home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

मेन्स बूब्स (Gynecomastia) से न हों शर्मिंदा, अपनाएं ये घरेलू उपाय

मेन्स बूब्स (Gynecomastia) से न हों शर्मिंदा, अपनाएं ये घरेलू उपाय

मेन्स बूब्स (Men boobs) या गाइनिकोमेस्टिया (Gynecomastia) एक ऐसी समस्या है, जो काफी पुरुषों में देखी जाने लगी है। जब पुरुषों के शरीर में एस्ट्रोजन, टेस्टासिटरॉन हार्मोन का बैलेंस बिगड़ने लगता है, तब बूब्स के टिश्यूज सूजने लगते हैं। जिसे गाइनिकोमेस्टिया यानी पुरुषों में स्तनों का बढ़ना कहते हैं। स्त्रियों में किशोरावस्था के समय से हार्मोन के प्रभाव से अच्छी तरह विकसित होते हैं। लोग इस समस्या को गंभीरता से न लेकर मनगढ़ंत बातों से जोड़कर देखने लगते हैं। जिन पुरुषों को मेन बूब्स की समस्या होती है, तो वो शर्म के मारे किसी से शेयर नहीं कर पाते हैं। कुछ लोग इसे समस्या नहीं मानते हैं, क्योंकि उन्हें इस बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं होती है। जो लोग अगर इस समस्या को किसी से शेयर भी करते हैं, तो उनका मजाक बन जाता है।

मेन्स बूब्स महिलाओं की तरह स्तनों का विकास नहीं होता है, लेकिन फिर भी कुछ हद तक आकार बढ़ जाता है। सबसे ज्यादा समस्या यह होती है कि चेस्ट के आसपास सूजन आ जाती है। नहाते वक्त छाती पर हाथ फेरते समय स्तनों में हल्का दर्द महसूस होता है। अगर समय रहते हुए इसका डॉक्टर से इलाज नहीं किया गया, तो अंदर इंफेक्शन भी बढ़ सकता है। इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको इस समस्या से राहत दिलाने के लिए घरेलू उपाय बताएंगे।

मेन्स बूब्स के लक्षण क्या हैं?

मेन्स बूब्स के निम्नलिखित लक्षण हैं। जैसे-

यह भी पढ़ें : Chlamydia trachomatis : क्लेमेडिया ट्रैकोमेटिस क्या है?

मेन्स बूब्स से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

हल्दी – हल्दी के जरिए मेन्स बूब्स की समस्या से निजात पाया जा सकता है। हल्दी में करक्यूमिन होता है, जो पुरुषों में टेस्टासिटरॉन की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है। पुरुषों में टेस्टासिटरॉन हार्मोन जितना अधिक रहेगा, उतना ही पुरुषों के स्तनों के बढ़ने की संभावना कम होती है।

क्या करें

एक कप में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिक्स कर 10 मिनट तक उबालें। अब कुछ हफ्तों तक रोजाना इसे दो से तीन बार पिएं। इससे मेन्स बूब्स की समस्या से आपको छुटकारा मिल सकता है।

मछली खाएं

साल्मन और टूना मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड काफी मात्रा में होता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड पुरुषों के शरीर में टेस्टासिटरॉन की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है। इसके साथ ही, यह एस्ट्रोजन की मात्रा कम करने में भी मदद करता है। पुरुषों के शरीर में जैसे एस्ट्रोजन की मात्रा कम होती है, स्तनों का आकार कम होने लगता है। मेन्स बूब्स की समस्या झेल रहे लोग रोजाना मछली के तेल में बना हुआ खाना खाएं। संभव हो तो अधिक से अधिक मछली का सूप पिएं। इससे बढ़े हुए बूब्स को वापिस शेप में लाने में मदद मिलेगी।

समुद्री खाना (सी-फूड)

मछली की तरह ही समुद्री खाना में ओमेगा-3 फैटी एसिड काफी होता है। साथ ही इसमें जिंक की मात्रा बहुत होती है। पुरुषों के शरीर में जिंक की मात्रा कम हो जाने की वजह से बूब्स के आकार में बढ़ोत्तरी होती है। समुद्री खाना टेस्टासिटरॉन हार्मोन का शरीर में अधिक से अधिक प्रोड्यूस करता है, जिससे बढ़े हुए बूब्स वापिस शेप में आने लगते हैं।

अलसी के बीज

अलसी के बीज को कुछ हफ्ते तक लगातार खाने से बूब्स की समस्या से निजात मिल जाता है। अलसी के बीजों में लीगानंस होते हैं, जो एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने में मदद करता है। अलसी के बीजों में भी काफी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। अगर आप अलसी के बीच को पीसकर गर्म पानी के साथ रोजाना खाएं, तो कुछ हफ्तों में बूब्स की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

सेंधा नमक

डीटॉक्सिफिकेशन के जरिए भी बूब्स की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। नहाने के 10 मिनट पहले बाथटब या नहाने के पानी में सेंधा नमक डाल दें। फिर इस नमक वाले पानी से नहाएं। सेंधा नमक में मौजूद मैग्नीशियम शरीर को डीटॉक्सीफाई कर देता है। इसी तरह हफ्ते में तीन बार नहाने से आपको बूब्स की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा, लेकिन जिन लोगों को हाई बीपी और कार्डिएक डिसऑर्डर की समस्या है, वो लोग इस घरेलू उपाय को न अपनाएं।

एक्सरसाइज से ठीक करें मेन्स बूब्स (गाइनिकोमेस्टिया)

पुश अप- मेन्स बूब्स के लिए पुश अप एक्सरसाइज किये जा सकते हैं। स्टैंडर्ड पुश अप वर्कआउट का सबसे आसान तरीका माना जाता है। इसे करने के लिए आपको प्लैंक की पुजिशन में आना होता है। इसके बाद नीचे की ओर यानी जमीन की ओर आएं और अपने सीने से जमीन को छुएं। दोबारा सामान्य पुजिशन में पहुंच जाएं। यह प्रक्रिया सेट के अनुसार दोहराएं।

डिक्लाइन पुश-अप – इस एक्सरसाइज में बेंच के ऊपर पैर रखकर पुश-अप किया जाता है। लेकिन, पुश-अप करते वक्त आप ध्यान दें कि आपकी पीठ एकदम सीधी होनी चाहिए। कंधे की चौड़ाई से ज्यादा आपके दोनों हाथ चौड़ाई में खुले होने चाहिए। पुश-अप करते वक्त चौड़ाई की पुजिशन बदलते रहें। आप 10-12 रिपिटेशन के साथ इसे 3 सेट में करें।

क्लैपिंग पुश अप- मेन्स बूब्स कम करने के लिए पुश अप वर्कआउट की पुजिशन में आएं और अपने शरीर को नीचे की ओर लाएं। शरीर को पीछे की ओर धक्का दें। जमीन और सीने के बीच क्लैप की जगह बने। दोबारा अपनी पुजिशन में आ जाएं।

डंबल पुलओवर – आप इस एक्सरसाइज को करने के लिए सिंपल सा बेंच लाएं। फिर बेंच पर पीठ के बल कंफर्ट होकर लेट जाइए। अब अपनी छाती पर कम वेट या मिडल वेट का डंबल ले लीजिए। हाथों से डंबल को कसकर पकड़ते हुए अपने दोनों कोहनियों को थोड़ा से मोड़ें। धीरे-धीरे डंबल अपने सिर के पीछे की तरफ नीचे लेके आइए। ध्यान रहे, आपको यह स्टेप धीरे-धीरे करना है। इसी एक्सरसाइज को 10-12 रिपिटेशन में 3 सेट में करें। आपको हफ्ते में तीन बार यह एक्सरसाइज करना है।

पुश अप करना ही नहीं बल्कि इसे सही तरीके से करना जरूरी है। पुश अप्स के फायदे पाने के लिए इसे सही सतह पर करना जरूर है। ऐसी जगह में उतार-चढ़ाव नहीं होना चाहिए। यदि उतार-चढ़ाव वाली जगह पर आप पुश अप करते हैं तो यह आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। इसमें कमर सीधी होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : परिवार की देखभाल के लिए मेडिसिन किट में रखें ये दवाएं

पुश अप्स के फायदे में से एक है वजन कम होना। इससे आपका वजन तो कम होता है, साथ ही आपकी चेस्ट भी बनती है और यह आपके हाथों को और पैरों को भी मजबूत करते हैं। एक तरह से कहा जाए तो पुश अप ओवर बॉडी की एक्सरसाइज है। हर रोज कम से कम आधे घंटे की एक्सरसाइज के साथ ही डायन पर भी ध्यान देंगे तो आपका लक्ष्य दूर नहीं है।

तो आप इन घरेलू उपायों को अपनाकर मेन्स बूब्स की समस्या से बच सकते हैं। उम्मीद है ये टिप्स आपके काम आएंगे और इस समस्या से राहत दिलाने में मदद करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी मेडिकल एडवाइज, निदान या उपचार की सलाह खुद से नहीं देता।

और पढ़ें:

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Enlarged breasts in men (gynecomastia)/https://www.mayoclinic.org/Accessed on 07/01/2020

22 Home Remedies For Gynecomastia (Man Boobs)/https://www.tinyqualityhomes.org/Accessed on 07/01/2020

Enlarged Male Breast Tissue (Gynecomastia)/https://my.clevelandclinic.org/Accessed on 07/01/2020

Breast Enlargement in Men (Gynecomastia)/https://www.healthline.com/health/gynecomastia#1/Accessed on 07/01/2020

Breast disorders in men/https://www.health.harvard.edu/Accessed on 07/01/2020

How to Get Rid of Man Boobs/https://www.healthline.com/Accessed on 07/01/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Sidharth Chaurasiya द्वारा लिखित
अपडेटेड 30/10/2019
x