Melasma On Dark Skin: 7 टिप्स दूर कर सकती है डार्क स्किन पर मेलास्मा की समस्या!

    Melasma On Dark Skin: 7 टिप्स दूर कर सकती है डार्क स्किन पर मेलास्मा की समस्या!

    त्वचा से जुड़ी कई तरह की परेशानी होती है। ऐसी ही एक समस्या है हाइपरपिग्मेंटेशन (Hyperpigmentation) की। हाइपरपिग्मेंटेशन की वजह से चेहरे डार्क स्पॉट नजर आने लगते हैं, जिसे मेलास्मा (Melasma) की समस्या कहते हैं। वहीं डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) की समस्या भी देखी जाती है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार 90 प्रतिशत महिलाओं में और 10 प्रतिशत पुरुषों में मेलास्मा (Melasma) की समस्या देखी जाती है। आज इस आर्टिकल में डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) से जुड़ी इन्फॉर्मेशन आपके साथ शेयर करने जा रहें हैं।

    डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) की समस्या को समझना इसलिए जरूरी है, क्योंकि भारत में स्किन टोन लाइट और डार्क दोनों ही होते हैं और गोरी त्वचा पर डार्क स्पॉट (Dark spots) आसानी से नोटिस किये जाते हैं, तो ठीक वैसे ही डार्क स्किन टोन (Dark skin tone) पर भी स्पॉट्स आसानी से नोटिस किये जा सकते हैं। चलिए अब डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) से जुड़े सवालों का जवाब जानते हैं।

    • डार्क स्किन पर मेलास्मा की समस्या क्या है?
    • डार्क स्किन पर मेलास्मा के कारण क्या हैं?
    • मेलास्मा की समस्या स्किन पर कहां-कहां देखी जा सकती है?
    • डार्क स्किन पर मेलास्मा का निदान कैसे किया जाता है?
    • डार्क स्किन पर मेलास्मा का इलाज कैसे किया जाता है?
    • मेलास्मा से बचाव कैसे संभव है?

    चलिए अब डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें: चेहरे से जुड़ी अनेक परेशानियों का इलाज हायल्यूरॉनिक एसिड डर्मल फिलर, जानें कैसे करता है काम

    डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) की समस्या क्या है?

    डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin)

    हाइपरपिग्मेंटेशन (Hyperpigmentation) का सबसे आम कारण है मेलास्मा की समस्या होना। ऐसा सूर्य की रोशनी में ज्यादा रहने की वजह से भी होता है। डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) के कई और भी कारण हो सकते हैं, जिनके बारे में आगे समझेंगे।

    डार्क स्किन पर मेलास्मा के कारण क्या हैं? (Cause of Melasma On Dark Skin)

    मेलानोसाइट्स की वजह से पिग्मेंटेशन के कारण डार्क स्किन पर मेलास्मा की समस्या हो सकती है। वहीं जिन लोगों की त्वचा ब्लैक या ब्राउन होती है उन्हें मेलानोसाइट्स (Melanocytes) की समस्या हो सकती है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार 20 से 30 वर्ष की आयु वाले लोगों में मेलास्मा (Melasma) की समस्या देखी जा सकती है।

    डार्क स्किन पर मेलास्मा के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    डार्क स्किन पर मेलास्मा के कारण में शामिल हॉर्मोन के बारे में आगे समझेंगे।

    हॉर्मोन्स (Hormones)

    हॉर्मोन लेवल में बदलाव के कई कारण हो सकते हैं। जैसे:

    यहां बताई गई शारीरिक परेशानी या मानसिक परेशानी भी डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) की संभावना को बढ़ा सकते हैं। इसलिए ऊपर बताई गई बीमारियों की वजह से आप परेशान हैं, तो ऐसे में सतर्क रहें और डॉक्टर से समय-समय पर कंसल्टेशन करें।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    मेलास्मा की समस्या स्किन (Melasma On Dark Skin) पर कहां-कहां देखी जा सकती है?

    मेलास्मा की समस्या स्किन पर निम्नलिखित एरिया पर देखी जा सकती है। जैसे:

    • गाल (Cheeks)
    • नाक (Nose)
    • सिर (Forehead)
    • अपर लिप (Upper lip)
    • ठोड़ी (Chin)
    • गर्दन (Neck)
    • चेस्ट (Chest)
    • कंधा (Shoulders)
    • बांह (Arms)

    इन स्किन एरिया पर डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) की समस्या देखी जा सकती है।

    और पढ़ें: चेहरे से जुड़ी अनेक परेशानियों का इलाज हायल्यूरॉनिक एसिड डर्मल फिलर, जानें कैसे करता है काम

    डार्क स्किन पर मेलास्मा का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosing of Melasma On Dark Skin)

    डार्क स्किन पर मेलास्मा के निदान के लिए डर्मेटोलॉजी वैसे तो किसी खास टेस्ट की सलाह डॉक्टर नहीं देते हैं। चेहरे पर हुए डार्क स्पॉट को देखकर ही मेलास्मा को पहचान लेते हैं। कुछ केसेस जैसे मेलेनोमा या डर्मेटाइटिस की स्थिति में स्किन बायोप्सी (Skin Biopsy) की जा सकती है। इसके अलावा नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) के निदान के लिए वुड्स लाइट (Wood’s light) टेस्ट की जा सकती है। इस टेस्ट की सहायता से बैक्टीरियल स्किन इंफेक्शन (Bacterial Skin Infection) या फंगल स्किन इंफेक्शन (Fungal Skin Infections) की जानकारी मिल सकती है।

    और पढ़ें : Hair Detox: हेयर डिटॉक्स क्या है? जानिए 5 आसान हेयर डिटॉक्स मेथड

    डार्क स्किन पर मेलास्मा का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Melasma On Dark Skin)

    मेलास्मा के इलाज के लिए किसी खास ट्रीटमेंट की जरूरत ज्यादातर नहीं पड़ती है। फार्मासिस्ट से ओवर-दि-काउंटर (OTC) मिलने वाले क्रीम के इस्तेमाल से डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) के स्पॉट्स को कम करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा लेजर थेरिपी (Laser therapy) की मदद ली जा सकती है। वहीं डार्क स्किन पर मेलास्मा का इलाज निम्नलिखित तरह से किया जा सकता है। जैसे:

    केमिकल पील (Chemical peel)- स्किन पर हुए डार्क स्पॉट्स को दूर करने के लिए केमिकल पील का इस्तेमाल किया जा सकता है। केमिकल पील में ग्लाइकॉलिक एसिड glycolic acid मौजूद होता है, जो स्पॉट्स से छुटकारा दिलाने में मददगार हो सकते हैं।

    माइक्रोडर्माब्रेशन (Microdermabrasion)- माइक्रोडर्माब्रेशन इनवेसिव कॉस्मेटिक प्रोसेस है, जो स्किन टोन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए इस्तेमाल की जाती है।

    मैक्रोनीडलिंग (Microneedling)- मेलास्मा को रिमूव करने के लिए फाइन निडिल का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि रेयर केस में ही मैक्रोनीडलिंग प्रोसेस का ऑप्शन चुना जाता है।

    इन अलग-अलग तरहों से डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) का इलाज किया जा सकता है। इलाज के अलावा मेलास्मा से बचाव के लिए भी कुछ उपाय किये जा सकते हैं।

    और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

    मेलास्मा से बचाव कैसे संभव है? (Tips to Prevent Melasma)

    डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin)

    मेलास्मा से बचाव के लिए निम्नलिखित टिप्स फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

    • सनस्क्रीन (Sunscreen) का इस्तेमाल रोजाना करें।
    • धूप में निकलने के दौरान कैप (Cap) पहनें।
    • सीधे सूर्य की रोशनी (Sun exposure) में ना निकलें।
    • अच्छे क्वॉलिटी के स्किन केयर प्रॉडक्ट्स (Skincare products) का इस्तेमाल करें।
    • हेल्दी और बैलेंस डायट फॉलो (Balanced diet) करें।
    • बॉडी वेट (Healthy weight) मेंटेन रखें।
    • किसी भी तरह के हेल्थ कंडिशन (Health conditions) का इलाज ठीक तरह से करवाएं।

    मेलास्मा से बचाव के लिए इन सात टिप्स को फॉलो करने से लाभ मिल सकता है।

    त्वचा संबंधी परेशानी हो या डार्क स्किन पर मेलास्मा (Melasma On Dark Skin) को दूर करने के लिए ट्रीटमेंट की मदद ली जा सकती है। डॉक्टर पेशेंट की हेल्थ कंडिशन, मेडिकल हिस्ट्री और स्किन डिजीज की गंभीरता को ध्यान में रखकर इलाज शुरू करते हैं। इसके साथ ही स्किन डिजीज (Skin disease) से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में वक्त ज्यादा लग सकता है। मेलास्मा कोई गंभीर बीमारी नहीं है, सिर्फ थोड़ी सी स्किन केयर से त्वचा हुए डार्क पैच को दूर करने में मदद मिल सकती है।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और स्किन से जुड़ी परेशानियों को दूर कर सकती हैं या इनसे दूर रह सकती हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Skin Hyperpigmentation in Indian Population: Insights and Best Practice/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5029232/#:~:text=will%20be%20emphasized.-,Melasma,women%20present%20a%20facial%20melasma./Accessed on 15/02/2022

    Melasma: an Up-to-Date Comprehensive Review/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5574745/Accessed on 15/02/2022

    Melasma/https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/21454-melasma/Accessed on 15/02/2022

    Skin Pigmentation Disorders/https://medlineplus.gov/skinpigmentationdisorders.html/Accessed on 15/02/2022

    Different Dermatological Approaches the Treatment of Melasma/https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT03923062/Accessed on 15/02/2022

    Dark patches on the face may be melasma/https://www.health.harvard.edu/blog/dark-patches-on-the-face-may-be-melasma-2018101915058/Accessed on 15/02/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/02/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड