home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

क्या आपको भी सेक्स करते समय महसूस होता है योनि का कसाव?

क्या आपको भी सेक्स करते समय महसूस होता है योनि का कसाव?

अक्सर महिलाएं अपनी वजायना को लेकर परेशान रहती हैं कि कहीं वजायना ढीली तो नहीं है। लेकिन कुछ महिलाएं वजायना में ज्यादा टाइटनेस से भी परेशान होती है। ये योनि का कसाव होने का कई कारण हो सकता है। आपको एक बात समझनी होगी कि महिलाओं की योनि समय के साथ बदलती रहती है। चाहे वो फर्स्ट टाइम इंटरकोर्स हो या पहली बार मां बनना हो, हर स्थिति में वजायना का आकार प्रभावित होता है। ऐसे में ज्यादातर महिलाओं की योनि ढीली हो जाती है। लेकिन कुछ महिलाओं में योनि का कसाव बना रहता है, जिससे उन्हें सेक्स के दौरान दर्द भी होता है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि टाइट वजायना होने के क्या कारण हैं? योनि में कसाव या योनि टाइट होने पर क्या करना चाहिए?

और पढ़ें : योग सेक्स : योगासन जो आपकी सेक्स लाइफ को बनायेंगे मजबूत

योनि का कसाव (Vaginismus) क्या है?

योनि का कसाव वजायनिजम्स (Vaginismus) कहलाता हैं। वजायनिजम्स योनि की मांसपेशियों की एक अनैच्छिक ऐंठन है, जो सेक्स करते वक्त रिलैक्स नहीं हो पाती है। ऐसे में जब भी सेक्स होता है तो योनि में दर्द और परेशानी महसूस होती है। हालांकि, वजायनिजम्स के साथ भी महिला का वल्वा और वजायना पूरी तरह से स्वस्थ दिखाई देती है।

शुरुआत में वजायनिजम्स तब पता चलता है, जब लड़की को पीरियड्स होना शुरू होता है। लेकिन, ये सिर्फ उन्हीं लड़कियों में पता चल पाता है, जो टैम्पून का इस्तेमाल करना चाहती हो। क्योंकि, योनि में कुछ भी प्रवेश नहीं कर पाता है, यहां तक ​​कि टैंम्पून भी नहीं। वजायनिजम्स किसी भी महिला के टैबू से भी संबंधित हो सकता है। कुछ महिलाएं जो वजायनिजम्स का अनुभव करती हैं, उन्हें डर होता है कि सेक्स दर्दनाक होता है या वे सेक्स करने में सक्षम नहीं हैं। इसके अलावा जिन लोगों के साथ सेक्सुअल हरासमेंट, रेप या डोमेस्टिक वायलेंस जैसी घटनाएं पहले घट चुकी हो, उनमें भी योनि कस होने जैसी समस्या पाई गई है।

और पढ़ें : सेक्स के फायदे हैं लाजवाब, तो एक बार ध्यान दें जनाब

[mc4wp_form id=”183492″]

योनि कसाव होने का कारण क्या है?

योनि का कसाव और ढीलेपन के लिए कई कारण जिम्मेदार होते हैं :

हॉर्मोनल बदलाव

महिलाओं में यूं तो हॉर्मोनल बदलाव कई बार होते हैं, लेकिन मेनोपॉज के समय होने वाले हॉर्मोनल बदलाव के कारण वजायना के टिश्यू सिकुड़ जाते हैं और सूखे हो जाते हैं। जिसके कारण सेक्स करने के दौरान योनि में कसाव और परेशानी महसूस होती है। ऐसी स्थिति में आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि डॉक्टर से मिलने के बाद वे आपको कुछ दवाएं दे सकते है, जैसे- एस्ट्रोजन क्रीम दे सकते हैं। इसके अलावा वजायनल लूब्रिकेंट्स भी दे सकते हैं। जरूरत पड़ने पर हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरिपी भी महिला को दी जा सकती है।

गर्भनिरोधक गोलियों के कारण

कई बार ऐसा भी पाया गया है कि महिलाओं में बर्थ कंट्रोल में ली जा रही टैबलेट से हॉर्मोन असंतुलित हो जाते हैं। ऐसे में योनि का कसाव और सूखापन महसूस होना आम बात हो सकती है। ऐसे में अगर आपको ये बदलाव महसूस हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें और गर्भनिरोधक गोलियां लेना तुरंत बंद कर दें।

और पढ़ें : ये 7 आरामदायक सेक्स पोजीशन (पुजिशन) जिसे महिलाएं करती हैं पसंद

डिलिवरी के बाद होता है वजायना में बदलाव

अमेरिकन कॉलेज ऑफ ऑब्स्टेट्रिक्स और गायनेकोलॉजिस्ट (ACOG) के अनुसार प्रेग्नेंसी में या डिलिवरी के बाद भी महिलाओं में कई तरह के हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। जिससे योनि में सूखापन महसूस होने लगता है और सेक्स करने में परेशानी होती है। वहीं, ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं में खासकर के योनि की ये समस्या हो जाती है। हालांकि, ऐसा होता नहीं है कि हर महिला में ये समस्या हो। लेकिन फिर भी जिनमें होती है, उन्हें डॉक्टर से मिल कर अपनी समस्या का निदान कराना चाहिए।

वजायनल ड्राईनेस के कारण

कई बार वजायना में नेचुरल लूब्रिकेशन नहीं हो पाने के कारण वजायना ड्राई हो जाती है। कई बार वजायना की ड्राईनेस डिलिवरी, ब्रेस्टफीडिंग और मेनोपॉज के अलावा भी अन्य दवाओं के कारण भी हो सकता है। वहीं, कई बार गलत लूब्रिकेशन भी करने से वजायनल ड्राईनेस हो सकती है। ऐसे में वजायनल ड्राईनेस होने पर सेक्स ऑयल या सेक्स लूब्रिकेंट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपको सेक्स के दौरान होने वाले दर्द में कमी महसूस होगी। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

इंफेक्शन या डिसऑर्डर

कई बार योनि का कसाव होने का कारण योनि में इंफेक्शन भी होता है। सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिजीज या यीस्ट इंफेक्शन या कोई सेक्सुअल डिसऑर्डर के कारण भी योनि का कसाव हो सकता है।

और पढ़ें : वर्जिन सेक्स या वर्जिनिटी खोना क्या है? समझें इससे जुड़ी बातें

जन्मजात अबनॉर्मैलिटी (Congenital abnormality) के कारण

कुछ लड़कियों के वजायना में जन्मजात अबनॉर्मैलिटी पाई जाती है। ऐसे में भविष्य में सेक्स के दौरान उन्हें दर्द का सामना करना पड़ता है। जन्म के समय से ही उनके वजायना में पाए जाने वाला हाइमन मोटा होता है और लचीला बिल्कुल भी नहीं होता है। ऐसे में सेक्स के दौरान इंटरकोर्स करने पर हाइमन पर दबाव पड़ता है, जिससे दर्द होता है। वहीं, ज्यादा जोर लगाने से टिश्यू फट भी सकता है और वजायनल इंजरी का सामना भी करना पड़ सकता है।

इंजरी या ट्रामा होने के कारण

कई बार चोट लगने या ट्रामा होने के कारण कुल्हे के हिस्से पर चोट लग जाती है। ऐसे में जननांगों पर भी इसका प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण से योनि का कसाव महसूस होता है। इसलिए तब तक सेक्स ना करें, जब तक इंजरी पूरी तरह से ठीक ना हो जाए। कई बार रेप या यौन उत्पीड़न के कारण भी योनि का कसाब हो सकता है।

योनि का कसाव (वजायना में कसाव) दूर करने के लिए टिप्स

योनि का कसाव दूर करने के लिए निम्न टिप्स को अपना सकती हैं :

  • वजायना की सही ढंग से सफाई करें।
  • पीरियड्स में सेनेटरी पैड्स को समय-समय पर बदलते रहें। इससे इंफेक्शन की संभावना कम होगी।
  • अगर डिलिवरी के बाद योनि के आस-पास सूजन हो जाता है तो प्रभावित हिस्से को गुनगुने पानी से भी साफ किया जा सकता है, ताकि सूजन और दर्द में राहत मिल सके।
  • वजायना में सेक्स के दौरान होने वाले दर्द से निजात पाने के लिए डॉक्टर की सलाह से बर्फ की सेंकाई भी की जा सकती है।
  • सुबह फ्रेश हो जाने के बाद योनि की सफाई पर खास ध्यान दें।
  • डॉक्टर द्वारा बताए गए लुब्रिकेंट को भी लगा कर वजायनल ड्राईनेस से निजात पा सकते हैं।

इस तरह से आपने जाना कि योनि का कसाव आपको किस तरह से परेशान कर सकता है। ऐसे में अगर आपको कभी भी ये समस्या महसूस हो तो सीधे अपने डॉक्टर से संपर्क करें। अक्सर महिलाएं इसे बिना सोचे समझे टाल देती है। लेकिन ये भविष्य में आपके लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर सकती है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

What Causes Sexual Problems? https://www.nia.nih.gov/health/sexuality-later-life Accessed on 23/6/2020

Vulvovaginal Health https://www.acog.org/patient-resources/faqs/womens-health/vulvovaginal-health Accessed on 23/6/2020

Pain Experienced During Vaginal and Anal Intercourse With Other-Sex Partners: Findings From a Nationally Representative Probability Study in the United States https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25648245/ Accessed on 23/6/2020

Vaginismus https://www.nhs.uk/conditions/vaginismus/ Accessed on 23/6/2020

PELVIC FLOOR MYOFASCIAL TRIGGER POINTS: MANUAL THERAPY FOR INTERSTITIAL CYSTITIS AND THE URGENCY-FREQUENCY SYNDROME https://doi.org/10.1016/S0022-5347(05)65539-5 Accessed on 23/6/2020

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/08/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड