backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

इन 7 शारीरिक परेशानियों में ना करें पुश अप्स वर्कआउट, जानिए क्यों

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 04/07/2022

इन 7 शारीरिक परेशानियों में ना करें पुश अप्स वर्कआउट, जानिए क्यों

आजकल लोग खुद को स्वस्थ रखने के लिए कई तरीके अपनाते हैं जैसे व्यायाम, योग या डायटिंग। शरीर को सुडौल और फिट बनाने के लिए भी जिम में कई तरह की एक्सरसाइज को करने से वो पीछे नहीं हटते, उन्हीं में से एक है पुश अप्स वर्कआउट। पुश अप्स बहुत ही लोकप्रिय व्यायाम है, जिसे हर कोई बिना किसी मशीन या उपकरण के घर पर आसानी से कर सकता है। यही नहीं, पुश अप्स वर्कआउट का ज्यादा फायदा मिले इसलिए आप इसे अलग-अलग तरह से भी कर सकते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुछ लोगों को पुश अप्स नहीं करना चाहिए? इस प्रसिद्ध एक्सरसाइज के बारे में ऐसा सोचना और मानना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन यह बिल्कुल सच है। पुश अप्स करना कुछ लोगों के लिए हानिकारक हो सकता है। जानिए किन लोगों को पुश अप्स नहीं करने चाहिए और क्यों।

और पढ़ें : पेट की परेशानियों को दूर करता है पवनमुक्तासन, जानिए इसे करने का तरीका और फायदे

पुश अप्स किन लोगों को नहीं करना चाहिए उससे पहले पुश अप्स क्या है यह जान लेते हैं।

पुश अप्स एक सामान्य वर्कआउट है, जिसमें बॉडी को फ्लोर पर स्ट्रेट पुजिशन लेते हुए दोनों हथेलियों एवं पैरों के पंजों के सहारे बॉडी को लिफ्ट किया जाता है। नियमित पुश अप्स से मांसपेशिओं, ट्राइसेप्स, बाइसेप्स और कंधों को स्ट्रॉन्ग बनाने में मदद मिलती है और बॉडी के स्ट्रैंथ को भी बढ़ाने में मदद मिलती है।

पुश अप्स वर्कआउट-push ups workout

किन लोगों को पुश अप्स (Push ups) नहीं करना चाहिए?

निम्नलिखित शारीरिक परेशानी होने पर पुश अप्स वर्कआउट करने से नुकसान पहुंच सकता है:-

1. जोड़ों की समस्या (Joint Problem)

जिन लोगों को कोहनी, कलाई और कंधे के जोड़ों की समस्या है, उन्हें पुश अप्स नहीं करने चाहिए। अगर आप ऑस्टिओअर्थराइटिस से पीड़ित हैं, तो पुश अप्स करना दुखदायी हो सकता है। इन तकलीफों में तब तक पुश अप्स न करें, जब तक आपको डॉक्टर सलाह न दे। जोड़ों की यह समस्या जोड़ों से संबंधित अधिक एक्सरसाइज करने, कमजोर एक्सरसाइज तकनीक या किसी दुर्घटना के कारण हो सकती है। इन मामलों में तब तक आराम करें और अपने जोड़ों के देखभाल करें जब तक आप पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाते। अगर आपको यह समस्या ज्यादा है, तो आप पुश अप्स वर्कआउट की जगह अन्य व्यायामों को कर सकते हैं जैसे डंबल प्रेस, चेस्ट प्रेस आदि।

और पढ़ें : पोस्ट वर्कआउट ड्रिंक : वॉटर मेलन जूस से पूरा करें अपना फिटनेस गोल

2. कंधे में दर्द (Shoulder Pain)

अगर किसी को पहले से ही कंधे में दर्द हो या रोटेटर कफ या बाईसेप टेंडन सर्जरी हुई हो, तो उसे भी पुश अप्स नहीं करने चाहिए। ऐसा करना उसके कंधे की इस समस्या को बढ़ा सकता है।

3. जिन लोगों की शुरुआत है

पुश अप्स वर्कआउट करने के लिए आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा और कोर मजबूत होना चाहिए। अगर आपने अभी-अभी व्यायाम करना शुरू किया है, तो आपके लिए पुश अप्स करना थोड़ा मुश्किल और हानिकारक हो सकता है। पुश अप्स के लिए सबसे पहले आपको अपने मसल्स को मजबूत करना होगा, ताकि आप बिना किसी नुकसान के इस एक्सरसाइज को कर सकें। इसलिए आपको शुरुआत में डंबल चेस्ट प्रेस प्लैंक और ट्राइसेप्स एक्सटेंशंस आदि करना चाहिए।

4. महिलाओं के लिए (For womens)

महिलाओं के लिए पुश अप्स करना बहुत चुनौतीपूर्ण हो सकता है, क्योंकि महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले केवल 50 प्रतिशत स्ट्रेंथ होती है, लेकिन ऐसा नहीं कहा जा सकता है कि महिलाएं फुल पुश अप्स नहीं कर सकतीं, लेकिन इसे करने के लिए आपको सीरियस वर्कआउट और स्ट्रेंथ बिल्डिंग चाहिए।

और पढ़ें : महिलाएं आज ही शुरू कर दें ये एक्सरसाइज, क्रंचेस के लाभ हैरान कर देंगे

5. कमजोर शरीर का ऊपरी भाग 

अगर आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा कमजोर है, तो आप इसे न करें। पुश अप्स करने के लिए आपकी कोहनियों, हाथ और कूल्हे का मजबूत होना बेहद जरूरी है। अगर ऐसा नहीं होगा, तो आपको चोट लग सकती है। इसलिए अगर आप पुश अप्स नहीं कर पा रहे हैं, तो अपने ट्रेनर या फिटनेस प्रोफेशनल से बात करें और इसका सही कारण जानने के बाद ही इस एक्सरसाइज को करें।

6. वजन का अधिक होना (Overweight)

पुश अप्स वजन कम करने के लिए रोजाना करने वाले व्यायामों में से एक माना जाता है, लेकिन यदि आपका वजन अत्यधिक ज्यादा है, तो पुश अप्स न करें। अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपकी कलाइ में दर्द हो सकता है, क्योंकि पुश अप्स करने से आपके शरीर का पूरा भार आपकी कलाइयों पर पड़ता है। पुश अप्स करने से पहले अपने वजन को कम करें यानी शुरुआत में ही पुश अप्स ट्राई न करें, बल्कि अन्य एक्सरसाइज से पहले अपना वजन कम करें, उसके बाद पुश अप्स करें।

और पढ़ें : दिमाग को शांत करने के लिए ट्राई करें विपरीत करनी आसन, और जानें इसके अनगिनत फायदें

7. पुश अप्स की सही जानकारी न होना

इसमें कोई संदेह नहीं कि पुश अप्स एक प्रभावी एक्सरसाइज है, लेकिन अगर आप इसे अच्छे से करना नहीं जानते हैं, तो इस वर्कआउट को न करें। अगर आपका इस एक्सरसाइज को करने का तरीका या पॉश्चर गलत होगा, तो आपको कई शारीरिक समस्याएं शुरू हो सकती हैं। जब भी पुश अप्स करना शुरू करें, तो पहले किसी ट्रेनर या एक्सपर्ट से इस एक्सरसाइज को ठीक तरह से करने की जानकारी ले लें और फिर करें।

पुश अप्स करना हमारे शरीर के लिए लाभदायक है। इसके कई प्रकार भी हैं जैसे डॉल्फिन पुश अप्स, जिसमें हथेलियों की जगह कोहनियों का प्रयोग किया जाता है। अगर आप सही से पुश अप्स कर पा रहे हैं, तो इसके बाद इसे अपने वर्कआउट का हिस्सा बना लें। रोजाना इस एक्सरसाइज को करने से आपको आवश्यक बहुत अधिक फायदा होगा।

वैसे अगर आप फिट हैं और ऊपर बताई शारीरिक परेशानियां नहीं हैं, तो पुश अप्स आप कर सकते हैं। लेकिन कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखें। जैसे:

  • पुश अप्स के दौरान अपने हाथों को कंधे के सामने और स्ट्रेट रखें।
  • पैरों के बीच की दूरी का ध्यान रखें और 10 से 12 इंच की दूरी पर रखें।
  • पुश अप्स वर्कआउट के दौरान पीठ को सीधा रखें।
  • बॉडी वेट को हाथों और पैरों पर डालें।
  • बॉडी लिफ्ट करने के दौरान जब डाउन आएं तो नीचे की ओर देखें।
  • इस पुश अप्स वर्कआउट के दौरान अत्यधिक तेजी से न करें।

इन स्टेप्स को फॉलो कर पुश अप्स वर्कआउट आसानी आसानी से किया जा सकता है। वैसे एक्सरसाइज कोई भी हो अगर उसे ठीक तरह से नहीं किया जाए तो साइड इफेक्ट्स होना तय माना जाता है। लेकिन ठीक तरह से करने पर इसका लाभ भी उठाया जा सकता है। अगर आप बिगिनर्स हैं, तो सबसे पहले इस वर्कआउट के बारे में जानें और समझें। अगर आप पुश अप्स वर्कआउट से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो इससे जुड़े विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

सेहतमंद रहने के लिए एक्सरसाइज के साथ-साथ आहार पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए। इस वीडियो में जानिए पारंपरिक खान-पान सेहत के लिए कैसे है फायदेमंद।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 04/07/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement