backup og meta

अमिताभ बच्चन बीमार: लिवर में परेशानी के चलते बिग बी अस्पताल में भर्ती (Amitabh Bachchan in Hospital)

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr. Shruthi Shridhar


Lucky Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/03/2021

अमिताभ बच्चन बीमार: लिवर में परेशानी के चलते बिग बी अस्पताल में भर्ती (Amitabh Bachchan in Hospital)

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) पिछले तीन दिनों से मुंबई के नानावती अस्पताल (Nanavati Hospital) में भर्ती हैं। प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया के हवाले से यह रिपोर्ट दी गई। अमिताभ बच्चन बीमार होने की वजह से अस्पताल में भर्ती हुए हैं जिसके बारे में सुनकर हर तरफ केवल उनके लिए दुआ में हाथ उठ रहे हैं। पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार रुटीन चेकअप के लिए गए बिग बी बीते मंगलवार से अस्पताल में भर्ती हैं (Amitabh Bachchan Hospitalised)। वहीं सूत्रों की मानें तो अमिताभ (Big B) को अस्पताल में एक-दो दिन और बिताने पड़ सकते हैं। अमिताभ बच्चन बीमार हैं और इसकी वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

और पढ़ें : जानें क्या लिवर कैंसर और इसके हाेने के कारण

पिछले कुछ दिनों से बिग बी को लिवर (Liver) में कुछ समस्या हो रही थी, जिसके बाद उन्हें नानावती अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया गया। खास बात यह है कि अमिताभ बच्चन बीमार है और हॉस्पिटल में भर्ती हैं इसकी जानकारी किसी को भी नहीं थी। उन्हें एक रूम में रखा गया है जहां सिर्फ उनके परिवार वाले जा सकते हैं ।

बता दें कि इससे पहले अमिताभ बच्चन को साल 1982 में फिल्म कुली (Coolie) के एक एक्शन सीन की वजह से गंभीर चोट आई थी, जिससे उनके शरीर से काफी खून बह गया था। उसी दौरान उन्हें हेपेटाइटिस बी की बीमारी ने भी घेर लिया था। अमिताभ बच्चन बीमार है इसकी जानकारी कई बार वे अपने सोशल मीडिया के जरिए भी देते हैं।

अपने एक इंटरव्यू में बिग बी (Amitabh Bachchan) ने बताया था कि ‘एक्सीडेंट के दौरान मुझे जिन डोनर्स का खून चढ़ाया गया था, उनमें से एक को हेपेटाइटिस बी था। उसी के जरिए ये मेरे शरीर में प्रवेश कर गया। साल 2000 तक मैं ठीक रहा, लेकिन उसके बाद एक सामान्य मेडिकल चेकअप में ये बात सामने आई कि मेरा लिवर इंफेक्टेड (Liver Infection) है।’

और पढ़ें : किन परिस्थितियों में तुरंत की जाती है सिजेरियन डिलिवरी?

1982 में अमिताभ बच्चन बीमार हुए थे

साल 1982 में ‘कुली’ फिल्म का एक सीन फिल्माते हुए अमिताभ बच्चन अपने को एक्टर पुनीत इस्सर के साथ एक एक्शन सीन करते हुए घायल हो गए थे। ऐसा कहा जाता है कि उन्हें काफी गंभीर चोट लगी थी। दुर्घटना के बाद भी अमिताभ बच्चन बीमार हुए थे हालांकि, ऐसा खुद अमिताभ बच्चन ने कहा था कि वह ग्यारह मिनट के लिए लगभग मर गए थे, लेकिन जैसा कि बॉलीवुड फिल्मों में होता है वैसे ही उन्हें दोबारा जीवन मिला। बेहोश अमिताभ बच्चन को देख उनकी पत्नी जया बच्चन ने कहा था “देखो उनके पैर का अंगूठा हिल रहा है’। हालांकि उस समय अमिताभ बच्चन बीमार नहीं होते थे ,लेकिन उस पल के बाद से अमिताभ बच्चन बीमार रहने के लगे और यहां से उनके स्वास्थ की परेशानियां शुरू हो गईं।

