जानिए क्या हैं कान से जुड़े इंटरेस्टिंग फैक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

अक्सर आप लोगों से यह कहते हुए सुनते हैं कि कान और आंख खोलकर रखें। हमें अक्सर लगता है कि कान केवल सुनने का काम करते हैं। इसके कुछ तथ्यों के बारे में शायद आपको जानकारी न हो, तो आइए जानते हैं कान से जुड़ी कुछ रोचक बातें जो पहले आपने नहीं पढ़ी होंगी।

  1. हमारे शरीर की सबसे छोटी हड्डी कान के बीच के हिस्से में होती है। सबसे पहले स्ट्रिप, एनविल और हैमर और इनके बाद इनकस और मैलेसस होता है।
  2.  आंतरिक कान एक पेंसिल इरेजर की परिधि होती है।
  3. आपको बता दें कि आपके सुनने की शक्ति आपके कान के अंदर छोटे बाल पर निर्भर करती है। यदि आप इन बालों को खो देते हैं, तो आपको सुनने में परेशानी हो सकती है।
  4. जब तक आपकी स्थिति असामान्य न हो, आपको अपने कानों से मोम युक्त पदार्थ को साफ करने की आवश्यकता नहीं है। ऐसा करने से कान जरूरत से ज्यादा वैक्स को बाहर धकेल देते हैं।
  5. 65 साल से कम उम्र के लोगों की तादात ज्यादा है, जो सुनने की क्षमता खो देते हैं।
  6. कान को साफ करने की जरूरत नहीं होती है। यह अपने आप साफ हो जाता है, लेकिन अगर वैक्स ज्यादा बनता है तो किसी एक्सपर्ट से साफ करवाना जरूरी है।
  7. कान में बनने वाला वैक्स धूल और गंदगी से बचाने में मदद करता है।
  8. अत्यधिक तेज ध्वनि (85 डेसीबल या इससे ज्यादा) सुनने की क्षमता पर बुरा असर डाल सकती है। कभीकभी तेज आवाज की वजह से सुनने की क्षमता खत्म भी हो सकती है।
  9. कान में 20,000 से अधिक बाल कोशिकाएं (Hair Cells) मौजूद होती हैं।
  10. ध्वनि तरंगें 770 मील प्रति घंटे या 1,130 फीट प्रति सेकंड की रफ्तार से चलती हैं।
  11. सोने के दौरान भी आप सुन सकते हैं, लेकिन हमारा मस्तिष्क सोते वक्त आने वाली आवाज को अनसुना कर देता है।
  12. कान सिर्फ आपको सुनने में ही मदद नहीं करते हैं, बल्कि वे आपको अपना संतुलन बनाए रखने में मदद करते हैं।
  13. साढ़े सात मिनट में 120 डेसीबल की आवाज आपकी सुनने की क्षमता पर बुरा प्रभाव डाल सकता है।
  14. कान का बीच का हिस्सा गले से यूस्टेशियन ट्यूब द्वारा जुड़ा हुआ होता है। यूस्टेशियन ट्यूब वायुमंडलीय दबाव और शरीर के दबाव के बीच संतुलन बनाने में मदद करते हैं।
  15. सुनने की क्षमता अगर ठीक न हो तो यह आपके स्वाद को भी बिगाड़ सकता है। ऐसा नर्व की वजह से होता है, क्योंकि वह हिस्सा (chorda tympani) टेस्ट बड [BUD] से जुड़ा होता है और इसी से मस्तिष्क को जानकारी मिलती है और आप स्वाद को समझ पाने में सक्षम हो पाते हैं।
  16. मनुष्य के सुनने की सबसे छोटी ईकाई 20 हर्ट्ज़ (हर्ट्ज) और सबसे बड़ी इकाई 20,000 हर्ट्ज तक होती है।
  17. आपके कान द्वारा सुनने की शक्ति आपके शरीर का संतुलन बनाने में मदद करती है।
  18. प्रत्येक वर्ष स्किन की मदद से नए ईयर कैनाल बनते हैं। स्किन एक साल में लगभग 1.3 इंच बढ़ती है, इसलिए यह पुरानी त्वचा को बाहर निकालती है। कान के बाहरी हिस्से पर पुरानी और अंदुरुनी हिस्से में नए ईयर कैनाल होते हैं।
  19. सभी जीवित प्राणियों के पास सुनने के लिए कान नहीं होते हैं जैसे सांप सुनने के लिए जबड़े की हड्डी का उपयोग करते हैं, मछली दबाव में परिवर्तन का जवाब देती है और नर मच्छर एंटीना का उपयोग करते हैं।
  20.  अगर कान से जुड़ी कोई परेशानी जैसे दर्द होना या कुछ और तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें।
  21. बहुत ज्यादा तेज आवाज जैसे (शॉटगन ब्लास्ट, विस्फोट आदि) की आवाज से आपके सुनने की क्षमता  स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो सकती है।
  22. सुनने के लिए जिम्मेदार संवेदी न्यूरॉन्स को हेयर सेल कहा जाता है। वे आपके कोक्लीअ के अंदर कान में पाए जाते हैं। उम्र बढ़ने की प्रक्रिया, अत्यधिक शोर के संपर्क, ओटोटॉक्सिक पदार्थों या पर्याप्त रक्त की आपूर्ति में कमी से ये कोशिकाएं काफी क्षतिग्रस्त होती है या तो ये नष्ट हो जाती हैं, तो इसका परिणाम सुनवाई में हानि  होती है। दुर्भाग्य से, अधिकांश सुनवाई हानि अपरिवर्तनीय है क्योंकि इन कान के बालों की कोशिकाएं वापस नहीं बढ़ती हैं।

और पढ़ें: डॉक्टर आंख, मुंह, से लेकर पेट, नाक, कान तक का क्यों करते हैं फिजिकल चेकअप

हियरिंग लॉस से जुड़े फैक्ट

  • आपको बता दें की लगभग 48 मिलियन अमेरीकियों को हियरिंग लॉस की समस्या होती है।
  • 65 वर्ष से अधिक आयु के 3 लोगों में से एक को सुनने में हानि की समस्या होती है।
  • 75 से अधिक 3 लोगों में से 2 को सुनने में हानि होती है
  • 45-64 की उम्र के 14% लोगों में कुछ प्रकार की सुनवाई हानि होती है
  • टिनिटस (कानों में बजना) संयुक्त राज्य में 50 मिलियन लोगों को प्रभावित करता है।

और पढ़ें: Middle ear infection : कान का संक्रमण क्या है?

बच्चों में हियरिंग लॉस से जुड़े फैक्ट्स

  • अमेरिका में लगभग 3 मिलियन बच्चों को हियरिंग लॉस की परेशानी होती है। उनमें से 1.3 मिलियन तीन साल से कम उम्र के हैं।
  • हर 1,000 नवजात शिशुओं में से 5 में हियरिंग लॉस होता है।
  • प्रारंभिक पहचान और उचित सेवाओं के साथ, बहरे बच्चे अपने श्रवण साथियों के समान संचार कौशल विकसित कर सकते हैं।

हियरिंग लॉस का इलाज (Treatment of hearing loss)- 

हियरिंग लॉस का इलाज करने के लिए आपके पास इस प्रकार के विकल्प हैं।

मोम की रुकावट को दूर करना (Removing wax blockage)- इयरवैक्स ब्लॉकेज हियरिंग लॉस का एक अहम कारण है। इस दौरान आपका डॉक्टर अंत में एक छोटे उपकरण का उपयोग करके ईयरवैक्स को हटा सकता है।

शल्य प्रक्रियाएं (Surgical procedures)- हियरिंग लॉस का इलाज सर्जरी द्वारा भी किया जा सकता है, जिसमें कान के ड्रम की असामान्यताओं की हड्डियां शामिल हैं। अगर आपको फ्लूइड से बार-बार संक्रमण होता है, तो आपका डॉक्टर छोटी नलियों की मदद से इसका इलाज करता है।

और पढ़ें: जब घट जाती है सुनने की क्षमता तब काम आती है कान की मशीन, जानें इसके प्रकार

कान की मशीन (Hearing aids)- यदि हियरिंग लॉस आपके इंटर्नल कान को नुकसान करती है, तो एक श्रवण यंत्र इसमें सहायक हो सकता है। इसमें ऑडियोलॉजिस्ट उपकरण द्वारा आपकी मदद की जाती है। 

कर्णावर्त तंत्रिका का प्रत्यारोपण (Cochlear implants)- यदि आपको हियरिंग लॉस की ज्यादा गंभीर समस्या है, तो श्रवण यंत्र से आपको सीमित लाभ मिलता है, तो इस दौरान कर्णावत प्रत्यारोपण एक विकल्प हो सकता है। एक कर्णावत इंप्लांट आपके आंतरिक कान के चोटिल हिस्सों को बायपास करता है और सीधे सुनवाई तंत्रिका को उत्तेजित करता है। इसके प्रयोग से पहले अपने डॉक्टर से इसके जोखिम और लाभों पर चर्चा करना बेहद जरूरी है।

और पढ़ें: कान में फंगल इंफेक्शन के कारण, कैसे किया जाता है इसका इलाज ?

क्या हैं जटिलताएं? (What Are the Complications )

 यदि आपको हियरिंग लॉस है, तो आपको दूसरों को समझने में कठिनाई हो सकती है। यह आपकी चिंता के स्तर को बढ़ा सकता है या यह आपके अवसाद का कारण बन सकता है। इसलिए समय रहते इसका इलाज करें। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जब घट जाती है सुनने की क्षमता तब काम आती है कान की मशीन, जानें इसके प्रकार

कान की मशीन कैसे लगाते हैं, Hearing Aids in hindi, कान की मशीन साफ कैसे करें, World Hearing Day 2020 i, कान में लगाने वाली मशीन कहां से लें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal

कान में फंगल इंफेक्शन के कारण, कैसे किया जाता है इसका इलाज ?

कान में फंगल इंफेक्शन की जानकारी in hindi. कान में फंगल इंफेक्शन की वजह से डिस्चार्ज के साथ ही दर्द की समस्या भी हो सकती है। कान में फंगल इंफेक्शन के साथ ही बैक्टीरियल इंफेक्शन भी हो सकता है। Kaan me fungal infection

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Cholesteatoma surgery : कोलेस्टेटोमा सर्जरी क्या है?

जानिए कोलेस्टेटोमा सर्जरी की जानकारी in Hindi, Cholesteatoma Surgery क्या है , कैसे और कब की जाती है, कोलेस्टेटोमा सर्जरी की प्रक्रिया, क्या है जोखिम, जानें इसके खतरे, कैसे करें रिकवरी, कैसे करें बचाव।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

Misophonia : मिसोफोनिया क्या है?

जानिए मिसोफोनिया की जानकारी in hindi,निदान और उपचार, मिसोफोनिया के क्या कारण हैं, लक्षण क्या हैं, घरेलू उपचार, जोखिम फ़ेक्टर, Misophonia का खतरा, जानिए जरूरी बातें |

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z November 26, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ईएनटी डिसऑर्डर, ent disorders

ईएनटी डिसऑर्डर: खो सकती है सुनने, सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ January 8, 2021 . 23 मिनट में पढ़ें
वर्टिन

Vertin: वर्टिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ June 4, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
कान से जुड़े फैक्ट्स /ear facts

‘कान बहना’ इस समस्या से हैं परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू उपचार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ April 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हायपरएक्यूसिस-hyperacusis

Hyperacusis: हायपरएक्यूसिस क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
प्रकाशित हुआ March 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें