home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बेड टाइम रूटीन जिसे फॉलो कर बच्चों को आएगी बेहतर नींद

बेड टाइम रूटीन जिसे फॉलो कर बच्चों को आएगी बेहतर नींद

यदि आप एक अभिभावक हैं, तो रात की चुनौती जानते हैं। बच्चों को बिस्तर पर समय पर ले जाना और उन्हें अच्छी नींद में सुलाना आसान नहीं होता है। लेकिन, यह सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक है, जो आप उनके लिए कर सकते हैं। बच्चों के लिए पर्याप्त नींद ये उनके मानसिक और शारीरिक विकास के लिए जरूरी है। पर्याप्त नींद ने मिलने से बच्चे चिड़चिड़े हो जाते हैं। इसके अलावा वे कई बार हाइपर भी हो सकते हैं, जो पेरेंट्स के लिए अच्छा इशारा कतई नहीं है। बच्चे नींद की कमी से व्यवहार की समस्या से जूझने लगते हैं। ध्यान देने और सीखने में परेशानी होती है और वजन भी बढ़ जाता है। इसलिए बच्चे को अच्छी नींद दिलाने में मदद करने के लिए बेड टाइम रूटीन को फॉलो करना जरूरी हो जाता है। हालांकि, बच्चों को एक रुटिन पर स्टीक करके रखना आसान नहीं होता है।

रात का बेड टाइम रूटीन, सोने का समय, बच्चों के लिए म्यूजिक ये कुछ तरीके हैं, जो बच्चों को नींद दिलाने में मदद कर सकते हैं। जब आप अच्छी नींद की आदतों को निर्धारित करते हैं, तो यह बच्चे को सोने और तरोताजा रखने में मदद करता है। वे सोते समय तनाव को बाहर निकालने में भी मदद कर सकते हैं। सोते समय बेड टाइम रूटीन में क्या शामिल करें कि बच्चों को सोने में मदद कर सकें। ऐसा करना कोई कठिन नियम जैसा नहीं है। हां, आपको इस पर अटल रहने की जरूरत हो सकती है। हर बच्चा अलग है। अतः महत्वपूर्ण है कि डेली दिनचर्या का निर्माण करना, जो वाकई में बच्चे के लिए बेड टाइम रूटिन तय करने में मदद कर सके।

यह भी पढ़ें : क्या आप भी नींद भगाने के लिए पीते हैं कॉफी? आज से शायद बदल जाए आपका नजरिया !

बेड टाइम रूटीन सेट करने के लिए अपनाएं ये तरीके

नींद को प्राथमिकता बनाएं

इसका सबसे अच्चा तरीका यह है कि बच्चों के साथ-साथ परिवार के लिए भी नियमित रूप से ‘गो-बेड’ और ‘वेक-अप’ टाइम निर्धारित करें और गंभीरता से फॉलो करें। यह वीकेंड पर भी कंटिन्यू रखें। जब बच्चे बिस्तर पर जाने के 15 से 30 मिनट के भीतर सो जाते हैं, तो वे पर्याप्त नींद लेते हैं। सुबह आसानी से उठते हैं, और दिन के दौरान नींद नहीं लेते हैं। बच्चे इससे तरो-ताजा फील करेंगे। बच्चों के लिए बेड टाइम रूटिन सेट करने के लिए जरूरी है कि उसे नींद की अहमियत को समझाया जाएं और साथ ही उसे यह भी बताया जाए कि नींद पूरी न होने से उन्हें किस चरह की समस्याओं से जूझना पड़ सकता है।

बेड टाइम रूटिन का ही हिस्सा है नींद की परेशानियों से निपटना

यह हो सकती हैं नींद की परेशानी

  • रात में जागना
  • खर्राटे लेना
  • रुकना और बिस्तर पर जाने का विरोध करना

नींद के दौरान सांस लेने में परेशानी होना और सोते समय जोर से या भारी सांस लेना शामिल है। साथ ही साथ आप उनके दिन के व्यवहार में बदलाव को भी देख सकते हैं। यदि आपका बच्चा दिन के दौरान ऊंघता हुआ, नींद से भरा हुआ लगता है, तो ऐसे में डॉक्टर से इस बारे में चर्चा करें।

यह भी पढ़ें : बच्चों के पालन-पोषण के दौरान पेरेंट्स न करें ये 5 गलतियां

बेड टाइम रूटिन के लिए खेलना भी है जरूरी

“टू ट्रुथ्स एंड ए फेक” छोटे होने पर हमारा एक पसंदीदा खेल है, जिसमें प्रत्येक दिन उस दिन की गई तीन चीजों को कहते हैं, जिनमें से केवल दो वास्तविक होती हैं। यह एक मनोरंजक खेल है, जो परिवार में हर किसी को अपने अनुभवों को साझा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। यह बच्चों को अपने दिन के बारे में सोचने, घटनाओं और सोने के लिए अपने दिमाग को आराम देने में मदद करता है। आप बच्चों के बेड टाइम रूटिन में इसी तरह के अन्य खेल या एक्टिविटीज को शामिल कर सकते हैं। ऐसा करने से बच्चों के सोने और जागने का समय निर्धारित करने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें : बच्चे को डिसिप्लिन सिखाने के 7 टिप्स

हर रात ऑन टाइम योजना का पालन करें

एक शोध के अनुसार, बच्चों के बिस्तर की स्थिरता, सोने के घंटों आदि उनका दिमाग विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण है। हाल ही में किए गए एक अध्ययन में सामने आया कि जो बच्चे बिना बेड टाइम रूटिन के नींद लेते हैं। उनको भविष्य में व्यवहार संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यह अच्छी दिनचर्या के साथ शुरू होता है, जो बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए डरने के बजाय सोने के समय की इशारा करता है। बेड टाइम रूटीन को फॉलो करेंगे, तो एक दिन अपने बच्चों को बोलते सुनेंगे “मम्मी, यह सोने का समय है!”

बेड टाइम रूटिन का हिस्सा हैं स्नैक्स भी

बच्चों को एक दिन में तीन से अधिक बार भोजन की आवश्यकता हो सकती है। इसलिए रात को सोने से पहले हल्का नाश्ता उनके शरीर को रात भर एनर्जी से भरे रहने में मदद कर सकता है। विकल्प के तौर पर दूध, या फल का एक टुकड़ा के साथ साबुत अनाज अनाज शामिल हैं।

रात को अच्छी बात सुनना है बेहतर बेड टाइम रूटीन

माइंडफुल गेम वर्तमान क्षण पर ध्यान केंद्रित करता है और आजीवन विश्राम कौशल (बेड टाइम रूटीन) सिखाता है। बच्चों के लिए बेहतर नींद को बढ़ावा देता है। यह बच्चों को अधिक आसानी से सो जाने और बेहतर रात के आराम का आनंद लेने में मदद कर सकती है। सोने से पहले आराम और सांस लेने पर ध्यान देने के लिए समय निकालना बच्चों, और वयस्कों के लिए भी चमत्कारी परिणाम देता है।

ऊपर बताए गए टिप्स को फॉलो करके आप अपने बच्चे के लिए बेड टाइम रूटिन तय कर सकते हैं। बेड टाइम रूटिन फॉलो करने से बच्चों को अच्छी नींद तो आती ही है और साथ ही वे कई गंभीर समस्याओं से भी बच जाते हैं। बढ़ते बच्चों के विकास के लिए नींद कितनी जरूरी है इसके बारे में लंबे समय से बात होती आई है।

अच्छी, गहरी और चैन की नींद लेने के हैं ये फायदे:

  • शरीर की संज्ञानात्मक यानी ज्ञान-संबंधी क्रियाएं सही तरीके से होती हैं।
  • बॉड को फिर से रीसेट होने या पुनःतैयार होने में मदद मिलती है।
  • अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा क्रिएटिव बने तो चैन की नींद बेहद जरूरी है।
  • बेहतर नींद लेने से बेहतर आइडिया आते हैं और स्मार्ट डिसिजन लेने में मदद मिलती है।
  • दिन भर प्रॉडक्टिव रहने के लिए एनर्जी मिल जाती है।

और पढ़ें :

पिकी ईटिंग से बचाने के लिए बच्चों को नए फूड टेस्ट कराना है जरूरी

बच्चों को खड़े होना सीखाना है, तो कपड़ों का भी रखें ध्यान

बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

Child Tantrums: बच्चों के नखरे का कारण कैसे जानें और इसे कैसे हैंडल करें

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

9 Ways to Make a Child’s Bedtime Easy/https://www.webmd.com/parenting/raising-fit-kids/recharge/bedtime-routine-tips#2/Accessed on 13/12/2019

Make a Bedtime Plan: 8 Tips to Get Your Children to Bed With Brain Science/https://www.huffpost.com/Accessed on 13/12/2019

7 Tips and Tricks for Getting Kids to Sleep at Night/https://www.alaskasleep.com/blog/getting-kids-to-bed-on-time-tips-tricks-guidelines/Accessed on 13/12/2019

10 Surefire Solutions to End the Bedtime Battle/https://www.webmd.com/children/features/make-your-kids-bedtime-battle-free#1/Accessed on 13/12/2019

10 Tips to Get Your Kids to Sleep/https://www.healthline.com/health/tips-get-your-kids-sleep/Accessed on 13/12/2019

लेखक की तस्वीर badge
Nikhil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/01/2020 को
डॉ. अभिषेक कानडे के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x