स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी रखना है जरूरी, स्ट्रेच करने से पहले जान लें ये बातें

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 1, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

फिटनेस फ्रीक स्ट्रेचिंग को जरूरी मानते हैं हालांकि, स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी बरतना भी जरूरी होता है। गलत तरीके से स्ट्रेच करना शरीर में दर्द का कारण भी बन सकता है। इससे नसों को चोट पहुंच सकती है, जो आमतौर पर मामूली स्थिति समझी जाती है, लेकिन कई बार स्ट्रेचिंग गलत तरीके से करने के कारण बड़ी समस्याएं भी देखी जा चुकी हैं। स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी का ध्यान किस तरह से रखना चाहिए, इसके बारे में आप इस आर्टिकल में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी बरतने से पहले जाने स्ट्रेच क्यों किया जाता है?

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने से शरीर का लचीलापन बढ़ता है। नियमित और सही तरीके से स्ट्रेच करने से जोड़ों को पूरा घूमने के काबिल बनाया जा सकता है। स्ट्रेचिंग शरीर का लचीलापन बढ़ाने के साथ ही, चलने और दौड़ने की गति भी बढ़ाती है। इसके अलावा, बिजी लाइफ और खराब लाइफस्टाइल के कारण शरीर की मांसपेशियां कठोर होती जा रही हैं, जिनमें चोट लगने का खतरा काफी ज्यादा हो जाता है। इस स्थिति से बचाव करने के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज सबसे आसान जरिया हो सकता है। साथ ही, स्ट्रेच को फिटनेस का एक अहम हिस्सा भी माना जाता है।

और पढ़ें – पुरानी एक्सरसाइज से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें केलेस्थेनिक्स वर्कआउट

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी का ध्यान रखने के लिए आपको स्ट्रेच से जुड़े नियमों के बारे में जानना चाहिए। जैसे- स्ट्रेच कब और कैसे करना चाहिए, स्ट्रेच के पहले या बाद में कौन-सी एक्सरसाइज करनी चाहिए और कौन-सी नहीं, स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी बरतने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए।

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज कब करना चाहिए?

सबसे पहले, तो आप यह जान लें कि हर तरह के एक्सरसाइज की तरह स्ट्रेच करने का कोई समय निश्चित नहीं होता है। आप जब चाहें और जहां स्ट्रेच कर सकते हैं। बस स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी बरतें। आप दिनभर में कभी भी अपनी मांसपेशियों को स्ट्रेच कर सकते हैं। हालांकि, स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने के दौरान सावधानी के लिए ध्यान रखें कि आप जिस भी जगह पर स्ट्रेच कर रहे हैं, वहां आपको अपने हाथ-पैर पूरी तरह से फैलाने के लिए खुली जगह होनी चाहिए। स्ट्रेच करने के लिए आप कुछ समय को तय कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैंः

  • सोकर उठने के बाद
  • सोने जाने से पहले
  • ऑफिस में काम के दौरान मिलने वाले ब्रेक में भी स्ट्रेचिंग की जा सकती है।

और पढ़ेंः एड़ी में मोच और दर्द को दूर करने के लिए करें ये आसान एक्सरसाइज

क्या एक्सरसाइज से पहले स्ट्रेच करना जरूरी है?

नहीं, बहुत लोगों को यह गलतफहमी है कि एक्सरसाइज करने से पहले स्ट्रेच करना बहुत जरूरी होता है। ऐसा नहीं करने से मांसपेशियों को ज्यादा तकलीफ हो सकती है। हालांकि, एक्सरसाइज करने से पहले अगर आप स्ट्रेच (Stretch) करते हैं, तो इससे आप अपनी मांसपेशियों को एक्सरसाइज शुरू करने के लिए तैयार कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि एक्सरसाइज करने से पहले आपको वार्मअप करना चाहिए और स्ट्रेच वार्मअप नहीं है।

क्या एक्सरसाइज के बाद स्ट्रेच करना जरूरी है?

हां, एक्सरसाइज के बाद स्ट्रेच करना सबसे अच्छा हो सकता है। व्यायाम करने के बाद शरीर की सारी मांसपेशियां अधिक लचीली हो जाती हैं, क्योंकि व्यायाम करने के दौरान उन मांसपेशियों और जोड़ों में खून का बहाव बढ़ जाता है। जिसे नियंत्रित करने के लिए स्ट्रेच करना अच्छा विकल्प हो सकता है। व्यायाम के बाद स्ट्रेच करने से आप अपनी मांसपेशियों को आराम दिला सकते हैं।

और पढ़ेंः पीरियड्स क्रैंप की वजह से हैं परेशान? तो ये एक्सरसाइज हैं समाधान

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज कैसे की जाती है?

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी रखने के लिए ये जानना बहुत जरूरी है कि स्ट्रेच कैसे किया जाता है। योगासन या सूर्य नमस्कार भी बेहतर स्ट्रेचिंग है। स्ट्रेच करने के लिए आप निम्न तरीकों को फॉलो कर सकते हैंः

  • सबसे पहले पैरों को कंधों के बराबर चौड़ाई में फैलाकर खड़े हों जाएं।
  • अब घुटनों को हल्का सा मोड़ें।
  • इसके बाद इसी पैर की तरफ आगे की ओर झुकें और अपने हाथों को घुटनों के ऊपर रखें।
  • इस दौरान अपने हाथों की उंगलियों को आपस में बांधें और हथेली को बाहर की ओर फैलाएं।
  • ऐसा करते समय आप अपने हाथों को जितना हो सके उतना आगे की तरफ पुश कर सकते हैं।
  • अब पीठ और कंधों को आगे की ओर झुकाएं और अगले 10 सेकेंड के लिए इसी ही अवस्था में रुके रहें।
  • इसके बाद अपनी उंगलियों को खोल लें और कलाई को पीठ के पीछे ले जाकर आपस में जोड़ें।
  • अब पीठ के पीछे की तरफ से इसी अवस्था में अपने हाथों को जितना ऊंचा हो सके उतना ऊपर की तरफ उठाएं ताकि चेस्ट खुल जाए और कंधे पीछे की ओर रोल हो जाएं।
  • सांस अंदर लें और बाहर छोड़ें।

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी न रखने पर होने वाली परेशानी

नेशनल एकेडमी ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन के फैकल्टी इंस्ट्रक्टर कहते हैं, “अगर स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी न रखी जाए, तो स्ट्रेचिंग हानिकारक हो सकती है। गलत तरीके से स्ट्रेच करने के कारण नर्व स्ट्रेच हो सकती है या लिगामेंट्स जैसी सपोर्ट संरचनाएं टूट सकती हैं। इसलिए हर तरह के स्ट्रेच न करें। अपनी जरूरत और क्षमता के अनुसार ही स्ट्रेच करें।”

याद रखें कि, आप भले ही कोई भी स्ट्रेच करें लगभग सभी के फायदे एक जैसे ही हैं। इसलिए आप जिस भी प्रकार के स्ट्रेच को आसानी से कर सकते हैं, बस वही करें और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी बरतें।

और पढ़ेंः एक्सरसाइज से पहले खाएं ये चीजें, बढ़ेगी ताकत और दमदार होंगे मसल्स

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने के फायदे

अगर आप स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी बरते हैं तो स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने के कई फायदे हैं, जिनमें शामिल हैंः

  • स्ट्रेच आप कहीं पर और किसी समय कर सकते हैं।
  • स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने का कोई तय समय नहीं होता है।
  • स्ट्रेच आप अपनी सुविधा के अनुसार और क्षमता के अनुसार कर सकते हैं।
  • पैरों और हाथों के जोड़ों को अपनी क्षमता की अनुसार खोल सकते हैं।
  • स्ट्रेचिंग करने से हमारे शरीर की फुर्ती बढ़ती है।
  • स्ट्रेचिंग मांसपेशियों के कार्य करने की क्षमता को बढ़ाता है।
  • स्ट्रेचिंग करने से मांसपेशियों की लंबाई बढ़ती है और शरीर के पॉश्चर में सुधार आता है।
  • स्ट्रेच करने से शरीर में लचीलापन और शरीर की फुर्ती बढ़ती है।
  • स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज से मसल्स को ढ़ीला बनाते हैं, जिससे उनकी थकान कम होती है और ब्लड फ्लो का लेवल बढ़ता है।
  • स्ट्रेच की मदद से वर्कआउट के बाद शरीर में होने वाले दर्द को कम किया जा सकता है।
  • स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज बॉडी में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करने में मददगार हो सकती है जो दिल से जुड़े रोगों से बचाव भी करती है।
  • स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज में तनाव दूर करने की बेहतर शक्ति होती है।
  • टहलने के बाद स्ट्रेचिंग करने से दिमाग और शरीर को फ्रेश किया जा सकता है।
  • स्ट्रेच करने से एंडॉर्फिन हार्मोन का रिसाव बढ़ता है, जो खुशी का अनुभव कराने के लिए जिम्मेदार मानी जाती है। इसलिए अगर सोने से पहले आप स्ट्रेच करते हैं, तो इसकी संभावना अधिक है कि रात में आपको अच्छी नींद आएगी।
  • स्ट्रेचिंग की मदद से शरीर की नसों में आई जकड़न को दूर किया जा सकता है।
  • स्ट्रेचिंग से अपीयरेंस, फ्लैक्सिबिलिटी, सेहत और किसी कार्य को करने में ध्यान लगाने में भी मदद मिुलती है।

हमें उम्मीद है कि स्ट्रेचिंग और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी पर आधारित यह लेख आपको पसंद आया होगा।  हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

एक्सरसाइज से पहले खाएं ये चीजें, बढ़ेगी ताकत और दमदार होंगे मसल्स

पोस्ट वर्कआउट मील क्या है जानें यहां, Post Workout Meal in hindi, Best Workout Food, पोस्ट वर्कआउट मील में क्या खाएं, वर्कआउट के बाद क्या खाएं, workout ke baad kya khaein, Exercise ke baad kya khaein, बेस्ट वर्कआउट फूड।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal
फिटनेस, स्वस्थ जीवन फ़रवरी 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

जिम जाने का मन नहीं करता? तो ये वर्कआउट मोटिवेशनल टिप्स करेंगे आपकी मदद

जानिए वर्कआउट मोटिवेशनल टिप्स क्या हैं और यह आपके वर्कआउट पर किस तरह असर डालते हैं। वर्कआउट के लिए मोटिवेशनल टिप्स फ्यूल का काम करते हैं, जो आपको प्रोत्साहित करते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal
फिटनेस, स्वस्थ जीवन फ़रवरी 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

मल्टिपल गर्भावस्था के लिए टिप्स जिससे मां-शिशु दोनों रह सकते हैं स्वस्थ

मल्टिपल गर्भावस्था की जानकारी in hindi. गर्भ में एक से ज्यादा शिशु के होने पर क्या करें? Multiple pregnancy से जुड़ी अहम जानकारियां क्या हैं?

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Nidhi Sinha
डिलिवरी केयर, प्रेग्नेंसी दिसम्बर 6, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या ऑफिस वर्क से बढ़ रहा है फैट? अपनाएं वजन घटाने के तरीके

जानिए वजन घटाने के तरीके in Hindi, ऑफिस में कौन सी एक्सरसाइज करें, Weight Loss Diet Chart, वजन घटाने के लिए डायट चार्ट, इंटरमिटेंट फास्टिंग डायट, वजन घटाने के तरीके क्या हैं।

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Dr. Pranali Patil
हेल्थ सेंटर्स, मोटापा नवम्बर 25, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें