आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

बाबा रामदेव के फिटनेस सिक्रेट करें फॉलो और रहें ताउम्र फिट एंड हेल्दी

    बाबा रामदेव के फिटनेस सिक्रेट करें फॉलो और रहें ताउम्र फिट एंड हेल्दी

    कहावत है अच्छे लोगों से हमेशा अच्छी आदतें ही सीखने को मिलती है। इसलिए हमेशा अच्छी संगत में रहना चाहिए, अच्छे लोगों को फॉलो करना चाहिए। वहीं उनके जीवन की अच्छाई को अपने जीवन में शामिल करना चाहिए। मौजूदा समय में बाबा रामदेव को किसी पहचान की जरूरत नहीं है। वो भारत के बड़े सेलिब्रिटी हैं, जो लोगों को योग सिखाने के साथ उसके महत्व के बारे में बताते हैं। वहीं इनके कई फॉलोअर्स भी हैं, जो उनकी बताई गई बातों को अमल कर उसका नियमित तौर पर पालन कर फायदा उठाते हैं। तो इसी क्रम में आइए हम इस आर्टिकल में बाबा रामदेव के फिटनेस के बारे में जानने की कोशिश करें, वहीं जानेंगे कि आखिर किस प्रकार की दिनचर्या को अपनाकर, हेल्दी लाइफस्टाइल को अपनाकर, जीवन में एक्सरसाइज और योग को शामिल कर वो इतने फिट हैं। 54 साल से बाबा रामदेव के फिटनेस का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि इस उम्र में भी वो इतने फिट और जवां होने के साथ उनके सिर व शरीर के बाल पूरे के पूरे काले हैं, वहीं दूसरी ओर इस उम्र तक आते आते कई भारतीय बीमारियों की गिरफ्त में आ जाते हैं, वहीं उनके बाल सफेद होने या झड़ जाते हैं और मोटापे के शिकार हो जाते हैं। इस आर्टिकल में बाबा रामदेव के फिटनेस के अनुसार ही हम अपनी दिनचर्या को अपनाकर जवां दिखने के साथ स्वस्थ रह सकते हैं। तो आइए जानते हैं कैसी है उनकी फिटनेस से जुड़ी दिनचर्या, कैसे करें फॉलो और बाबा रामदेव के फिटनेस को अपनाने के लिए क्या करें।

    बाबा रामदेव के फिटनेस को जानने से पहले उनकी दिनचर्या जानें

    बीते दिनों नवभारत टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में बाबा रामदेव ने अपनी लाइफस्टाइल से जुड़ी कुछ अहम बातों को शेयर किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि वो सुबह 3.30 बजे उठ जाते हैं। उसके बाद एक से दो ग्लास गर्म पानी पीने के बाद आंवले का जूस पीकर आधे घंटे में फ्रेश हो जाते हैं। उसके बाद योग शिविर में जाने से पहले करीब आधा घंटा एक्सरसाइज करते हैं, इसमें वार्मअप एक्सरसाइज के साथ स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करते हैं। वहीं इनके निवास स्थान से योग केंद्र की दूरी एक किलोमीटर है, वहां तक दौड़कर ही जाते हैं। फिर इसके बाद स्टेज पर चढ़कर लोगों से बात करने के साथ योग करते हैं और लोगों को योग के महत्व की जानकारी देते हैं। इस दौरान वो खुद भी योग करते हैं। करीब तीन घंटे योग करते हैं। इस दौरान संगत के साथ बाते करने के साथ फॉलोअर्स से मिलते भी हैं। इसके दो घंटे के बाद पानी पीकर नहाते हैं। दोपहर में करीब तीन बजे आध्यात्मिक प्रवचन देते हैं। इस दौरान योग नहीं करते। 7.30 बजे डिनर के बाद रात दस बजे बिस्तर पर चले जाते हैं। वहीं इनके मुताबिक इन्हें सोने में इन्हें ज्यादा समय नहीं लगता, 5 से छह मिनटों में ही नींद आ जाती है। फिर अगली सुबह से फिटनेस का यही रूटीन चलता रहता है।

    और पढ़ें : योगा या जिम शरीर के लिए कौन सी एक्सरसाइज थेरिपी है बेस्ट

    बाबा रामदेव के फिटनेस में शामिल योगिक जॉगिंग एक्सरसाइज

    रामदेव बाबा के फिटनेस की बात करें तो इस उम्र में भी वो दिन की शुरुआत योगिक एक्सरसाइज से करते हैं। इस एक्सरसाइज में वॉर्मअप एक्सरसाइज के साथ स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज भी शामिल होता है। आस्था चैनल पर संगत को योग कराने के दौरान बाबा रामदेव बताते हैं कि योगिक जॉगिंग एक्सरसाइज करने से सामान्य लोगों की तुलना में व्यक्ति की उम्र 25 साल से अधिक बढ़ जाती है, जैसे सामान्य व्यक्ति की औसतन आयु 75 वर्ष है, इसे कर वो 100 साल तक जिंदा रह सकता है। इसमें 12 अभ्यास करने होते हैं। जानने के लिए नीचे पढ़ें।

    और पढ़ें : योग सेक्स: योगासन जो आपकी सेक्स लाइफ को बनायेंगे मजबूत

    स्टेप बाई स्टेप ऐसे करें योगिक जॉगिंग एक्सरसाइज

    • योगिक जॉगिंग एक्सरसाइज पौराणिक एक्सरसाइज है, इसे करने के साथ साथ लंबी और गहरी सांसे लेनी चाहिए, पहले हल्की-हल्की जॉगिंग करनी चाहिए, इस दौरान शरीर और गति दोनों ही सहज हो इसका ध्यान देना चाहिए।
    • कुछ देर करने के बाद जॉगिंग करते हुए ही दोनों हाथों को एक के बाद एक कर ऊपर-नीचे करना चाहिए। एक बार में एक हाथ तो दूसरी बार में दूसरे हाथ को ऊपर-नीचे करना चाहिए। ध्यान रखें इस दौरान पांव का मुवमेंट जॉगिंग स्टाइल में एक ही स्थान पर खड़े होकर करते रहें।
    • इसे कुछ देर करने के बाद एक्सरसाइज को करते हुए एक बार में एक पांव को उठाएं तो उसके बाद दूसरे पांव को उठाएं। वहीं ज्यादा ताकतवर लोग पांव को ऊंचा उठाने के साथ इसे मध्यम से तेज गति से कर सकते हैं। इसके बाद हाथों को कमर पर रख घुटनों को बेंड करें फिर उठाएं, बेंड करें फिर उठाएं, इसे कुछ देरी तक दोहराते रहें।
    • इसके बाद पांव की स्ट्रेचिंग करें, वहीं हाथों को जमीन की सिधाई पर ले जाते हुए पांव के एक ओर बैठे, फिर दूसरी ओर बैठे। जिसकी जितनी क्षमता है वो उतना ही झुकें।
    • फिर दोनों हाथ को कमर पर रखकर एक ओर मुड़ते हुए सिर को ऊपर की ओर ले जाए, ठीक ऐसा ही दूसरी ओर मुड़कर करें।
    • फिर दोनों हाथों को कंधे के समानांतर लाते हुए दोनों हाथों को पीछे की ओर फैलाते हुए पीछे की ओर से जाए, गर्दन पीछे की ओर झुकेगी श्वास लेते हुए छोड़े, चाहें तो इसे धीरे-धीरे या जल्दी जल्दी कर सकते हैं।
    • त्रिकोण आसन : पांव की स्ट्रेचिंग करते हुए बाएं हाथ को शरीर के दाई ओर बेंड करते हुए दाई ओर ले जाएं, फिर दाई हाथ को भी दूसरी ओर ले जाएं। यदि आप पहली बार कर रहे हैं तो धीरे-धीरे करें। इस दौरान ध्यान रखें कि आप जिस हाथ को उठा रहे हैं तो दूसरा हाथ आपके पांव को छूएगा। इसमें ध्यान देना है कि नीचे व ऊपर वाला हाथ सीधा रहेगा, इससे मोटापा कम होता है और फैट कम होता है।
    • कोण आसन : इसे करने के लिए जिन्हें कमर में दर्द है उन्हें नहीं करना चाहिए। वहीं स्ट्रेचिंग करते हुए एक हाथ से एक पांव को झुककर छुएं फिर दूसरे पांव को झुककर छुएं, ध्यान रखें कि लंबी व गहरी सांसे लेते रहें। 5-10 बार आवश्यकता अनुसार कर सकते हैं।
    • पादहस्तासन : दोनों पांव को एक सीधाई में रखें, दोनों हाथों को पीछे की ओर एक सीधाई में ले जाएं, फिर हाथों को नीचे की ओर ले जाएं। और पांव के बगल में हाथ को रखें। इसे पहली बार करें तो धीरे-धीरे करें।
    • स्टेप वन में स्ट्रेनिंग कर हाथ को कंधे के बराबर रखें, स्टेप दो में हल्का जंप कर पांव को सीधाई में रखें और हाथ को सिर के ऊपर सीधा खड़ा रखें, तीसरे स्टेप में जंप लेकर फिर हाथ को कंधे की सिधाई में ले आएं और पांव स्ट्रेचिंग मोड में फैलाकर रखें, चौथे स्टेप में फिर हल्का जंप करते हुए हाथ को नीचे और ले आए व शरीर के बदल में रखें और पांव को सटा लें, इस पॉश्चर को क्रमबद्ध बार-बार हल्का जंप करते हुए करें।
    • दोनों हाथ को दाएं से बाएं व बाएं से दाएं की ओर ले जाएं। इस दौरान हाथ के साथ पांव को भी ले जाएं, ध्यान रखें कि हाथों को ले जाने में हल्का जंप करके ले जाएं।

    और पढ़ें : रोज करेंगे योग तो दूर होंगे ये रोग, जानिए किस बीमारी के लिए कौन-सा योगासन है बेस्ट

    बाबा रामदेव के फिटनेस के आप दिवाने हैं तो इस क्रिया को रोजाना की दिनचर्या में शामिल करना होगा। अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरूरी है कि व्यक्ति प्रति सप्ताह 600 मिनट योग करें। या फिर दिन में कम से कम एक घंटे योग जरूर करना चाहिए। वहीं इन तमाम योगिक क्रियाओं व आसनों को सही विधि से करना जरूरी होता है, क्योंकि आप यदि इसे सही से नहीं करेंगे तो उसका उतना ज्यादा स्वास्थ्य लाभ भी नहीं मिल पाएगा। इसलिए जरूरी है कि पहली बार आप एक्सपर्ट के मार्गदर्शन में ही इसे करें।

    और पढ़ें : मशहूर योगा एक्सपर्ट्स से जाने कैसे होगा योग से स्ट्रेस रिलीफ और पायेंगे खुशी का रास्ता

    बाबा रामदेव के फिटनेस को देख योगा और जॉगिंग को अपनाएं

    बाबा रामदेव के फिटनेस को अपनाने के लिए योगा और जॉगिंग को अपनी दिनचर्या में शामिल करना होगा। क्योंकि वो दिन की शुरुआत इसी से कर करते हैं। वहीं बाबा रामदेव के फिटनेस को अपनाकर स्वस्थ्य रहा जा सकता है। यह दोनों ही एक्सरसाइज बेस्ट हैं। वहीं दोनों ही हमारी स्ट्रेंथ और स्टेमिना को बढ़ाने का काम करती हैं।

    योग का महत्तव जानने के लिए वीडियो देख जानें एक्सपर्ट की राय

    योगा स्ट्रेस बूस्टर : योगा को रिलेक्सिंग और मेडिटेटिव मूव के लिए जाना जाता है। यही वजह है कि 54 साल होने के बावजूद बाबा रामदेव के फिटनेस को देख कोई उनकी उम्र का अंदाजा नहीं लगा सकता। इसलिए योगा को जीवन में अपनाना चाहिए। वहीं बाबा रामदेव के फिटनेस को आधार मानते हुए स्ट्रेचिंग कर तनाव मुक्त हो सकते हैं। जैसा कि बाबा रामदेव ने जॉगिंग-रनिंग को अपनी दिनचर्या में शामिल किया है, ऐसे में आम लोगों को भी इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। इसके लिए हम दौड़ भी सकते हैं। हावर्ड मेडिकल स्कूल के शोधकर्ताओं के अनुसार जॉगिंग कर हम डिप्रेशन से लड़ भी सकते हैं।

    योगा में एरोबिक्स के हैं लाभ : 2005 में अमेरिकन काउंसिल ऑफ एक्सरसाइज के अनुसार उन्होंने योगा के लाभ पर शोध किया। इससे उन्हें पता चला कि योगा हमारे शरीर में एरोबिक कैपासिटी को बढ़ाता है। यही कारण है कि हमें बाबा रामदेव के फिटनेस को देख उनकी दिनचर्या के अनुसार एक्सरसाइज को शामिल करना चाहिए।

    फ्लेक्सिब्लिटी : योगा के तहत स्ट्रेचिंग और बेंडिंग एक्सरसाइज करने से हेल्दी रहा जा सकता है। अमेरिकन काउंसिल के शोध के अनुसार जो व्यक्ति नियमित तौर पर योगाभ्यास करते हैं उनमें कुछ महीनों के बाद देखा गया है कि उनका शरीर ज्यादा फ्लेक्सिबल हो जाता है। इसलिए बाबा रामदेव के फिटनेस को देख उनकी तरह ही हमें योग को जीवन में शामिल करना चाहिए।

    योगा के बारे में जानने के लिए खेलें क्विज : Quiz : योग (yoga) के बारे में जानने के लिए खेलें योगा क्विज

    लंबे समय तक जिंदा रह सकते हैं : रामदेव बाबा के फिटनेस को देख पता चलता है कि बढ़ती उम्र में भी तंदुरुस्त रहा जा सकता है। आस्था चैनल में योग सिखाते सिखाते बाबा रामदेव खुद बोल रहे थे कि योग को कर लंबे समय तक जिंदा रहा जा सकता है। नियमित तौर पर कोई योग करे तो 100 साल से अधिक जी सकता है। 2002 में जर्नल ऑफ मेडिसिन साइंस इन स्पोर्ट्स एंड एक्सरसाइज के अनुसार जो नियमित तौर पर योगा करते हैं वो ज्यादा लंबे समय तक जिंदा रहते हैं।

    कैलोरी बर्न करने का जरिया : बाबा रामदेव के फिटनेस का राज यह भी है कि वो योग करने के साथ एक किलोमीटर रोजाना दौड़ते हैं। तेज गति से दौड़कर ही शिविर तक पहुंचते हैं। इससे वोकैलोरी भी बर्न कर पाते हैं। नियमित तौर पर यदि कोई जॉगिंग को लाइफ में शामिल करे तो वह ज्यादा कैलोरी बर्न कर पाएगा।

    और पढ़ें : योग क्या है? स्वस्थ जीवन का मूलमंत्र योग और योगासन

    योगा के लिए निकाले समय

    इन तमाम वॉर्मअप एक्सरसाइज के साथ जागिंग और रनिंग के साथ योगाभ्यास कर बाबा रामदेव के फिटनेस के अनुसार ही शरीर को फिट रखा जा सकता है। वार्मअप एक्सरसाइज और जॉगिंग के बाद बाबा रामदेव अपनी संगत को बताते हुए घंटों योगा कि प्रैक्टिव करते हैं, जिसमें वो तमाम योगासन के साथ प्राणायाम और मुद्राओं के बारे में बताने के साथ खुद भी वही योगाभ्यास करते हैं। इसलिए बाबा रामदेव का फिटनेस देख यदि आप भी इसे ट्राई करना चाहते हैं तो इन वार्मअप एक्सरसाइज के बाद आप योगासन को ट्राई कर सकते हैं। वहीं हेल्दी और फिट रह सकते हैं।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/07/2020 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड