home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

स्टमक कैंसर लिए इम्यूनोथेरिपी: कैंसर सेल्स को मारने में इम्यून सिस्टम की करती है मदद

स्टमक कैंसर लिए इम्यूनोथेरिपी: कैंसर सेल्स को मारने में इम्यून सिस्टम की करती है मदद

पेट का कैंसर (Stomach cancer) कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि है जो पेट के अंदर होती है। पेट एक मस्कुलर सैक (Muscular sac) होता है जो एब्डोमिन के अपर मिडिल में स्थित होता है। पेट खाने को प्राप्त करता है, उसे संग्रहित करता और इसके बाद इसे तोड़कर पचाता है। पेट के कैंसर (Stomach cancer) को गैस्ट्रिक कैंसर भी कहा जाता है। यह पेट के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकता है। ज्यादातर मामलों में स्टमक कैंसर पेट के मुख्य हिस्से में ही होता है। कैंसर पेट के किस हिस्से में है उसके आधार पर डॉक्टर ट्रीटमेंट देते हैं। ट्रीटमेंट के तौर स्टमक कैंसर को रिमूव करने के लिए सर्जरी की जाती है। हालांकि सर्जरी के पहले भी डॉक्टर कुछ ट्रीटमेंट करते हैं। जिसमें स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer), टार्गेड ड्रग थेरिपी, रेडिएशन थेरिपी आदि का उपयोग किया जाता है।

स्टमक कैंसर के लक्षण (Symptoms of Stomach Cancer)

पेट के कैंसर के लक्षण निम्न हो सकते हैं। अगर आपको नीचे बताए गए लक्षण नजर आते हैं तो डॉक्टर से जरूर मिलें।

  • निगलने में कठिनाई
  • खाना खाने के बाद पेट फूलना
  • थोड़ा खाने के बाद पेट भरने का एहसास
  • सीने में जलन
  • अपच
  • जी मिचलाना
  • पेट में दर्द
  • तेजी से वजन कम होना
  • उल्टी

और पढ़ें: स्टेज 3 सर्वाइकल कैंसर: कैंसर के लक्षणों और इलाज को समझें यहां!

स्टमक कैंसर के कारण (Stomach Cancer causes)

स्टमक कैंसर का कारण क्या है यह स्पष्ट नहीं है। रिसर्च में कई फैक्टर्स इसके रिस्क को बढ़ाने वाले बताए गए हैं। पेट का कैंसर तब शुरू होता है जब पेट की एक कोशिका अपने डीएनए (DNA) में बदलाव करती हैं। किसी एक कोशिका के डीएनए में निर्देश होते हैं जो कोशिका को बताते हैं कि क्या करना है। नए परिवर्तन कोशिका को तेजी से बढ़ने और स्वस्थ कोशिकाओं के मरने पर जीवित रहने के लिए कहते हैं। संचित कोशिकाएं एक ट्यूमर बनाती हैं जो स्वस्थ ऊतक पर आक्रमण और उन्हें नष्ट कर सकती हैं। समय के साथ, कोशिकाएं टूट सकती हैं और शरीर के अन्य क्षेत्रों में फैल सकती हैं।

स्टमक कैंसर का ट्रीटमेंट (Stomach cancer treatment)

स्टमक कैंसर का इलाज (Stomach cancer treatment) कैंसर की लोकेशन, कैंसर की स्टेज और वह कितनी तेजी से फैल रहा है इस पर निर्भर करता है। डॉक्टर मरीज की ओवरऑल हेल्थ और उसकी प्राथमिकता के आधार पर ट्रीटमेंट प्लान तैयार करते हैं। ट्रीटमेंट प्लान में सर्जरी (जिसमें कैंसर और उसके आसपास के कुछ हेल्दी टिशूज को हटा दिया जाता है), कीमोथेरिपी, रेडिएशन थेरिपी, टार्गेटेड ड्रग थेरिपी, इम्यूनोथेरिपी, सपोर्टिव केयर आदि का सहारा लिया जाता है। आइए जानते हैं स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer) कब और कैसे उपयोग की जाती है।

और पढ़ें: ल्यूटेनाइजिंग हॉर्मोन रिलीजिंग हॉर्मोन्स कैसे ब्रेस्ट कैंसर को हराने में करते हैं मदद जानिए

स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer)

इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy) एक ड्रग ट्रीटमेंट है जो इम्यून सिस्टम की कैंसर से लड़ने में मदद करता है। कई बार हमारी बॉडी का इम्यून सिस्टम कैंसर सेल्स पर अटैक नहीं करता है क्योंकि कैंसर सेल्स एक प्रोटीन का निमार्ण करती हैं जिससे इम्यून सिस्टम को यह पहचानने में मुश्किल होती है कि कैंसर सेल्स डेंजरस हो सकती हैं। इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy) इस प्रॉसेस में इंटरफेयर करके काम करती है।

स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer) का उपयोग तब किया जाता है जब कैंसर एडवांस्ड होता है, शरीर के दूसरे हिस्सों में फैल चुका होता है या यह वापस आ जाता है। स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरेपी ऐसी दवाओं का उपयोग है जो किसी व्यक्ति की अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को कैंसर कोशिकाओं को अधिक प्रभावी ढंग से खोजने और नष्ट करने में मदद करती हैं। इसके लिए दो दवाओं का उपयोग किया जाता है जिसमें निवोलुम्ब Nivolumab (Opdivo) और पेम्ब्रोलाइजुमाब Pembrolizumab (Keytruda) शामिल हैं। आइए इनके बारे में विस्तार से जानते हैं।

1.केट्रूडा (Keytruda)

केट्रूडा स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer) में उपयोग होने वाली ड्रग है। इस दवा में पेम्ब्रोलाइजुमाब (Pembrolizumab) एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में पाया जाता है। यह दवा इम्यून सिस्टम की कैंसर सेल्स से लड़ने में मदद करती है। हमारी बॉडी का इम्यून सिस्टम बीमारियों के अंगेस्ट नैचुरली लड़ता है। इम्यून सिस्टम कुछ निश्चित प्रकार की कोशिकाओं की मदद से बॉडी में इंफेक्शन का पता लगाता है और इंफेक्शन और बीमारियों से लड़ता है। कैंसर सेल्स इन कोशिकाओं से छिपने के लिए पीडी1 PD-1 पाथवे का यूज करती हैं। जिससे इम्यून सिस्टम उन पर अटैक नहीं कर पाता और वे कोशिकाएं बढ़ती और फैलती जाती हैं। यह दवा पीडी1 पाथ वे को ब्लॉक कर देती है। जिससे कैंसर सेल्स छुप नहीं पातीं। यह इम्यून सिस्टम की कैंसर सेल्स को सर्च करने और उनसे लड़ने में मदद करती है।

हालांकि केट्रूडा के कारण इम्यून सिस्टम बॉडी के नॉर्मल ऑर्गन और टिशूज पर अटैक कर सकता है और उनके कार्य को प्रभावित कर सकता है। कई बार ये स्थिति मरीज की मौत का कारण भी बन सकती है। यह स्थिति ट्रीटमेंट के बाद या ट्रीटमेंट के दौरान भी बन सकती है। इस दवा का उपयोग स्टमक कैंसर के अलावा दूसरे प्रकार के कैंसर में भी होता है।

और पढ़ें: एक्यूट लिम्फोसाइटिक ल्यूकेमिया के लिए टार्गेटेड थेरिपी: इन ड्रग्स से रोका जाता है कैंसर को फैलने से

स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी ड्रग केट्रूडा के साइड इफेक्ट्स (Side effects of immunotherapy drug)

इस दवा के उपयोग से कफ, सांस लेने में परेशानी, सीने में दर्द, डायरिया, उल्टी, जी मिचलाना, एब्डोमिनल पेन, डार्क कलर यूरिन, सिर में दर्द, तेज धड़कन, वजन का बढ़ना या कम होना, मूड में बदलाव, सेक्स ड्राइव में कमी आदि हो सकते हैं। इस बारे में डॉक्टर पहले ही जानकारी दे देते हैं। यह दवा इंजेक्शन के रूप में उपलब्ध है। सिंगल यूनिट इंजेक्शन की ऑनलाइन कीमत 50 हजार रुपए के लगभग है।

स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer)

2.ओपडिवो Opdivo

आपेडिवो स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer) में उपयोग होने वाली ड्रग है। यह पीडी1 (PD1) प्रोटीन को टार्गेट करती है। यह प्रोटीन कैंसर सेल्स को दूसरी कोशिकाओं पर अटैक करने में मदद करता है। यह दवा पीडी1 को ब्लॉक कर कैंसर सेल्स के प्रति इम्यून रिस्पॉन्स को बूस्ट करने में मदद करती है। यह कुछ ट्यूमर को सिकोड़ने और उसकी ग्रोथ को कम करने में भी मदद करती है। इसमें एक्टिव इंग्रीडिएंट के तौर पर निवोलुम्ब (Nivolumab) पाया जाता है। स्टमक कैंसर के अलावा दूसरे कई कैंसर के इलाज में भी इस दवा का उपयोग किया जाता है। गैस्ट्रिक कैंसर के इलाज में भी इस दवा का उपयोग किया जाता है।

स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी ड्रग आपेडिवो के साइड इफेक्ट्स (Side effects of immunotherapy drug)

इस दवा के उपयोग से त्वचा का सुन्न होना, हाथ और पैर में जलन होना, जी मिचलाना, थकान, डायरिया, उल्टी, भूख ना लगना, एब्डोमिनल पेन, कब्ज, हड्डियों और जोड़ों में दर्द, सांस लेने में परेशानी, थकान, खुजली, कमजोरी, कफ, फीवर, सिर में दर्द जैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। यह दवा इंजेक्शन के रूप में उपलब्ध है।
इसके 100 एमजी के इंजेक्शन की ऑनलाइन कीमत 58 हजार रुपए है।

और पढ़ें: पैंक्रियाटिक कैंसर में इम्यूनोथेरिपी के दौरान किया जाता है इन दवाओं का इस्तेमाल!

नोट: ऊपर बताई गई किसी भी दवा का उपयोग डॉक्टर की सलाह के बिना ना करें। हमारा उद्देश्य इन ब्रांड्स का प्रचार करना नहीं ब्लकि अपने पाठकों को जानकारी देना है। अत: यहां उपलब्ध जानकारी को चिकित्सा का विकल्प ना मानें। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि जहां से आप दवा खरीदते हैं उसके अनुसार दवा की कीमतों भी अंतर हो सकता है।

उम्मीद करते हैं कि आपको स्टमक कैंसर के लिए इम्यूनोथेरिपी (Immunotherapy for stomach cancer) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Stomach Cancer: Types of Treatment/https://www.cancer.net/cancer-types/stomach-cancer/types-treatment/ Accessed on 15th June 2021

Immunotherapy for Stomach Cancer/https://www.cancer.org/cancer/stomach-cancer/treating/immunotherapy.html/Accessed on 15th June 2021

Stomach Cancer/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/stomach-cancer/diagnosis-treatment/drc-20352443/Accessed on 15th June 2021

Immunotherapy for Stomach Cancer/https://www.cancerresearch.org/immunotherapy/cancer-types/stomach-cancer/Accessed on 15th June 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड