क्या आप भी नींद भगाने के लिए पीते हैं कॉफी? क्या हैं कॉफी के लाभ और नुकसान?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

इम्तेहान की रातों में, लंबे ऑफिस वर्किंग हॉर्स में, बहुत अधिक ठंड में या फिर किसी रोमेंटिक डेट पर अक्सर हमने कॉफी को अपना दोस्त बनाया है। आम धारणा है कि कॉफी पीने से नींद नहीं आती लेकिन, हाल ही में फ्लोरिडा अटलांटिक यूनिवर्सिटी (Florida Atlantic University) और हार्वर्ड मेडिकल स्कूल (Harvard Medical School) में हुए शोध में पता चला है कि कॉफी पीने से नींद पर फर्क नहीं पड़ता है।

Advantages and disadvantages of coffee drinking - कॉफी सेवन से लाभ एवं नुकसान

 कैसे पता चला कि नींद नहीं भगाती है कॉफी ?

डॉक्टर्स ने 785 लोगों को 5,164 दिनों के लिए निरीक्षण में रखा और कैफीन, एल्कोहॉल के साथ निकोटिन की प्रतिदिन मात्रा को रिकॉर्ड किया। इसके साथ ही कॉफी पीने के पहले सोने और जागने का समय और कॉफी पीने के बाद जागने और सोने के समय का भी रिकॉर्ड रखा गया।

 सारे रिकॉर्ड का विश्लेषण करने पर ये पाया गया है कि एल्कोहॉल और निकोटिन ने नींद पर गहरा प्रभाव डाला जबकि कैफीन की वजह से कोई खास असर नहीं पड़ा। 

डॉक्टर क्रिस्टीन स्पाडोला, फ्लोरिडा अटलांटिक यूनिवेर्सिटी ने जर्नल स्लीप में बताया है कि,” सर्वे के अनुसार एल्कोहॉल और निकोटिन लेने पर रात को सोने में  लगातार परेशानी देखी गई , जबकि कैफीन लेने पर लोग चार घंटे तक लगातार सोए और उन्हें स्लीप डिस्टर्बेंस नहीं हुआ।”

सबसे अधिक प्रभाव निकोटिन लेने पर देखा गया जिससे नींद आने में लगभग 42.47 मिनट देर हुई। साथ ही यूरोपियन जर्नल ऑफ एपिडेमोलॉजी (European Journal of Epidemology) की रिपोर्ट के अनुसार रोजाना दो कप कॉफी पीने से आपके संभावित जीवन काल में दो वर्षों की वृद्धि भी हो सकती है। 

स्लीप एक्सपर्ट डॉक्टर नील स्टैनली ने कहा है कि, “ सोने से पहले कॉफी पीने से नींद गायब हो जाएगी ये महज एक मिथक है। वे कहते हैं कि अगर कोई कैफीन के लिए संवेदनशील है तो किसी भी स्त्रोत जैसे कि कोल्ड ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक पीने से भी उसे नींद नहीं आएगी। जरूरी नहीं है कि केवल कॉफी ही ऐसा प्रभाव डाले। हर शरीर कैफीन के लिए अलग तरह से व्यवहार करेगा इसलिए कॉफी की वजह से आपको नींद न आए ये जरूरी नहीं है।”

कॉफी सेवन और नींद से जुड़े मिथक

आज तक हम यही मानते थे कि कॉफी से नींद भागती है। सामने आए रिजल्ट अचंभित करने वाले हैं। शायद आज के बाद नींद भगाने के लिए आप कॉफी नहीं पिएंगे । 

और पढ़ें : वजन कम करने में सहायक डीटॉक्स वॉटर

कॉफी के लाभ और नुकसान

कॉफी के लाभ 1

अल्जाइमर  से पीड़ित लोग बातें भूलने लगते हैं, उनकी सोचने की क्षमता भी कॉफी हद तक खत्म हो जाती है। डॉक्टरों के अनुसार अल्जाइमर  से पीड़ित व्यक्ति अगर नियमित रूप से कॉफी का सेवन करें तो, उनकी परेशानी दूर हो सकती है।

कॉफी के लाभ 2

एनर्जी (ऊर्जा) व स्टेमिना (Energy and Stamina) बढ़ाता है : कॉफी में कैफीन (Caffeine) की मात्रा ज्यादा होती है। ऐसे में इसके सेवन से शरीर में तंत्रिका तंत्र (Nervous system) उत्तेजित होता है और शरीर में वसा (fat) कोशिकाओं को घटाता है। इससे शरीर का स्टेमिना (Stamina) बढ़ता है और थकान कम होती है। इसके अलावा कॉफी (coffee) शरीर में ऊर्जा का भी संचार करती है। कॉफी (coffee) पीने पर उसमें मौजूद कैफीन को खून अवशोषित कर लेता है और आपके मस्तिष्क में पहुंचकर न्यूरोट्रांसमीटर एडेनोसाइन (Neurotransmitter adenosine) को रोकता है, जिससे शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ता है।

कॉफी के लाभ 3

लिवर (liver) होता है मजबूत : शरीर को स्वस्थ रखने के लिए लीवर का सही रहना बहुत जरूरी है। दिन में 2-3 बार कॉफी पीने से कमजोर लीवर स्वस्थ व मजबूत बनता है।

और पढ़ें : Rooibos tea: रूइबोस चाय क्या है?

कॉफी के लाभ और नुकसान में शामिल कुछ जरूरी टिप्स

1) ऑर्गेनिक कॉफी का चयन करें

ऑर्गेनिक फूड प्रोडक्ट  के साथ-साथ ऑर्गेनिक कॉफी का नाम भी आजकल सामने आ चूका है। ऑर्गेनिक कॉफी किसी भी स्टोर में आसानी से मिल सकता है। हालांकि फ्लेवर्ड कॉफी से दूर ही रहें क्योंकि इसके भी स्वाद को बढ़ाने के लिए हानिकारक तत्वों को मिलाया जाता है। इसलिए कॉफी के लाभ हो सकते हैं अगर ऑर्गेनिक कॉफी का चयन किया जाये तब।

2) कॉफी पीने का सही तरीका क्या है

कॉफी के लाभ के लिए इसके पीने का सही तरीका आना चाहिए। वैसे तो आजकल काफी लोग चीनी का सेवन कम कर रहें हैं और इसके पीछे बढ़ता वजन अहम कारण है। हालांकि चीनी को छोड़ना कई लोगों के लिए बहुत मुश्किल होता है। ऐसे में अगर बिना चीनी के कॉफी पीना कई लोग पसंद ही नहीं करते हैं। वैसे आप चाहें तो कॉफी में चीनी की मात्रा को कम करके पी सकते हैं। अगर आप चीनी को पूरी तरह से नहीं छोड़ पा रहे तो इसकी मात्रा कम कर दें और फिर धीरे-धीरे फीकी कॉफी पीएं।

3) शाम के बाद कॉफी न पीएं

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार दोपहर दो से तीन बजे या फिर शाम 5 से 6 बजे के बाद कॉफी का सेवन न करें। अगर आपको पहले से ही नींद से जुड़ी समस्या है या नींद कम आती है तो आपको दो कप से ज्यादा चाय-कॉफी या कैफीन का सेवन नहीं करना चाहिए। स्वस्थ रहने के लिए नींद पूरी जरूर होनी चाहिए। कॉफी के लाभ

4) कॉफी में दालचीनी या कोकोआ डालें

कॉफी में कोकोआ डालने से इसमें एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बढ़ जाएगी लेकिन, इसका फायदा तब होगा जब आपकी कॉफी में चीनी की मात्रा कम होगी। ऐसे में दालचीनी के साथ कॉफी पीने का सही तरीका है की कॉफी में चीनी का इस्तेमाल न करें।  दालचीनी में थर्मोजेनिक और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है और दालचीनी कॉफी के स्वाद को बेहतर बनाता है।

5) कम से कम कॉफी का सेवन करें

चाय, कॉफी या किसी भी अन्य कैफीन युक्त पे पदार्थ का सेवन जितना हो सके कम करें। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार एक दिन में दो कप से ज्यादा कॉफी या किसी भी हर्बल टी का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप कॉफी के लाभ महसूस करना चाहते हैं, तो इसका सेवन कम से कम करें।

6) फिल्टर पानी से बनायें कॉफी

कॉफी बनाने के लिए फिल्टर पानी का इस्तेमाल करें। इससे कॉफी का स्वाद बेहतर होगा और यह हेल्थ के लिए भी अच्छा होगा।

7) बादाम दूध को चुनें

कॉफी बनाने के लिए बादाम के दूध का चयन करें। अगर संभव हो तो काली कॉफी (बिना दूध) का सेवन करें। जिस तरह कई लोग काली चाय पीना पसंद करते हैं ठीक वैसे ही ब्लैक कॉफी का भी सेवन किया जा सकता है। इससे वजन बढ़ने का खतरा कम हो सकता है। इसलिए काली कॉफी के लाभ हो सकते हैं।

अगर आप कॉफी के लाभ और नुकसान से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

लॉकडाउन में आप भी तो नहीं पी रहे ज्यादा चाय और कॉफी, कितने बड़े हैं नुकसान?

लॉकडाउन में लोग चाय और कॉफी का इनटेक अत्यधिक मात्रा में कर रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं चाय और कॉफी की लत आपकी सेहत पर कितना बुरा असर कर रही है।

के द्वारा लिखा गया Mona narang
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

पुरुषों के लिए वेट लॉस डायट टिप्स, जानें एक्सपर्ट्स की सलाह  

आप भी वेट लॉस डायट टिप्स के जरिए आसानी से अपने बढ़ने वजन को कम कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि वेट लॉस डायट टिप्स महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग होते हैं। Men weight loss diet plan.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

वजन घटाने के सबसे बड़े झूठ, जानिए इनका सच

वजन घटाने का दावा करने वाली कुछ एक्सरसाइज कारगर नहीं होती, इसलिए वर्कआउट के बाद भी कुछ का वजन कम नहीं होता। आइए जानते हैं वजन घटाने के कुछ झूठ के बारे में।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
फिटनेस, स्वस्थ जीवन मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

बच्चों को नींद न आना नहीं है मामूली, उनकी अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये टिप्स

बच्चों को नींद न आना कई पेरेंट्स की सबसे बड़ी समस्या बन गई है। छोटे बच्चे दिन भर खेलने-कूदने के बाद रात में गहरी नींद में सोते हैं। लेकिन कई बार बच्चों को नींद न आना कई कारणों की वजह से हो सकता है। जिनके लक्षण और कारण की पहचान करके उनका उपचार करना जरूरी होता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
स्लीप, स्वस्थ जीवन मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

वर्कआउट के बाद डायट

वर्कआउट के बाद मांसपेशियों के दर्द से राहत दिला सकते हैं ये फूड, डायट में कर लें शामिल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ सितम्बर 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पेडिक्लोरील

Pedicloryl : पेडिक्लोरील क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ जून 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
iced tea

National Iced Tea Day: आइस टी बनाने का आसान तरीके जानते हैं आप, जानें इसके फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ मई 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हेल्दी कॉफी और इम्यूनिटी की रेसिपी

कॉफी से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाएं? जाने कॉफी बनाने की रेसिपी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रकाशित हुआ मई 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें