लो बीपी कंट्रोल के उपाय अपनाकर देखें, मिलेगी राहत

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जिस तरह से हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन शरीर के लिए हानिकारक होता है, ठीक उसी तरह से लो ब्लड प्रेशर भी शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है। जब ऑप्टिमल ब्लड प्रेशर रीडिंग 120/80 mmHg से कम हो तो लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है। पहला नंबर सिस्टोलिक नंबर को शो करता है जबकि सेकेंड नंबर डायस्टोलिक प्रेशर को शो करता है। लो ब्लड प्रेशर या हाइपोटेंशन के कारण ब्रेन, हार्ट और अन्य ऑर्गन प्रभावित हो सकते हैं। कई बार उठने या बैठने से भी अचानक से ब्लड प्रेशर में कमी हो जाती है, जिसे पोस्चुरल हाइपोटेंशन कहते हैं। अगर लो बीपी कंट्राेल करने के उपाय की मदद ली जाए तो लो ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय आप घर आसानी से अपना सकते हैं।

और पढ़ें : पेट में जलन दूर करने के आसान उपाय, तुरंत मिलेगा आराम

दिखें ये लक्षण तो अपनाएं लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय

लो बीपी के कारण गंभीर समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि शॉक, स्ट्रोक, हार्ट अटैक और किडनी फेल होने की संभावना आदि। अगर लो ब्लड प्रेशर ट्रीटमेंट लंबे समय तक नहीं हो पाता है तो गंभीर समस्या हो सकती है। लो ब्लड प्रेशर यानी हाइपोटेंशन का पता कुछ लक्षणों के आधार पर लगाया जा सकता है। आपको अगर कुछ खास तरह के लक्षण महसूस हो रहे हो तो तुरंत लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय को तुरंत अपनाएं।

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय: पिएं अधिक पानी

पानी के बिना शरीर की कल्पना नहीं की जा सकती है। कुछ लोग पानी को सिर्फ खाने के बाद या दिन में एक दो बार ही पीना पसंद करते हैं। सच तो ये है कि शरीर में पानी की कमी के कारण डिहाइड्रेशन हो जाता है। डिहाइड्रेशन के कारण लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। कई बार वॉमिटिंग, डायरिया रोग, एक्सरसाइज आदि की वजह से भी डिहाइड्रेशन हो जाता है और साथ ही ब्लड प्रेशर भी लो हो जाता है। आप चाहे तो कोकोनट वॉटर भी पी सकते हैं। ऐसा करने से शरीर में जरूरी इलेक्ट्रोलाइट्स पहुंचेंगे और बॉडी फ्लूड को बैलेंस करने में मदद करेंगे। आप चाहे तो अनार का जूस भी पी सकती हैं। बेहतर होगा कि पानी के साथ ही अन्य तरल को भी दिनचर्या में शामिल करें।

और पढ़ें : विटामिन सप्लीमेंट्स लेना कितना सुरक्षित है? जानें इसके संभावित खतरे

एक साथ न खाएं

Low blood pressure problem
लो बीपी से छुटकारे के उपाय

कुछ लोगों को दिन में दो से तीन बार खाने की आदत होती है। यानी एक ही साथ पेट भर के खाना।आपको ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए। दिन में पांच से छह बार खाएं। लंच और डिनर के साथ ही हेल्दी ब्रेकफास्ट लें। खाने में एक से दो घंटे का गैप रखें। अधिक देर तक भूखे न रहें। जिन व्यक्तियों को डायबिटीज की समस्या है, उन्हें भी एक साथ खाने से बचना चाहिए। दिन में थोड़ा-थोड़ा करके खाने से लो बीपी की समस्या से भी छुटकारा मिल जाएगा।

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय: लें ज्यादा सॉल्ट

खाने में नमक बहुत जरूरी होता है लेकिन नमक की ज्यादा या कम कम मात्रा अक्सर समस्या पैदा कर सकती है। जिन लोगों को लो बीपी की समस्या होती है, उन्हें खाने में कम नमक नहीं लेना चाहिए। खाने में नमक की मात्रा बढ़ाएं। लो सोडियम डायट से ब्लड प्रेशर अधिक लो हो जाएगा। इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि आप खाने में ज्यादा नमक डाल दें, बल्कि खाने में नमक कम न लें।

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय: बैठें क्रॉस लेग

LOW BP

बैठ समय क्रॉस लेग पुजिशन अपनाने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। हो सकता है कि आपको ये बात न पता हो। अगर आपका ब्लड प्रेशर हाई रहता है तो क्रॉस लेग पुजिशन को अपनाने से बचें। वहीं लो ब्लड प्रेशर की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए क्रॉस लेग पुजिशन में बैठना फायदेमंद साबित हो सकता है। बेहतर होगा कि ये उपाय भी अपनाकर देखें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें : क्यों लिक्विड सोप से बेहतर है फोम सोप? जानें एक्सपर्ट की राय

कॉफी का लें सहारा

वैसे तो शरीर के लिए अधिक कैफीन को नुकसानदायक माना जाता है, लेकिन लो ब्लड प्रेशर को हाई करने में ये हेल्प करती है। जिन लोगों को अचानक से लो बीपी हो जाता है, वो तुरंत एक कप कॉफी पी सकते हैं। ऐसा करने से ब्लड प्रेशर में सुधार हो जाता है। अगर आप कैफीन नहीं लेते हैं तो बीपी को हाई करने के लिए दिन में एक बार कॉफी ली जा सकती है। ध्यान रखें कि कॉफी की नियंत्रित मात्रा लेने से शरीर को किसी भी प्रकार की हानी नहीं होती है।

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय: खाएं तुलसी की पत्ती

तुलसी की पत्ती में पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन सी पाया जाता है। रोजाना सुबह पांच से छह तुलसी की पत्ती चबाने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। तुलसी की पत्ती में यूजेनॉल (Eugenol) एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के साथ ही कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कंट्रोल करता है। लो बीपी से छुटकारे के उपाय में तुलसी को जरूर शामिल करें।

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय: कंप्रेशन स्टॉकिंग पहनें

अगर आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है तो आप कंप्रेशन स्टॉकिंग पहनें। इसे पहनने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। वैरीकॉज वेंस में प्रेशर की समस्या और दर्द से राहत दिलाने के लिए कंप्रेशन स्टॉकिंग को पहना जा सकता है। इसे ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है।

और पढ़ें : घी को अब न कहें अनहेल्दी, ये है एक सुपरफूड, जानें इस बारे में क्या कहते हैं हमारे एक्सपर्ट?

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय: आलमंड मिल्क

आलमंड मिल्क यानी बादाम का दूध भी लो बीपी की समस्या से छुटकारा दिला सकता है। आलमंड मिल्क बनाने के लिए पांच से छह बादाम को रातभर पानी में भिगो दें। फिर सुबह इसे पीसने के बाद दूध में मिला दें। बादाम दूध को रोजाना पिएं। ऐसा करने से लो ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा मिलेगा। आलमंड में कोलेस्ट्रॉल की समस्या और सेचुरेटेड फैट नहीं होता है। आलमंड में हेल्दी फैट यानी ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। इस उपाय को अपनाकर देखें। आपको जल्द ही असर नजर आएगा। लो बीपी से छुटकारे के उपाय में बादाम को जरूर शामिल करें।

अगर आपको भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो बेहतर होगा कि पहले डॉक्टर से इस बारे में परामर्श करें। घरेलू उपाय अपनाने से भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या में राहत मिलती है। लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय अपनाने से पहले बेहतर होगा कि एक बार डॉक्टर से इस बारे में जरूर सलाह कर लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

फालसा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Phalsa (Grewia Asiatica)

फालसा in hindi, फायदे, फालसा का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, Phalsa के साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कॉफी से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाएं? जाने कॉफी बनाने की रेसिपी

कॉफी और इम्यूनिटी युक्त आहार का सेवन एक साथ कैसे किया जा सकता है। साथ ही जाने कॉफी से इम्यूनिटी पावर का क्या संबंध है। Healthy Coffee recipe in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

World Milk Day : कितनी तरह के होते हैं दूध, जानें इनके अलग-अलग फायदे

दूध के बारे में तो सब लोग जानते हैं, लेकिन क्या आपने दूध के प्रकार के बारे में सुना है। दूध के विभिन्न प्रकार में अलग-अलग पोषण होता है, आप भी जानिए। Milk different type

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Shilajit: शिलाजीत क्या है?

जानिए शिलाजीत (Shilajit) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, शिलाजीत उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Shilajit डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ग्रीन कॉफी बीन्स

प्यार हो जाएगा आपको ग्रीन कॉफी से, जब जान जाएंगे इसके फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
D Cold Total, डी कोल्ड टोटल

D Cold Total: डी कोल्ड टोटल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 30, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
हर्निया का आयुर्वेदिक इलाज-Hernia ayurvedic treatment

हर्निया का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जानिए दवा और प्रभाव

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ जून 30, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
रीठा - Reetha

रीठा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Reetha (Indian Soapberry)

के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें