विटामिन और मिनरल से भरपूर पार्सले के 7 हेल्थ बेनिफिट्स 

By Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj

पार्सले (अजमोद) एक विदेशी हर्ब है जिसे अजमोद भी कहते हैं। यह धनिया की पत्तियों जैसा दिखता है। पार्सले (Parsley) का इस्तेमाल मध्य पूर्वी, यूरोपीय और अमरीकी खाने का स्‍वाद बढ़ाने और सजावट के लिए किया जाता है लेकिन, अब यह भारतीय किचन का भी हिस्सा बन चुका है। पार्सले में पौष्टिक तत्व जैसे-विटामिन-सी, ए, के और बी-12 आदि होने के कारण यह हेल्थ के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसके अलावा इसमें फोलेट, कैल्‍शियम, आयरन और फाइबर भी पाए जाते हैं। 

यह भी पढ़ें : Allergy Blood Test : एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

पार्सले (Parsley) के सेहत संबंधित कुछ खास लाभः

1.सांसों को ताजगी दे

बात करते समय मुंह से अजीब सी बदबू आना किसी को पसंद नहीं होता है। अगर आपके मुंह से बदबू आती है तो अपने भोजन में पार्सले को शामिल करें। इसमें पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल गुण मुंह में बदबूदार बैक्टीरिया को जगह बनाने का मौका नहीं देते जिससे आपके मुंह से फ्रेश सांस आती है। आप खाने के बाद, अजमोद की कुछ पत्तियां चबाकर मुंह की बदबू से छुटकारा पा सकते हैं। 

2.कैंसर से लड़ने में फायदेमंद

पार्सले एंटी-कैंसर गुणों से भरपूर है। इसमें मौजूद मिरिस्टिकन (myristicin) नाम का तत्व स्किन कैंसर से बचाता है। पार्सले में पाया जाने वाला एपिजेनिन नाम का तत्व स्तन कैंसर के ट्यूमर का साइज कम करने में मदद करता है।

3.डायबिटीज का खतरा कम करे

मिरिस्टिकन डायबिटीज की रोकथाम के लिए भी फायदेमंद है। यह तत्व शरीर में शुगर के स्तर को कम करके इंसुलिन को नियंत्रित करता है। इसके एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण खून में वसा की मात्रा कम करने में भी फायदेमंद साबित होते हैं।

4.हड्डियों को मजबूत बनाए

शरीर में विटामिन-के की कमी हड्डियों के टूटने का कारण बन सकती है। पार्सले में विटामिन-के की अच्छी मात्रा मौजूद होने के कारण यह शरीर को कैल्शियम प्राप्त करने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें कई विटामिन और मिनरल्स होते हैं जिसके कारण यह हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। 

यह भी पढ़ें : Anorexia : एनोरेक्सिया क्या है? इसके लक्षण और इलाज

5.बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ाए

पार्सले में मौजूद विटामिन-सी, इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाकर शरीर को बीमारियों से निपटने की क्षमता देता है। सभी जानते हैं कि विटामिन-सी आम बीमारियों जैसे-सर्दी-जुखाम और इन्फ्लुएंजा से राहत दिलाने में मदद करता है। अजमोद में मौजूद बीटा कैरोटीन, एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट है जो शरीर से फ्री रेडिकल्स को निकालकर बुढ़ापे के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

6.दिल की सेहत के लिए फायदेमंद

पार्सले में फोलेट होने के कारण यह सेल्स बनाने में मदद करते हैं। इसमें विटामिन-बी होता है जो दिल से जुड़ी बीमारियों से लड़ने में मदद करता है और शरीर में दिल की बीमारी पैदा करने वाले हानिकारक तत्वों से लड़ने में मदद करता है। 

7.गठिया की सूजन और दर्द में राहत 

विटामिन-सी जैसे तत्वों के मौजूद होने के कारण पार्सले, एंटी इंफ्लेमेटरी एजेंट की तरह काम करता है।  इसका नियमित रूप से इस्तेमाल किया जाए तो ऑस्टियोआर्थराइटिस और गठिया की बीमारी में जोड़ों के दर्द और सूजन से राहत पाई जा सकती है। 

इन सब गुणों के अलावा, पार्सले का इस्तेमाल वजन घटाने, शरीर को डीटॉक्स करने, त्वचा का रंग निखारने और बालों की ग्रोथ को बेहतर बनाने में किया जाता है। पार्सले सेहत का खजाना है, इसे अपनी डाइट में शामिल करें और इसके बेहतरीन गुणों का फायदा उठाएं। 

और पढ़ें : Albendazole : एल्बेंडाजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख जुलाई 10, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया नवम्बर 18, 2019

सूत्र