World Crosswords And Puzzles Day : जानिए किस तरह क्रॉसवर्ड पजल मेंटल हेल्थ के लिए फायदेमंद है

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट दिसम्बर 21, 2019 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

क्रॉसवर्ड पजल एक प्रकार का गेम है, जिसमें आपको कुछ पहेलियां सुलझानी होती हैं। युवाओं और बच्चों में क्रॉसवर्ड काफी लोकप्रिय है। यहां तक की बुजुर्ग भी इसे समय व्यतीत करने के लिए खेलते हैं। ध्यान केंद्रित करने में यह काफी कारगर माना जाता है। क्या आपको पता है यह आपकी मेंटल हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद है। सुनकर थोड़ा हैरानी होगी, लेकिन यह हकीकत है। आज हम आपको इस आर्टिकल में क्रॉसवर्ड पजल के मेंटल हेल्थ के फायदों के बारे में बताएंगे।

क्रॉसवर्ड पजल (Crossword puzzles) का इतिहास क्या है?

दुनियाभर में सबसे ज्यादा प्रचलित खेलों में क्रॉसवर्ड पजल एक है। हालांकि, इसका इतिहास इतना पुराना नहीं है। 19वीं शताब्दी में दुनिया का पहला क्रॉसवर्ड पजल इंग्लैंड में सामने आया था। यह एक प्रकार का प्राथमिक, शब्दों का समूह और गोलाकार में था, जो पढ़ने में लंबवत और हॉरिजोंटल था। इस प्रकार के पजल्स बच्चों की किताबों और कई पत्र-पत्रिकाओं में मुद्रित होते थे। हालांकि, संयुक्त राज्य अमेरिका में पजल व्यस्कों के एक गंभीर खेल के रूप में विकसित हुआ था।

लिवरपूल के अरथुर वायने (Arthur Wynne) नामक पत्रकार ने पहला क्रॉसवर्ड पजल प्रकाशित किया था। सामान्यतौर पर उसे एक खेल का आविष्कार करने का श्रेय दिया जाता है। 21 दिसंबर 1913 दिन रविवार को न्यूयॉर्क वर्ल्ड में यह प्रकाशित हुआ था। आज के पजल के मुकाबले वायने का क्रॉसवर्ड पजल एक अलग प्रकार का दिखता है। यह हीरे के आकार का था और इसके अंदर कोई भी काले रंग के गोले नहीं थे।

1920 के शुरुआत में अन्य समाचार पत्रों ने इसका संदर्भ लेते हुए नए खेलों का पता लगाया। एक दशक के भीतर क्रॉसवर्ड पजल अमेरिका के ज्यादातर समाचार पत्रों में छपने लगे। यह वह दौर था, जब क्रॉसवर्ड की शुरुआत हुई थी। 10 साल बाद अपने पुनर्जन्म के बाद यह अटलांटिक को पार करता हुआ यूरोपीय देशों में पहुंचा, जहां पर यह काफी लोकप्रिय हुआ। इंग्लैंड की पीयरसन मैग्जीन में 1922 में पहली बार क्रॉसवर्ड पजल को जगह हासिल हुई और 1 फरवरी 1930 को यह पहली फर्स्ट टाइम्स में नजर आया। ब्रिटिश पजल ने तेजी से अपना स्टाइल खुद विकसित कर लिया, यह अमेरिकी पजल के मुकाबले ज्यादा कठिन माना जाता था।

विज्ञान क्या है क्रॉसवर्ड पजल के लिए?

दिमाग के कार्यों पर क्रॉसवर्ड पजल के प्रभावों के संबंध में कई शोध किए गए हैं। दुनिया के प्रख्यात रिसर्चर एन लुकिट्स (Ann Lukits) ने रोजाना क्रॉसवर्ड पजल खेलने से होने वाले फायदों के संबंध में वॉल स्ट्रीट जर्नल में एक लेख प्रकाशित किया। उनके लेख के मुताबिक, ‘क्रॉसवर्ड वर्बल स्किल को बढ़ाने के साथ डेमेंटिया (पागलपन की एक बीमारी) के खतरे को कम करता है।’ कई अध्ययनों और अन्वेशषणों के बाद उन्होंने पाया कि पजल्स याद्दाश्त और दिमाग के कार्यों को बढ़ाता है। यहां तक कि यह बुजुर्गों में भी इतना ही कारगर है।

ब्रेन डैमेज या शुरुआती डेमेंशिया से पीड़ित व्यक्ति में रोजाना क्रॉसवर्ड पजल खेलने से यह मेंटल फंक्शन में सुधार करता है। इसी संबंध में ब्रिटेन के कुछ रिसर्चों ने 50 वर्ष और इससे अधिक उम्र के लोगों में क्रॉसवर्ड पजल के नतीजों का आंकलन करने के लिए रिसर्च शुरू की। इंग्लैंड की यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सटर में कोंजेटिव न्यूरोसाइंस के विख्यात प्रोफेसर रिसर्चर केइथ वेसंस (Keith Wesnes) ने ध्यान (अटेंशन) और याद्दाश्त के परीक्षण पर क्रॉसवर्ड पजल के प्रभावों पर अध्ययन किया।

प्रोफेसर ने अध्ययन में पजल को सुलझाने की प्रक्रिया, गति, सटीकता और अटेंशन, याद्दाश्त और रीजिनिंग (तर्कशक्ति) के बीच सीधा संबंध पाया गया। जिन लोगों ने नियमित रूप से क्रॉसवर्ड पजल खेला उनकी परफॉर्मेंस अन्य लोगों के मुकाबले लगातार सुधरी। उनके अध्ययन में इस बात की भी पुष्टि हुई कि प्रतिदिन पजल खेलने से मानसिक वृद्धत्ता भी कम होती है और हिम्मत करीब दस साल के लिए बढ़ जाती है।

यह भी पढ़ें: दालचीनी के फायदे : पिंपल्स होंगे छू-मंतर और बढ़ेगी याददाश्त

क्रॉसवर्ड पजल खेलने के फायदे

मेंटल हेल्थ पर क्रॉसवर्ड के फायदे की पहले ही वैज्ञानिक अध्ययनों में पुष्टि की जा चुकी है। यह आपको मानसिक रूप से ताकतवर बनाते हैं। क्रॉसवर्ड पजल को सुलझाना इतना आसान नहीं होता, जितना लोग समझते हैं। आप आसान लेवल पर खेलने के बजाय, उसके अगले लेवल पर जा सकते हैं। वास्तविकता में कठिन लेवल पर क्रॉसवर्ड पजल खेलने से आपके दिमाग को कार्य करना पड़ता है। इससे रोजाना की दिनचर्या में आने वाली समस्याओं से निपटने के लिए आप मानसिक रूप से ताकतवर बनते हैं। क्रॉसवर्ड पजल खेलने से समस्याओं को हल करने में मदद मिलती है, क्योंकि आप खेलते वक्त बेहद ही स्पष्ट रूप से सोचते हैं। यदि आप पजल के पैटर्न को समझ सकते हैं तो आप जिंदगी के ढंग को भी आसानी से समझ सकते हैं।

मेंटल फोकस में फायदेमंद है क्रॉसवर्ड पजल

जब आप क्रॉसवर्ड पजल की पहेली को सुलझाते हैं तो आप पजल की पहले में तल्लीनता से लग जाते हैं। इसका मतलब यह होता है कि आप अपनी खुद की समस्याओं पर कम ध्यान देते हैं, चूंकि आप पजल में व्यस्त रहते हैं। कुछ समय में अपनी समस्याओं को भूलकर आराम करने का यह बेहतर तरीका है। आपके आसपास क्या चल रहा है, यह सब भूलकर आप पजल में बिजी रहते हैं। इससे पता चलता है कि आपका मेंटल फोकस सिर्फ पहेली पर है। इससे यह स्पष्ट होता है कि यह हमारी मानसिक ध्यान केंद्रित करने की क्षमता को बढ़ाता है। क्रॉसवर्ड पजल आपको सिखाता है कि पूरी तरह ध्यान कैसे लगाएं।

क्रॉसवर्ड पजल मूड को करता है अच्छा

डिप्रेशन एक ऐसी समस्या है, जो जंगल की आग की तरह फैल रही है। हर आयु वर्ग के लोग इसका सामना कर रहे हैं। डिप्नेशन में लोगों का मूड पूरे दिन अच्छा नहीं होता है और उन्हें अयोग्यता का अहसास होता है। क्रॉसवर्ड पजल समस्याओं को सुलझाने का एक बेहतर तरीका है। पजल को सुलझाने से आपको किसी भी कार्य को सफलता पूर्वक करने और सफलता प्राप्त करने का सेंस मिलता है, जिससे किसी भी प्रकार के विचार का ध्यान रखा जा सकता है। जैसाकि ऊपर बताया गया है क्रॉसवर्ड पजल खेलते वक्त आपके दिमाग में डोपामाइन हार्मोन रिलीज होता है, जो आपका शांत और खुशी बनाता है। यह आपके मूड में सुधार करके आत्मविश्वास को बढ़ाता है।

क्रॉसवर्ड पजल में पहेली को सुलझाकर आप खुश, प्रेरित और पूरे आत्मविश्वास और नई चुनौतियों का सामना करने के लिए पूरे जोश से भर जाते हैं। इसके साथ ही यह आपको टाइम पास करने में मदद करता है, अन्यथा आप खाली समय में नकारात्मक विचारों को सोचकर डिप्रेस हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: हेल्थ इंश्योरेंस से पर्याप्त स्पेस तक प्रेग्नेंसी के लिए जरूरी है इस तरह की फाइनेंशियल प्लानिंग

पागलपन और अल्जायमर का खतरा कम होता है

शोध में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि मेंटल स्टिमुलेशन ही एक मात्र तरीका है, जो उम्र से संबंधित न्यूरोलॉजिकल समस्याएं जैसे अल्जाइमर और डेमेंशिया (Dementia) को रोकता है। एक व्यक्ति जितना ज्यादा क्रॉसवर्ड पजल के साथ अपने दिमाग को स्टिमुलेट करेगा, उतने ही कम विषैले पदार्थ उसकी बॉडी में बनेंगे। क्रॉसवर्ड पजल को सुलझाने में आपकी याद्दाश्त और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता बढ़ती है।

इससे याद्दाश्त से जुड़ी बीमारियों को रोकने में महत्वपूर्ण रूप से मदद मिलती है। हालांकि, इस खेल को खेलने के लिए किसी उम्र की जरूरत नहीं हो पड़ती है। हर उम्र का व्यक्ति इसे खेल सकता है। आप अपनी युवावस्था से या उसके बाद की आयु से इसे खेलना शुरू कर सकते हैं। यह आपको दिमाग की एक्सरसाइज करने और स्टिमुलेंट करने में मदद करता है, जो आपके भविष्य के लिए अच्छा रहेगा। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं सिर्फ प्रतिदिन एक क्रॉसवर्ड पजल को सुलझाना है।

क्रॉसवर्ड पजल से बढ़ती है खुशी

मेंटल हेल्थ और खुशी एक साथ चलते हैं। कहते हैं कि आपका दिमाग ठीक नहीं है तो चेहरे पर मुस्कुराहट कैसे आयेगी। दिमाग को सबसे बेहतर स्तर पर कार्य करते हुए बनाए रखने के लिए खुशी काफी महत्वपूर्ण है। खुश रहने के तरीकों में क्रॉसवर्ड पजल भी एक तरीका है। एक बार आप उचित तरीके से क्रॉसवर्ड पजल को सुलझा लेते हैं तो आपके दिमाग पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिससे आप खुशी और उत्साह का अनुभव करते हैं। इस प्रकार की खुशी समय-समय पर आपके दिमाग के पूरे कार्यों पर एक महत्वपूर्ण असर डालती है।

यह भी पढ़ें: बच्चों का पढ़ाई में मन न लगना और उनकी मेंटल हेल्थ में है कनेक्शन

क्रॉसवर्ड पजल से बढ़ते हैं आपके स्किल्स

क्रॉसवर्ड पजल खेलने से आपके मौखिक स्किल्स और बात करने का तरीका और दूसरों से अपने आपको जोड़ने के लहजे में सुधार आता है। क्रॉसवर्ड पजल पर कार्य करने और उसे सुलझाने से आपका दिमाग एक चित्र पर केंद्रित रहता है, जो कि ध्यान लगाने के समान होता है। इससे दिमागी शांति बढ़ती है। ऐसे में आप अपने चारो तरफ के लोगों के बीच में काफी शांत रह सकते हैं। इससे आप गुस्सा भी कंट्रोल कर सकते हैं। लोगों के बीच किसी भी अनचाही बात पर अपने गुस्से को कंट्रोल में रखना आज के दौर में एक बड़ी चुनौती है। क्रॉसवर्ड पजल खेलने से आपका दिमाग यह सीखता है कि कैसे आपके सामने एक चित्र की कल्पना करनी है।

इस स्थिति में आप अपने आसपास की अन्य चीजों को भुलाकर सही उत्तर दे पाते हैं। रोजाना कम से कम एक क्रॉसवर्ड पजल को सुलझाने का आपको अचूक फायदा होता है। यह मानसिक रूप से कई कलाएं सिखाता है, जिन्हें आम भाषा में स्किल कहा जाता है। यदि आप भी कुछ ऐसे ही स्किल सीखना चाहते हैं तो रोजाना एक क्रॉसवर्ड पजल जरूर खेलें।

इससे आप अपने आसपास के माहौल को एक नए ढंग और बेहतर तरीके से देखना शुरू कर देते हैं। इससे आप हर छोटी बड़ी चीज की प्रशंसा भी कर सकते हैं। क्रॉसवर्ड पजल खेलने से आप अपनी खुद की समस्याओं के जवाब ढूंढना शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा आप आने वाले दिन की शुरुआत खुशी भरे मूड में करेंगे। क्रॉसवर्ड पजल सुलझाते वक्त आपका दिमाग अपने सर्वश्रेष्ट स्तर पर कार्य करने लगता है और इसके नतीजे के रूप में आपकी पूरी मेंटल हेल्थ को फायदा मिलता है।

अंत में हम यही कहेंगे कि क्रॉसवर्ड पजल एक तरफ आपका समय व्यतीत करने का एक अच्छा माध्यम है तो दूसरी तरफ यह आपकी मेंटल हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद है।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ें:-

जानें कितना सुरक्षित है बच्चों के लिए वीडियो गेम

ऐसे होता है थायराइड, ये हैं इसके लक्षण, क्विज खेलें और समझे इस बीमारी को बेहतर

क्विज खेलें और जानें पीरियड्स के बारे में

बच्चे की ब्रेन पावर बढ़ाने लिए बढ़ाने 10 बेस्ट माइंड गेम्स

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

संबंधित लेख:

    Recommended for you

    parkinson's disease-पार्किंसन रोग

    World Parkinson Day: पार्किंसन रोग से लड़ने में मदद कर सकता है योग और एक्यूपंक्चर

    के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    learning disability - लर्निंग डिसेबिलिटी

    लर्निंग डिसेबिलिटी (Learning Disability) क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 14, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
    disability - डिसेबिलिटी

    डिसेबिलिटी क्या है? जानें कितने प्रकार की होती है

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
    प्रकाशित हुआ अगस्त 7, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें