home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

चॉकलेट और अच्छे मूड का है गहरा संबंध, क्या जानते हैं आप?

चॉकलेट और अच्छे मूड का है गहरा संबंध, क्या जानते हैं आप?

चॉकलेट (Chocolate) पसंद करने वालों को चॉकलेट खाने का बहाना चाहिए। कभी किसी खुशी के मौके पर, तो कभी खाने के बाद, तो कभी यूं ही चॉकलेट का आनंद लिया जाता है। ये बात तो सच है कि चॉकलेट खाते वक्त और खाने के बाद अच्छा फील होता है। ऐसा सिर्फ इसके यमी टेस्ट की वजह से नहीं है ब्लकि इसमें पाए जाने वाले इंग्रीडिएंट की वजह से होता है। कई रिसर्च में ये बात सामने आई है कि चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन (Connection between chocolate and good mood) है। चॉकलेट खाने से मूड अच्छा हो जाता है। सिर्फ इतना ही नहीं चॉकलेट डिप्रेशन को भी कम करने में मदद करती है। अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) का उपयोग अक्सर लोग करते हैं।

चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन क्या है? (Connection between chocolate and good mood)

कई लोगों ने पाया है कि चॉकलेट उनके मूड को इम्प्रूव करने में मदद करती है। इसके साथ ही चॉकलेट का सेवन लोगों में पॉजिटिव फीलिंग्स को प्रमोट करने में मदद करता है। यह इमोशनल कंफर्ट भी प्रदान करती है। चॉकलेट ब्रेन और गट के पेप्टिडीज (Peptides) रिलीज करने में मदद करती है। वहीं डार्क चॉकलेट एंड्रोफिन्स (Endorphins) को रिलीज करने में सहायक है। जो मूड को अच्छा करने में मदद करता है। डार्क चॉकलेट में एंटीडिप्रेसेंट इफेक्ट पाया जाता है। इसमें ट्रिप्टोफेन (Tryptophan), सेरोटॉनिन (Serotonin) और फेनेथाइलामाइन (Phenethylamine) पाए जाते हैं जो डिप्रेशन को कम करने में मदद करते हैं।

डार्क चॉकलेट दिमाग को प्रभावित करके इसे शांत रखने में मदद करती है। हालांकि, चॉकलेट में शुगर और फैट इंटेक काफी मात्रा में पाया जाता है इसलिए इसका सेवन कम मात्रा में ही करना सही है।

और पढ़ें: Diabetes and Depression: डायबिटीज और डिप्रेशन का क्या है कनेक्शन, जानिए यहां

चॉकलेट का सेवन और डिप्रेशन के बीच का कनेक्शन (Connection between chocolate consumption and depression)

चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन (Connection between chocolate and enhancing mood) तो आप समझ ही गए होंगे, लेकिन चॉकलेट की अच्छाइयां यहीं खत्म नहीं होती। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन की एक रिसर्च के अनुसार जो लोग डॉर्क चॉकलेट खाते हैं वे डिप्रेशन (Depression) का शिकार कम होते हैं। डिप्रेशन दुनिया भर में फैली एक बड़ी परेशानी है। इस बीमारी का इलाज थेरिपीज और मेडिकेशन की मदद से किया जाता है। डॉक्टर अक्सर इलाज के लिए एंटीडिप्रेसेंट दवाओं (Antidepressant drugs) को लिखते हैं। हालांकि, ये दवां सभी पर काम नहीं करती। कुछ लोगों दवाओं का उपयोग कुछ समय में ही बंद भी कर देते हैं।

लाइफ स्टाइल में बदलाव डिप्रेशन के लक्षणों को कम करने में मददगार हैं। जिसमें फिजिकल एक्टिविटीज शामिल हैं। हालांकि, यह सबको फायदा नहीं पहुंचाती और सभी लोग एक्सरसाइज करने में समर्थ नहीं होते। पिछले कुछ वर्षों में, वैज्ञानिकों ने भी कुछ सफलता के साथ, डिप्रेशन के लक्षणों को कम करने के लिए डायट्री इंटरवेशन की ओर रुख किया है। जिसमें एक चॉकलेट है। स्टडी के अनुसार चॉकलेट में डिप्रेशन दूर करने वाली प्रॉपर्टीज हैं। साथ ही चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन भी है। हालांकि इस बारे में अभी और अध्ययन की आवश्यकता है।

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट कैसे उपयोगी है? (Chocolate for a good mood)

एनसीबीआई (NCBI) में छपी एक स्टडी के अनुसार लगभग 45 प्रतिशत लोग डिप्रेस्ड एपिसोड्स के दौरान चॉकलेट के लिए क्रेविंग करते हैं। वहीं कई लोग विश्वास करते हैं कि यह चिंता और चिड़चिड़ेपन की फीलिंग से राहत दिलाने में मदद करती है। चॉकलेट खाने की क्रेविंग ज्यादातर विंटर डिप्रेशन (Winter depression), प्रीमेन्ट्रुअल डिसफोरिया (Premenstrual dysphoria), और एटिपिकल डिप्रेशन (Atypical depression) के दौरान होती है।

चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन इसलिए भी है क्योंकि इसमें फ्लेवनॉल्स (Flavanols) और कैफीन (Caffeine) पाया जाता है। फ्लेवनॉल्स (Flavanols) एक ब्रेन प्रोटेक्टिंग न्यूट्रिएंट्स है जो डार्क चॉकलेट में प्रमुख रूप से पाया जाता है। यह रेड वाइन, बेरीज, सेब, ग्रीन और ब्लेक टी में भी पाया जाता है। ये सभी फूड मूड को अच्छा रखने से संबंध रखते हैं। वहीं कैफीन और थियोब्रोमाइन तेजी से एनर्जी देने के लिए जाने जाते हैं। कोको थियोब्रोमाइन मुख्य सोर्स है। वहीं कैफीन कई फूड्स में पाई जाती है। यानी अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) का सेवन किया जा सकता है।

और पढ़ें: तनाव से बढ़ सकता है सेकेंड अटैक और स्ट्रोक का खतरा!

चॉकलेट के अन्य फायदे

चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन तो है ती इसके अलावा भी चॉकलेट के कुछ अन्य फायदे हैं। डार्क चॉलकेट का सेवन मेमोरी को इम्प्रूव करने के ऑर्गनाइजेशनल स्किल (Organizational skill) को सुधारने में मदद करती है। यह दिमाग को तेज रखने और उसकी काम करने की क्षमता को सुधारने में भी मददगार है। यह लो ब्लड प्रेशर में भी लाभदायक है।

चॉकलेट के नुकसान (Side effects of Chocolate)

चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन जानने के बाद अधिक मात्रा में चॉकलेट खाना शुरू न करें। इससे कई प्रकार के साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। वहीं यह कुछ बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए समस्या का कारण भी बन सकती हैं। जो निम्न हैं।

कोलेस्ट्रॉल की समस्या (Cholesterol problem)

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) खा रहे हैं तो इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें। क्योंकि इसमें सैचुरेटेड फैट होता है जो कि कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। हाय कोलेस्ट्रॉल से हार्ट से जुड़ी कई प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं।

और पढ़ें: वर्ल्ड स्ट्रोक डे: स्ट्रोक के बाद डिप्रेशन होना कितना सामान्य है?

किडनी प्रॉब्लम (Kidney Problems)

कंज्यूमर लेब के द्वारा की गईं स्टडीज में ये बात सामने आई है कि चॉकलेट में केडमियम (Cadmium) की अधिक मात्रा पाई जाती है। कई चॉकलेट्स में यह मात्रा डब्लयूएचओ (World Health Organization) की रिकमंडेशन से ज्यादा हो सकती है। किडनी की समस्या से परेशान किसी व्यक्ति के लिए चॉकलेट के हैवी कंज्प्शन के बाद इस टॉक्सिक मेटल को बाहर निकालने में परेशानी हो सकती है। जिससे किडनी प्रभावित हो सकती है। किडनी स्टोन के मरीजों को भी चॉकलेट का सेवन करने की मनाही होती है।

माइग्रेन की वजह (Reason of Migraine)

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) का सेवन माइग्रेन को भी ट्रिगर कर सकता है। क्योंकि चॉकलेट में कैफीन और बीटा फेनेथाइलामाइन (beta-phenylethylamine) पाया जाता है जो कुछ लोगों में माइग्रेन को ट्रिगर कर सकता है। वहीं कुछ न्यूरोलॉजिस्ट्स का कहना है कि चॉकलेट में पाया जाने वाला एमिनो एसिड टायरामीन (Tyramine) इसकी माइग्रेन की वजह बन सकता है।

powered by Typeform

एब्डोमिनल पेन (Abdominal Pain)

लेक्टोज इनटॉलरेंट लोगों में अच्छे मूड के लिए चॉकलेट का सेवन एब्डोमिनल पेन की वजह बन सकता है। क्योंकि मिल्क चॉकलेट में लेक्टोज शुगर पाई जाती है। ऐसे लोगों के लिए डार्क चॉलकेट का डेयरी फ्री वर्जन ठीक हो सकता है। इसके बारे में डॉक्टर से सलाह लेना सही होगा।

हार्ट बीट का बढ़ना (Heart beat problem)

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट/(Chocolate for a good mood)

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) का अधिक सेवन हार्ट पेशेंट में अनियमित हार्टबीट का कारण बन सकता है। चॉकलेट में कैफीन पाया जाता है जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम को स्टिम्यूलेट करता है और एनर्जी को बढ़ाता है। इससे अनियमित हार्टबीट की परेशानी हो सकती है।

और पढ़ें: हार्ट एरिदमिया को मैनेज कर सकते हैं इन एक्सरसाइजेज से, लेकिन रखना होगा कुछ बातों का ध्यान

इंसोम्निया (Insomnia)

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट का अधिक सेवन आपकी नींद को भी चौपट कर सकता है। चॉकलेट में पाया जाने वाला थियोब्रोमाइन हार्ट रेट को बढ़ाता है और नींद में कमी लाता है। डार्क चॉकलेट में यह कम मात्रा में पाया जाता है। इसलिए अक्सर डॉक्टर सोने से पहले चाय, कॉफी और चॉकलेट का सेवन करने से मना करते हैं।

डेंटल प्रॉब्लम्स (Dental Problems)

अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) का अधिक सेवन आपके लिए कई सारी डेंटल प्रॉब्लम्स खड़ी कर सकता है क्योंकि इनमें शुगर अधिक मात्रा में पाई जाती है। मुंह में शुगर का अधिक मात्रा में जाना बैक्टीरिया और प्लाक को ग्रोथ करने में सपोर्ट करता है जो मसूड़ों की बीमारियों का कारण बनते हैं। मुंह में मौजूद बैक्टीरिया चीनी को एसिड में बदल लेते हैं। जो दांतों की सतह को नुकसान पहुंचाते हैं। यह दांतों में सड़न और कैविटी (Cavities) का कारण बनते हैं। चॉकलेट में मौजूद चीनी इनामल (Enamel) को कमजोर करने का काम करती है।

और पढ़ें: डेंटल सीलेंट बच्चों के दांतों में कैविटी का असरदार इलाज

उम्मीद करते हैं कि आपको चॉकलेट और अच्छे मूड का कनेक्शन क्यों है और अच्छे मूड के लिए चॉकलेट (Chocolate for a good mood) का अधिक उपयोग किन समस्याओं का कारण बन सकता है इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

20 Health Benefits Of Chocolate/https://www.lifehack.org/articles/lifestyle/20-health-benefits-chocolate.html/ Accessed on 1st July 2021

https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29539647/

Effects of chocolate on cognitive function and mood: a systematic review/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24117885/Accessed on 1st July 2021

To Eat or Not to eat: A Review of the Relationship between Chocolate and Migraines/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7146545//Accessed on 1st July 2021

The Best and Worst Foods for Your Teeth/https://www.urmc.rochester.edu/encyclopedia/content.aspx?contenttypeid=1&contentid=4062/Accessed on 1st July 2021

https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29539647/

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/07/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x