home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स: क्या ये कैंसरस भी हो सकता है?

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स: क्या ये कैंसरस भी हो सकता है?

पीरियड्स (Periods), मेनोपॉज (Menopause) या फाइब्रॉएड्स (Fibroids) महिलाओं के सेहत से जुड़ा विषय है। वैसे बदलती लाइफ स्टाइल और लोगों के बदलते थॉट्स खाकर पुरुष वर्ग अब पीरियड्स से जुड़ी जानकरी रखने लगे हैं, लेकिन पीरियड्स या मेनोपॉज जैसे शब्दों को देखकर अगर आप यह सोचते हैं कि ये आपकी सेहत से जुड़ी जानकारी नहीं है और इसे पढ़ने का क्या फायदा, तो प्लीज थोड़ा ठहरिया क्योंकि फाइब्रॉएड्स आपके आसपास काम करने वाली महिला या आपके परिवार की ही कोई महिला फाइब्रॉएड्स की समस्या से पीड़ित हों और आप उनकी मदद कर पाएं! कहते हैं ना सिर्फ पैसों से ही मदद नहीं की जा सकती, बल्कि आप इस परेशानी के बारे में समझाकर भी मदद कर सकते हैं। इसलिए आज इस आर्टिकल में फाइब्रॉएड्स एवं मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause) से जुड़ी पूरी जानकारी आपसे शेयर करेंगे।

  • फाइब्रॉएड्स क्या है?
  • मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स की समस्या क्या है?
  • मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स के लक्षण क्या हैं?
  • मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स की संभावना कब बढ़ सकती है?
  • मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स का इलाज कैसे किया जाता है?

चलिए अब एक-एक कर मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

और पढ़ें : क्या मैं फाइब्रॉएड्स के साथ प्रेग्नेंट हो सकती हूं?

फाइब्रॉएड्स (Fibroids) क्या है?

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause)

यूटरस में या यूटरस की दिवार पर फाइब्रॉएड्स डेवलप हो सकते हैं, जो एक तरह का ट्यूमर होता है। हालांकि अच्छी बात ये है कि नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ये ट्यूमर (Tumor) कैंसरस (Noncancerous) नहीं होते हैं। गर्भाशय में होने वाले ट्यूमर यानी फाइब्रॉएड्स को मेडिकल टर्म में लेयोमायोमास (Leiomyomas) और मायोमास (Myomas) भी कहा जाता है। कुछ महिलाओं में फाइब्रॉएड्स (Fibroids) की समस्या होने पर कोई शारीरिक परेशानी या लक्षण नजर नहीं आते हैं और ये खुद ठीक भी हो जाने वाली बीमारी है, लेकिन मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स की तकलीफ क्या है, इसे समझने की कोशिश करते हैं।

और पढ़ें : क्या है फाइब्रॉएड कैंसर? जानें इसके लक्षण और उपचार

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause) की समस्या क्या है?

यूसीएसएफ मेडिकल सेंटर (UCSF Medical Center) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार 50 प्रतिशत महिलाओं में मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स की समस्या देखी जाती है। यूटरस में फाइब्रॉएड्स की संख्या एक या इससे ज्यादा भी हो सकती है। फाइब्रॉएड्स का साइज भी अलग-अलग हो सकता है। कुछ महिलाओं में फाइब्रॉएड्स होने की स्थिति में फाइब्रॉएड्स अपने आप सिकुड़ने लगते हैं और मेनोपॉज जैसे लक्षण देखे जाते हैं। वहीं जो महिलाएं हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरिपी (Hormone Replacement Therapy [HRT]) लेती हैं, उनमें फाइब्रॉएड्स कम नहीं होते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरिपी (HRT) में इस्ट्रोजन (Estrogen) और प्रोजेस्ट्रोन (Progesterone) की वजह से फाइब्रॉएड्स को बढ़ने में मदद मिलती है।

और पढ़ें : हर महिला के लिए जानना जरूरी है फाइब्रॉएड से जुड़े मिथक

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Fibroids after menopause)

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  • पेट का आकार सामान्य से ज्यादा बड़ा होना।
  • एनीमिया (Anemia) की समस्या होना।
  • हमेशा थकान (Fatigue) महसूस होना।
  • सेक्स (Sex) के दौरान दर्द होना।
  • पीठ (Back) और पैर (Legs) में दर्द होना।
  • पेल्विक में दर्द (Pelvic pain) होना।
  • ब्लैडर (Bladder) या बाउल (Bowels) में दर्द होना।

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स होने पर ये लक्षण महसूस किये जा सकते हैं। हालांकि कुछ महिलाओं में ऐसे लक्षण नहीं देखे जा सकते हैं या इन लक्षणों की वजह से अत्यधिक परेशान भी रह सकती हैं।

और पढ़ें : Ovarian cyst: ओवेरियन सिस्ट क्या है? जानें कारण, लक्षण और उपाय

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause) की संभावना कब बढ़ सकती है?

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स होने की संभावना निम्नलिखित हो सकती है। जैसे:

ऐसी स्थिति होने पर फाइब्रॉएड्स होने की संभावना बढ़ जाती है।

और पढ़ें : फाइब्रॉएड होने पर अपने डॉक्टर से जरूर पूछे ये फाइब्रॉएड से जुड़े सवाल

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Fibroids after menopause)

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स का इलाज इसके लक्षणों पर निर्भर करता है। कई बार महिलाओं को मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स होने पर कोई शारीरिक परेशानी या इसके लक्षण नजर नहीं आते हैं, तो ऐसी स्थिति में इलाज की आवश्यकता नहीं पड़ सकती है, लेकिन अगर आपको इसकी जानकरी हेल्थ चेकअप के दौरान मिल चुकी है, तो डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। इसके अलावा निम्लिखित स्थितियों को ध्यान में रखा जाता है और फिर मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स का इलाज शुरू किया जाता है। जैसे:

  • महिला की उम्र (Age) कितनी है?
  • कोई बीमारी या शारीरिक परेशानी है या नहीं?
  • मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स के लक्षण नजर आ रहें हैं या नहीं?
  • फाइब्रॉएड्स यूटरस के वॉल पर है या यूटरस में कहां पर है?
  • फाइब्रॉएड्स का प्रकार (Types of Fibroids) क्या है?

इन सवालों को ध्यान में रखकर मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स का इलाज निम्नलिखित तरह से किया जाता है। जैसे:

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स इलाज:-

दवा (Medication)

  • ओवर-द-काउंटर (OTC) मिलने वाली दर्द की दवा प्रिस्क्राइब की जा सकती है। इसके अलावा नॉन स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (NSAIDs) जैसे आइब्रूफेन (Ibuprofen) या एसिटामिनोफेन (Acetaminophen) प्रिस्क्राइब की जा सकती है।
  • अगर महिला को मेंस्ट्रुअल ब्लीडिंग अत्यधिक है, तो ऐसी स्थिति में आयरन सप्लिमेंट्स लेने की सलाह दी जा सकती है।
  • फाइब्रॉएड्स के साइज को कम करने के लिए गोनाडोट्रोपिन-रिलीजिंग हॉर्मोन एगोनिस्ट (Gonadotropin-releasing hormone agonists) दी जा सकती है, जिससे फाइब्रॉएड्स के आकार को कम करने में मदद मिलती है।
  • एंटीहॉर्मोनल एजेंट (Antihormonal agent) या हॉर्मोन मॉड्यूलेटर (Hormone modular) जैसे यूलिप्रिस्टल एसीटेट (Ulipristal acetate), मिफेप्रिस्टोन (Mifepristone) और लेट्रोजोले (Letrozole) भी प्रिस्क्राइब की जा सकती हैं। ये दवाएं फाइब्रॉएड्स को बढ़ने से रोकती हैं।

नोट: इन दवाओं का सेवन अपनी मर्जी से ना करें। यह ध्यान रखें कि दवा बंद करने के बाद फाइब्रॉएड्स का आकार फिर से बढ़ सकता है। इसलिए डॉक्टर से कंसल्टेशन में रहें और उनके द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें।

और पढ़ें : फाइब्रॉएड्स के प्रकार – जानिए फाइब्रॉएड्स कितने प्रकार के होते हैं

सर्जरी (Surgery)

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स होने की स्थिति में सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है। जैसे:

  • एब्डोमिनल हिस्टेरेक्टोमी (Abdominal Hysterectomy) की मदद से फाइब्रॉएड्स को हटाया जाट है।
  • वजायनल हिस्टेरेक्टोमी (Vaginal Hysterectomy) के दौरान वजायना में कट लगाकर फाइब्रॉएड्स को निकाल सकते हैं।
  • कुछ स्थिति में लेप्रोस्कोपिक हिस्टेरेक्टोमी (Laparoscopic Hysterectomy) सर्जरी की मदद ली जा सकती है।
  • पेट और गर्भाशय में छोटा कट लगाकर फाइब्रॉएड्स को निकाला जा सकता है। इस प्रक्रिया को मेडिकल टर्म रोबोटिक हिस्टेरेक्टोमी (Robotic Hysterectomy) कहा जाता है।
  • फाइब्रॉएड्स अगर यूटरस के दिवार पर है, तो ऐसी स्थिति में मायोमेक्टोमी सर्जरी की मदद ली जा सकती है। हालांकि मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स हटाने के लिए इस सर्जरी की मदद नहीं भी ली जा सकती है, क्योंकि मायोमेक्टोमी (Myomectomy) उन महिलाओं के लिए लाभकारी है, जो प्रेग्नेंसी प्लानिंग (Pregnancy planning) कर रहीं हैं या करने वाली हैं।
  • हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) की मदद से भी फाइब्रॉएड्स को यूटरस से निकाला जा सकता है। यह भी प्रेग्नेंसी प्लानिंग करने वाली महिलाओं के लिए उपयुक्त माना जाता है।

मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स होने पर महिला की हेल्थ कंडिशन और बीमारी की गंभीरता को देखते हुए कौन सी सर्जरी की जा सकती है यह डॉक्टर निर्णय लेते हैं।

अगर आप फाइब्रॉएड्स (Fibroids) या मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप मेनोपॉज के बाद फाइब्रॉएड्स (Fibroids after menopause) की समस्या से पीड़ित हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हेल्थ एक्सपर्ट आपके हेल्थ को ध्यान में रखकर आपको आवश्यक दवा प्रिस्क्राइब कर सकते हैं।

महिलाओं में हॉर्मोन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x