खुल गया सारा के वेट लॉस का राज, फिटनेस डॉक्टर ने किया खुलासा

By

Update Date दिसम्बर 10, 2019 . 3 mins read
Share now

सारा अली खान के वेट लॉस के बारे में हर कोई जानता है। उनकी वेट लॉस जर्नी यंगस्टर्स को मोटीवेट करती है। सारा कई बार बता चुकी हैं कि वो टीनएज में पिज्जा और फास्ट फूड पर पूरी तरह से निर्भर थी। सोशल मीडिया में उनकी फैट टू फिट वाली फोटो अक्सर दिख जाती है। सारा ने अभी तक अपने इंस्टाग्राम में एक्सरसाइज की कोई खास फोटो अपलोड नहीं की थी। हाल ही में सारा अली खान के फिटनेस और न्यूट्रीशनल डॉक्टर सिद्धांत भार्गव ने मीडिया हाउस को दिए एक्सलूसिव इंटरव्यू में उनकी वेट लॉस जर्नी को शेयर किया। डॉक्टर सिद्धांत ने सारा के हेल्थ ट्रांसफॉर्मेशन
के साथ PCOD से डील करने के उपाय भी शेयर किए।

वेट लॉस से लेकर जॉइंट पेन तक, जानिए क्रैब वॉकिंग के फायदे

आप सारा अली खान की बॉडी में इतना बड़ा परिवर्तन कैसे लाएं ?

सारा बहुत ही जिम्मेदार इंसान हैं। मैंने उनकी फिटनेस के लिए जो भी कहा, उन्होंने किया। उसको अच्छी तरह से पता है कि उसकी बॉडी के लिए क्या अच्छा है और क्या बुरा। मैंने उसकी डायट को चेंज किया। शरीर की जरूरत के हिसाब से कुछ फूड एड किए। मैं एक फिटनेस कोच की तरह उसे हमेशा गाइड करता हूं। जब मुझे लगता था कि वो कुछ कमजोर पड़ रही है तो मैं उसे प्रेरित करने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाता था।

हेल्दी हार्ट से लेकर वेट लॉस तक, जानिए जंपिंग जैक के 10 फायदे

लाइफस्टाइल और डायट को चेंज करने के लिए आपने क्या किया ?

उसे हमेशा से ही फास्ट फूड पसंद था। उसके अचानक से वजन बढ़ने की यही वजह थी। अब उसे पता चल गया था कि वेट कम करना है तो हेल्दी फूड के साथ दोस्ती करनी पड़ेगी। डायट में चेंज बहुत सिंपल था। मसल्स ग्रोथ और टोन को स्टिमुलेट करने के लिए डायट में प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाया। इस कारण मेटाबॉलिक रेट सही हुआ और वेट लॉस शुरू हुआ। हेल्दी खाने से हार्मोन भी बैलेंस रहते हैं। स्मार्ट तरीके से अपनी डायट में कार्ब्स को शामिल करें। कार्डियो ने वेट लॉस में हेल्प की।

अभी क्या डायट फॉलो कर रही हैं सारा ?

सारा प्रोटीन की अच्छी मात्रा डायट में शामिल कर रही हैं। साथ ही चिकन, मछली और अंडा उनके खाने में रोज शामिल होता है। प्रोटीन के लिए सारा पनीर खाना पसंद करती हैं। अपनी डायट में वो एवोकाडो और नट्स शामिल करती हैं। फाइबर के लिए ताजी सब्जियां अच्छा विकल्प है, इसलिए वो वेजिटेबल्स पर पूरा फोकस रखती हैं। साथ ही वर्कआउट के पहले कार्ब्स खाना पसंद करती हैं। उनके मिड-डे स्नैक्स में जामुन, दही, बीज और नट्स शामिल होते हैं। सारा आमतौर पर शूट के वक्त डायट चीट नहीं करती हैं लेकिन दो हफ्तों में एक बार ये हो ही जाता है।

PCOS से छुटकारा ​पाने के लिए ध्यान में रखें ये 9 बातें

सारा ने PCOD से कैसे सामना किया ?

सारा ने इस मामलें में परिपक्वता दिखाई। उसने इस समस्या को कभी भी बहाने के रूप में नहीं लिया। अन्य महिलाओं को प्रेरित करने के लिए सारा ने एक उदाहरण पेश किया है। उसने करीब 45 किलो वजन कम किया है। ये बड़ी बात है कि आप वजन कम करने के बाद उसे मेंटेन रखें। अब उसका PCOD भी नियंत्रण में है। इसके लिए व्यायाम और सही पोषण बहुत जरूरी है।

जो लोग PCOD से गुजर रहे हैं, उन्हें किस तरह की एक्सरसाइज करनी चाहिए।

इस दौरान व्यायाम बहुत मायनें रखता है। वेट ट्रेनिंग के दौरान कंवर्सिनल वेट ट्रेनिंग, टाइम और लो इंटेन्सिटी वेट ट्रेनिंग जरूरी है। कार्डियोवस्कुलर ट्रेनिंग के दौरान स्थिर स्टेट कार्डियो और हाई इन्टेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग जरूरी है।
रेस्ट और रिकवरी – इस प्रोटोकॉल का पालन किया जाना चाहिए। इसमें प्रत्येक वर्कआउट का डिटेल अलग-अलग होता है। शरीर के प्रकार के मुताबिक ये भिन्न हो सकता है।

ट्रांसफारमेशन में कितना समय लगता है ?

ये अलग हो सकता है। किसी को कम समय लगता है और किसी को ज्यादा। इसका कोई शॉर्टकट नहीं है। आप अपना वसा कम करना होता है और पीरिएड्स को नियमित करना होता है। मेटाबॉलिज्म रेट को भी सही करना होता है। ये प्रोसेस सिर्फ सुंदरता के लिए नहीं है। आमतौर पर ट्रांसफॉर्मेशन में 4 से 6 महीने लग जाते हैं।

अगर चाहती हैं शिल्पा शेट्टी जैसा फिट होना, तो जानिए उनका फिटनेस मंत्र

PCOD की समस्या का सामना कर रही लड़कियों को आप क्या सुझाव देना चाहेंगे ?

अधिक प्रोटीन खाएं – चाहे आप शाकाहारी हों या नॉन वेजीटेरियन। प्रोटीन को डायट में शामिल करने से डरे नहीं। बॉडी के पर केजी वेट के अनुसार एक ग्राम प्रोटीन जरूर लें।

हेल्दी फैट खाएं – फैट हार्मोंस का बेस बनाता है। पर्याप्त वसा न लेने पर हार्मोन बनने में दिक्कत आती है। सेचुरेटेड फैट ज्यादा न लें बल्कि पॉलीअनसेचुरेटेड फैट को शामिल करें। ओमेगा-3 महत्वपूर्ण है। फिश, फिश ऑयल,फ्लैक्स सीड, चिया सीड को जरूर शामिल करें।

लो जीआई कार्ब्स– इंसुलिन को बढ़ाने वाले कार्ब्स को खाने में न शामिल करें। खाने में फाइबर को शामिल करें और प्रोसेस्ड कार्ब्स और शुगर को इग्नोर करें।

एक्सरसाइज– शरीर के लीन मसल्स मास को बढ़ाएं। कार्डियो को बहुत ज्यादा न करें।

यह भी पढ़ें

जानिए कैसे फिटनेस के लिए स्विमिंग बेस्ट है

मनोरंजन के साथ फिट रहने का आसान तरीका है ज़ुंबा डांस वर्कआउट (Zumba Dance Workout)

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र