home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

मधुमेह में आहार : क्यों होती है ध्यान रखने की जरूरत?

मधुमेह में आहार : क्यों होती है ध्यान रखने की जरूरत?

मधुमेहा या कहें डायबिटीज, हमारे देश में कई लोगों को अपनी गिरफ्त में ले चुका है। चाइना के बाद हमारा देश डायबिटीज से ग्रसित लोगों की संख़या में दूसरे स्थान पर आता है। लाइफ़स्टाइल डिजीज (Lifestyle disease) मानी जाने वाली मधुमेह की समस्या को राजरोग का नाम दिया गया है। इसका अर्थ यह है कि एक बार मधुमेह की दिक्कत हो गई, तो इससे निजात पाना लगभग नामुमकिन है। लेकिन फिर भी खानपान में बदलाव लाकर और जरूरी परहेज करके मधुमेह की समस्या में राहत पाई जा सकती है। इसलिए सबसे पहले बात करते हैं मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) के बारे में। मधुमेह में आहार (Diabetes) ठीक ढंग से लिया जाए, तो इस तकलीफ को बैलेंस रखा जा सकता है। इसलिए आज हम जानेंगे मधुमेह में आहार कैसे होना चाहिए। लेकिन उससे पहले जानते हैं मधुमेह के बारे में कुछ जरूरी बातें।

क्या है मधुमेह की समस्या? (Diabetes)

शरीर में जब ग्लूकोज का लेवल (Glucose level) बढ़ जाता है, तो इस स्थिति को मधुमेह का नाम दिया जाता है। इसकी वजह से इंसुलिन की कमी होती है। इंसुलिन वो हॉर्मोन है, जो डायजेस्ट किए हुए फूड से बनता है और इससे शरीर को ऊर्जा मिलती है। वही इंसुलिन शरीर में ब्लड शुगर लेवल को भी बैलेंस बनाए रखता है। इसलिए यह हॉर्मोन हमारे लिए बेहद जरूरी माना जाता है। यदि हम मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) का ध्यान रखें, तो इस हॉर्मोन को बैलेंस किया जा सकता है और इससे मधुमेह की समस्या में राहत पाई जा सकती है। आइए जानते हैं मधुमेह में आहार की क्या भूमिका है।

और पढ़ें : एलएडीए डायबिटीज क्या है, टाइप-1 और टाइप-2 से कैसे है अलग

मधुमेह में आहार की भूमिका है महत्वपूर्ण (Importance of Diet in diabetes)

मधुमेह में आहार (Diabetes) बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। खास तौर पर मधुमेह से ग्रसित रोगियों को आहार में कितनी कैलरी दी जा रही है, यह बात बहुत मायने रखती है। व्यक्ति दर व्यक्ति कैलोरी की मात्रा, उसकी उम्र, वजन, हाइट, दिनचर्या, व्यवसाय और लिंग इत्यादि बातों पर निश्चित की जाती है। इसी के बूते मधुमेह से ग्रसित व्यक्ति का आहार संबंधी चार्ट बनाया जाता है। खास तौर पर मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) इस तरह निर्धारित किया जाता है कि उसकी मात्रा व्यक्ति की जरूरत से ना कम हो और ना ही ज्यादा। क्योंकि मधुमेह में आहार इतना मायने रखता है, इसलिए कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी होते हैं, जिनका परहेज करना व्यक्ति के लिए जरूरी हो जाता है। आइए जानते हैं मधुमेह में आहार को लेकर यह जरूरी बातें।

मधुमेह में आहार : कर सकते हैं इनका सेवन (Diet in diabetes)

मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) की बात करें, तो डायबिटिक व्यक्ति को अपने खाने में फाइबर युक्त भोजन जरूर लेना चाहिए। जिसमें व्यक्ति छिलके के साथ पीसे हुए गेहूं की रोटी और जौ की रोटी इत्यादि का सेवन रोजाना तौर पर कर सकता है। साथ ही साथ मधुमेह में आहार के अंतर्गत कुछ सब्जियां अमृत का काम करती हैं, जिसमें करेला, पालक, मेथी, तुरई, सहजन, परवल, बैंगन, फूलगोभी, लौकी, ब्रॉक्ली, पुदीना, सोयाबीन, दालचिनी, सेम की फली और हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल है। मधुमेह में आहार के अंतर्गत व्यक्ति को न सिर्फ शुगर की मात्रा कम करनी पड़ती है, बल्कि इसके साथ-साथ फाइबर (Fiber) और अन्य जरूरी विटामिन (Vitamins) भी बढ़ाने पड़ते हैं। ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन रोजाना करना होता है, जो आसानी से डायजेस्ट हो जाए। इसलिए मधुमेह में आहार (Diabetes) पर ध्यान रखना बेहद जरूरी माना जाता है। आइए जानते हैं मधुमेह में आहार के अंतर्गत कुछ खास प्रकार के खाद्य पदार्थों के बारे में, जो डायबिटिक लोगों के लिए अमृत्तुल्य माने जाते हैं।

मधुमेह में आहार (Diet in diabetes)

और पढ़ें : जानें कैसे स्वेट सेंसर (sweat sensor) करेगा डायबिटीज की पहचान?

मधुमेह में आहार : करेला है सेहत का खजाना (Bitter gourd in diabetes)

करेला पोषक तत्वों की खान माना जाता है। यह रक्त में मौजूद शुगर के लेवल को कम करने का काम करता है। करेला शरीर में न सिर्फ ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म के लेवल को कम करता है, बल्कि इंसुलिन (Insulin) की मात्रा भी बढ़ाता है। रोज सुबह एक गिलास करेले का जूस आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके अलावा आप चाहे तो करेले की सब्जी खाकर इसका फायदा ले सकते हैं। करेला एक नहीं, दो नहीं, बल्कि कई गुणों की खान माना जाता है। यह आपके ब्लड में मौजूद टॉक्सिन को भी साफ करता है। इसलिए मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) के अंतर्गत करेला एक अच्छी चॉइस हो सकती है।

मधुमेह में आहार : फ्लेक्स सीड्स (flax seeds)

आपने कई बार लोगों को फ्लैक्स सीड खाते हुए देखा होगा। फ्लेक्स सीड यानी कि अलसी के बीज फाइबर से भरपूर होते हैं। फाइबर हमारे डायजेशन के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। साथ ही साथ यह हमारे शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट और शुगर को भी सोख लेता है। अलसी के बीज से बने आटे का सेवन करने से डायबिटिक मरीजों को फायदा हो सकता है। जो लोग वेजिटेरियन होते हैं और सीफूड नहीं खा सकते, उन लोगों को ओमेगा 3 फैटी एसिड (Omega-3 Fatty Acid) अलसी से ही प्राप्त होता है। साथ ही साथ इसमें एंटीऑक्सीडेंट, अल्फा लिनोलिक एसिड और फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है, इसलिए मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) के अंतर्गत अलसी के बीज खाने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें: सेहत के लिए शुगर या शहद के फायदे?

मधुमेह में आहार : मेथी है जरूरी (Fenugreek)

मधुमेह में मेथी एक जरूरी खाद्य पदार्थ माना जाता है। एक सीमित मात्रा में रोजाना मेथी का सेवन करने से डायबिटीज की समस्या में राहत मिलती है। जहां एक ओर इसका शरीर पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता, वहीं मेथी के सेवन से ब्लड शुगर लेवल का बैलेंस बना रहता है। मेथी के सेवन से टाइप टू डायबिटीज से जुड़ी समस्याओं में भी आराम मिलता है। मेथी में मौजूद सॉल्युबल फाइबर, बढ़े हुए ब्लड शुगर लेवल को सामान्य करने में सक्षम माना जाता है, इसलिए डायबिटिक लोग मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) तय करते वक्त मेथी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मधुमेह में आहार : सीफ़ूड में फिश का करें इस्तेमाल (Sea food)

मधुमेह में आहार (Diabetes) के अंतर्गत फैटी फिश आपको कई फायदे दे सकती है। साल्मन, सार्डिन, मैकेरल, हेरिंग (Salmon, sardines, mackerel, herring) इत्यादि फिश ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होती है, जो डायबिटीज में आराम पहुंचाती है। साथ ही साथ यह उन लोगों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होती हैं, जिन लोगों को डायबिटीज के साथ-साथ ह्रदय से संबंधित समस्याएं भी होती है। यह ना सिर्फ हार्ट प्रॉब्लम, बल्कि स्ट्रोक के खतरे से भी व्यक्ति को बचाती है। इसलिए मधुमेह में आहार के अंतर्गत फिश का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

डायबिटीज़ की समस्या को जानने के लिए देखें ये डी मॉडल

और पढ़ें: डायबिटिक कीटोएसिडोसिस: जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार

मधुमेह में आहार : हल्दी है बड़ा इलाज (Turmeric)

मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) के अंतर्गत हल्दी का सेवन बड़े तौर पर किया जाता है। इससे ना सिर्फ खाने की खूबसूरती और ज़ायक़ा बढ़ता है, बल्कि यह मधुमेह के रोगियों के लिए एक सुपर फूड मानी जाती है। इसमें मौजूद एक्टिव इनग्रेडिएंट करक्यूमिन ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। साथ ही साथ यह ह्रदय रोग, सूजन और किडनी से संबंधित समस्याओं में भी आराम पहुंचाती है। इसलिए मधुमेह में आहार के अंतर्गत हल्दी का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

जिस तरह मधुमेह में आहार (Diabetes) के अंतर्गत आपको कुछ खास तरह के खाद्य पदार्थ खाने की सलाह दी जाती है, उसी तरह कुछ खाद्य पदार्थों से परहेज करने की सलाह भी दी जाती है। आइए जानते हैं उन खाद्य पदार्थों के बारे में, जिनका मधुमेह में बिल्कुल सेवन नहीं करना चाहिए।

और पढ़ें: शुगर लेवल को ऐसे कंट्रोल करता है नाशपाती

मधुमेह में आहार : इनसे बनाएं दूरी (Diet in diabetes)

मधुमेह में आहार (Diabetes) के अंतर्गत आपको कुछ चीजों से परहेज करने की जरूरत पड़ती है, जिसमें घी और नारियल का तेल इत्यादि चिकनाई से भरपूर पदार्थों से परहेज करना चाहिए। वहीं ब्लड शुगर ना बढ़े, इसलिए शक्कर, मिश्री, चीनी, गुड़, मुरब्बा, शहद, पिज़्ज़ा, बर्गर, आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक जैसी मीठी चीजों से दूरी बनानी चाहिए। इसके अलावा रोजाना भोजन में चावल (Rice) और आलू की मात्रा बहुत कम रखनी चाहिए। यदि आपको डायबिटीज की समस्या ज्यादा है, तो इन खाद्य पदार्थों से परहेज करना फायदेमंद हो सकता है।

हालांकि यह सभी खाद्य पदार्थ आपकी ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाने में मदद करते हैं, लेकिन इसके बाद भी डॉक्टर की सलाह से आप इन्हें सीमित मात्रा में ले सकते हैं। आपकी तकलीफ को ध्यान में रखकर डॉक्टर इन खाद्य पदार्थों की एक निश्चित मात्रा के बारे में आपको बता सकते हैं, जो डॉक्टर की सलाह के बाद आप ले सकते हैं।

और पढ़ें: जेस्टेशनल डायबिटीज क्या है? जानें इसके लक्षण और उपचार विधि

मधुमेह में आहार (Diet in diabetes) बेहद मायने रखता है, इसलिए आपको रोजाना का इनटेक और खाद्य पदार्थों का चयन बहुत ही सोच समझ कर करना चाहिए। यदि आप सही मात्रा में सही खाद्य पदार्थ लें, तो डायबिटीज की समस्या को सीमित रखा जा सकता है। इसलिए मधुमेह में आहार का चयन करते वक्त अपने डॉक्टर से सलाह लेकर सीमित मात्रा में ही खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 2 weeks ago को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x