home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज के मरीजों के लिए इन 5 तरह के आटों का सेवन फायदेमंद है!

डायबिटीज के मरीजों के लिए इन 5 तरह के आटों का सेवन फायदेमंद है!

डायबिटीज के मरीज क्या खाते हैं और क्या नहीं, यह दोनों ही बाते बहुत महत्वूपर्ण हैं। यदि डायबिटीज के मरीजों की डायट में हल्की सी गड़बड़ी भी आ गई, तो इसका सीधा प्रभाव उनके गूलूकोज लेवल पर पड़ता है। शरीर में जब इंसुलिन हाॅर्मोन का स्राव कम होता है, तब इस स्थिति को टाइप 2 डायबिटीज कहते हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। वैसे तो डायबिटीज एक लाइफस्टाइल डिजीज है और इसके मरीजों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। डायबिटीज के मरीज जितना अपनी डायट हेल्दी और समय पर लेकर चलेंगे। उतना ही उनके लिए अच्छा है। डायबिटीज वालों की खानपान में जो सबसे महत्वपूर्ण बात है, वो यह भी है कि वो कौन से आटे का सेवन कर रहे हैं। गूंहे के आटे से भी कई बार डायबिटीज की समस्या बढ़ जाती है। आइए जानते हैं कि डायबिटीज वालों को कौन से पांच आटे खाने चाहिए।

और पढ़े: क्या आप चाहते हैं डायबिटीज डायट से वजन घटाना? तो ये डायट प्लान आएंगे काम!

डायबिटीज वालों के लिए फायदेमंद है यह 5 आटे (Flour For Diabetes-Patients)

डायबिटीज के मरीजों को अपने खानपान में आटे का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। उन्हें गूहें के आटे की जगह दूसरे अन्य आटे का चुनाव करना चाहिए। इससे उनका शुगर के लेवल को कंट्रोल होने में मदद मिलती है। इसकी के साथ यह कई दूसरी बीमारियों के उपचार में भी प्रभावी है। जानिए इसके बेनेफिट्स के बारे में:

जौ का आटा

डायबिटीज वालों के लिए काफी फायदेमंद होता हैडायबिटीज वालों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें कई जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जैसे विटामिन, फाइबर और मैग्नीशियम आदि। मधुमेह जैसी गंभीर रोग में रोगी के लिए जौ के आटे के सेवन के अनेक फायदे हैं। डायबिटीज में शरीर में पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं हो पाता है। जौ के आटे में मौजूद फेलोलिक्स और बीटा-ग्लूकेन ब्लड में शुगर कम करने के लिए लाभकारी माना जाता है। तो ऐसे में जौ का आटा इंसुलिन के निमार्ण के कारकों में मदद करता है। जौ के आटे में प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट, आयरन और कैल्शियम जैसे पोषक तत्व पाये जाते हैं। जौ के आटे का सेवन डायबिटीज के अलावा और भी कई बीमारियों के इलाज में फायदेमंद है, जैसे कि ब्लड प्रेशर, हार्ट और मोटापा जैसी कई समस्याओं में। यह शरीर में रोग प्रतिरोधिक क्षमता को भी बढ़ाता है। इसके अलावा जैसा कि डायबिटीज वालों की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी काफी कमजाेर हो जाती है। तो ऐसे में जौ के आटे का सेवन और भी जरूरी है। जौ में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में मददगार हैं। जौ के आटे का सेवन रोज किया जा सकता है। यह गेंहू के आटे के मुकाबले काफी फायदेमंद होता है। जौ के आटे का सत्तु या रोटी कई रूपों में सेवन किया जा सकता है।

और पढ़े:डायबिटीज टाइप 2 रिवर्सल के लिए सिर्फ 2 बातों को जानना है जरूरी

कुट्टू का आटा

डायबिटीज वालो के लिए कुट्टू का आटा एक अच्छा विकल्प है। शुगर वालों को गंहू के आटे की जगह इसे अपने डायट में शामिल करना चाहिए। डायबिटीज के अलावा यह ब्लड प्रेशर और अस्थमा जैसे कई रोगों में फायदेमंद है। यह ब्लड शुगर के लेवल को मैनेज करती है। यह शुगर को कंट्रोल में रखती है। इसके सेवर के शरीर में इंसुलिन का स्तर कंट्राेल में रहता है। इसमें प्रोटीन, मैग्नीशियम, फाइबर और आयरन जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके सेवन से पाचन तंत्र भी अच्छा बना रहता है, इसके अलावा इसके और भी कई स्वास्थ्य लाभ है। यह वेट लॉस में भी काफी प्रभावकारी है।

और पढ़ें: क्या है पैनक्रियाज और डायबिटीज के बीच संबंध? जानते हैं आप?

रागी का आटा

रागी के आटे का सेवन कई रोगों के उपचार में काफी फायदेमंद माना जाता है। रागी के आटे में पॉलीफेनोल और फाइबर की उच्च मात्रा होती है। इसके अलावा रागी में फाइटोकेमिकल्स (phytochemicals) भी मौजूद है, जो खाना पचाने की प्रक्रिया को धीमा करने के साथ इंसुलिन के निमार्ण में भी साहयक है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम, फाइबर, प्रोटीन, आयरन, मिथियोनिन और ट्रिपटोफैन आदि पाया जाता है। फाइबर के गुणों से भरपूर रागी का आटा डायबिटीज की समस्या में काफी असरदार साबित हो सकता है। यह डायजेस्टिव सिस्टम के लिए भी अच्छा माना जाता है।

और पढ़े:डायबिटीज की वजह से हो सकती है हियरिंग लॉस की समस्या, यकीन नहीं होता तो पढ़िए यह लेख!

बेसन

बेसन के आटे को डायबिटीज वालो के लिए वरदान कह सकते हैं। डायबिटीज के रोगियों का शरीर काफी कमजोर हो चुका होता है। इससे इब्में और भी कई बीमारियों को खतरा बढ़ जाता है। तो ऐसे बेसन के सेवन के कई बेनिफिट्स देखे गए है। इसमें प्रोटीन की भी उच्च मात्रा पायी जाती है। यह डायबिटीज के अलावा हार्ट की प्रॉब्ल्म, एनीमिया और ब्लड प्रेशर जैसे कई रोगों को दूर करती है। इसके अलावा जैसा कि बेसन में प्रोटीन अधिक होता है, तो इसमें लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है। जिसके कई बेनेफिट्स है। इसीलिए जो लोग वेट लॉस कर रहे हैं, उनके लिए यह फायदेमंद साबित हो सकता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होने के कारण यह देर से ब्लड में पहुंचती है और शुगर का स्तर तेजी से बढ़ता नहीं है।

और पढ़ें: आप में होने वाले मेमोरी लॉस का कारण हो सकती है डायबिटीज की समस्या, जानें दोनों में क्या है संबंध!

राजगिरा का आटा

राजगिरा का सेवन डायबिटीज से बचे रहने के लिए भी किया जा सकता है. एक वैज्ञानिक अध्ययन में पता चला है कि राजगिरा और राजगिरा के तेल का सप्लीमेंट एंटीऑक्सीडेंट थेरेपी के रूप में काम कर सकता है, जो हाइपरग्लाइसीमिया (हाई ब्लड शुगर) को ठीक करने और मधुमेह के जोखिम को रोकने में फायदेमंद साबित हो सकता है।

इस तरह के डायबिटीज के लिए कौन सा आटा फायदेमंद है और कोन से आटे का सेवन नहीं करना चाहिए, यह आपने जाना। डायबिटीज के रोगियों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। उनकी छोटी सी गलती भी उन पर भारी पड़ सकती है। यदि इनमें से किसी आटे के सेवन को आपको किसी प्रकार की एलर्जी है, तो आपको इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
a week ago पर डॉ. अर्पिता सी राज के द्वारा लिखा
डॉ. अर्पिता सी राज के द्वारा मेडिकल समीक्षा
x