home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Saif Ali Khan Birthday: जानें 50 की उम्र में सैफअली खान खुद को कैसे रखते हैं फिट

Saif Ali Khan Birthday: जानें 50 की उम्र में सैफअली खान खुद को कैसे रखते हैं फिट

कई सालों से बॉलीवुड पर राज कर रहे सैफ अली खान की जिंदगी में बहुत से उतार-चढ़ाव आए हैं। हाल ही में सैफ ने अपने फैंस को बताया कि वो फिर से पिता बनने वाले हैं। 16 अगस्त को सैफ का 50वां जन्मदिन है। सैफ इतने फिट हैं कि शायद बहुत कम लोग ही उनकी उम्र का अंदाज लगा सकते हैं। सैफ अली खान के जन्मदिन पर हम आपको उनकी फिटनेस का राज बताते हैं। शायद आप यकीन न करें, लेकिन आज तक उन्होंने कोई जिम ट्रेनर नहीं रखा। वो खुद ही अपनी डायट और वर्कआउट तय करते हैं। सैफ खुद के ही फिटनेस कोच हैं और समय-समय पर अपने प्लान में बदलाव भी करते रहते हैं।

ये भी पढ़ें: जानें देश के विख्यात सेलिब्रिटियों से योग संबंधित आंतरिक स्वास्थ्य और सेहत संबंधी ज्ञान लर दहरा

नहीं है कोई ट्रेनर

सैफ आखिरी बार फिल्म तानाजी और जवानी जानेमन में नजर आए थें। कोरोना के चलते फिलहाल उनकी कोई फिल्म नहीं आई है। सैफ की फिटनेस के लिए उनके दिन की शुरुआत योगा से होती है। इसके अलावा सैफ रोजाना जिम भी जाते हैं। सैफ अपने रोल के हिसाब से अपनी बॉडी में बदलाव कर लेते हैं। इसके लिए वो किसी ट्रेनर का सहारा नहीं लेते हैं।

घर का खाना है पसंद

सैफ कहते हैं, ‘जब भी मुझे समय मिलता है तो मैं टहलना शुरू कर देता हूं। इससे मैं अपने स्ट्रेस को भी कम करता हूं। मुझे स्पोर्ट्स में बहुत दिलचस्पी है। इसलिए समय होने पर स्पोर्ट्स खेलता हूं।’ सैफ को अक्सर अपने बच्चों सारा और इब्राहिम के साथ टेनिस और स्क्वैश खेलते देखा जाता है। सैफ बाहर का खाना बिल्कुल पसंद नहीं करते हैं। वो घर का ही खाना खाते हैं। सैफ को भिंडी बहुत पसंद है और करीना लौकी की दीवानी हैं।

ये भी पढ़ें: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री को हुआ कोरोना, कोविड-19 की दूसरी जांच आई पॉजिटिव

13 साल पहले आया था हार्ट अटैक

सैफ का कहना है कि वो डायटिंग कभी नहीं करते। इसके बजाय वो सही मात्रा में खाना लेते हैं। सैफ की एक न्यूट्रिशनिस्ट जरूर हैं, जो उनकी डायट को बैलेंस करती हैं। सैफ मानते हैं कि हेल्दी रहने के लिए अपना रूटीन फॉलो करना बेहद जरूरी है, फिर चाहे आपको कितना भी काम क्यों न हो। बता दें कि सैफ को करीब 13 साल पहले हार्ट अटैक आया था। उस समय सैफ की उम्र 36 साल थी। हार्ट अटैक आने के बाद सैफ को लीलावती अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

ये भी पढ़ें: National Herbs and Spices Day: मसाले और जड़ी-बूटियां स्वास्थ्य के लिए हैं लाभकारी, जानें इनके फायदे

मायोकार्डियल इंफार्शन (myocardial infarction) बीमारी से थे पीड़ित

सैफ का यह हार्ट अटैक बहुत माइल्ड था। वो दो दिन तक अस्पताल में रहे थें। सैफ को सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। सैफ उस वक्त मायोकार्डियल इंफार्शन (myocardial infarction) से जूझ रहे थें। यह एक ऐसी बीमारी होती है जिसमें खून ठीक तरह से हार्ट तक नहीं पहुंचता है। इससे हार्ट के धड़कने ऊपर-नीचे होने लगती है। भारतीयों में यह बीमारी अक्सर पाई जाती है। 30-40 के उम्र के लोग इससे पीड़ित हो जाते हैं। ऐसा लाइफस्टाइल खराब होने और ज्यादा सिगरेट पीने की वजह से होता है

ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिहाज से लंबे समय तक बैठ कर काम करना है खतरनाक

स्मोकिंग करना छोड़ दिया

हार्ट अटैक आने के बाद से ही सैफ ने अपनी सेहत पर ध्यान देना शुरू किया। उन्होंने स्मोकिंग छोड़ दी और अपनी डायट पर ध्यान दिया। इसी के बाद से वो वर्कआउट भी करने लगे।

नो कार्ब और नो शुगर

सैफ की डायट की बात करें, तो वो शुगर और कार्ब से दूरी बनाकर रखते हैं। सैफ इन दोनों चीजों को तभी डायट में शामिल करते हैं जब उन्हें वजन बढ़ाना होता है। इसके अलावा, वो ज्यादातर नो-कार्ब और नो-शुगर पर ही रहते हैं। इससे वो अपने शरीर के वेट को कम कर पाते हैं। सैफ के सुबह के नाश्ते की बात करें, तो वो नाश्ते में ओटमील लेना पसंद करते हैं। जिसमें फ्रेश मिल्क और ताजे फल शामिल होते हैं। सैफ लंच और डिनर में सलाद नहीं लेते हैं। वो बहुत ही हल्का खाना खाते हैं।

ये भी पढ़ें: डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के दौरान आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जारी किए ये दिशानिर्देश

कार्डियो सेशन है जरूरी

हार्ट अटैक आने के बाद अब सैफ समय-समय पर अपना कार्डियो सेशन करते हैं। वो ऐसा दिन में दो बार करने की कोशिश करते हैं। इसमें योगा, किक बॉक्सिंग और स्ट्रेचिंग शामिल है। अपनी प्रचलित वेब सीरीज ‘सैक्रेड गेम्स’ के लिए सैफ ने अपना वजन बढ़ा लिया था। उनका कहना था, ‘इस रोल के लिए मैंने हल्का खाना खाया और रोज वर्कआउट किया’। अपनी सही डायट और वर्कआखट की वजह से सैफ अपनी उम्र से 8 साल छोटे दिखते हैं। सैफ खूब पानी पीने के अलावा, हर्बल टी और ब्लैक कॉफी भी लेते हैं। सैफ का कहना है, ‘फिट रहना है, तो अपने कैलोरी काउंट पर नजर रखिए।’

ये भी पढ़ें: मानसिक स्वास्थ्य पर सोशल मीडिया के हो सकते हैं नकारात्मक प्रभाव, जानें इनसे कैसे बचें

डिप्रेशन से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है कार्डियो कसरत

एक रिसर्च के अनुसार, ज्यादा शुगर मोटापे, दिल की बीमारी, टाइप 2 मधुमेह और चयापचय सिंड्रोम जैसी बीमारियों के विकास का कारण बनती है। संसाेधित किए गए खाद्य पदार्थों में आमतौर पर उच्च स्तर की चीनी होती है। इनमें सिरप, गन्ने से बनी चीनी, चुकंदर, शहद, खजूर से बनी चीनी और नारियल से बनी चीनी आदि शामिल हैं। बिना शुगर वाली डायट में प्लेन टूना, उबले अंडे और जैतून आदि शामिल हैं। वहीं कार्डियो एक्सरसाइज की बात करें, तो यह आपके हार्ट को दुरुस्त रखने के लिए बेहद जरूरी है। योगा के अलावा आप रोप जंप, स्क्वैट जंप और रनिंग आदि कर सकते हैं। इससे वजन भी तेजी से कम होता है और आपके फेफड़ों के लिए एक अच्छी एक्सराइज साबित होती है। इससे आप स्ट्रेस और डिप्रेशन से भी छुटकारा पा सकते हैं। यह आपकी नींद को भी बढ़ा देती है। 15-20 मिनट की गई कार्डियो कसरत आपको पूरा दिन चुस्त-दुरुस्त रखती है।

ये भी पढ़ें: पुश अप फिटनेस के साथ बढ़ाता है टेस्टोस्टेरॉन, जानें पुश अप्स के फायदे

करीना कपूर भी हैं फिटनेस फ्रीक

बता दें कि सैफ अली खान की कुछ फिल्में पाइप लाइन में हैं। कोरोना की वजह से उनकी इन फिल्मों की शूटिंग शुरू नहीं हो पा रही है। सैफ की अगली फिल्में ‘गो-गोआ-गॉन 2’, ‘बंटी और बबली 2’ और ‘भूत पुलिस’ हैं। सैफ जल्द ही दोबारा पिता बनने वाले हैं। उनकी पत्नी करीना कपूर प्रेग्नेंट हैं। करीना भी अपने पति की तरह ही फिटनेस फ्रीक हैं। जब वो पहली बार मां बनी थीं तब उनका वजन काफी बढ़ गया था। लेकिन उन्होंने वर्कआउट और सही डायट की बदौलत खुद को कुछ महीनों में ही फिट कर लिया था। इसके बाद उन्होंने फिर से फिल्मों में एंट्री की थी।

 

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/08/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड