home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गर्भावस्था में पानी और अधिक लिक्विड लेना आपके लिए है जरूरी, क्यों? जानिए!

गर्भावस्था में पानी और अधिक लिक्विड लेना आपके लिए है जरूरी, क्यों? जानिए!

गर्भावस्था में महिला को अपने खानपान का खास ध्यान रखने की जरूरत पड़ती है। इस स्थिति में महिला को सही डायट और अपनी देखभाल की जरूरत होती है। डायट की बात करें तो गर्भावस्था में महिला को सभी तरह के न्यूट्रिएंट्स लेने की सलाह दी जाती है, लेकिन एक जरूरी बात यह है कि इस दौरान लिक्विड इनटेक (Liquid intake) पर ध्यान देने की जरूरत पड़ती है। लिक्विड इनटेक में सबसे पहले बात करते हैं पानी की। फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड लेने की जरूरत पड़ती है, जिससे आपको डिहाइड्रेशन की समस्या ना हो। गर्भावस्था में होने वाला डिहाइड्रेशन आपके और आपके शिशु के लिए नुकसानदायक हो सकता है, इसलिए फर्स्ट ट्रायमेस्टर में अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेने की सलाह दी जाती है। आइए जानते हैं फर्स्ट ट्रायमेस्टर में अधिक लिक्विड लेने के क्या फायदे हो सकते हैं।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में अपनाएं ये डायट प्लान

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड लेना क्यों जरूरी है? (How much water should I drink in first trimester)

इंस्टिट्युट ऑफ मेडिसिन (Institute of medicine) में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार गर्भवती महिला को 1 दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीने की जरूरत पड़ती है। साथ ही यदि महिला ब्रेस्टफीडिंग करवा रही है, तो पानी की मात्रा को 13 ग्लास तक करने की सलाह दी जाती है। फर्स्ट ट्रायमेस्टर में अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेने से आपका इंटरनल सिस्टम ठीक तरह से काम करता है और शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ आसानी से बाहर निकल जाते हैं। किडनी में मौजूद वेस्ट मटेरियल इस पानी के साथ मिलकर यूरिन के जरिए बाहर निकल जाते हैं, जो यूरिनरी ट्रैक्ट, ब्लैडर और किडनी इन्फेक्शन (Urinary tract, bladder and kidney infections) की समस्याओं के रिस्क को कम करता है। यही बात सॉलि़ड वेस्ट के लिए भी मानी जाती है। फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड लेने से आपका स्टूल सॉफ्ट होता है और बॉवेल मूवमेंट में परेशानी नहीं होती। आमतौर पर गर्भावस्था में महिलाओं को कॉन्स्टिपेशन की समस्या का सामना करना पड़ता है, क्योंकि उनके शरीर में कई तरह के हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। कॉन्स्टिपेशन (Constipation) की इस समस्या को यदि समय पर ठीक ना किया जाए, तो प्रेगनेंसी के बाद महिला को हेमोरॉइड की समस्या हो सकती है। यही वजह है कि फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड लेने की सलाह दी जाती है। आइए जानते हैं गर्भावस्था के फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड किस तरह लिया जा सकता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में चाय या कॉफी का सेवन हो सकता है नुकसानदायक

कैसे लें फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड? (How to drink water in first trimester)

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester)

गर्भावस्था में अलग-अलग समय के अनुसार आपको अपने खान-पान को बदलना होता है। आज हम बात करेंगे अलग-अलग ट्रायमेस्टर के अनुसार आपको पानी का इनटेक किस तरह बदलना चाहिए और आपको अलग-अलग ट्रायमेस्टर में कितने पानी की जरूरत पड़ सकती है।

फर्स्ट ट्रायमेस्टर : पहला ट्रायमेस्टर हर गर्भवती महिला के लिए मुश्किलों से भरा होता है। इस दौरान गर्भवती महिला के शरीर में बदलाव होने शुरू होते हैं और वह आसानी से रोजमर्रा के काम नहीं कर पाती। इस दौरान आपको अपने पानी के इनटेक पर खास ध्यान रखने की जरूरत पड़ती है। साथ ही फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेने की जरूरत पड़ती है। जब आप फर्स्ट ट्रायमेस्टर (First trimester) के दौरान सही मात्रा में पानी लेती हैं, तो आपके शरीर में हो रहे बदलाव से कोप करने में मदद मिलती है और यह शरीर में बन रहे टॉक्सिंस को बाहर निकालने में भी मदद करता है।

और पढ़ें: जेस्टेशनल ट्रोफोब्लास्टिक डिजीज (GTD) क्या है और जानें इसका इलाज

सेकंड ट्रायमेस्टर : जब गर्भवती महिला का सेकंड ट्रायमेस्टर (Second trimester) शुरू होता है, तो उसे अपने डायट में कैलोरी बढ़ाने की जरूरत पड़ती है। कैलोरी के मुताबिक आपको पानी की मात्रा भी बढ़ानी होती है। आमतौर पर इस दौरान हर कैलोरी के मुताबिक एक से डेढ़ एम एल मिली पानी आपको अपनी डायट में बढ़ाना होता है। जिसका मतलब है कि सेकंड ट्रायमेस्टर में आप पानी का कंटेंट 340 एमएल जितना बढ़ा सकती हैं। डॉक्टर की सलाह लेकर आप पानी के इंटेक को बदल सकती हैं।

थर्ड ट्रायमेस्टर : थर्ड ट्रायमेस्टर (Third trimester) के दौरान आपको अपना खास ध्यान रखने की जरूरत पड़ती है, क्योंकि आपका डिलीवरी का समय नजदीक आ रहा होता है। इसलिए आपको खाने में कैलोरी बढ़ाने की और उसी के मुताबिक पानी के इंटेक को बढ़ाने की भी जरूरत पड़ती है। डॉक्टर की सलाह लेकर आपको सही मात्रा में पानी लेना चाहिए, जिससे आपके शरीर में एनर्जी बनी रहे और आपके शरीर में बन रहे टॉक्सिंस को आसानी से बाहर निकाला जा सके।

और पढ़ें: गर्भवती होने के लिए फर्टिलिटी ड्रग के फायदे और नुकसान

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेने की सलाह इसलिए भी दी जाती है, क्योंकि आमतौर पर गर्भावस्था में डिहायड्रेशन होने की संभावना होती है। डिहायड्रेशन की समस्या से महिला और उसके होने वाले बच्चे को कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। इसलिए आपको डिहायड्रेशन से जुड़े लक्षणों पर ध्यान देना चाहिए। आइए जानते हैं वह कौन से लक्षण हैं, जो डिहायड्रेशन की समस्या में आपको दिखाई दे सकते हैं।

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड नहीं लेने पर आपको दिखाई दे सकते हैं डिहायड्रेशन के ये लक्षण (Dehydration in first trimester)

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) देने की सलाह दी जाती है, क्योंकि गर्भवती महिला में डिहायड्रेशन की समस्या कई तरह की कॉम्प्लिकेशन खड़ी कर सकती है। जब आपके शरीर को जरूरत के मुताबिक लिक्विड नहीं मिलता, तो शरीर में इस तरह के लक्षण दिखाई दे सकते हैं –

  • अधिक प्यास या ज्यादा भूख लगना
  • यूरिन के रंग में बदलाव होना
  • कमजोरी और सिर दर्द होना
  • ब्रेन फ़ॉग होना
  • स्किन का ड्राय होना

और पढ़ें : हो चुकी हैं कई बार प्रेग्नेंट तो जानिए क्या है मल्टिपैरा रिस्क

इन सभी लक्षणों को ध्यान में रखते हुए आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डिहायड्रेशन की स्थिति गर्भावस्था में आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकती है, इसलिए आपको फर्स्ट ट्रायमेस्टर में अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेना चाहिए। आइए अब जानते हैं उन टिप्स के बारे में, जो आपको फर्स्ट ट्रायमेस्टर में अधिक लिक्विड लेने में मदद कर सकते हैं।

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में लिक्विड लेते समय रखें इन बातों का ध्यान

जैसा कि हमने जाना फर्स्ट ट्रायमेस्टर में अधिक लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेना आपके लिए फ़ायदेमंद है, जिससे आपके शरीर का कार्य आसानी से हो और आप के गर्भ में पल रहे शिशु को किसी तरह का नुकसान ना हो। हालांकि गर्भावस्था में कुछ महिलाओं को ज्यादा खीने या ज्यादा पानी पीने में मुश्किल हो सकती है। शरीर में हो रहे बदलाव के कारण ज्यादा पानी पीने में उन्हें समस्या हो सकती है, इसलिए कुछ टिप्स के जरिए आप फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड लेने की कोशिश कर सकते हैं। फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और अधिक लिक्विड लेने के लिए आप इन टिप्स को फॉलो कर सकती हैं –

  • पानी में फ्लेवर ऐड करें – पानी में नींबू, ककड़ी, पुदीना या बैरी को डालकर इसका स्वाद बेहतर किया जा सकता है
  • हर्बल टी का इस्तेमाल करें – हर्बल टी (Herbal tea) गर्भावस्था में आपके लिए अच्छी मानी जाती है, इसलिए आप दिन में हर्बल टी के तौर पर लिक्विड ले सकती हैं
  • स्मूदी का प्रयोग करें – स्मूदी में अलग-अलग तरह के फल और हर्ब्स (Fruits and Herbs) डालकर आप बेहतर तरीके से लिक्विड इनटेक (Liquid intake) बढ़ा सकती हैं
  • पानी की बोतल को हमेशा हाथ में रखें – यदि आप पानी पीना भूल जाती हैं, तो पानी की बोतल को हाथ में रखकर आप हमेशा कुछ मात्रा में पानी पी सकती हैं सुबह उठकर एक गिलास पानी पिएं, दिन की शुरुआत एक गिलास पानी से करने पर आपकी स्थिति बेहतर हो सकती है

और पढ़ें : क्या मैं फाइब्रॉएड्स के साथ प्रेग्नेंट हो सकती हूं?

फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और लिक्विड (How much water should I drink in first trimester) लेना आपके लिए जरूरी माना जाता है, इसलिए डॉक्टर की सलाह लेकर अपनी डायट को इस तरह तैयार किया जा सकता है, जिसमें लिक्विड इनटेक (Liquid intake) का समावेश हो। साथ ही गर्भावस्था के अलग-अलग चरणों में आपको अलग अलग तरीके से अपने पानी के इनटेक को बढ़ाने की जरूरत पड़ती है। इसलिए डॉक्टर या न्यूट्रीशनिस्ट की सलाह लेकर आपको फर्स्ट ट्रायमेस्टर में पानी और लिक्विड लेने के बारे में बात करनी चाहिए। जिससे आपके शरीर में डिहायड्रेशन की समस्या ना हो।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड