Eyelid Surgery : आइलिड सर्जरी या ब्लेफेरोप्लास्टी क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जनवरी 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

आइलिड सर्जरी क्या है?

आइलिड सर्जरी आंखों से संबंधित सर्जरी है। इसे ब्लेफेरोप्लास्टी (Blepharoplasty) भी कहते हैं। वक्त के साथ आंखों की पलकें झुकने लगती है। इसका कारण यह भी है कि हमारे आइलिड पर चर्बी जमा हो जाती है। जिससे आंखों के नीचे और ऊपर का हिस्सा फूल जाता है। जिस कारण आंखे झुकी रहती हैं, इसे ड्रूपी आई (Droopy Eye) कहते हैं। जिसे सर्जरी से ठीक किया जाता हैं। आइलिड सर्जरी का मुख्य उद्देश्य दृष्टि संबंधित समस्याओं को दूर करना और आंखों का आकार ठीक करना है। 

आइलिड सर्जरी की जरूरत कब होती है?

आइलिड सर्जरी की जरूरत तब होती है जब पलकों में चर्बी जमा होने के कारण वह लटक जाती हैं। पलकें आधी आंखों को ढक लेती हैं। तब पलकों पर बढ़े हुए टिश्यू को हटा कर आंखों के देखने के कोण को ठीक किया जाता है। ब्लेफेरोप्लास्टी तब एक अच्छा विकल्प होता है जब :

यह भी पढ़ें: आईबॉल में कराया टैटू, चली गई ‘ड्रैगन वुमेन’ की आंखों की रोशनी

जोखिम

आइलिड सर्जरी करवाने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

आइलिड सर्जरी के लिए आपका स्वास्थ्य बेहतर होना बहुत जरूरी है। साथ ही निम्न बातें भी इस सर्जरी को कराने वाले व्यक्ति के लिए जरूरी है :

कुछ लोग ब्लेफेरोप्लास्टी नहीं करा सकते है, ऐसे लोगों की हेल्थ कंडिशन में कई तरह की समस्या होती है। जैसे- आंखों के नीचे त्वचा बढ़ जाती है और लटक जाती है। वहीं, पलकें इतनी भारी हो जाती है कि आंखें लगभग बंद सी ही लगती हैं। ऐसे में डॉक्टर को ब्लेफेरोप्लास्टी करने से पहले आइब्रो यानी कि भौंहों को उठाना पड़ता है फिर आइलिड सर्जरी होती है। ये एक कष्टदायक प्रक्रिया होती है। वहीं, आइलिड सर्जरी वे लोग भी नहीं करा सकते हैं जिन्हें ज्यादा ब्लीडिंग होती हो या घाव को भरने में समय लगता है। साथ ही जेरॉफ्थैल्मिया या ड्राई आइ कि समस्या होती है। 

आइलिड सर्जरी के क्या साइड इफेक्ट्स और समस्याएं हो सकती हैं?

यूं तो सर्जरी के साइड इफेक्ट्स काफी ज्यादा नहीं हैं, लेकिन फिर भी उसके बाद कुछ समय के लिए थोड़ी समस्याएं होती हैं :

  • आंखों से पानी बहना
  • ल्यूब्रिकेटिंग मलहम के कारण धुंधला दिखाई देना
  • रोशनी से सेंस्टिविटी होना
  • दोहरा दिखाई देना
  • फूली और सुन्न पलकें
  • सूजन या घाव के निशान के साथ आंखों का काला होना
  • दर्द होना

आइलिड सर्जरी में होने वाले रिस्क हैं :

  • संक्रमण और ब्लीडिंग
  • सूखी आंखें या आंखों में दिक्कत होना
  • आंखों पर पपड़ी पड़ना
  • आंखों की मांसपेशियों का चोटिल होना
  • त्वचा की रंगत का बदलना
  • आंखों की रोशनी का धुंधला होना या दृष्टि का चले जाना
  • खून का जम जाना

जरूरी नहीं कि ये समस्याएं सभी में हो। लेकिन, फिर भी जानना जरूरी है कि आइलिड सर्जरी से क्या-क्या समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए सर्जरी कराने से पहले अपने डॉक्टर से सभी तरह के जोखिमों के बारे में बात कर लें।  

प्रक्रिया

आइलिड सर्जरी के लिए मुझे खुद को कैसे तैयार करना चाहिए?

आइलिड सर्जरी कराने के बाद आप अपने अकेले घर नहीं जा सकते हैं. इसलिए सर्जरी से पहले अपने परिजनों से बात कर लें। साथ ही उन्हें ये भी बताएं कि सर्जरी के एक दो दिन बाद तक हॉस्पिटल में ही रुकना होगा। सर्जरी कराने के बाद आंखों को ठीक होने में कुछ दिनों का समय लगता है। इसलिए सर्जरी कराने के दो हफ्ते बाद तक आप अपने डॉक्टर के संपर्क में बने रहें। 

घर जाने के बाद आपके पास कुछ चीजें जरूर होनी चाहिए :

  • आइस क्यूब्स
  • आइस पैक
  • गॉज पैड्स
  • साफ कपड़े और तैलिया

वहीं, खून पतले करने की दवाएं और पेनकीलर न लें। जो पेनकीलर डॉक्टर आपको दे वही खाएं। साथ ही खून पतले करनी दवाएं इसलिए बंद की जाती है कि ब्लीडिंग का रिस्क न हो। 

आइलिड सर्जरी में होने वाली प्रक्रिया क्या है?

आइलिड सर्जरी का वक्त उसके प्रक्रिया पर निर्भर करता है कि पलकों की मांसपेशियों को किस हद तक ठीक करना है। आइलिड सर्जरी में सबसे पहले आपकी आंखों को सुन्न किया जाता है। अगर आंखों के नीचे और ऊपर दोनों हिस्सों में सर्जरी करनी हो तो पहले सर्जन पलकों से सर्जरी शुरू करते हैं। जिसमें आंखों के फोल्ड पर चीरा लगा तक बढ़ी हुई त्वचा को सर्जन निकाल देते हैं। इसके बाद टांका लगा देते हैं।

वहीं, अगर सिर्फ आंखों के नीचे के हिस्से की सर्जरी करनी हो तो सर्जन निचली पलक के ठीक नीचे चीरा लगाते हैं। फिर वहां पर जमा चर्बी को निकाल देते हैं। इसके बाद टांका लगा देते हैं।

अगर आंखों की ऊपरी पलक की सर्जरी करनी होती है तो वह पलकों के साथ टोसिस सर्जरी (Ptosis Surgery) करते हैं। ताकि भौंहों की मांसपेशियों (Eyebrow Muscles) को ज्यादा सपोर्ट मिल सके। इसके बाद पलकें ऊपर उठ जाने से आंखों के झुकने की समस्या खत्म हो जाती है।

आइलिड सर्जरी के बाद क्या होता है?

सर्जरी के बाद आपको रिकवरी रूम में रुकना पड़ता है। ताकि, किसी तरह की समस्या होने पर डॉक्टर आपकी देखभाल कर सके। एक दिन के बाद आप घर जा सकते हैं। इसके अलावा अगर आपको किसी भी तरह की समस्या आती है तो अपने सर्जन और डॉक्टर से जरूर मिलें और परामर्श लें।

यह भी पढ़ें: कंप्यूटर की वजह से पड़ सकता है आंख पर प्रेशर, आजमाएं ये टिप्स

रिकवरी

आइलिड सर्जरी के बाद मुझे खुद का ख्याल कैसे रखना चाहिए?

आइलिड सर्जरी के बाद रिकवरी के लिए डॉक्टर आपको ल्यूब्रिकेटिंग मलहम देते हैं। साथ ही बर्फ या ठंडे पानी से सेंकाइ करने की सलाह देते हैं। वहीं, आपको ध्यान देना होगा कि आंखों में किसी तरह का संक्रमण न होने पाए।

आइलिड सर्जरी के बाद डॉक्टर आपको निम्न सलाह दे सकते हैं :

  • जिस दिन आपने सर्जरी कराई है उस दिन आप हर घंटे पर बर्फ से सेंकाइ करें। अगले दिन से दिन भर में लगभग पांच बार बर्फ से सेंकाइ करें।
  • आंखों को हल्के से साफ करें और उसमें आइड्रॉप या मलहम लगाएं।
  • एक हफ्ते तक जॉगिंग और एक्सरसाइज न करें।
  • स्मोकिंग न करें
  • आंखों को न रगड़ें
  • अगर आप कॉन्टेक्ट लेंस का इस्तेमाल करते हैं तो सर्जरी के बाद दो हफ्तों तक न करें।
  • काले रंग के पूरी आंखों को ढकने वाले चश्मे पहने ताकि आपकी पलकें धूप और हवा से बच सके।
  • कुछ दिनों तक अपने सिर को सीने से ऊपर उठा कर सोएं।
  • सूजन को कम करने के लिए बर्फ से सेंकाई करें। 

सर्जरी के दो हफ्ते तक ऑफिस या काम पर न जाएं। इस दौरान खून पतला करने की दवाएं और पेनकीलर न लें। जो पेनकीलर डॉक्टर आपको दे वही खाएं। 

वहीं, कुछ समस्याएं होने पर डॉक्टर को तुरंत दिखाएं :

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने सर्जन से जरूर पूछ लें। 

और भी पढ़ें:

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए अपनाएँ ये घरेलू उपाय

बॉडी को फिट रखने के लिए जरूरी है वेट मैनेजमेंट, यहां जानें अपना बीएमआई

आंखों में खुजली/जलन (Eye Irritation) कम करने के घरेलू उपाय

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Auditory Brainstem Implants : ऑडिटरी ब्रेनस्टेम इम्प्लांट क्या है?

    जानें ऑडिटरी ब्रेनस्टेम इम्प्लांट के प्रक्रिया के पहले और बाद में क्या होता है, विस्तार से जानें। ऑडिटरी ब्रेनस्टोम इंप्लांट के क्या रिस्क होते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया shalu
    सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मई 10, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    Achilles Tendon Rupture: अकिलिस टेंडन सर्जरी क्या है?

    The Achilles tendon injures the lower back behind your feet. This is mostly the problem for people who play Recreational Games.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया shalu
    सर्जरी अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Dental Bonding: डेंटल बॉडिंग क्या है?

    डेंटल बॉडिंग कैसे होती है? Dental bonding in hindi डेंटल बॉडिंग के ज्यादा खतरे नहीं होते हैं, लेकिन यह बहुत लंबे समय तक के लिए टिकाउ नहीं होता है।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया shalu
    सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Trapeziectomy: ट्रेपेजेक्टोमी क्या है?

    ट्रेपेजेक्टोमी सर्जरी कैसे की जाती है और ऑपरेशन क्यों जरूरी होता है। सर्जरी की चुनौतियां क्या होती हैं, जानें इसके बारे में।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया shalu
    सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    लेसिक सर्जरी

    ‘लेसिक सर्जरी का प्रभाव केवल कुछ सालों तक रहता है’, क्या आप भी मानते हैं इस मिथ को सच?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    फुट एंड जॉइंट पेन रिलीफ क्विज - foot and joint pain relief

    Quiz : यहां छिपा है फुट एंड जॉइंट पेन से राहत पाने का तरीका

    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ जून 16, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    एंडोस्कोपिक साइनस सर्जरी-Endoscopic Sinus Surgery

    Endoscopic Sinus Surgery: एंडोस्कोपिक साइनस सर्जरी क्या है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    गॉलब्लेडर स्टोन सर्जरी-Gallbladder Stone Surgery

    Gallbladder Stone Surgery : गॉलब्लेडर स्टोन सर्जरी क्या है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें