बच्चे को चैन की नींद सुलाने के लिए अपनाएं ये आसान टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अप्रैल 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

रात की अच्छी नींद हम सभी जानते हैं कि कितनी जरुरी है। बच्चों को भी इसकी खास जरुरत होती है। हमें उनके दिन की एक्टिविटी को भुला कर रात की तैयारी करने के लिए कुछ ऐसा सोचना चाहिए, जिससे उन्हें बिस्तर पर जाने से पहले आराम मिल सकें। बच्चे को सुलाने से पहले कुछ ऐसी एक्टिविटी कर सकते हैं, जिससे बच्चा बिना परेशान किए सो जाए और खुद से सोने की आदत बनाएं। ऐसे ही कुछ  टिप्स के बारे में आज हम आपको बताएंगे।

ये भी पढ़ें- अपने बच्चे के निगेटिव कमेंट्स को कैसे करें मैनेज

नहाने का सही समय निर्धारित करें

 नहाना हर किसी को पसंद होता है और यह थकान को दूर कर सूकुन भी देता है। लेकिन हम अक्सर अपने बच्चों को सुबह के समय नहला कर काम खत्म कर देते हैं। नहाने को सिर्फ काम और सफाई के नजरिए से देखने के बजाय इसे अपने बच्चे को शांत करने के लिए इस्तेमाल करना शुरु करें। आराम के लिए जरुरी तेल जैसे लैवेंडर, कैमोमाइल, कैनेन्गा ट्री और सीडरवुड के साथ अपने बच्चे को बबल बाथ दें। उन्हें अपने पीठ के बल लेट कर पानी में तैरने के लिए प्रोत्साहित करें। अगर आप बच्चे के बाल धो रहे हैं, तो यह आपके बच्चे के लिए एक मालिश का काम करता है जो बहुत आरामदायक होता है। अगर आपका बच्चा म्यूजिक सुनना पसंद करता है तो कुछ सॉफ्ट म्यूजिक लगाएं। यह बच्चों की अच्छी नींद को प्रेरित करता है।

यह भी पढ़ें: शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

सोने से पहले कहानी की किताब पढ़ें

बच्चों को कहानी सुनाना एक अच्छा विकल्प होता है, जिसका वे सबसे अधिक आनंद लेते हैं। इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता कि आपका बच्चा कितने साल का है, जब भी आप उन्हें कहानी सुनाते है यह उन्हें यह पसंद आता है। एक साथ आनंद लेने के लिए एक अच्छी किताब चुनें और कम रोशनी में अपने बच्चे के लिए इसे पढ़ें। आपका आपके बच्चे के बिस्तर पर बैठना उन्हें भी अच्छा महसूस करवाता है।

कम से कम दस मिनट के लिए पढ़ें और अपनी आवाज को अलग-अलग कैरेक्टर की आवाज में बदल कर कहानी सुनाएं। अपने बच्चों के साथ आई कॉन्टेक्ट करें, ऐसा करने से वो खुद को आपकी कहानी के साथ जुड़ा महसूस करेंगे।

कहानी के बारे में बात करने के बाद पांच या दस मिनट उनसे कहानी के बारे में पूछें। ऐसा करने से बच्चा खुद को कहानी के साथ खुद को जुड़ा हुआ महसूस करेगा और जाते-जाते उसे बताएं कि वह जितनी जल्दी सोएगा अगला दिन उतनी ही जल्दी आएगा

ये भी पढ़ें- अपने बच्चे के लिए एक स्कूल का चयन करने के लिए 4 कदम

बच्चे के तनाव को दूर करें

नहाने के बाद या बिस्तर पर जाने से ठीक पहले थोड़ी देर ध्यान करने का सही समय माना जाता है। छोटे बच्चों को अलग-अलग एक्सरसाइज करना पसंद होता है और यह व्यायाम सोने के समय से पहले उनका ध्यान एकाग्र करने का सही तरीका है।

उन्हे फर्श पर या किसी चादर पर लेटने को कहें। उन्हें अपनी आंखें बंद करने के लिए कहें और अपनी खुद की सांस की आवाज सुनने और उसे महसूस करने के बारे में समझाएं। हो सकता है जब वे पहली बार इस अभ्यास को करें, तो उन्हें हंसी आए  लेकिन समय के साथ वे इसका आनंद लेगें और समय के साथ वे इसे गंभीरता से करेंगे। इस तरह से उन्हें अलग-अलग एक्सरसाइज करवाएं। ये उनकी एकाग्रता तो बढ़ाएगा ही साथ ही उन्हें बचपने से ध्यान लगाने की आदत भी होगी जो बड़े होकर उनके लिए बहुत काम आएगा।

बच्चे के लिए एक ही रुटिन बनाएं और उसे फॉलो करें

रात के खाने के बाद, नहाना, कहानी सुनाना और उसको बेड पर सुलाना उसकी प्रभावी दिनचर्या का एक उदाहरण है। बच्चे के रुटिन को बदलने के बारे में ना सोचे क्योंकि इस बदलाव के साथ एडजेस्ट करने में बच्चे को अधिक समय लग सकता है। बच्चे को सुलाने को एक बड़ा काम समझ कर ना करें। इसे दिन का सबसे अच्छा पल समझें क्योंकि इस समय आपका बच्चा केवल आपके साथ होता है।

बच्चे कई बार सोते समय आपका विरोध कर सकते हैं। इसे दरकिनार करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप उन्हें किसी एक्टिविटी में लगाएं। अपने बच्चे की तस्वीरों के साथ एक चार्ट बनाएं, सोने के समय उसे उसके ही द्वारा किए गए सभी कामों की फोटो दिखाएं और इस चार्ट को घड़ी के बगल में रखें। समय के साथ आपका बच्चा खुद को इस रुटिन को फॉलो करने की आदत बना लेगा। बच्चों की अच्छी नींद के लिए एक रुटिन बनाना बेहद जरूरी है।

यह भी पढ़ें: जानें क्या है गहरी नींद की परिभाषा, इस तरह से पाएं गहरी नींद और रहें हेल्दी 

कमरे में अंधेरा कर दें:

बच्चों की अच्छी नींद के लिए उसके कमरे में अंधेरा कर दें। दरअसल अंधेरा नींद से जुड़े हार्मोन मेलाटोनिन को बढ़ाता है। ऐसे में अंधेरा होने पर बच्चा जल्दी नींद पड़ेगा और देर तक सोएगा।

शांत माहौल जरूरी:

बच्चे की नींद बहुत कच्ची होती है। वह जरा सी आवाज में उठ जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि घर में शांत माहौल बना रहे। बच्चे के कमरे में आवाज करने से बचना चाहिए। बच्चों की अच्छी नींद के लिए शांती वाले माहौल को बनाए रखें।

ये भी पढ़ें- भावुक बच्चे को हैंडल करना हो सकता है मुश्किल, जान लें ये टिप्स

बच्चे को नई स्किल सीखने के लिए प्रोत्साहित करें

उसे बताएं कि जब वह खुद से सोना सीखता है, तो आप कितना गर्व महसूस करते हैं। उसे कुछ करने के लिए कुछ प्रेरणा की जरूरत होता है। कोई भी दूसरी प्रेरणा जो आप उसे दे सकते हैं वह भी उसके लिए बड़ी बात होगी। कुछ बच्चे सुबह के समय छोटे सरप्राइज और गिफ्ट देखकर खुश होते हैं और अपना रुटिन मेंटेन रखते हैं। याद रखें कि दिन के दौरान आप उसे जी भर के प्यार कर सकते हैं लेकिन रात में उसे अपने हिसाब से सोने दें।

ऐसा करने से आपके बच्चे को जहां एक तरफ खुद से सोने की आदत होगी साथ ही दिन में आपके साथ बिताए हुए समय के बाद वह रात को भी खुद को सुरक्षित महसूस करेगा। यह सब करने से आप देखेंग कि आखिरकार तकिए पर सिर रखते ही आपका बच्चा सो रहा है और उससे भी ज्यादा आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि आपके पास वास्तव में अपने लिए काफी समय होग।

और पढ़ें-

बच्चे को किस करने से हो सकती है यह बीमारी, रहें सतर्क

बच्चे को पहली बार मूवी दिखाने ले जा रहे हैं, तो ध्यान रखें ये बातें

सोशल मीडिया से डिप्रेशन शिकार हो रहे हैं बच्चे, ऐसे करें उनकी मदद

मानिए डॉक्टर्स की इन बातों को ताकि बच्चे में कोरोना वायरस का डर न करे घर  

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Coronavirus Lockdown : क्या कोरोना के डर ने आपकी रातों की नींद चुरा ली है, ये उपाय आ सकते हैं आपके काम

    महामारी में अनिद्रा की समस्या ज्यादातर लोगों को सता रही है। महामारी के कारण लोगों में अधिक चिंता बढ़ गई है जिसके कारण नींद न आने की समस्या हो रही है।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    स्लीप, स्वस्थ जीवन अप्रैल 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    ज्यादा सोने के नुकसान से बचें, जानिए कितने घंटे की नींद है आपके लिए जरूरी

    ज्यादा सोने के नुकसान (Oversleeping) क्या हैं, क्या आपको भी है ज्यादा सोने की आदत? ज्यादा सोने से हो सकते हैं ये नुकसान, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे। ज्यादा सोने के नुकसान in hindi

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    स्लीप, स्वस्थ जीवन दिसम्बर 18, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    अच्छी नींद के लिए सोने से पहले न करें इलेक्ट्रॉनिक्स का यूज

    रोत को अच्ची नींद के लिए फॉलों करें सोने के टिप्स। अच्छी नींद के लिए आएगी काम। सोने से पहले ना करें इलेक्ट्रॉनिक का इस्तेमाल। और जानें

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
    के द्वारा लिखा गया Dr. Pranali Patil
    हेल्थ सेंटर्स, फन फैक्ट्स नवम्बर 18, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    क्या आपका बच्चा नींद के कारण परेशान रहता है? तो इस तरह दें उसे स्लीप ट्रेनिंग

    क्या आपका बच्चा नींद न आने के कारण परेशान रहता है? तो हो सकता है उसे स्लीप ट्रेनिंग (Sleep Training) देने की जरूरत पड़े। लेकिन कब और किन बच्चों के स्लीप ट्रेनिंग देनी चाहिए, यहां पढ़ें।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
    स्लीप, स्वस्थ जीवन नवम्बर 15, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    पेडिक्लोरील

    Pedicloryl : पेडिक्लोरील क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ जून 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    बच्चों को नींद न आना-bacho-ko-neend-na-aana

    बच्चों को नींद न आना नहीं है मामूली, उनकी अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये टिप्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    महिला और पुरुषों के स्लीप पैटर्न

    महिला और पुरुषों के स्लीप पैटर्न क्यों होते हैं अलग?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    स्लीप हिप्नोसिस

    क्या सच में स्लीप हिप्नोसिस से आती है गहरी नींद?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें