स्तनपान के दौरान मां और बच्चे में कैलोरी की कितनी जरूरत होती है?

    स्तनपान के दौरान मां और बच्चे में कैलोरी की कितनी जरूरत होती है?

    स्तनपान कराने वाली किसी भी महिला से अगर आप पूछे कि “क्या आप स्तनपान कराने के दौरान आप उतनी कैलोरी (Calories) ले रही हैं, जितनी आपको लेनी चाहिए या बच्चे में कैलोरी की सही मात्रा जा रही है?” तो ज्यादातर महिलाओं का जवाब होगा “नहीं।” लेकिन, ये जवाब मां और बच्चे दोनों के लिए स्वस्थ्य नहीं है। स्तनपान के दौरान मां जो खाती है वह बच्चे को मिलता है। मां जितना अतिरिक्त कैलोरी लेगी बच्चे में कैलोरी ब्रेस्ट मिल्क से उतनी ही पहुंचेगी।

    वाराणसी स्थित चंद्रा हॉस्पिटल की स्त्री रोग एवं प्रसूति विशेषज्ञ डॉ. कुसुम चंद्रा ने हैलो स्वास्थ्य को बताया कि “स्तनपान के दौरान मां दो लोगों के लिए खाना चाहिए। एक तो खुद के लिए दूसरा बच्चे के लिए। इसलिए मां को अतिरिक्त कैलोरी लेने की हिदायत दी जाती है, ताकि बच्चे में कैलोरी की मात्रा सही से पहुंच सके।”

    Calories : सामान्य महिला बनाम स्तनपान कराने वाली मां (Normal woman vs breastfeeding mom)

    डायट्री गाइडलाइन फॉर अमेरिकंस (DGAS) के अनुसार एक सामान्य महिला (19-50 साल की उम्र) को रोज 1800 से 2400 कैलोरी की जरूरत होती है। अगर हम इसे काम के अनुसार बांटे तो थोड़ा-बहुत काम करने वाली महिला को 1800 से 2200 कैलोरी ऊर्जा की जरूरत होती है। वहीं, ज्यादा काम करने वाली महिला को 2200 से 2400 कैलोरी ऊर्जा लेनी चाहिए। अगर बात करें स्तनपान कराने वाली मां की तो, उसे लगभग 450 से 500 अतिरिक्त कैलोरी की जरूरत पड़ती है। इसके साथ ही स्तनपान कराने वाली मां को दो स्नैक्स और तीन वक्त के भोजन के साथ ये कैलोरी लेनी चाहिए। इससे ही बच्चे में कैलोरी की सही मात्रा पहुंचती है।

    स्तनपान कराने वाली मां को क्या खाना चाहिए?

    दूध (Milk) जरूर लें

    स्तनपान कराने वाली मां को अपने खाने में दूध जरूर शामिल करना चाहिए। इसके लिए आप दूध, दही या पनीर को शामिल करना चाहिए। इससे ही बच्चे में कैलोरी पहुंचती है और उसके विकास में मददगार साबित होती है।

    और पढ़ें : ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 10 फूड्स

    कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) देगा अधिक कैलोरी

    स्टार्च कार्बोहाइड्रेट का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। स्टार्च में पाए जाने वाला फाइबर बच्चे की त्वचा और हड्डियों के लिए बहुत जरूरी होते हैं, साथ ही बच्चे में कैलोरी की मात्रा को भी पूरा करते हैं। स्टार्च के लिए आप चावल, मिक्स अनाजों के आटे से बनी रोटी, आलू, सूजी, जौ(Oats), ब्रेड आदि खा सकती हैं।

    प्रोटीन (Protein) की होती है सख्त जरूरत

    स्तनपान कराने वाली मां को प्रोटीन की जरूरत सबसे ज्यादा होती है। इसके लिए मां अपने आहार में दाल, फलियां, अंडा, मछली, मांस, मेवे आदि को शामिल कर सकती है। स्तनपान कराने वाली मां को एक दिन में लगभग 71 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है। मां को प्रोटीन की पूरी मात्रा एक साथ ना ले कर दो से तीन बार में लेनी चाहिए।

    और पढ़ें : कहीं स्तनपान के बाद भी बच्चा भूखा तो नहीं?

    फल और सब्जियां (Fruits and Vegetables) हैं सेहतमंद

    स्तनपान कराने वाली मां के आहार में फल और सब्जियां जरूर शामिल होनी चाहिए। फल और सब्जियों के जरीए ही बच्चे में कैलोरी की मात्रा पहुंचती है। आप फलों और सब्जियों में सेब, सेलरी, स्ट्रॉबेरी, पालक, अंगूर, शिमला मिर्च, आलू, प्याज, मक्का, अनानास, एवोकाडो, मटर, आम, बैंगन, कीवी आदि को शामिल कर सकती हैं।

    डायट में विटामिन (Vitamin) भी हैं जरूरी

    विटामिन ए से बच्चे के आंखों की रोशनी विकसित होने में मदद मिलती है। इसके लिए गाजर, अंडे, मछली का तेल, टमाटर, शिमला मिर्च, मटर, आम आदि चीजें स्तनपान कराने वाली मां को खाना चाहिए।

    विटामिन सी आयरन को स्टीम्यूलेट करता है। इसके लिए खट्टे फल, आंवला, संतरा, अमरूद, मौसमी, पपीता आदि खाने चाहिए।

    विटामिन डी आपके और शिशु की हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है। विटामिन डी के लिए मां को अंडे की जर्दी, मांस, फोर्टिफाइड अनाज, तैलीय मछलियां आदि का सेवन करना चाहिए।

    और पढ़ें : स्तनपान करवाते समय न करें यह गलतियां

    शुरुआत में लें हाई कैलोरी के डायट

    डिलिवरी के तुरंत बाद मां को हाई कैलोरी की जरूरत होती है। इसके लिए मां को हाई कैलोरी के आहार लेने चाहिए। इसके लिए डिलिवरी के बाद मां को मेवे, गुड़, घी आदि देना चाहिए। जिससे मां द्वारा बच्चे को भी विकास के लिए पोषक आहार मिल सकेंगे।

    तो अगर आप अपने बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं और आपको लगता है कि आपकी डायट ठीक नहीं है तो आप ऊपर बताई गई ब्रेस्टफीडिंग में डायट को फॉलो कर सकती हैं। आप चाहें तो एक बार न्यूटिशिनिस्ट से भी संपर्क कर सकते हैं। वो आपको ब्रेस्टफीडिंग में डायट लेने के लिए आपको एक डायट चार्ट भी दे सकते हैं, जो आपके काम आएंगे।

    बच्चे में कैलोरी की मात्रा क्या होनी चाहिए?

    डायट्री गाइडलाइन फॉर अमेरिकंस (DGAs) के अनुसार बच्चे में कैलोरी की मात्रा उनके लिंग, उम्र और वजन के हिसाब देनी चाहिए।

    लड़का

    1-3 माह : 472 से 572 कैलोरी/दिन

    4-6 माह : 548 से 645 कैलोरी/दिन

    7-9 माह : 668 से 746 कैलोरी/दिन

    10-12 माह : 793 से 844 कैलोरी/दिन

    लड़की

    1-3 माह : 438 से 521 कैलोरी/दिन

    4-6 माह : 508 से 593 कैलोरी/दिन

    7-9 माह : 608 से 678 कैलोरी/दिन

    10-12 माह : 717 से 768 कैलोरी/दिन

    मां को अपने और बच्चे में कैलोरी की मात्रा का पूरा ध्यान रखना चाहिए। अगर मां ने ध्यान न दिया तो बच्चा कुपोषित हो सकता है। जो बच्चे और मां दोनों के स्वास्थ्य के लिए सही नहीं होगा।

    स्तनपान कराने वाली मां के लिए डायट चार्ट

    वाराणसी के अभिलाषा नर्सिंग होम की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. कुमकुम अग्रवाल ने बताया कि “स्तनपान कराने वाली मां को सिर्फ दूध उत्पादन के लिए नहीं, बल्कि गुणवत्तापूर्ण दूध उत्पादन के लिए खाना चाहिए। मां को अपने डायट में सभी तरह के पोषक तत्वों को शामिल करना चाहिए।”

    हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। मां और बच्चे में कैलोरी की मात्रा अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड

    डॉ. अभिषेक कानडे

    आयुर्वेदा · Hello Swasthya


    Shayali Rekha द्वारा लिखित · अपडेटेड 20/07/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement