जानें दर्द से राहत पाने के लिए शरीर के महत्वपूर्ण एक्यूप्रेशर पॉइंट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

चीन में हजारों वर्षों से एक्यूप्रेशर का उपयोग किया जाता रहा है। एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर के रूप में एक ही सिद्धांत लागू करता है। यह एक बहुत ही पुराना तरीका है जिसमें हमारे शरीरे के कुछ अंगों में विशेष जगह होती है जिसमें दबाव बनाने से एक प्रकार की एनर्जी उत्पन्न करता है। एक्यूप्रेशर पॉइंट्स उन के बारे में जानने उन लोगों के लिए बहुत अधिक फायदेमंद है जिनको अक्सर शरीर  में किसी न किसी अंग में दर्द होता है। आज के समय में एक्यूप्रेशर पॉइंट्स और एक्यूपंक्चर का प्रचलन बहुत बढ़ गया है। एक्यूपंक्चर  में दर्द से राहत पाने के लिए सुईयां चुबाकर दर्द कम करने जैसी प्रक्रिया शामिल होती है जबकि एक्यूप्रेशर पॉइंट्स में केवल  शरीर के प्रमुख बिंदुओं पर उंगलियों, हथेलियों या कोहनी का उपयोग करके एक्यूप्रेशर किया जाता है।इससे ही आपको दर्द से राहत मिल जाती है। इसको आप स्वंय ही सीख सकते हैं। केवल आपको यह ध्यानपूर्वक सीखना है की किस प्रकार के दर्द के लिए किस अंग पर दबाव बनाया जाता है। इससे केवल दर्द में आराम नहीं मिलता है इसका उपयोग चिंता, सिरदर्द, मितली, पीठ दर्द और अनिद्रा जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए भी किया जाता है।यह शारीरिक और मानसिक रोगों को ठीक करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

ये भी पढ़े  रेड वाइन पीना क्या बना सकता है हेल्दी, जानिए इसके हेल्थ बेनीफिट्स

आम एक्यूप्रेशर पॉइंट्स क्या है

यह तीन प्रकार के एक्यूप्रेशर हैं जो आमतौर पर चिकित्सकों के कहे अनुसार प्रयोग किए जाते हैं।

बड़ी आंत 4 (LI 4)- इसमें आपको अपने अंगूठे और तर्जनी के बीच की वाली जगह पर दबाव बनाने की अवाश्यकता होती है।

लीवर 3 (LR-3)- इसमें आपको अपने पैर के अंगूठे और उसके बगल वाली अंगुली के मध्य ऊपर की तरफ दबाव बनाना होता है। 

प्लीहा 6 (एसपी -6)-यह पॉइंट आपके आंतरिक एंकलबोन के ऊपर लगभग तीन उंगली की दूरी पर स्थित होता है।

सिरदर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स 

आपके हाथ में ऐसा पॉइंट्स होता है, जिसपर दबाव बनाने से आपके सिरदर्द में आराम मिल सकता है। यदि आपके सिर में दर्द है तो अपने हाथ में अंगूठे और तर्जनी के बीच में प्रेशर बनाएं। यह प्रक्रिया आप 3 से  4 बार दोहराएं। इससे आपको सिरदर्द से आराम मिल जाएगा।

नोट- यदि आप गर्भवती हैं तो आपके लिए यह प्रक्रिया नहीं करनी है।

शरीर के दर्द के लिए एक्यूप्रेशर

अपनी शरीर के दर्द को कम करने के लिए भी ये एक्यूप्रेशर आपकी मदद कर सकता है। ये आपके शरीर के दर्द से राहत दिलाता है। यह बिंदु आपके दोनों पैरों  के अंगूठे के बीच में होता है। इस पॉइंट पर दबाव बनाने से आपकी शरीर के दर्द में आराम मिल सकता है। 

गर्दन में दर्द के लिए एक्यूप्रेशर

यदि आपकी गर्दन में दर्द है, तो आपके पास इसके लिए भी एक्यूप्रेशर बताए गए हैं। यदि आपकी गर्दन में दर्द है तो आप अपने हाथ के तर्जनी और मध्यमा अंगुली के बीच में नीचे के हिस्से में दबाव बनाएं।  इससे आपको राहत मिल सकती है।

घुटने और पेट दर्द के लिए 

यह पॉइंट्स आपके घुटने के लगभग 4 इंच नीचे होचा है। इसपर दबाव बनाने से आपको घुटने के दर्द,अवसाद,पेट के दर्द से आराम मिलता है।

सांस में तकलीफ

यदि आपको सांस लेने में तकलीफ होती है तो आपको अपने अंगूठे के नीचे गद्देदार जगह पर दबाव बनाने से आपकी सांस की तकलीफ से राहत मिल सकती है।

ये भी पढ़े दोस्त होता है स्ट्रेस बस्टर, जानें ऐसे ही तनाव को दूर करने के 9 उपाय

पेरिकार्डियम 

यदि आपको उल्टी ,मतली जैसी समस्या परेशान कर रही है इसके लिए यह एक्यूप्रेशर आपकी मदद कर सकता है। आपकी कलाई के अंदर एक पॉइंट्स होता है। जिसपर दबाव बनाने से आपको उल्टी,मतली से राहत मिल सकता है। हथेली के आधार के नीचे लगभग तीन उंगली-चौड़ाई पर दबाव बनाने से मतली और उल्टी के साथ बहुत मदद कर सकता है। यह कुछ मिनट के लिए बिंदु पर दबाव बनाएं, अपनी समस्या के आधार पर इसे दोहराएं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

थकान स्ट्रेस दूर करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स 

इसका उपयोग प्रतिदिन कर सकते हैं। वर्तमान समय में प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी प्रकार के स्ट्रेस से जूझ रहा है। दिन भर के काम को करने के बाद फिर घर की जिम्मेदारियां निभात-निभाते आप बहुत थक जाते हैं। ऐसे में आपको जरुरत हैं इस प्रक्रिया को करने कि जिससे आप अपनी थकान और स्ट्रेस को दूर कर सकें। इसको थर्डआई एक्यूप्रेशर नाम दिया गया है। यह आपके दोनों आइब्रो के बीच में होता है। इसको करने से आपको मानसिक शांति,सिरदर्द,आंख का दर्द,थकान,स्ट्रेस इन सभी से राहत मिलती है।

कंधे की अकड़न

हमारे कंधे का एक्यूप्रेशर पॉइंट आपकी गर्दन के आधार के बीच में होता है। इस दबाव बिंदु का उपयोग करने के लिए  आप अपने हाथ को पीछे करके अंगूठे को प्रयोग कर सकते हैं । लगभग एक मिनट के लिए आप इस प्रक्रिया को कर सकते हैं। इस पॉइंट पर आप दबाव को घुमाकर बना सकते हैं। एक बार क्लॉक वाइज एक बार एंटी क्लॉक वाइज घुमाकर कर सकते हैं। कंधे को अच्छी तरह से प्रेशर पॉइंट पर फर्म टच देने से आपकी गर्दन और कंधों में अकड़न, गर्दन के दर्द से राहत,सिरदर्द से राहत मिल सकता है।

ये भी पढ़े कैंसर स्क्रीनिंग के बारे में हर किसी को होनी चाहिए यह जानकारी

घुटने के दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स

यदि आपको घुटने में दर्द होता है। तो ये आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है। यह पॉइंट आपके घुटने के पीछे होता है। यह आपके घुटने के दर्द से राहत देने के साथ-साथ कूल्हों, पीठ और घुटनों और यहां तक ​​कि ,सायटिका के दर्द के लिए बहुत अच्छा है। इस एक्यूप्रेशर बिंदु पर मालिश करने से छह महीने तक आराम मिल सकता है, बस हर दिन एक मिनट के लिए इस पॉइंट की मालिश करें।

गर्दन में तनाव

यदि लंबे समय तक झुककर काम करने से आपकी गर्दन में तनाव हो गया है। अब आपका काम करना मुश्किल हो रहा है तो आप इस एक्यूप्रेशर पॉइंट् का प्रयोग करके दर्द से राहत पा सकते हैं। इसके लिए अपनी गर्दन के पीछे वाले हिस्से पर यह पॉइंट होता है। इस जगह पर आपको दबाव बनाना होता है। इसपर दबाव बनाने के लिए आपको अपने दोनों हाथों की मध्य उंगलियों को रखना होता है। 10 सेकंड के लिए एक साथ दोनों तरफ से ऊपर की ओर मजबूती से दबाएं, इसको 3 बार दोहराएं। इस प्रक्रिया से आपके गर्दन में तनाव के कारण होने वाले सिरदर्द से राहत मिल सकती है।

दांत के दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स 

यदि आपके दांत में अक्सर दर्द रहता है, या अभी नया-नया दर्द शुरु हुआ है तो आपको अपने हाथों के नाखूनों के चारों तरफ दबाव बनाने से आपको दांत के दर्द से राहत मिल सकता है।

 चिंता-अवसाद  से मुक्त होने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स

कुछ लोग चिंता और अवसाद से ग्रस्त होते हैं। इसमें मदद करने के लिए यह  एक्यूप्रेशर पॉइंट्स आपकी मदद कर सकते हैं। इस प्रक्रिया के लिए अपने ब्रेस्ट के बीच में स्थित, हड्डी के आधार से लगभग चार उंगली की चौड़ाई में इस बिंदु पर मालिश करें। यह आपका मानसिक संतुलन बेहतर करने में और आपका तनाव,अवसाद दूर करने में मदद करता है।  इस प्रक्रिया को आप अपनी इच्छा के अनुसार कर सकते हैं। इस बिंदु पर एक्यूप्रेशर को प्रयोग करके कई तंत्रिका तंत्र के असंतुलन को ठीक किया जा सकता है, और यह प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ावा दे सकता है। यह करते समय आपकी रीढ़ की हड्डी बिल्कुल सीधी होनी चाहिए। 

ये भी पढ़े  अगर आपके ऑफिस में किसी को है क्रॉनिक डिजीज तो उसे ऐसे करें सपोर्ट

 मासिक धर्म की ऐंठन के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स 

बहुत सी महिलाओं को मासिक धर्म में पेट,कमर में ऐंठन होती है। इस दर्द से बचने के लिए कुछ महिलाएं दवा का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन इसमें दवा लेना नुकसानदायक हो सकता है। तो अब आप एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के जरिए मासिक धर्म के ऐंठन से राहत पा सकते हैं। इसके लिए आप अपने  रीढ़ के आधार पर सीधे टेलबोन के ऊपर इन पॉइंट्स पर दबाव बना सकते हैं। इस हिस्से पर दबाव बनाकर हम मासिक धर्म की ऐंठन के साथ-साथ पीठ के निचले हिस्से में दर्द से राहत मिल सकती है। यह आपके लिए बहुत फायदेमद है।

पीठ दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स

यदि आप भी पीठ दर्द की समस्या से जूझ रहे हैं तो ये एक्यूप्रेशर आपके दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। आप अपने हाथ के चौथी और पांचवी अंगुली के बीच दबाव बनाएं। इससे आपको पीठ दर्द से आराम मिल सकता है।

एक्यूप्रेशर के साथ सावधानियां 

वैसे तो एक्यूप्रेशर बहुत सुरक्षित माना जाता है।लेकिन यदि आपको गठिया, हृदय रोग, कैंसर, या किसी प्रकार की पुरानी बीमारी है, तो ऐसे में आपको एक्यूप्रेशर का प्रयोग करने के पहले अपने चिकित्सक की सलाह ले लेनी चाहिए।यदि आपका डॉक्टर आपको इसके उपयोग के लिए छुट दे देता है तो आप दर्द के बाकी समस्या से निपटने के लिए इसका प्रयोग आराम से कर सकते हैं। यदि आप इनमें से किसी समस्या से लड़ रहे हैं। तो इसके प्रयोग से पहले जरुर मेडिकल सलाह लें।

  •  कैंसरग्रस्त ट्यूमर 
  • यदि कैंसर हड्डियों में फैल गया है
  • रीढ़ की हड्डी में चोट 
  • हड्डी में समस्या 
  • वैरिकाज़ नसों का होना
  • यदि आप गर्भवती हैं

एसेंशियल ऑयल के फायदे बेशुमार तो होते हैं कुछ नुकसान भी

आंखों की एक्सरसाइज के साथ ही कैलोरी बर्न भी करता है भारतीय नृत्य

नेचुरल डिजास्टर से स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर, हो सकती हैं कई बीमारियां

त्वचा से लेकर दिल तक के लिए हैं नारंगी के छिलके फायदेमंद

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

लेबर पेन के लिए एक्यूपंक्चर कितना सही है?

लेबर के लिए एक्यूपंक्चर की जानकारी in hindi. लेबर के लिए एक्यूपंचर तब ज्यादा असरदार साबित होता है जब आप इसे किसी प्रोफेशनल से कराती हैं। लेबर में एक्यूपंक्चर कैसे मदद करता है? आइए जानते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Recommended for you

जानिए कहां होते हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स और कैसे लगा सकते हैं ये सेक्स लाइफ में तड़का 

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 26, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
साइटिका के घरेलू उपाय

साइटिका के घरेलू उपाय को आजमाएं, जानें क्या करें और क्या नहीं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 5, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
स्पॉन्डिलाइटिस डाइट चार्ट

स्पॉन्डिलाइटिस डाइट चार्ट को करें फॉलो और पाएं दर्द से राहत

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 24, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
पीठ दर्द के निचले हिस्से में दर्द के उपाय

पीठ के निचले हिस्से में दर्द से राहत पाने के घरेलू उपाय, आज ही से आजमाएं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें