प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज कर रही हैं तो इनको करें अवॉइड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करें या ना करें इस बात को लेकर गर्भवती महिलाएं कंफ्यूज रहती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करना यू तो सही है, लेकिन कुछ ऐसी एक्सरसाइज हैं जिनको करने से गर्भवती महिला और बच्चे को नुकसान हो सकता है।

“मुझे रोज जिम जाना और वर्कआउट करना पसंद है लेकिन, अब मैं प्रेग्नेंट हूं, क्या मुझे अब प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करना पूरी तरह से छोड़ देना चाहिए?” यह सवाल मेरे साथ जिम में वर्कआउट करने वाली एक साथी का फिटनेस ट्रेनर से था। इस पर ट्रेनर ने कहा-“आपको व्यायाम पूरी तरह से छोड़ने की आवश्यकता नहीं है लेकिन, गर्भावस्था के दौरान एक्‍सरसाइज करने से पहले ऐसी भी एक्सरसाइज हैं जिन्‍हें नहीं करना चाहिए।” आइए, जानते हैं प्रेग्नेंसी में कौन-सी एक्सरसाइज गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक हो सकती हैं।

और पढ़ें : योगासन जो महिलाओं की फर्टिलिटी को बढ़ा सकते हैं

प्रेग्नेंसी के दौरान एक्‍सरसाइज करने से बचें (Exercise to avoid in pregnancy)

1. प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज – वजन कम करने वाले व्यायाम (Weight loss exercises)

गर्भधारण के बाद आपको लगभग 25-35 पाउंड वजन बढ़ाने की आवश्यकता होती है। हालांकि, भावनात्मक और शारीरिक रूप से आपके लिए यह कठिन हो सकता है लेकिन, प्रेग्नेंसी के दौरान वजन बढ़ना गर्भ में पल रहे शिशु के स्वस्थ विकास की ओर इशारा करता है। इसलिए इस समय ऐसे कोई भी वर्कआउट न करें जिनसे वजन कम होता हो। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करने में जिम ट्रेनर और डॉक्टर दोनों वजन कम करने वाली एक्सरसाइज को अवॉयड करने की सलाह देते हैं।

2. प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज – कॉन्टैक्ट स्पोर्ट्स  (Contact Sports)

कोई भी खेल जिसको खेलते समय आपका शरीर दूसरे के संपर्क में आता हो, कॉन्टैक्ट स्पोर्ट्स कहे जाते हैं जैसे-बास्केटबॉल, बेसबॉल, फुटबॉल, आइस हॉकी आदि। इन स्पोर्ट्स को खेलने से आपको पेट पर चोट लग सकती हैं इसलिए, गर्भावस्था के दौरान हाई इम्पैक्ट स्पोर्ट्स से दूर रहें। खासतौर पर पहली तिमाही (एक सप्ताह से बारह सप्ताह) के बाद इन खेलों को खेलने से बचें क्योंकि इस समय तक पेट का साइज बढ़ जाता है। इन खेलों को खेलने से प्लेसेंटा के टूटने से लगता भ्रूण को खतरा हो सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज में डॉक्टर हमेशा लो-इंटेंसिटी एक्सरसाइज करने की सलाह देता है जिससे मां के साथ बच्चे को भी कोई नुकसान ना हो।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना सही या गलत?

3. वेटलिफ्टिंग (Weightlifting)

गर्भावस्था के दौरान वेटलिफ्टिंग बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। इससे मस्तिष्क कोशिका और कार्डियोवस्कुलर सिस्टम पर काफी स्ट्रेस पड़ता है, इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान वेटलिफ्टिंग न करें। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करते समय हमेशा ध्यान रखें कि वेट लिफ्टिंग गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है।

4. उछलने वाली एक्सरसाइज (Jumping exercise)

गर्भावस्था के दौरान जोड़ों में ढीलापन आ जाता है जिससे चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है। प्रेग्नेंसी के दौरान हाई इम्पैक्ट एरोबिक्स, रस्सी कूदना और किकबॉक्सिंग भूलकर भी नहीं करनी चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करते समय हमेशा उछलने वाली एक्सरसाइज करने से बचें।

5. प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज – ऐसी गतिविधियां जिसमें गिरने का खतरा हो 

प्रेग्नेंसी में ऐसी गतिविधियां करना इग्नोर करें जिसमें बहुत ज्यादा बैलेंसिंग की जरूरत पड़ती हो जैसे-स्कीइंग और घुड़सवारी। इस तरह की एक्टिविटीज में आपके गिरने का खतरा ज्यादा होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज चुनते समय ये ध्यान रखें कि वह कार्डियो हो या स्ट्रेंथ हो आपको ऐसी कोई गतिविधि नहीं करनी है जिससे आपको गिरने का खतरा हो।

6. सांस को ज्यादा देर तक रोकने वाले व्यायाम

ब्रीदिंग से ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है और यह शिशु के लिए भी अच्छा है लेकिन, कुछ एक्सरसाइज या योगासन ऐसे हैं जिसमें ज्यादा देर तक सांस रोकने की जरूरत पड़ती है जिससे ऑक्सिजन की कमी के कारण ब्लड सर्क्यूलेशन प्रभावित हो सकता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान ऐसे व्यायाम न करने की सलाह दी जाती है। 

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान वाॅटर ब्रेक होने पर क्या करें?

7. हाई इंटेन्सिटी वर्कआउट (High Intensity Workout)

हाई इंटेन्सिटी वर्कआउट की प्रक्रिया के दौरान हार्ट को ब्लड की अधिक जरुरत पड़ती है। प्रेग्नेंसी के दौरान हाई इंटेन्सिटी एक्सरसाइज करने से हृदय गति काफी बढ़ जाती हैं जो कि होने वाली मां और शिशु दोनों के लिए हानिकारक हो सकती है। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज के लिए डॉक्टर हमेशा लो-इंटेंसिटी व्यायाम करने की सलाह देता है।

8. प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज – ज्यादा ऊंचाई पर व्यायाम न करें 

यदि आप प्रेग्नेंट हैं और इस दौरान पहाड़ों पर घूमने जाती हैं तो याद रखें कि 6,000 फीट से नीचे ही रहें वरना आपको जी मिचलाना, उल्टी, थकान, सिर चकराना, सांस लेने में तकलीफ या सिरदर्द की समस्याएं हो सकती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करते समय हमेशा ध्यान रखें कि ज्यादा ऊंचाई पर व्यायाम करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है

9. प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज – पीठ या पेट पर दबाव डालने वाले व्यायाम 

प्रेग्नेंसी में ऐसी कोई एक्सरसाइज नहीं करें जिससे पीठ या पेट पर दबाव पड़ता हो। कुछ मिनटों के लिए पीठ के बल व्यायाम करना तो ठीक है लेकिन, जैसे-जैसे गर्भाशय भारी होने लगता है शिशु तक ब्लड सर्क्यूलेशन पहुंचना बंद हो सकता है। ऐसे योगा पोज, क्रंचेस और अन्य गतिविधियों से बचें जिसमें पीठ के बल एक-दो मिनट से ज्यादा दबाव पड़ता हो। 16 सप्ताह के बाद पीठ के बल व्यायाम करने से कुछ महिलाओं को लो ब्लड प्रेशर और चक्कर की समस्या भी हो सकती है। प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करते समय यह भी ध्यान रखें कि इससे आपके पीठ या पेट पर दबाव ना पड़े।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में होने वाले पीठ-दर्द से मिलेगा आराम, आजमाएं ये आसान टिप्स

इन महिलाओं को नहीं करना चाहिए कोई भी एक्सरसाइज? (Avoid Exercise with these conditions)

हर गर्भवती महिला को प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। कोई भी वर्कआउट क्लास में भाग लेने से पहले एक्सपर्ट को अपनी गर्भावस्था के बारे में जरूर बताएं लेकिन, कुछ स्वास्थ्य स्थितियां ऐसी भी हैं जिनमें व्यायाम करने की सलाह नहीं दी जाती है। जैसे-

  • गर्भाशय ग्रीवा का कमजोर होना
  • गर्भावस्था के दौरान ब्लीडिंग होने पर
  • प्लेसेंटा नीचे होने पर
  • पहले मिसकैरेज हुआ हो 
  • प्री-मैच्योर बर्थ के संकेत होने पर
  • हृदय संबधी कोई भी बीमारी होने पर

प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करने के कई तरीके हैं जो गर्भवती और उसके शिशु के स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं। इससे पहले कि आप जिम ज्वाॅइन करें या कोई नया व्यायाम करने के बारे में सोचें अपने डॉक्टर या फिटनेस एक्सपर्ट से बात कर लें। क्योंकि, यह बात अच्छी तरह समझ लीजिए, कि गर्भावस्था में आपको शारीरिक व मानसिक रूप से पहुंचा कोई भी नुकसान आपके बच्चे की सेहत पर गहरा प्रभाव डाल सकता है। जिसे बच्चे को जन्म से लेकर पूरी जिंदगी तक उठाना पड़ सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ भी करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना बिल्कुल न भूलें, वह आपको सही जानकारी देने में सक्षम होता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

प्रेग्नेंसी में पानी का सेवन गर्भवती महिला और शिशु के लिए कैसे लाभकारी है?

जानिए प्रेग्नेंसी में पानी का सेवन कितना करना चाहिए? गर्भावस्था में पानी का सेवन मां और शिशु के लिए लाभकारी है, कैसे? Dehydration during pregnancy in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Fetal Fibronectin Test: फीटल फाइब्रोनेक्टिन टेस्ट क्या है?

जानिए फीटल फाइब्रोनेक्टिन टेस्ट क्या होता है और इस टेस्ट को करने के क्या जोखिम हैं जानें। Fetal Fibronectin Test क्या होता है, ।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

गर्भावस्था के दौरान हिप पेन से कैसे बचें?

जानिए गर्भावस्था के दौरान हिप पेन क्यों होता है? क्या यह परेशानी आम है?Pregnancy के दौरान Hip pain से बचने के क्या-क्या हैं आसान तरीके?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Quiz : बढ़ते वजन से परेशान हैं क्या आप?

अगर आप बढ़ते वजन से परेशान हैं, तो खेलें क्विज और घटाएं अपना वजन।

के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
क्विज फ़रवरी 11, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

मैटरनिटी लीव क्विज - maternity leave quiz

मैटरनिटी लीव एक्ट के बारे में अगर जानते हैं आप तो खेलें क्विज

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ अगस्त 24, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें
9 मंथ प्रेग्नेंसी डाइट चार्ट

9 मंथ प्रेग्नेंसी डायट चार्ट: इन पौष्टिक आहार से जच्चे-बच्चे को रखें सुरक्षित

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 20, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
Self Defence for Women - महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस

अब कोई छेड़े तो भागकर नहीं, मुंह तोड़ कर आना, जानें सेल्फ डिफेंस के टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ मई 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
तीसरी तिमाही में उल्टी होना-Vomiting in third trimester

क्या तीसरी तिमाही में उल्टी होना नॉर्मल है? जानें कारण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें