कंडोम का उपयोग कैसे करें? जानिए इसके सुरक्षित टिप्स

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

”कंडोम और सेक्स, दोनों एक-दूसरे के बिना अधूरे हैं” यह कहना अब गलत नहीं माना जा सकता है। दरअसल, कंडोम का जिक्र होते ही सेक्स का ख्याल आता है और सेक्स की बात करते हैं, तो कंडोम का उपयोग कैसे करें यह जानना बहुत जरूरी होता है।

सेक्स के दौरान कंडोम का उपयोग कैसे करें, इसका ध्यान रखना इसलिए भी बहुत जरूरी है कि यह अनचाहे गर्भ से सुरक्षित रखता है। साथ ही, कंडोम का उपयोग करने से यौन जनित रोगों से भी सुरक्षित रहा जा सकता है। हालांकि, सेक्स के दौरान कंडोम का उपयोग पूरी तरह से तभी सुरक्षित हो सकता है, जब कंडोम का सही इस्तेमाल किया जाए। अगर कंडोम के इस्तेमाल में जरा भी चूक की जाए, तो यह कई समस्याओं का कारण भी बन सकता है।

और पढ़ेंः कैसे करें सेक्स की पहल : फर्स्ट टाइम इंटिमेसी टिप्स

कंडोम क्या है?

  • कंडोम रबड़ का बना हुआ एक खोल (कवर) होता है। जिसका इस्तेमाल पुरुष लिंग को ढकने के लिए करते हैं। इससे सेक्स के दौरान पुरुष अपने शुक्राणुओं को महिला के गर्भाशय में प्रवेश करने से रोक सकते हैं।
  • इसी तरह, महिलाओं के लिए भी कंडोम बने हुए हैं, जिसे योनि के अंदर फिट किया जा सकता है।
  • पुरुष कंडोम का उपयोग एक तनावयुक्‍त लिंग पर ही कर सकते हैं।
  • अधिकतर कंडोम लेटेक्‍स के बने होते हैं।
  • अगर कंडोम का उपयोग ठीक प्रकार से किया जाए, तो यह गर्भधारण के जोखिम को 85 फीसदी से 98 फीसदी तक रोक सकता है।
  • एक कंडोम का इस्तेमाल सिर्फ एक बार के लिए ही किया जा सकता है। एक ही इस्तेमाल के बाद यूज किए गए कंडोम का उचित तरीके से निपटारा करना चाहिए।
  • जिन लोगों को लेटेक्‍स से एलर्जी है, वे पॉ‍लीयुरथेन से बने कंडोम का उपयोग कर सकते हैं।

और पढ़ेंः ऑफिस रिलेशन टिप्स : ऑफिस में सहकर्मी के साथ कैसा रिलेशन रखें?

जानिए कंडोम का उपयोग कैसे करें?

  • हमेशा अच्छी क्वालिटी और भरोसेमंद ब्रांड का ही कंडोम खरीदें।
  • कंडोम खरीदने से पहले उसके एक्सपायर होने की तारीख जांचें।
  • कंडोम का पैक खोलने से पहले उसके लेबल पर लिखे गए निर्देशों को सावधानी से पढ़ें। कंडोम का इस्तेमाल कैसे करना है, इसकी पूरी सटीक जानकारी पैक के लेबल पर दिया गया होता है।
  • कंडोम का पैक बहुत ही सावधानी से खोलें।
  • पैक को हमेशा किनारों से खोलें।
  • पैक खोलने के लिए दांतों का इस्तेमाल न करें।
  • कंडोम का इस्तेमाल करने से पहले कंडोम के अगले और पिछले हिस्से की जांचें।
  • ऊपरी हिस्सा चिकनाई युक्त होगा, जबकि अंदर की तरफ रहने वाला हिस्सा सूखा होगा।
  • कंडोम का पैक तभी खोलें जब लिंग में इरेक्शन हो।
  • अगर आपने कंडोम को उल्टी तरफ से पहन लिया है, तो उसे दोबारा निकाल कर न पहनें। इससे गर्भधारण का जोखिम बढ़ सकता है क्योंकि, सेक्स के दौरान पुरुषों के लिंग से लगातार एक लिक्विड जिसे प्री-इजेक्यूलेशन (प्री-कम) कहा जाता है, निकलता रहता है, यह यौन संचारित बीमारियों (STDs) के जोखिम को भी बढ़ा सकता है।
  • कंडोम पहनते समय कंडोम की निकली हुई टिप को दबा कर रखें, ताकि इससे कंडोम के अंदर हवा न जाए।
  • कंडोम पहनने के दौरान टिप को दबा कर उसे इरेक्ट पेनिस पर लगाएं। फिर कंडोम रिंग को ऊपर की तरफ घुमाएं। इससे कंडोम खुलता जाएगा और लिंग में फिट हो जाएगा।
  • स्‍खलन के बाद और पुरुष लिंग के मुलायम होने से पहले ही कंडोम के रिम को पकड़ें और इसे सावधानीपूर्वक निकाल लें। कंडोम को लिंग से हटाते समय रिम पकड़ कर ही रखें, नहीं तो पुरुष साथी का वीर्य बाहर निकल सकता है।
  • एक बार इस्तेमाल किए गए कंडोम का उपयोग दोबारा न करें। इस्तेमाल किए जाने के बाद इसका सही तरीके से निपाटा करें। इसे पालतू जानवर या बच्चों की पहुंच से भी दूर रखें।
  • शारीरिक संबंध बनाने के दौरान अगर कंडोम फट जाता है या फिसल जाता है, तो पुरुष साथी को तुरंत संभोग की क्रिया रोक देनी चाहिए। इसके बाद वो एक नए कंडोम का उपयोग कर सकते हैं या गर्भ रोकने के दूसरे तरीकों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अगर फटे हुए कंडोम से पुरुष साथी का वीर्य महिला के योनि में प्रेवश कर जाता है, तो अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए महिला डॉक्टर की सलाह पर गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन कर सकती हैं। हालांकि, गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बहुत ही कम करना चाहिए।

और पढ़ेंः सेक्स करने से महिलाओं को मिलते हैं ये 9 स्वास्थ्य लाभ

कंडोम का उपयोग करने के क्या फायदे हैं?

  • गर्भावस्था के जोखिम को रोकने और यौन संचारित रोगों के जोखिम को कम करने के लिए कंडोम का उपयोग करना सबसे बेस्ट होता है।
  • कंडोम का उपयोग करना बहुत ही आसान होता है।
  • कंडोम का उपयोग करने के कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते हैं।
  • कंडोम का उपयोग पुरुष और महिला दोनों ही कर सकते हैं।

कब-कब करना चाहिए कंडोम का उपयोग?

  1. वजायनल सेक्स के अलावा, अगर ओरल सेक्स, एनल सेक्स या मुख गुदा सेक्स करते हैं,  तब भी कंडोम का इस्तेमाल करें क्योंकि, ओरल सेक्स से यौन संचारित बीमारियों का खतरा सबसे ज्यादा बना रहता है।
  2. दोनों साथी जब भी एक-दूसरे के साथ हस्तमैथुन की क्रिया करें, तो उस समय भी कंडोम का इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे निजी अंगों से निकलने वाला तरल पदार्थ हाथ पर नहीं लगने पाएगा।
  3. इसके अलावा, अगर सेक्स टॉय का इस्तेमाल कर रहें है, तो उस पर कंडोम लगाना चाहिए। कुछ सेक्स टॉयज को बनाने में ऐसे प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जाता है, जो सेहत के लिए कई तरह के जोखिम का कारण बन सकते हैं। इसलिए, सेक्स टॉय के बैक्टीरिया से बचने के लिए उन पर कंडोम का इस्तेमाल करें।

कंडोम का उपयोग करते समय किन बातों का रखें ख्याल?

  • अगर कंडोम पहनते या पैक खोलते समय फट जाए, तो उस कंडोम का इस्तेमाल न करें।
  • सेक्स की क्रिया पूरी होने के तुरंत बाद कंडोम लिंग से बाहर निकाल देना चाहिए।
  • कभी भी बिना तनाव वाले लिंग पर इसका इस्तेमाल न करें।
  • एक बार इस्तेमाल किए गए इसका इस्तेमाल दोबारा न करें।
  • एक बार में सिर्फ एक ही इसका इस्तेमाल करें।

और पढ़ेंः स्टैंडिंग सेक्स एंजॉय करना चाहते हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

क्या कंडोम का उपयोग करने के नुकसान भी हो सकते हैं?

कंडोम का उपयोग करने के कुछ संभावित नुकसान भी हैं, जिनमें शामिल हैंः

  • सेक्स करते समय हर बार कंडोम का उपयोग सही तरीके से करना चाहिए। गलत तरीके के कंडोम का इस्तेमाल करना प्रेग्नेंसी की संभावना को बढ़ा सकता है और यौन संचारित रोगों का भी खतरा बढ़ सकता है।
  • कंडोम का उपयोग बार-बार या अधिक करने से पुरुष और महिला दोनों को ही निजी अंगों में खुजली, जलन और लालिमा की समस्या हो सकती है।
  • कंडोम का उपयोग बहुत ही सावधानीपूर्वक करना चाहिए। क्योंकि यह बहुत ही नाजुक रबड़ से बना होता है, जो उंगलियों के नाखूनों, अंगूठी और नुकीली चीजों से बहुत जल्दी ही कट या फट सकता है।

अगर कंडोम का इस्तेमाल करने के दौरान या बाद में लिंग में किसी तरह की जलन या खुजली महसूस हो, तो सेक्स तुरंत रोक दें। पेनिस के कंडोम बाहर निकालें और साफ पानी से पेनिस को साफ करें। अगर इसके बाद भी समस्या बनी रहती है, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पेरीनियल पेन के लिए फ्रोजन कंडोम के साथ अपनाएं ये उपाय

पेरीनियल पेन को कम करने की जानकारी in hindi. पेरीनियल पेन को कम करने के लिए आइस पैक का यूज डायरेक्ट न करें। फ्रीजन कंडोम का यूज भी किया जा सकता है। Perineal-pain

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Bhawana Awasthi
डिलिवरी केयर, प्रेग्नेंसी दिसम्बर 24, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

अब वो कॉन्डम के लिए खुद कहेंगे हां, जरा उन्हें भी ये आर्टिकल पढ़ाइए

क्या आप फीमेल कॉन्डम के फायदे जानते हैं? क्या आपको पता है कि फीमेल कॉन्डम पुरुषों के कॉन्डम से ज्यादा बेहतर है? इस आर्टिकल में जानें फीमेल कॉन्ड से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य और बनें जागरुक।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Hema Dhoulakhandi
सेक्शुअल हेल्थ और रिलेशनशिप, स्वस्थ जीवन दिसम्बर 11, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

कॉन्डम के प्रकार हैं इतने सारे, कॉन्डम कैसे चुनें क्या जानते हैं आप?

कॉन्डम के प्रकार यहां जानें, कॉन्डम के चुनाव से लेकर इस्तेमाल और नए तरह के कॉन्डम्स सटीक जानकारी के लिए पढ़ें ये आर्टिकल। यहां आप जानेंगगे कि आप अपना मनपसंद (condom) कंडोम कैसे चुनें और आप सेक्स लाइफ से जुड़ी मजेदार बातें भी जानेंगे।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Shikha Patel
सेक्शुअल हेल्थ और रिलेशनशिप, स्वस्थ जीवन दिसम्बर 3, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या है डॉटेड कोंडम के फायदे?

जानिए डॉटेड कोंडम से जुड़ी जानकारी, Benefits of dotted condoms in Hindi, डॉटेड कोंडम या अन्य कोंडम इस्तेमाल के पहले किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Hema Dhoulakhandi