home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स से जुड़ी जानकारी है यहां!

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स से जुड़ी जानकारी है यहां!

डायबिटीज से पीड़ित तकरीबन 25 प्रतिशत लोग डायबिटिक नेफरोपैथी के शिकार होते हैं। डायबिटिक नेफरोपैथी एक गंभीर समस्या है, जो किडनी एवं डायबिटीज टाइप 1 (Type 1 diabetes) डायबिटीज टाइप 2 (Type 2 diabetes) से जुड़ी समस्याओं को बढ़ा सकते हैं। ऐसी स्थिति को कंट्रोल करने के लिए एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स लेने की सलाह दी जाती है। आज इस आर्टिकल में डायबिटिक नेफरोपैथी एवं डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) से जुड़ी जानकारी आपसे शेयर करेंगे।

और पढ़ें : टाइप 1 डायबिटीज में एंटीडिप्रेसेंट का यूज करने से हो सकता है हायपोग्लाइसिमिया, और भी हैं खतरे

डायबिटिक नेफरोपैथी (Diabetic nephropathy) क्या है?

डायबिटिक नेप्रोपेथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy)

डायबिटीज की वजह से जब ब्लड वेसल्स डेमेज होने लगते हैं, तो ऐसी स्थिति में किडनी की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डायबिटिक नेफरोपैथी (Diabetic nephropathy) की समस्या से बचने के लिए ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस रखने के साथ-साथ हाय ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल रखना चाहिए। हालांकि जरूरत पड़ने पर हेल्थ एक्सपर्ट डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। डायबिटिक नेफरोपैथी के इलाज के लिए एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी आपसे आगे शेयर करेंगे।

और पढ़ें : वैलव्युलर हार्ट डिजीज: दिल से जुड़ी इस बीमारी की पूरी जानकारी जानें यहां!

एसीई इनहिबिटर्स (ACE inhibitors) ड्रग्स क्या हैं?

डायबिटिक नेप्रोपेथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy)

एसीई (एंजियोटेंसिन कंवर्टिंग एंजाइम) इनहिबिटर्स ड्रग्स निम्नलिखित शारीरिक परेशानियों में दी जाती है। जैसे:

  • डायबिटीज (Diabetes) से जुड़ी तकलीफ होना।
  • हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) की समस्या पुरानी या गंभीर होना।
  • हार्ट फेल (Heart failure) एवं वेंट्रिकुलर डिसफंक्शन (Ventricular Dysfunction) के इलाज में।
  • स्ट्रोक (Stroke) के खतरे को कम करने के लिए।
  • किडनी (Kidney) से जुड़ी बीमारियों के इलाज में।
  • हार्ट अटैक (Heart attack) की स्थिति से बचाने में।

और पढ़ें : डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन से जुड़ी जानकरी!

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy)

डायबिटिक नेप्रोपेथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy)

नोट: डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) में शामिल दवाओं की जानकारी नीचे शेयर की जा रहीं हैं, लेकिन इन दवाओं के सेवन की सलाह हैलो स्वास्थ्य आपको नहीं देता है। आप इन दवाओं का सेवन डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद ही करें।

1. बेनाजेप्रिल (Benazepril)

डायबिटीज, हाय ब्लड प्रेशर या हायपरटेंशन, हार्ट अटैक, स्ट्रोक या किडनी से जुड़ी बीमारियों के इलाज में डॉक्टर्स द्वारा बेनाजेप्रिल (Benazepril) के सेवन की सलाह दी जाती है। बेनाजेप्रिल (Benazepril) एसिओन (Aceon) या बेनेस (Benace) के सेवन से ब्लड वेसेल्स को रिलैक्स (Blood vessels) करने में मदद मिलती है और दिल के साथ-साथ शरीर के अन्य हिस्सों में भी ब्लड फ्लो (Blood flow) बेहतर होता है। इसलिए इस दवा को भारत के डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) लिस्ट में शामिल किया गया है। बेनाजेप्रिल (Benazepril) एसीई इनहिबिटर्स के एक स्ट्रिप्स की कीमत 1000 रूपय है।

2. कैप्टोप्रिल (Captopril)

डायबिटिक नेफरोपैथी (Diabetic nephropathy) ट्रीटमेंट में एसीई इनहिबिटर्स की लिस्ट में एक और दवा कैप्टोप्रिल (Captopril) भी शामिल है। इस दवा के सेवन से डायबिटीज कंट्रोल रहने के साथ-साथ हार्ट फेल, हार्ट अटैक, स्ट्रोक एवं ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाये रखने में सहायता मिलती हैं। कैप्टोप्रिल (Captopril) या एसिटेन (Aceten) का स्टार्टिंग प्राइस 15-25 रूपय है।

और पढ़ें : सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए? किन बातों का रखें ध्यान और कौन से एक्टिविटी से रहें दूर?

3. जेटप्रिल (Zetpril)

बॉडी में ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level), हायपरटेंशन (Hypertension), किडनी (Kidney) से जुड़ी परेशानी, हार्ट अटैक (Heart attack) एवं स्ट्रोक जैसी तकलीफों को दूर करने के लिए डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स जेटप्रिल (Zetpril) प्रिस्क्राइब की जाती है। 10 जेटप्रिल (Zetpril) टेबलेट की कीमत 54 रुपय है।

4. एक्यूप्रिल (Accupril)

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स एक्यूप्रिल (Accupril) के सेवन की सलाह दी जा सकती है। दरअसल ब्लड ग्लूकोज लेवल (Blood glucose level) को बनाए रखने और ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए डायबिटिक नेफरोपैथी (मधुमेह न्यूरोपैथी) की समस्या को कंट्रोल करने के लिए एक्यूप्रिल (Accupril) लाभकारी मानी जाती है। किडनी से जुड़ी तकलीफ को भी एक्यूप्रिल (Accupril) से कम करने में सहायता मिल सकती है।

5. एनालाप्रिल (Enalapril)

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) क्रोनिक डायबिटीज, हाय ब्लड प्रेशर को कम करके स्ट्रोक, हार्ट अटैक, और किडनी की समस्या से बचने में सहायता करती है। यही नहीं इसका सेवन हार्ट फेलियर और लोगों में दिल से जुड़ी हुई समस्याओं (Left Ventricular Dysfunction) को रोकने में किया जाता है, जिससे हार्ट फेलियर की स्थिति पैदा होती है। एनालाप्रिल (Enalapril) एसीई इनहिबिटर्स की एक मेडिसिन की कीमत 19 रूपए से शुरु होती है।

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) की लिस्ट में शामिल ये 5 दवाओं से जुड़ी जानकारी आपको दी गई है। एसीई इनहिबिटर्स मुख्य रूप से हार्ट डिजीज, हाय ब्लड प्रेशर, क्रोनिक डायबिटीज एवं किडनी डिजीज में ली जाने वाली दवाएं है। हालांकि कई ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्हें एसीई इनहिबिटर्स से एलर्जी की समस्या हो सकती है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार जिन लोगों को एसीई इनहिबिटर्स से एलर्जी की समस्या होती है, तो ऐसी स्थिति में एंजियोटेंसिन II रिसेप्टर ब्लॉकर्स (Angiotensin II receptor blockers) पेशेंट को दी जाती है।
नोट: डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) ​का सेवन अपनी मर्जी से ना करें। दवाओं के नाम सिर्फ आपकी जानकारी के लिए दी गईं हैं। इन दवाओं के सेवन से पहले अपने डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें, क्योंकि इनके सेवन से साइड इफेक्ट्स की भी संभावना हो सकती है। ऊपर बताई गई डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स की कीमत कम या ज्यादा भी हो सकती है।

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स के साइड इफ्केट्स क्या हैं? (Side effects of ACE inhibitors for Diabetic nephropathy)

अगर आप किसी कारण डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स का सेवन कर रहें हैं, तो इससे निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। जैसे:

डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स के सेवन से ऊपर बताई गई परेशानियां हो सकती हैं। हालांकि ये परेशानी अगर ज्यादा हो, तो डॉक्टर को इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को अवश्य दें।

और पढ़ें : पैंक्रियाटोजेनिक डायबिटीज: क्या डायबिटीज के इस तीसरे प्रकार के बारे में जानते हैं आप?

अगर आप डायबिटिक नेफरोपैथी या डायबिटिक नेप्रोपेथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप डायबिटिक नेफरोपैथी से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखकर डायबिटिक नेफरोपैथी में एसीई इनहिबिटर्स ड्रग्स (ACE inhibitors for Diabetic nephropathy) लेने की सलाह दी जाती है।

डायबिटिक हैं और अपने डायट का रखते हैं ख्याल, लेकिन क्या आप फॉलो कर रहें हैं हेल्दी डायट? जानने के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और अपना स्कोर जानिये।

powered by Typeform

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Prevalence and Risk Factors of Diabetic Nephropathy in an Urban South Indian Population/https://care.diabetesjournals.org/content/26/8/2421/Accessed on 10/06/2021

ACE inhibitors improve diabetic nephropathy through suppression of renal MCP-1/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12882873/Accessed on 10/06/2021

Diabetic nephropathy/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/diabetic-nephropathy/symptoms-causes/syc-20354556/Accessed on 10/06/2021

Diabetic nephropathy – complications and treatment/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4206379/Accessed on 10/06/2021

Diabetic Nephropathy: Diagnosis, Prevention, and Treatment/https://care.diabetesjournals.org/content/28/1/164/Accessed on 10/06/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x