मायस्थेनिया ग्रेविस की वजह से भी अमिताभ बच्चन बीमार हुए

‘बिग बी’ वे अपने प्रशंसकों द्वारा प्यार से बुलाए जाते हैं। उन्हें जीवित रखने के लिए उनके फैंस ने भगवान का शुक्रिया अदा किया जब वे एक और जानलेवा बीमारी मायस्थेनिया ग्रेविस से पीड़ित थे। यह एक न्यूरोमस्कुलर बीमारी है जो मांसपेशियों की कमजोरी और थकान का कारण बनती है। अमिताभ बच्चन के मामले में यह मुख्य रूप से दुर्घटना के बाद दवाएं ज्यादा खाने के कारण हुआ। अमिताभ बच्चन बीमार होने के बाद पहले की तरह काम नहीं कर पाते थे और इसके बाद उन्हें अपना कार्यभार कम करना पड़ा।

और पढ़ें : क्या हेपेटाइटिस से होता है सिरोसिस या लिवर कैंसर?

स्मॉल इंटेस्टाइन का डायवर्टिक्यूलाइटिस

लगातार छोटी बड़ी परेशानियों से अमिताभ बच्चन बीमार रहने लगे। 2005 में बच्चन के स्वास्थ्य ने उन्हें फिर से विफल कर दिया। जिस बीमारी के बारे में उन्होंने सोचा था कि एक गैस्ट्रो समस्या  है वह छोटी स्मॉल इंटेस्टाइन की डायवर्टिक्यूलाइटिस है। अमिताभ बच्चन बीमार होकर जब अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने कहा कि यह बीमारी एक दुर्लभ घटना थी और अगर समय पर इसका इलाज ना होता तो  यह जानलेवा साबित हो सकता था। इस बीमारी के कारण रोगियों में बड़ी या छोटी आंत की वॉल में सूजन होता है। हाई-फाइबर डायट इसे रोक सकता है और इसे ठीक करने के लिए एंटीबायोटिक दवाओं की जरूरत होती है। गंभीर मामलों में जैसे अमिताभ बच्चन की बीमारी के मामले में एक ऑपरेशन की जरूरत थी। नवंबर 2005 में जब अमिताभ बच्चन बीमार थे तो उन्हें दो महीने तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा।

लिवर सिरोसिस से अमिताभ बच्चन बीमार

बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने कुछ साल पहले यह भी खुलासा किया था कि वह बिना शराब पीए भी लिवर सिरोसिस से पीड़ित हुए थे। अभिनेता ने कहा कि 1982 में कुली की शूटिंग के दौरान हुए घातक हादसे के बाद उन्होंने इस बीमारी का सामना करना पड़ा।

“दोस्तों, रिश्तेदारों, शुभचिंतकों और अस्पताल के डॉक्टर और कर्मचारी सभी खून देने के लिए लाइन में खड़े थे और मैं जीवित बच गया।’ अमिताभ फिल्म कुली में एक एक्शन सीन के दौरान घायल हुए थे। अस्पताल के एडमिनिस्ट्रेशन ने इस बात के लिए फुर्ती दिखाई उनकी सर्जरी के लिए बहुत अधिक खून की जरुरत थी। प्रशासन की फुर्ती ने कई स्वयंसेवकों को आगे आने के लिए प्रेरित किया। लगभग दो सौ लोगों ने अमिताभ बच्चन के लिए ब्लड डोनेट किया और ऐसे 60 बोतल खून इकट्ठा किया और जिसे बाद में बिग बी के इलाज के लिए इस्तेमाल किया गया, लेकिन यही उनके आगे की समस्या का कारण बना। एक अननोन डोनर के खून  में से कुछ ऑस्ट्रेलियाई एंटीजन हेपेटाइटिस से संक्रमित था। ज्यादातर ब्लड डोनर में यह संक्रमण कुछ महीनों तक बॉडी में डॉरमेंट रहने के बाद सिस्टम के अंदर एक्टिव होता है।

और पढ़ें : जानें क्या लिवर कैंसर और इसके हाेने के कारण

सूत्रों की मानें तो अब अमिताभ बच्चन उस लोकेशन पर शूटिंग नहीं करते जहां से डॉक्टर और फ्लाइट की कनेक्टिविटी ना हो। अपनी सेहत से समझौता ना करते हुए अमिताभ बच्चन बहुत सोच समझकर फिल्म की लोकेशन के लिए हां करते हैं। खबरों की माने तो हेपेटाइटिस के कारण अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) का लिवर 75 प्रतिशत डैमेज हो चुका है।

नोट : नए संशोधन की डॉ. प्रणाली पाटिल द्वारा समीक्षा

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr. Shruthi Shridhar


Lucky Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/03/2021

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement