आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Pulled Chest Muscle: चेस्ट मसल्स के अधिक खिंचने पर हो सकती है ये परेशानी, ऐसे करें बचाव

    Pulled Chest Muscle: चेस्ट मसल्स के अधिक खिंचने पर हो सकती है ये परेशानी, ऐसे करें बचाव

    मसल स्ट्रेन और पुल्ड मसल, उस इंजरी यानी चोट को कहा जाता है, जिसमें मसल ओवरस्ट्रेच्ड और टॉर्न (Torn) हो जाते हैं। यह समस्या शरीर में कहीं भी हो सकती है। यही नहीं, इसके कारण न केवल आपको परेशानी हो सकती है बल्कि आपकी रोजाना की दिनचर्या भी इससे प्रभावित हो सकती है। ऐसे ही चेस्ट में मसल स्ट्रेन यानी पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) से पीड़ित व्यक्ति को इस जगह पर अचानक और शार्प दर्द हो सकता है। अधिक स्ट्रेन्ड चेस्ट मसल आमतौर पर माइनर इंजरी के कारण होती हैं, जो कुछ दिनों या हफ्तों में ही ठीक हो जाती हैं। आइए पाएं पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के बारे में पूरी जानकारी।

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) क्या है?

    यह उस चोट को कहा जा सकता है, जिससे हमारे मसल्स अधिक खिंच जाते हैं या उन्हें नुकसान होता है। छाती में मसल स्ट्रेन के कारण शार्प और अचानक दर्द होता है। ऐसा ज्यादातर सीने में दर्द इंटरकॉस्टल मांसपेशियों (Intercostal muscle) में खिंचाव के कारण होता है। यह इंटरकॉस्टल मसल्स (Intercostal muscles ) हमारी पसलियों के बीच में होती हैं। यह हमारी अपर बॉडी को स्टेब्लाइज करने और ब्रीदिंग को कंट्रोल करने में मदद करती हैं। जब हमें पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) की परेशानी होती है, तो सबसे पहले आप चेस्ट में अचानक दर्द का अनुभव करते हैं। इसके साथ ही कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं, जो इसका कारण बन सकती हैं। आइए जानें पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के क्या हैं लक्षण?

    और पढ़ें: हार्ट मसल है या है ऑर्गन (Heart Muscle Or an Organ)? जानिए दिल को स्वस्थ रखने के टिप्स

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के लक्षण क्या हैं?

    छाती में मसल स्ट्रेन एक्यूट हो सकती है। यह धीरे-धीरे आपके शरीर में भी फैल सकती है क्योंकि इंजर्ड मांसपेशियों के आसपास ब्लीडिंग या सूजन होती है। इसे सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:

    • दर्द (Pain), जो शार्प से लेकर डल तक हो सकती है
    • सूजन (Swelling)
    • मसल स्पाज्म (Muscle spasm)
    • प्रभावित स्थान को मूव करने में समस्या (Difficulty moving affected area)
    • सांस लेते हुए दर्द होना (Pain while breathing)
    • नील पड़ना (Bruising)

    और पढ़ें: मसल्स पेन को ना करें इग्नोर, हो सकता है मायोफेशियल पेन सिंड्रोम का लक्षण

    यदि आप व्यायाम या गतिविधि में व्यस्त हैं और आपको अचानक दर्द होता है, तो डॉक्टर से बात करें। अगर आपको दर्द के साथ यह समस्याएं हो रही हैं तो भी तुरंत मेडिकल हेल्प लें:

    यह लक्षण किसी अन्य गंभीर इश्यू का लक्षण हो सकते हैं जैसे हार्ट अटैक। जानिए क्या हैं पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के क्या हैं कारण?

    और पढ़ें: मसल्स स्ट्रेन, नेक और बैक पेन में राहत दिला सकती है डीप टिशू मसाज!

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के क्या हैं कारण?

    इंटरकॉस्टल मसल स्ट्रेन (Intercostal muscle strains) , मसक्यूलोस्केलेटल चेस्ट पेन (Musculoskeletal chest Pain), का सबसे सामान्य कारण है। जिसे पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के नाम से भी जाना जाता है। इसके अन्य कारण इस प्रकार हैं:

    यह तो थे पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के कुछ कारण। अब जानते हैं कुछ अन्य कारणों के बारे में।

    पुल्ड चेस्ट मसल, Pulled Chest Muscle

    और पढ़ें: मसल्स बनाने में इस तरह मदद करता है सप्लीमेंट, जानिए इसे लेने का तरीका

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के अन्य कारण

    छाती में पुल्ड मसल्स की परेशानी हार्ट और लंग्स में किसी गंभीर समस्याओं के समान हो सकती है। ऐसे में पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) और अन्य तरह की दर्द को पहचानना बेहद जरूरी है। इसके अन्य कारण इस प्रकार हैं:

    हार्ट अटैक (Heart Attack)

    हालांकि,हार्ट अटैक में होने वाली दर्द स्ट्रेन्ड चेस्ट मसल से अलग हो सकती है। हार्ट अटैक के कारण छाती में डल पेन और प्रेशर की अनकम्फर्टेबल फीलिंग हो सकती है। यह दर्द आमतौर पर छाती के सेंटर से शुरू होती है और पीठ, बाजू, गर्दन, जबड़ों और पेट तक फैल सकती है। यह पेन कई मिनटों तक रह सकती है और एकदम गायब होने के बाद फिर से हो सकती है। इसके अन्य लक्षणों में ठंडे पसीने आना, सांस लेने में समस्या, जी मिचलाना, चक्कर आना आदि शामिल है। यह एक आपातकालीन स्थिति है और इसमें तुरंत उपचार जरूरी है।

    एंजाइना पेक्टोरिस (Angina Pectoris)

    एंजाइना पेक्टोरिस या स्टेबल एंजाइना, कोरोनरी हार्ट डिजीज के कारण होने वाली चेस्ट पेन है। यह प्रॉब्लम तब होती है, जब आर्टरीज के तंग या ब्लॉक होने के कारण हार्ट तक पर्याप्त ब्लड नहीं पहुंच पाता है। इसके लक्षण हार्ट अटैक के जैसे हो सकते हैं। फिजिकल एक्सेरशन के बाद यह लक्षण नजर आते हैं और दवाइयों व रेस्ट करने के बाद यह लक्षण ठीक हो जाते हैं।

    और पढ़ें: ये हैं बेस्ट मसल्स एक्सरसाइज, महिलाएं जरूर करें ट्राई

    प्लूरिसी (Pleurisy)

    प्लूरिसी (Pleurisy) लंग की लायनिंग में होने वाली इन्फ्लेमेशन को कहा जाता है। बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन इस का सबसे सामान्य कारण है। प्लूरिसी के कारण भी पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) जैसा दर्द हो सकता है। यह दर्द आमतौर पर शार्प और अचानक हो सकता है। इसमें कुछ अन्य लक्षण भी नजर आ सकते हैं जैसे बुखार।

    निमोनिया (Pneumonia)

    निमोनिया एक इंफेक्शन है, जो लंग्स के भीतर एयर सैक्स में फ्लूइड या पस भरने का कारण बनता है। वायरस, बैक्टीरिया और कवक सभी निमोनिया का कारण बन सकते हैं। इससे पीड़ित व्यक्ति छाती में शार्प पेन का अनुभव कर सकता है। इसके अन्य लक्षणों में सांस लेने में समस्या, बुखार, ठंड लगना, खांसी, कन्फ्यूजन, थकावट आदि शामिल हैं।

    पल्मोनरी एम्बोलिस्म (Pulmonary embolism)

    पल्मोनरी एम्बोलिस्म लंग में ब्लड वेसल के ब्लॉक होने वाले रोग को कहा जाता है। इसका सबसे सामान्य कारण है ब्लड क्लॉट्स। यह रोग ब्लड को फेफड़ों में जाने से रोकता है और इसलिए, यह एक एमरजेंसी है। इसके अन्य लक्षणों में हार्ट रेट का तेजी से बढ़ना, बेहोशी, खांसी जिसमें ब्लड प्रोड्यूज हो, सांस लेने में समस्या आदि शामिल हैं। अब जानिए पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के निदान और बारे में।

    और पढ़ें: मसल्स पेन को ना करें इग्नोर, हो सकता है मायोफेशियल पेन सिंड्रोम का लक्षण

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) का कैसे हो सकता है निदान?

    अगर आप छाती में होने वाले दर्द को लेकर चिंता में हैं, तो डॉक्टर से बात अवश्य करें। इसके निदान के लिए डॉक्टर रोगी से लक्षणों और हेल्थ हिस्ट्री और अन्य एक्टिविटीज के बारे में जानेंगे जो दर्द का कारण बन सकती हैं। मसल स्ट्रेन को एक्यूट या क्रॉनिक दो श्रेणियों में बांटा गया है:

    • एक्यूट स्ट्रेन किसी डायरेक्ट ट्रॉमा जैसे गिरना या कार एक्सीडेंट से लगने वाली चोट के तुरंत बाद हो सकता है।
    • क्रॉनिक स्ट्रेन लॉन्ग टर्म एक्टिविटीज जैसे स्पोर्ट्स या किसी खास जॉब टेस्ट्स में बार-बार किसी मोशन के कारण हो सकता है।

    वहां से, स्ट्रेन को गंभीरता के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है, जैसे:

    • ग्रेड 1 (Grade 1): ग्रेड 1 पांच प्रतिशत से कम मसल फाइबर के हल्के नुकसान के बारे में बताता है।
    • स्ट्रेन की गंभीरता का ग्रेड 2 (Grade 2) : ग्रेड 2 अधिक डैमेज के बारे में बताता है: यानी, मसल पूरी तरह से नहीं टूटी है। लेकिन, स्ट्रेंथ और मोबिलिटी का नुकसान हुआ है।
    • ग्रेड 3 (Grade 3): ग्रेड 3 पूरे मसल्स के टूटने के बारे में बताता है, जिसके लिए कभी-कभी सर्जरी की आवश्यकता होती है

    कुछ मामलों में डॉक्टर हार्ट अटैक, बोन फ्रैक्चर और अन्य इश्यूज की संभावना को रूल-आउट करने के लिए अन्य टेस्ट्स की सलाह दे सकते हैं, जैसे:

    अब जानिए इसके उपचार और रिकवरी के बारे में।

    और पढ़ें: Myocardial ischemia: हार्ट मसल्स की कमजोरी के कारण ब्लड पंपिंग में होती है समस्या!

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) का उपचार

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) का उपचार इंजरी की गंभीरता और ग्रेड पर निर्भर करता है। इसके ट्रीटमेंट ऑप्शंस इस प्रकार हैं:

    RICE मेथड (RICE Method)

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) का सामान्य उपचार “RICE” मेथड से किया जाता है। ताकि दर्द और सूजन को कम किया जा सके। यह तरीका इस प्रकार है:

    • रेस्ट (Rest): रेस्ट यानी गंभीर एक्टिविटीज अवॉयड करें, खासतौर पर जो मांसपेशियों में खिंचाव का कारण बन सकती हैं।
    • आइस (Ice): एक आइस पैक को टॉवल में लपेटे और बीस मिनटों तक प्रभावित स्थान पर इसे लगाएं। दिन में कई बार इस प्रोसेस को दोहराएं।
    • कम्प्रेशन (Compression): एक कम्प्रेशन बैंडेज को अपने टोरसो यानी धड़ पर लपेटे। डॉक्टर से यह भी जानें कि फिर से इस इंजरी से बचने के लिए बैंडेज को कैसे रैप किया जा सकता है।
    • एलिवेशन (Elevation): सीधे बैठने की कोशिश करें। सोते हुए अतिरिक्त तकिये का इस्तेमाल करें, ताकि आपको छाती एलिवेटेड रहे।

    इंजरी के बाद डॉक्टर रोगी 24 से 48 घंटे तक RICE प्रोसीजर फॉलो करने के लिए कह सकते हैं।

    और पढ़ें: Restrictive cardiomyopathy: ये बीमारी हार्ट मसल्स के फंक्शन में कर देती है बदलाव!

    दवाइयां (Medication)

    पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) से राहत पाने के लिए डॉक्टर कुछ नॉनस्टेरॉइडल एंटीइंफ्लेमेटरी ड्रग्स (Nonsteroidal anti-inflammatory drugs) जैसे आइबुप्रोफेन (Ibuprofen) की सलाह दे सकते हैं, ताकि दर्द और सूजन से छुटकारा मिले। गंभीर और लगातार हो रही दर्द में डॉक्टर स्ट्रांग दर्दनाशक दवाओं (Analgesics), मसल रिलैक्सेंट या दोनों की सलाह दे सकते हैं। कई बार यह परेशानी लगातार हो रही खांसी की वजह से भी हो सकती है। ऐसे में,खांसी की दवा लेने से आपको फायदा हो सकता है।

    सर्जरी (Surgery)

    ऐसे मामलों में जहां मसल्स पूरी तरह से टूट गई होती हैं, डॉक्टर इसकी मरम्मत के लिए सर्जरी के लिए कह सकते हैं। मसल्स के फंक्शन, स्ट्रेंथ और फ्लेक्सिबिलिटी को रिस्टोर और मेंटेन रखने में मदद करने के लिए एक्सरसाइज प्लान के लिए भी कहा जा सकता है।

    और पढ़ें: ओल्ड एज में मसल्स लॉस से बचने के लिए अपनाएं ये टिप्स

    यह तो थी पुल्ड चेस्ट मसल (Pulled Chest Muscle) के बारे में पूरी जानकारी छाती में पुल्ड मसल्स के लक्षण आमतौर पर इंटरकॉस्टल मसल्स में खिंचाव के कारण नजर आते हैं। ऐसे में, इसके उपचार के लिए कई तरीके मौजूद हैं। आप घर पर भी इसका उपचार कर सकते हैं। लेकिन, अगर इनसे कोई लाभ न हो तो डॉक्टर की सलाह जरूरी है। माइल्ड स्ट्रेन आमतौर पर कुछ हफ्तों में ठीक हो जाता है। लेकिन, गंभीर स्ट्रेन को ठीक होने में दो से तीन महीने या इससे भी अधिक समय लग सकता है। अगर इसके बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है, तो आप अपने डॉक्टर से इस बारे में जानकारी अवश्य लें।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: