home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

रैपिड मूड स्विंग्स: हल्के में ना लें इस कंडिशन को, किसी बड़ी बीमारी की हो सकती है दस्तक

रैपिड मूड स्विंग्स: हल्के में ना लें इस कंडिशन को, किसी बड़ी बीमारी की हो सकती है दस्तक

रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) एक ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति अचानक से बहुत दुखी या फिर बहुत खुश हो जाता है। मूड में ये बदलाव जल्दी जल्दी या देर से भी हो सकते हैं। कई बार ये रैपिड मूड स्विंग्स मेंटल इलनेस की तरफ इशारा करते हैं तो कभी ये किसी स्पेसिफिक हेल्थ कंडिशन के कारण हो सकते हैं। इस आर्टिकल में रैपिड मूड स्विंग्स से जुड़ी जानकारी दी जा रही है। बता दें कि मूड स्विंग्स (Mood swings) कई कारणों से होते हैं और हमेशा ही ये सीरियस हेल्थ प्रॉब्लम का संकेत नहीं होते। हालांकि, सीवियर और रैपिड मूड स्विंग्स व्यक्ति की लाइफ को प्रभावित कर सकते हैं। जब मूड में आने वाला बदलाव व्यक्ति की हेल्थ, रिलेशनशिप और डेली रूटीन को प्रभावित करने लगे तो डॉक्टर की सलाह और ट्रीटमेंट लेना जरूरी हो जाता है।

रैपिड मूड स्विंग्स के लक्षण क्या हैं? (Rapid mood swings symptoms)

जब आप रैपिड स्विंग्स का अनुभव करते हैं तो आप एक पल बिना किसी कारण के बेहद खुश होते हैं और दूसरे ही पल बेहद दुखी हो जाते हैं। मूड में होने वाले ये बदलाव नींद के पैटर्न, एक्टिविटी के लेवल और बिहेवियर को भी प्रभावित कर सकते हैं। स्ट्रेस से भरी लाइफ में मूड चेंजेस नॉर्मल लाइफ का हिस्सा हैं।

हालांकि कई बार ये मेंटल हेल्थ डिसऑर्डर जैसे कि बायपोलर डिसऑर्डर (Bipolar disorder) का संकेत भी हो सकते हैं। जिसमें लोग असामान्य रूप से खुश या डिप्रेसिव एपिसोड्स (Depressive episodes) का शिकार होते हैं। रेगुलर मूड चेंजेस की जगह ये एपिसोड्स लंबे समय तक चल सकते हैं। जैसे कि कई दिनों या हफ्तों तक चल सकते हैं। जब व्यक्ति डिप्रेसिव एपिसोड का अनुभव करता है तो उसमें निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

जब इंसान बहुत अधिक खुशी का अनुभव करता है (मैनिक एपिसोड (Manic episode) के दौरान) तो निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

  • सामान्य से अधिक बात करना
  • रिस्की बिहेवियर्स में इंगेज होना
  • चिड़चिड़ाना या उत्साह से भरे हुआ दिखना
  • अधिक एनर्जी और इंटेंसिटी के साथ गोल ओरिएंटेड एक्टिविटीज करना
  • सामान्य से कम सोना
  • ऐसा महसूस करना कि दिमाग में विचार बहुत तेजी से आ रहे हैं
  • ऐसा महसूस करना कि वे असामान्य रूप से शक्तिशाली या महत्वपूर्ण हैं।

और पढ़ें: Stress : स्ट्रेस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings)

रैपिड मूड स्विंग्स के कारण क्या हैं? (Rapid mood swings causes)

रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) के कारणों में निम्न शामिल हो सकते हैं।

मेंटल हेल्थ कंडिशन्स (Mental Health conditions)

कई मेंटल हेल्थ कंडिशन सीवियर और रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) का कारण बनती हैं। जिन्हें मूड डिसऑर्डर्स कहा जाता है। इनमें निम्न शामिल हैं।

बायपोलर डिसऑर्डर (Bipolar disorder)

अगर किसी व्यक्ति को बायपोलर डिसऑर्डर है तो इमोशन्स की रेंज बहुत खुश बेहद दुखी तक बदलती रहती है। मूड में होने वाले ये परिवर्तन कई दिनों से लेकर कई महीनों तक हो सकते हैं।

बॉर्डरलाइन पर्सनैल्टी डिसऑर्डर (Borderline personality disorder)

बॉर्डरलाइन पर्सनैल्टी डिसऑर्डर में भी एक्ट्रीम मूड स्विंग्स होते हैं। ये मूड आसानी से ट्रिगर होते हैं और मिनटों से घंटों तक हो सकते हैं।

और पढ़ें: साइनोफोबिया: क्या आपको भी लगता है कुत्तों से डर, हो सकती है यह बीमारी

डिप्रेशन (Depression)

जो लोग अनुपचारित डिप्रेशन का सामना करते हैं वे ड्रामेटिक मूड शिफ्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। यह उनके एनर्जी लेवल, स्लीप और भूख को प्रभावित करता है।

मेजर डिप्रेसिव डिसऑर्डर (Major depressive disorder)

इस डिसऑर्डर में व्यक्ति अत्यंत दुखी होने का अनुभव करता है जो कि लंबे समय के लिए हो सकता है। एमडीडी को क्लिनिकल डिप्रेशन भी कहा जाता है।

इनके अलावा एंजायटी डिसऑर्डर भी निगेटिव मूड शिफ्ट्स का कारण बन सकता है। साथ ही रिलेशनशिप स्ट्रेस, पेरेंटिंग वर्क प्रेशर के कारण होने वाले तनाव के कारण भी रैपिड मूड स्विंग्स हो सकते हैं। अटेंशन डेफिसिएट हायपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (Attention deficit hyperactivity disorder) भी रैपिड मूड स्विंग्स का कारण बनता है।

रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) का कारण हो सकते हैं हॉर्मोन्स भी

हॉर्मोन्स ब्रेन की कैमिस्ट्री को प्रभावित करते हैं। टीनएजर्स और प्रेग्नेंट महिलाएं या जो मेनोपॉज का सामना कर रही होती हैं वे मूड में बदलावों का सामना करती हैं। क्योंकि इस दौरान हॉर्मोन्स में होने वाले बदलाव उस फेज के बॉडी चेंजेस से संबंधित होते हैं।

ड्रग्स और एल्कोहॉल का सेवन भी बन सकता है रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) का कारण

रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) का शिकार वे लोग आसानी से हो सकते हैं जो साइकोएक्टिव ड्रग्स (Psychoactive) और शराब का सेवन करते हैं। अगर ये लोग एडिक्टेड हो जाते हैं तो यह इमोशन को प्रभावित करने लगते हैं। इससे व्यवहार और एनर्जी लेवल भी प्रभावित होता है।

और पढ़ें: डिप्रेशन से बचने के उपाय, आसानी से लड़ सकेंगे इस परेशानी से

दूसरी हेल्थ कंडिशन्स भी बन सकती हैं रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) की वजह

दूसरी हेल्थ कंडिशन्स भी मूड शिफ्ट्स या रैपिड मूड स्विंग्स की वजह बन सकती हैं। जिसमें ऐसी कंडिशन्स शामिल हैं जो लंग्स, कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम को प्रभावित करती है। थायरॉइड भी इनका एक कारण है। सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करने वाली कंडिशन्स भी मूड शिफ्ट्स की वजह बन सकती हैं।

रैपिड मूड स्विंग्स का इलाज कैसे किया जाता है? (Rapid mood swings treatment)

अगर आप सीवियर मूड शिफ्ट्स क अनुभव कर रहे हैं तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। वे मूड शिफ्ट्स के कारण के हिसाब से आपको सही ट्रीटमेंट सजेस्ट करेंगे। इलाज के लिए आपको प्रोफेशनल थेरिपी से लेकर मेडिकेशन की जरूरत पड़ सकती है। कुछ लाइफ स्टाइल चेंजेस भी मदद कर सकते हैं। जिसमें निम्न शामिल हैं।

  • शेड्यूल बनाएं- खुद के लिए एक शेड्यूल बनाएं। खासकर खाने और सोने के लिए।
  • रोज एक्सरसाइज करें- एक्सरसाइज करने के कई फायदे हैं जिसमें फिजिकल हेल्थ से लेकर मेंटल हेल्थ और मूड में सुधार भी शामिल है।
  • पर्याप्त नींद लें- रात की अच्छी नींद बेहतर मूड के लिए जरूरी है। नींद की कमी मूड को प्रभावित कर सकती है।
  • हेल्दी खाएं- बैलेस्ड, हेल्दी डायट आपके मूड में सुधार कर सकती है। साथ ही ओवरऑल हेल्थ के लिए भी अच्छी है।
  • तनाव से बचें- यह कहना आसान है, लेकिन ध्यान, योग, म्यूजिक, रीडिंग आदि से तनाव को मैनेज किया जा सकता है। इसके साथ ही आप किसी क्रिएटिव एक्टिविटी का सहारा भी ले सकते हैं। जैसे पेंटिंग, पॉयट्री।
  • बातचीत करें- अपने करीबी दोस्त, परिवार के सदस्य या किसी प्रोफेशनल से अपने मन की बात कहें।

और पढ़ें: Generalized Anxiety Disorder : जेनरलाइज्ड एंजायटी डिसऑर्डर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

इस बात का रखें विशेष ध्यान

ध्यान रखें कि मनोदशा में बदलाव गंभीरता में भिन्न हो सकते हैं। भावनाओं की एक श्रृंखला का अनुभव जीवन का एक हिस्सा है। यदि आप कभी-कभी मूड बदलाव का अनुभव करते हैं तो आपको सामान्य महसूस करने के लिए अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने की आवश्यकता हो सकती है।

मूड स्विंग्स जो आपके व्यवहार को बदल दें और अपने जीवन या आपके आस-पास के लोगों को नकारात्मक रूप से प्रभावित करें तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यदि आपको लगता है कि मूड में गंभीर बदलाव आपके दैनिक जीवन को प्रभावित कर चुके हैं या यदि एक लंबी अवधि से अलग महसूस कर रहे हैं। ये किसी हेल्थ कंडिशन के लक्षण हो सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि रैपिड मूड स्विंग्स (Rapid mood swings) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Mood disorders/mayoclinic.org/diseases-conditions/mood-disorders/symptoms-causes/syc-20365057/ Accessed on 30th September 2021

Most children with rapidly shifting moods don’t have bipolar disorder/nimh.nih.gov/news/science-news/2010/most-children-with-rapidly-shifting-moods-dont-have-bipolar-disorder.shtml/Accessed on 30th September 2021

Major ups and downs: Bipolar disorder brings extreme mood swings/newsinhealth.nih.gov/issue/may2010/feature1/Accessed on 30th September 2021

Mood disorders/https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/17843-mood-disorders/Accessed on 30th September 2021

Monitoring your moods/ https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/monitoring-your-mood/Accessed on 30th September 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड