अपनी प्लेट उठाना और धन्यवाद कहना भी हैं टेबल मैनर्स

By Medically reviewed by Dr. Pranali Patil

आप बच्चों के साथ घर पर खाना खा रहे हों, किसी पार्टी में हों या दोस्तों के साथ डिनर कर रहे हों, आपके बच्चों के लिए सही टेबल मैनर्स जानना जरूरी हैं। जब आप अपने बच्चे को अच्छे टेबल मैनर्स सिखाते हैं, तो आप उन्हें सोशल इंटरैक्शन के लिए एक ऐसा टूल देते हैं, जो उन्हें उनके आने वाले जीवन में हमेशा काम आता है। रात के खाने की मेज पर बच्चों में अच्छे शिष्टाचार डालने का मतलब है कि आपके बच्चे आने वाले सालों में अपने अच्छे टेबल मैनर्स के लिए जाने जाएंगे।

यह भी पढ़ेंः बच्चों के लिए सिंपल बेबी फूड रेसिपी, जिन्हें सरपट खाते हैं टॉडलर्स

 बच्चों के लिए बेसिक टेबल मैनर्स

1. खाने की टेबल पर हाथ और चेहरा साफ करके आएं

अपने बच्चों को सिखाएं कि हमेशा खाने की टेबल पर आने से पहले उन्हें अपने हाथ और मुंह धोने चाहिए। टेबल मैनर्स सिखाने के लिए जरूरी है कि बच्चों को शुरुआत से चीजे समझाएं। यह न केवल उस व्यक्ति के लिए सम्मान दिखाता है, जिसने खाना बनाया है। साथ ही साथ खाने की मेज पर दूसरे लोगों को भी यह देखकर अच्छा लगता है। बच्चों में अच्छे टेबल मैनर्स एक जरूरी स्वस्थ और स्वच्छता की आदत भी है।

2. टेबल मैनर्स केवल खाना खाने तक ही नहीं हैं सीमित

बच्चों में बचपन से यह आदत डालें कि वो अपने साथ दूसरों के बारे में भी सोचें। चाहे वह अपने घर में हो या किसी और के घर में उनको हमेशा अपने बड़ों से यह पूछना चाहिए कि क्या वे कुछ मदद कर सकते हैं। अच्छे टेबल मैनर्स में केवल यह नहीं आता कि वो टेबल पर कैसे परफॉर्म करते हैं बल्कि किचन से लेकर खाना खाने तक वह आपकी मदद कर सकते हैं। टेबल मैनर्स में जरूरी बात है कि बच्चों को सिखाएं कि वह पूछें कि क्या आप खाने को तैयार करने में  कुछ मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः पिकी ईटिंग से बचाने के लिए बच्चों को नए फूड टेस्ट कराना है जरूरी

3. टेबल सेट करते समय खाने की सेटिंग याद रखें

जो बच्चे अपने माता-पिता की मदद टेबल सेट करने में करते हैं उन्हें पता होता है कि सब्जी, रोटी या दाल टेबल पर किस तरफ जाएगी। ब्रेड और दूध बाई ओर और दाई ओर पानी। टेबल की सेटिंग टेबल मैनर्स का सबसे जरूरी हिस्सा है। जो बच्चे अपने माता-पिता को टेबल की सेटिंग करते हुए देखते हैं उन्हें पता होता है कि टेबल पर कौन सी खाने की चीज कहां रखी जाएगी।

4. टैबल मैनर्स में नैपकिन पर भी होता है ध्यान

अपने बच्चे को बताएं कि अगर वह किसी और के घर में डिनर या खाने पर जाता है तो होस्ट को फॉलो करें। अगर होस्ट ने नैपकिन अपने लैप पर रखा है, तो बच्चे को भी यही करना है। साथ ही बच्चे को पहले से बताएं कि नैपकिन कैसे फोल्ड करना है और इसे कैसे और कब हटाना है। छोटी-छोटी बातें टेबल मैनर्स सिखाते समय अपने बच्चे को बताएं।

यह भी पढ़ेंः बच्चों का पढ़ाई में मन न लगना और उनकी मेंटल हेल्थ में है कनेक्शन

5. खाने से पहले हर किसी को परोसे जाने तक करें इंतजार

अपने बच्चे को यह बताएं कि जब तक सभी बैठ नहीं जाते तब तक खाना शुरू न करें। कई बार हर किसी को टेबल पर सैटल होने में थोड़ा समय लगता है। टेबल मैनर्स सिखाते हुए अपने बच्चे को जरूर बताएं कि जब तक सब टेबल पर बैठ कर खाना शुरु नहीं करते तब तक बच्चे का खाना बैड मैनर्स होते हैं।

6. मुंह खोलकर खाना चबाना है बैड टेबल मैनर्स

बच्चों को टेबल मैनर्स सिखाते हुए हमेशा एक बात का ध्यान रखें कि उनको टेबल पर कैसे व्यवहार करना है आप वो भी सिखा रहे हैं। बच्चे को मुंह बंद कर खाना चबाना सिखाएं और जब मुंह खाने से भरा हो, तो कुछ न बोलने की बात कहें। ऐसा करने से बच्चा न केवल बचपन में ठीक रहता है बल्कि आगे भी उसको आपके द्वारा बताए हुए टेबल मैनर्स याद रहते हैं।

यह भी पढ़ेंः बच्चों के लिए कैलोरीज जितनी हैं जरूरी, उतना ही जरूरी है उन्हें बर्न करना भी

7. बहुत सारा खाना एक साथ खाने से बचें

अपने बच्चे को छोटे-छोटे बाइट लेना सिखाएं और कभी भी अपना खाना मुंह से बाहर न निकालें यह भी सिखाएं। टेबल मैनर्स के लिए सबसे जरूरी है कि बच्चा कैसे खाता है। बच्चे को खाने के तरीके के बारे में बताएं जैसे धीरे-धीरे खाना, कम खाना, छोटे बाइट लेना आदि।

8. जब कोई और बात कर रहा हो तो बीच में न टोकें

बच्चों को बताएं कि अगर खाने की टेबल पर कोई बात कर रहा है, तो वह बीच में न बोलें। रात को खाने की मेज पर आपस में बात करते हुए बड़े लोगों के बीच में बच्चे को बोलने के बारे में समझाएं। उन्हें बताएं कि टेबल पर बात करते हुए उन्हें अपनी बारी का इंतजार करना चाहिए और अपनी बारी आने पर ही बोलना चाहिए। बच्चों को न्यूज, उनके दोस्तों, स्कूल कैसा था और अन्य दिलचस्प विषयों के बारे में बात करने की आदत डालें।

9. कुछ खाने के बीच में टेबल के आसपास न जाएं

अपने बच्चे को बताएं कि अगर उसे किसी चीज की जरूरत है, तो उसे मेज की दूसरी तरफ नहीं जाना है। अगर उसे नमक चाहिए तो मेज के पार नहीं जाना चाहिए। उसके अंदर आदत डालें कि अगर उसे किसी चीज की जरूरत है, तो वह अपने टेबल मेट्स से इसके लिए पूछे।

यह भी पढ़ेंः बच्चों की गट हेल्थ के लिए आजमाएं ये सुपर फूड्स

10. कुर्सी पर नैपकिन रखें, न कि टेबल पर

अपने बच्चे को हमेशा सिखाएं कि अगर उसे टॉयलेट जाना है, तो वह अपनी कुर्सी पर नैपकिन रख सकता है। यह उसकी थाली या मेज पर कभी नहीं रखा जाना चाहिए। अच्छे टेबल मैनर्स के लिए जरूरी है कि बच्चा नैपकिन का सही इस्तेमाल भी जानें।

11. खाना खा लेने पर अपनी कुर्सी को धक्का दें

जब वह मेज से उठता है, तो उसे मेज के अंदर अपनी कुर्सी को पीछे धकेलना चाहिए।

12. हमेशा अपनी प्लेट उठाओ और धन्यवाद कहो

अपने बच्चे को घर पर सिखाने के लिए यह एक जरूरी आदत है कि वह अपनी थाली खुद उठाए। ऐसा करना अगर उसकी दिनचर्या का हिस्सा बन जाता है, तो जब वह किसी और के घर में मेहमान होगा, तो ऐसा करने की अधिक संभावना होगी। अगर आप कहीं बाहर डिनर पर जा रहें हैं, तो अपने बच्चे को वेटर के साथ आई कॉन्टैक्ट बनाना सिखाएं और धन्यवाद कहना सिखाएं ।

यह भी पढ़ेंः खाने में आनाकानी करना हो सकता है बच्चों में ईटिंग डिसऑर्डर का लक्षण

सामान्य तौर पर अच्छे शिष्टाचार की तरह अच्छे टेबल मैनर्स को उन लोगों द्वारा सराहा जाएगा, जो आपके बच्चे के संपर्क में आते हैं। उसे सिखाएं कि जब वह दूसरों के लिए सम्मान दिखाता है, तो उसे भी बदले में सम्मान मिलेगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

यह भी पढ़ें:

Share now :

रिव्यू की तारीख दिसम्बर 13, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया दिसम्बर 14, 2019

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे