। बालों की औसतन पूर्ण लंबाई 18 से 30 इंच तक हो सकती है, जो कि करीब 5 साल तक चल सकती है।

    यह भी पढ़ें: हेयर सीरम (Hair Serum) के फायदे

    दूसरा चरण- केटाजेन

    एनाजेन समाप्त होने के बाद दूसरा चरण केटाजेन शुरू होता है। इसकी शुरुआत के कुछ दो से तीन हफ्तों के दौरान दाढ़ी के बाल की जड़ को मिलने वाली ब्लड सप्लाई बंद हो जाती है। एक बार ब्लड सप्लाई मिलने के बाद उसकी लंबाई और विकास रुक जाता है और इस समय इसे क्लब हेयर कहा जाता है। क्लब हेयर अपनी जड़ से चिपका रहता है और इसे काटा या स्टाइल किया जा सकता है। ब्लड सप्लाई खत्म होने के बाद क्लब हेयर बनकर केटाजेन चरण समाप्त हो जाता है।

    तीसरा चरण- टेलोजेन

    केटाजेन के बाद दाढ़ी के बाल का तीसरा चरण यानि टेलोजेन शुरू होता है। अभी तक, इस चरण को ही आखिरी चरण माना जाता था। इस चरण में बाल से ज्यादा उसके फॉलिकल पर प्रभाव पड़ता है। हेयर फॉलिकल को फॉलिकल पैपीला से दोबारा ब्लड सप्लाई शुरू करने के लिए आराम और समय की जरूरत होती है। जिसमें करीब 3 महीने तक का समय लग सकता है। हालांकि, इस समय हेयर फॉलिकल नया बाल विकसित करने में सक्षम नहीं होता है। जब वह नए बाल का विकास करने के लिए ब्लड सप्लाई मिलने के बाद तैयार हो जाता है, तो आखिरी चरण शुरू होता है।

    यह भी पढ़ें: बढ़ती उम्र सिर्फ जिंदगी ही नहीं हाइट भी घटा सकती है

    चौथा व आखिरी चरण- एक्सोजेन

    चौथे व आखिरी चरण एक्सोजेन की खोज और पहचान हाल ही में हुई है, जो कि दाढ़ी के बाल के नए चरण की शुरुआत भी कहा जाता है। इस चरण में दाढ़ी का पुराना बाल झड़ जाता है और नए बाल के विकास के लिए जगह बनती है। एक्सोजेन चरण बहुत छोटा होता है, जो कि एक से दो दिन तक चल सकता है। इसके बाद उसी जगह पर यानि उसी हेयर फॉलिकल में नया बाल विकसित होने लगता है और उसका पहला चरण यानि एनाजेन शुरू होता है।

    असामान्य दाढ़ी के बाल झड़ना (Beard Hair Loss) किसे कहते हैं?

    कुछ स्थितियों में दाढ़ी के बाल झड़ना असामान्य हो सकता है और आपको उसे ठीक करने के लिए कुछ कदम उठाने पड़ सकते हैं। अगर, आपके दाढ़ी में कंघी या ब्रश करने से या फिर हाथ फिराने से या किसी घर्षण से दाढ़ी के बाल झड़ते हैं, तो यह सामान्य है। लेकिन, इनमें से बिना कुछ किए भी दाढ़ी के बाल गिर रहे हैं, तो यह असामान्य हो सकता है और इसके इलाज के लिए आपको किसी डर्मेटोलॉजिस्ट को दिखाना पड़ सकता है।

    एलोपेसिया बरवे (Alopecia Barbae)

    एलोपेसिया बरवे की समस्या एलोपेसिया एरीटा (Alopecia Areata) का ही एक रूप है। एलोपेसिया एरीटा में सिर के बाल झड़ते हैं और एलोपेसिया बरवे में दाढ़ी के बाल झड़ते हैं। एलोपेसिया बरवे एक ऑटोइम्यून रिएक्शन होता है, जिसमें हेयर फॉलिकल्स को संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए एक खतरा मानकर हमला किया जाता है। जिसकी वजह से दाढ़ी में सर्कुलर एरिया में दाढ़ी के बाल झड़ने लगते हैं या वहां नए बाल आना बंद हो जाते हैं और खाली त्वचा के सर्कुलर पैच दिखने लगता है।

    यह भी पढ़ें- दाढ़ी उगाने का तेल कैसे बनाता है आपकी बियर्ड को हेल्दी?

    दाढ़ी के बाल असामान्य रूप से झड़ने के अन्य कारण क्या हैं?

    एलोपेसिया बरवे या जेनेटिक फैक्टर के अलावा दाढ़ी के बाल असामान्य रूप से झड़ने के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। जैसे-

    1. आपके शरीर में मेल हॉर्मोन यानी टेस्टोस्टेरोन और डिहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन का स्तर गिरने से दाढ़ी के बाल गिरने की समस्या हो सकती है।
    2. कड़ी डायटिंग या अपर्याप्त विटामिन और मिनरल का सेवन न करने से भी दाढ़ी के बाल गिरने शुरू हो सकते हैं। क्योंकि, दाढ़ी के बाल के विकास के लिए भी विटामिन बी, कैल्शियम, मैगनेशियम जैसे कई महत्वपूर्ण विटामिन और मिनरल की जरूरत होती है।
    3. तनाव की वजह से आपके शरीर में हॉर्मोन का संतुलन बिगड़ सकता है। जिस वजह से टेस्टोस्टेरोन या डिहाइड्रोटेस्टोस्टोरोन के स्तर में भी गिरावट आ सकती है और दाढ़ी के बाल गिर सकते हैं।
    4. कई बार लोग दाढ़ी के बाल की देखभाल करने में ज्यादा ही चिंतित हो जाते हैं और दाढ़ी पर तरह-तरह के प्रोडक्ट या कैमिकल का इस्तेमाल करने लगते हैं। इसके अलाव, लोग तेज और मजबूत हाथों से दाढ़ी के बाल पर कंघी या ब्रश करने लगते हैं, जिससे दाढ़ी के बाल के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता है और वह झड़ने लगते हैं।
    5. कुछ लोग दाढ़ी को स्टाइलिश बनाने के लिए दाढ़ी के बाल पर ब्लोअर और आइरन का इस्तेमाल करने लगते हैं। ब्लोअर और आइरन में काफी ज्यादा हीट रिलीज होती है, जिससे आपके हेयर फॉलिकल को नुकसान हो सकता है और आपके दाढ़ी के बाल झड़ने शुरू हो सकते हैं।
    6. जब दाढ़ी लंबी हो जाती है, तो कुछ लोग खुद या उनके दोस्त मजाक में उनकी दाढ़ी से छेड़छाड़ या खींचतान करने लगते हैं, जिससे दाढ़ी के बाल की जड़ कमजोर हो जाती है और उससे बाल निकल जाते हैं।
    7. कुछ लोग अपनी दाढ़ी की बिल्कुल देखभाल नहीं करते हैं। जिससे उनके दाढ़ी के बाल को पर्याप्त पोषण और जरूरी देखभाल नहीं मिल पाती और वह कमजोर होने लगते हैं। इस वजह से भी बियर्ड हेयर लॉस हो सकता है।

    हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है।

    और पढ़ें:-

    क्या आपको भी दाढ़ी बढ़ाने से लगता है डर? जानें क्यों होता है ऐसा

    छोटे बालों वाले पुरुष अपनाएं ये बीयर्ड स्टाइल, मिलेगा कूल लुक

    जानें शरीर में बनने वाले महत्वपूर्ण हाॅर्मोन और उनकी भूमिका

    बच्चों में ग्रोथ हार्मोन की कमी के लक्षण और कारण

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr Sharayu Maknikar


    Surender aggarwal द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/11/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement