home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

जानिए किन कंडिशन में किया जाता है डायबिटीज में एमाराइल का इस्तेमाल?

जानिए किन कंडिशन में किया जाता है डायबिटीज में एमाराइल का इस्तेमाल?

डायबिटीज एक क्रॉनिक और लॉन्ग लास्टिंग हेल्थ कंडिशन है, जो हमारे शरीर की फूड को एनर्जी में बदलने की क्षमता को प्रभावित करती है। सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) के अनुसार अगर आपको डायबिटीज की समस्या है तो इसका अर्थ है कि हमारा शरीर पर्याप्त इंसुलिन नहीं बना पा रहा है या उसका सही प्रयोग नहीं कर पा रहा है। डायबिटीज यानी मधुमेह को कंट्रोल में करने के लिए कुछ दवाइयों को लेने की सलाह दी जाती है। इसके साथ ही रोगी के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल को फॉलो करना भी जरुरी है। डायबिटीज की दवाईयों में से एक का नाम है एमाराइल। आइए जानें डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के बारे में। डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के बारे में जानने से पहले एमाराइल के बारे में थोड़ी जानकारी ले लेते हैं।

एमाराइल क्या है? (Amaryl)

एमाराइल एक ओरल डायबिटीज मेडिसिन है, जिसका जेनेरिक नेम ग्लिमेपाइराइड (Glimepiride) है। डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) का इस्तेमाल लाभदायक माना गया है क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मददगार है। इस दवा कर प्रयोग टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) की स्थिति में किया जाता है। टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) वो कंडिशन है, जिसमें हमारा शरीर पर्याप्त इंसुलिन नहीं बना पाता है या इंसुलिन का इस्तेमाल सही से नहीं हो पाता है। इससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के साथ-साथ सही आहार लेने और व्यायाम करने से ब्लड शुगर लेवल को सुधारने में मदद मिलती है। लेकिन, ध्यान रहे इस दवा का इस्तेमाल टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 Diabetes) की स्थिति में नहीं किया जाता है।

इंसुलिन और अन्य डायबिटीज मेडिसिन्स को कई बार जरूरत पड़ने पर एमाराइल के साथ कंबाइन कर के इस्तेमाल के लिए रोगी को दिया जा सकता है। यही नहीं, इस दवा की सलाह उन वयस्कों को दी जाती है जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) की समस्या है और जो केवल डायट और व्यायाम से टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) को कंट्रोल करने में सक्षम नहीं होते हैं। इस दवा को डायबिटीज की सबसे सामान्य ड्रग मेटफोर्मिन (Metformin) के साथ कंबाइन कर के भी दिया जा सकता है। डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के बारे में तो आप जान ही गए होंगे। अब जानते हैं कि किन लोगों को इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है और किन लोगों को इसे नहीं लेना चाहिए?

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज मैनेजमेंट हो सकता है आसान, अगर आप रखेंगे इन 7 बातों का ध्यान

एमाराइल की सलाह कब दी जाती है?

जैसा की पहले ही बताया गया है कि एमाराइल का प्रयोग उन लोगों के लिए किया जाता है जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) की शिकायत है। लेकिन, केवल डायट और व्यायाम से ब्लड ग्लूकोज कंट्रोल नहीं हो पाता है। एमाराइल को अकेले या अन्य डायबिटीज की दवाईयों के साथ कंबाइन कर के दिया जा सकता है। अन्य दवाईयों की तरह डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) भी सबके लिए सही नहीं होती है। कई लोग इसका इस्तेमाल नहीं करते हैं और कुछ लोगों को इसका प्रयोग करते हुए अतिरिक्त केयर की जरूरत होती है। जानिए किन लोगों को इसकी सलाह नहीं दी जाती है?

और पढ़ें: 40 साल से अधिक की महिलाओं को कैसे प्रभावित करती है डायबिटीज?

एमाराइल की सलाह किन्हें नहीं दी जाती है?

कुछ लोगों को या किन्हीं परिस्थितियों में इस दवा का सेवन करने से बचना चाहिए। इन लोगों को इस दवा की सलाह नहीं दी जाती है:

  • जिन लोगों को इस दवा के इंग्रीडिएंट्स से एलर्जी है या इनसे रिएक्शन होता हो, उन्हें डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) की सलाह नहीं दी जाती है।
  • जिन लोगों को टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 Diabetes) है, उन्हें भी इसे नहीं लेना चाहिए।
  • डायबिटिक कीटोएसिडोसिस (Diabetic ketoacidosis) में भी इस दवा को न लें।
  • किडनी, लिवर और थायरॉइड प्रॉब्लम्स की स्थिति में भी इसे लेने से बचना चाहिए।
  • अगर आप गर्भवती हैं या ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं, तो भी इस दवाई को न लें। इन स्थितियों में यह दवा आपके और आपके बच्चे के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है।
  • अगर कोई व्यक्ति डायलिसिस (Dialysis) पर हो या एड्रिनल (Adrenal) या पिट्यूटरी ग्रंथि (Pituitary gland) प्रॉब्लम्स से पीड़ित हो, तो उन्हें भी डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) की सलाह नहीं दी जाती है। अब जानिए डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के उदाहरणों के बारे में।

और पढ़ें: ड्रग इंड्यूस्ड डायबिटीज : जब कुछ दवाओं का उपयोग बन जाता है डायबिटीज का कारण!

डायबिटीज में एमाराइल के उदाहरण (Amaryl for diabetes)

एमाराइल पैंक्रियाज से ब्लड इंसुलिन के रिलीज को स्टिमुलेट करके और आवश्यक कोशिकाओं द्वारा आपके रक्त में ग्लूकोज के उपयोग को एनकरेज करके खून में ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मदद करती है। लेकिन, इसे तभी लेने की सलाह दी जाती है, अगर डॉक्टर ने इसे लेने के लिए कहा हो। अपनी मर्जी से इसका सेवन करना रोगी के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है। इसके कुछ उदाहरण इस प्रकार हैं:

डायबिटीज में एमाराइल: सेमी एमाराइल 0.5 MG टेबलेट (Semi Amaryl 0.5 MG Tablet)

एमाराइल का इस्तेमाल नॉनइंसुलिन-डिपेंडेंट डायबिटीज मेलिटस (Noninsulin-dependent diabetes mellitus) यानी टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) की स्थिति में किया जाता है। उन रोगियों के लिए इस दवा को बेहतरीन माना जाता है, जिन्हें सही आहार और व्यायाम से ब्लड शुगर को कम करने में सफलता न मिल रही हो। इसका प्रयोग अन्य डायबिटीज की दवाईयों के साथ कम्बाइन करके भी किया जा सकता है। सेमी एमाराइल 0.5 MG टेबलेट (Semi Amaryl 0.5 MG Tablet) एक तरह की सल्फोनायलयूरिया एंटीडायबिटिक मेडिसिन (sulfonylurea antidiabetic medicine ) है, जो पैंक्रियाज से इंसुलिन को रिलीज करने में मदद करती है ताकि ब्लड शुगर लेवल कम हो सके। इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह के अनुसार करना चाहिए। क्योंकि, इसके इस्तेमाल के बाद आप कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं। इस दवा की 10 टेबलेट्स की एक स्ट्रिप ऑनलाइन लगभग 50 रुपये में उपलब्ध है।

और पढ़ें: टाइप टू डायबिटीज में केलेस्थेनिक्स एक्सरसाइज : स्वस्थ रहने का है अच्छा तरीका!

ग्लिमेपाइराइड 1-MG (Glimepiride 1-MG)

ग्लिमेपाइराइड 1-MG टेबल एंटीडायबिटिक की क्लास से संबंधित है, जिसे सल्फोनायलयूरिया कहा जाता है। इसका इस्तेमाल करने की सलाह टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) से पीड़ित लोगों में ब्लड शुगर लेवल को कम करने के लिए किया जाता है। इस दवा में मौजूद ग्लिमेपिराइड Glimepiride पैंक्रियाज में अंदर मौजूद इंसुलिन रिलीज़ करने वाले सेल्स पर एक्ट करता है, सेल्स पर कैल्शियम चैनल्स को एक्टिवेट करता है जिससे इंसुलिन सेल से पास आउट होती है। यह इंसुलिन तब शरीर में प्रत्येक कोशिका को ग्लूकोज लेती है और उसका सही उपयोग करती है, इस प्रकार इससे ब्लड ग्लूकोज लेवल कम होने में मदद मिलती है। इस दवा का सेवन भी डॉक्टर की सलाह के अनुसार हो करना चाहिए। डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के इस प्रकार के बारे में आप जान ही गए होंगे। ऑनलाइन यह दवा की 30 टेबलेट्स की कीमत केवल 100 रुपये है।

Augmentin: Uses and Side Effects

और पढ़ें: इन कारणों से बढ़ रही है भारत में डायबिटीज की बीमारी, तीसरा कारण है बेहद कॉमन

डायबिटीज में एमाराइल: एमाराइल 2mg टेबलेट (Amaryl 2mg Tablet)

एमाराइल 2mg में भी ग्लिमेपिराइड (Glimepiride) होता ,है जो ब्लड ग्लूकोज लेवल को लो करने में प्रभावी है। इसका इस्तेमाल डायबिटीज के उपचार के लिए किया जाता है। अगर सही आहार और एक्सरसाइज से ब्लड ग्लूकोज लेवल को कंट्रोल न किया जा सके, तो इस दवा की सलाह दी जा सकती है। इस दवा से पहले डॉक्टर रोगी की पूरी मेडिकल हिस्ट्री जानेगे। यही नहीं, आपको पहले ही अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में उन्हें बता देना चाहिए। इसके साथ ही अपने डॉक्टर को उन दवाइयों के बारे में भी बता दें, जिनका सेवन आप कर रहे हैं। इस दवा की तीस टेबलेट्स की एक स्ट्रिप आपको लगभग 150 रुपए में ऑनलाइन मिल जाएगी।

यह तो थी डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के उदाहरणों की जानकारी। जैसा की पहले भी कई बार मेंशन किया गया है कि इन दवाइयों को केवल तभी लेना चाहिए, अगर डॉक्टर ने इसे लेने को कहा हो। क्योंकि, इसे लेने के बाद कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी मरीज को हो सकता है। जैसे सिरदर्द, चक्कर आना, जी मिचलाना, स्किन रैशेज, डायरिया, उल्टी आना, पेट में दर्द, मेटाबोलिक प्रॉब्लम्स आदि। इनमें से अधिकतर साइड इफेक्ट्स माइल्ड होते हैं। लेकिन, यह समस्याएं अगर आपको अधिक समय तक रहें और बदतर हो जाएं, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें।

क्या आप जानते हैं कि डायबिटीज को रिवर्स कैसे कर सकते हैं? तो खेलिए यह क्विज!

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()
powered by Typeform

और पढ़ें: डायबिटीज में गुडुची: ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के साथ ही डायबिटीज कॉम्प्लिकेशन्स को कम करने में भी मददगार!

यह तो थी डायबिटीज में एमाराइल (Amaryl for diabetes) के बारे में जानकारी। यह तो आप जान ही गए होंगे कि टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) की स्थिति में डॉक्टर इस दवा को लेने की सलाह दे सकते हैं। इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूरी जानकारी ले लें। इसे लेने के बाद अगर कोई साइड इफ़ेक्ट आपको नजर आता है तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड