home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

छाती के दर्द को भूल कर भी न करें नजरअंदाज, क्योंकि यह हो सकता है विडोमेकर हार्ट अटैक का संकेत

छाती के दर्द को भूल कर भी न करें नजरअंदाज, क्योंकि यह हो सकता है विडोमेकर हार्ट अटैक का संकेत

हार्ट अटैक एक गंभीर स्थिति है, जिसमें व्यक्ति की जान जाने तक का जोखिम रहता है। इन्हीं में से एक है विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack)। यह हार्ट अटैक अन्य हार्ट अटैक की तरह घातक है। हार्ट अटैक की शुरुआत तब होती है, जब हमारे हार्ट की तीन आर्टरीज में से किसी भी एक में क्लॉट बनना शुरू हो जाता है। यह आर्टरीज हार्ट को ब्लड सप्लाई करती है। क्लॉट बनने के कारण हार्ट को पंप करने के लिए आवश्यक ऑक्सिजन युक्त रक्त ब्लॉक हो जाता है और पर्याप्त खून न मिलने के कारण हार्ट मसल का हिस्सा नष्ट हो जाता है। विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) और भी अधिक गंभीर हो सकता है क्योंकि यह उस आर्टरी को पूरी तरह से ब्लॉक कर सकता है, जो हार्ट के बड़े पार्ट को ब्लड सप्लाई करती है।

इस आर्टरी को लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left anterior descending) कहा जाता है। जब इस आर्टरीज़ की शुरुआत ही ब्लॉक हो जाती है तो हार्ट मसल्स को ऑक्सिजन नहीं मिल पाती है। आइए जानते हैं विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) के बारे में विस्तार से। शुरुआत करते हैं इसके लक्षणों से।

विडोमेकर हार्ट अटैक के लक्षण (Symptoms of Widowmaker Heart Attack)

विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) के लक्षण भी उस तरह के होते हैं, जैसे अन्य तरह के हार्ट अटैक्स के होते हैं। इसके कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:

छाती में दर्द या बेचैनी (Chest pain or discomfort): यह स्त्री और पुरुषों में नजर आने वाला सबसे सामान्य लक्षण है। आप कई मिनटों के लिए छाती में दर्द, प्रेशर, छाती का सिकुड़ना जैसी समस्याओं को महसूस कर सकते हैं। यह समस्या थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल में भी हो सकती है।

अपर बॉडी में दर्द (Upper body pain): विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) की स्थिति में आप अपनी एक बाजू, गर्दन, जबड़े और पेट में दर्द या बेचैनी का अनुभव कर सकते हैं।

सांस लेने में समस्या (Shortness of Breath): इस स्थिति में आप ऐसा महसूस कर सकते हैं जैसे आपको सांस नहीं आ रही है। इस परेशानी को महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक महसूस करती हैं। इसके साथ ही अन्य कुछ समस्याओं का अनुभव भी आप कर सकते हैं जैसे:

अगर इनमें से कोई भी लक्षण आपको नजर आते हैं, तो तुरंत मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है। विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) बहुत जल्दी आपके हार्ट के बड़े हिस्से को नुकसान पहुंचा सकता है। अगर आप तुरंत उपचार प्राप्त नहीं करते हैं, तो आपका हृदय धड़कना बंद कर सकता है। इसलिए इसके लक्षण नजर आने के तुरंत बाद मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है। अब जानिए इसके कारणों के बारे में।

और पढ़ें: Silent Heart Attack : साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण, कारण और उपाय क्या हैं?

विडोमेकर हार्ट अटैक के कारण (Causes of Widowmaker Heart Attack)

विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) की समस्या तब होती है, जब लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left Anterior Descending) आर्टरी पूरी तरह से ब्लॉक हो जाती है। यह आर्टरी हार्ट को बड़ी मात्रा में खून को ट्रांसपोर्ट करती है। इसलिए, जब खून इस आर्टरी से पास नहीं होता है, तो हार्ट को ऑक्सिजन नहीं मिल पाती है और यह धड़कना बंद कर देता है। लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left Anterior Descending) आर्टरी के ब्लॉक होने का कारण है, उनमें प्लाक का जन्म होना। इस स्थिति को एथेरोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis) कहा जाता है। प्लाक के कारण ब्लड क्लॉट्स बनते हैं जो आर्टरी को ब्लॉक कर सकते हैं। चाहे रोगी की लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left Anterior Descending) आर्टरी थोड़ी सी ब्लॉक हो, लेकिन कुछ मामलों में ब्लड क्लॉट्स बहुत जल्दी बन सकते हैं और यह सौ प्रतिशत ब्लॉकेज का कारण बन सकते है। अब जानते हैं इस हार्ट अटैक के रिस्क फैक्टर्स के बारे में।

और पढ़ें: Cholesterol Injection: कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने का इंजेक्शन कम करेगा हार्ट अटैक का खतरा

विडोमेकर हार्ट अटैक के रिस्क फैक्टर्स (Risk Factors of Widowmaker Heart Attack)

विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) के रिस्क फैक्टर्स में रोगी की प्रायमरी लाइफस्टाइल या जेनेटिक फैक्टर्स हो सकते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को प्रभावित करते हैं। अगर हार्ट अटैक की आपकी फैमिली हिस्ट्री है, तो भी आपको यह समस्या होने का रिस्क अधिक हो सकता है। उम्र का बढ़ाना भी इस हार्ट अटैक का एक रिस्क फैक्टर है। विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) के कुछ लाइफस्टाइल रिस्क फैक्टर्स इस प्रकार हैं:

  • नियमित रूप से धूम्रपान या तंबाकू का सेवन
  • वजन का अधिक होना यानी मोटापा
  • ऐसे आहार का सेवन करना जो हार्ट के लिए सही नहीं है। जैसे अधिक मात्रा में प्रोसेस्ड अनाजों का प्रयोग, अनहेल्दी फैट्स, फुल फैट डेयरी या सोडियम आदि।
  • हाय ब्लड प्रेशर
  • खून में बेड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा का अधिक होना और गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल का कम होना
  • डायबिटीज या प्रीडायबिटीज
  • पर्याप्त व्यायाम न करना

कुछ जेनेटिक फैक्टर्स भी विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) के जोखिम में शामिल हैं। कुछ खास स्थितियां जो एक ही जीन से गुजरती हैं हार्ट अटैक के जोखिम को बढ़ा सकती है। कुछ मामलों में मल्टीप्ल जीन वैरिएंट्स भी इसका कारण बन सकते हैं। जानिए कैसे होता है विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) का उपचार?

और पढ़ें: हार्ट अटैक से बचा सकता है कैल्शियम स्कोरिंग टेस्ट (Calcium scoring test), जानिए कैसे

विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack)

विडोमेकर हार्ट अटैक का ट्रीटमेंट (Treatment of Widowmaker Heart Attack)

विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) की स्थिति से रोगी सर्वाइव कर सकता है, अगर डॉक्टर रोगी का तुरंत इलाज करें। इसमें डॉक्टर हार्ट अटैक के 90 मिनट्स के अंदर रोगी की मुख्य या लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left anterior descending) आर्टरी को अनब्लॉक करने की कोशिश करते हैं। ब्लड फ्लो को रिस्टोर कर के भी हार्ट के उन स्कार्स से छुटकारा पाया जा सकता है, जो परमानेंट डैमेज करते हैं। इस स्थिति में रोगी का उपचार इस तरह से किया जा सकता है:

विडोमेकर हार्ट अटैक का आपातकालीन ट्रीटमेंट (Emergency Treatment)

अगर आपको लगता है कि आपको हार्ट अटैक आ रहा है तो सबसे पहले इसके लक्षणों को पहचानें और उन्हें नजरअंदाज न करें। तुरंत मेडिकल मेडिकल हेल्प लें। किसी भी व्यक्ति को हार्ट अटैक की स्थिति में सबसे पहले आपातकालीन ट्रीटमेंट जरूरी है, जब तक आपको मेडिकल हेल्प नहीं मिल जाती। इस स्थिति में आपातकालीन ट्रीटमेंट इस प्रकार किया जा सकता है:

  • एमरजेंसी हेल्प के लिए इंतजार करते हुए प्रभावित व्यक्ति को एक एस्पिरिन (Aspirin) चबाने या निगलने के लिए दें। यह दवाई ब्लड क्लॉट बनने से रोकने में मदद करती है और हार्ट डैमेज का जोखिम भी कम हो सकता है।
  • अगर रोगी को इससे एलर्जी है तो उसे इस दवा को न दें। डॉक्टर की सलाह के अनुसार नाइट्रोग्लिसरीन (Nitroglycerin) को भी लिया जा सकता है।
  • अगर व्यक्ति बेहोश हो रहा हो। सांस न ले पा रहा हो या उसकी पल्स न मिल रही हो तो कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन (Cardiopulmonary Resuscitation) शुरू करें।
  • अगर आपके नजदीक ऑटोमेटेड एक्सटर्नल डिफाइब्रिलेटर्स (Automated external defibrillator) मौजूद हो तो उसका प्रयोग करें। इस स्थिति में जल्दी से जल्दी मेडिकल हेल्प मिलना जरुरी है।

दवाईयां (Medicines)

अगर आपको लगता है कि किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक आया है, तो उस स्थिति में तुरंत मेडिकल हेल्प लेनी जरूरी है। हार्ट को हुए डैमेज को कम करने और हार्ट अटैक को पूरी तरह से रोकने के लिए जल्दी उपचार जरूरी है। इस स्थिति में इन दवाईयों की सलाह डॉक्टर दे सकते हैं:

  • एस्पिरिन (Aspirin) और ब्लड थिनर थेरिपी (Blood thinner therapy) ताकि ब्लड क्लॉट्स को बनने से रोका जा सके
  • ऑक्सिजन थेरिपी (Oxygen therapy)
  • नाइट्रोग्लिसरीन (Nitroglycerin) ताकि ब्लड फ्लो को सुधारा जा सके
  • थ्रोम्बोलाइटिक दवाईयों का प्रयोग (Thrombolytic medicines) ताकि कोरोनरी आर्टरीज में ब्लड क्लॉट्स (Blood Clots) को डिसॉल्व किया जा सके।

और पढ़ें: हार्ट अटैक के बाद डायट का रखें खास ख्याल! जानें क्या खाएं और क्या न खाएं

प्राइमरी परक्यूटीनियस कोरोनरी इंटरवेंशन (Primary Percutaneous Coronary Intervention)

लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (left anterior descending) आर्टरी की पूरी ब्लॉकेज के लिए एक प्रक्रिया को अपनाया जा सकता है। जिसे प्राइमरी परक्यूटीनियस कोरोनरी इंटरवेंशन (Primary Percutaneous Coronary Intervention) कहा जाता है। कुछ समय पहले तक इस प्रक्रिया को स्टेंट के साथ एंजियोप्लास्टी (Angioplasty) कहा जाता है। यह प्रक्रिया इस तरह से की जाती है:

  • इस प्रक्रिया के लिए डॉक्टर रोगी की कलाई या ग्रोइन से आर्टरीज में कैथेटर को इंसर्ट करते हैं।
  • इस कैथेटर को लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left Anterior Descending) आर्टरी तक ले जाया जाता है।
  • डॉक्टर क्लॉट को सक्शन या अन्य तरीकों से निकाल देते हैं, जिससे आर्टरी को खुलने में मदद मिलती है।
  • इसके बाद डॉक्टर आर्टरी में एक मेश ट्यूब (Mesh Tube) जिसे स्टेंट कहा जाता है, उसे इंसर्ट करते हैं। स्टेंट आर्टरी को खुला रखने के लिए फैलता है ताकि ऑक्सिजन युक्त रक्त हार्ट में प्रवाहित हो सके।
  • विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) या किसी भी हार्ट अटैक के बाद डॉक्टर रोगी की रिकवरी को अच्छे से मॉनिटर करते हैं। इस अटैक के बाद रोगी के लिए दो से तीन दिन अस्पताल में और पहले 24 घंटे इंटेंसिव केयर यूनिट (Intensive care unit) में रहना अनिवार्य है।

और पढ़ें: जानें महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण पुरुषों की तुलना में कैसे अलग होते हैं?

सर्जरी

अगर डॉक्टर को लगता है कि रोगी की अन्य आर्टरीज में भी ब्लॉकेज है तो वो सर्जरी की सलाह भी दे सकते हैं। इन सर्जिकल प्रोसीजर्स का प्रयोग हार्ट अटैक से बचने के लिए होता है, जो इस प्रकार हैं:

विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) हार्ट को परमानेंटली डैमेज कर सकता है और पीछे घाव का निशान यानी स्कार टिश्यू (Scar tissue) छोड़ सकता है। इस डैमेज के कारण एब्नार्मल हार्टबीट की समस्या भी हो सकती है यही नहीं, इससे हार्ट फेलियर होने की संभावना भी बढ़ जाती है। जिसमें शरीर की जरूरतों को पूरी करने के लिए हार्ट मसल्स पर्याप्त ब्लड को पंप नहीं कर पाते हैं। अब जानते हैं विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) की स्थिति में हार्ट रिकवरी के बारे में।

और पढ़ें: बीटा ब्लॉकर्स: हायपरटेंशन से लेकर हार्ट अटैक तक दिल से जुड़ी बीमारियों के इलाज में हैं उपयोगी

विडोमेकर हार्ट अटैक हार्ट की रिकवरी (Widowmaker Heart Attack Recovery)

लेफ्ट एंटीरियर डिसेंडिंग (Left Anterior Descending) आर्टरी ब्लॉकेज का एंजियोप्लास्टी (Angioplasty) या स्टेंटिंग (Stenting) की मदद से उपचार किया गया हो, तो आपको रिकवर होने के लिए कम से कम एक दिन अस्पताल में गुजारना होगा। इसके बाद आप घर जा सकते हैं और अपना सामान्य जीवन जी सकते हैं। अगर डॉक्टर ने हार्ट सर्जरी की हो तो आपको अस्पताल में तीन से सात दिन बिताने पड़ सकते हैं। अस्पताल से घर जाने के बाद रोगी के लिए जल्दी रिकवर होने के लिए इन बातों का ध्यान आवश्यक है:

  • अपने सर्जिकल घावों का ध्यान रखें। इन पर सुखी बैंडेज का प्रयोग करें।
  • अगर डॉक्टर से सलाह दी हो, तो दर्द दूर करने वाली दवाईयों या ब्लड थिनर्स (Blood Thinners) का प्रयोग करें।
  • कुछ दिनों तक व्यायाम करने या भार उठाने से बचें। इसके बारे में डॉक्टर की सलाह लें।
  • डॉक्टर की सलाह के बाद रिहैबिलिटेशन प्रोग्राम्स (Rehabilitation programs) को भी आप अटैंड कर सकते हैं। ताकि आपका दिल मजबूत हो और दूसरे हार्ट अटैक का जोखिम भी कम हो सके। अब जानिए किस तरह से हो सकता है इस हार्ट डिजीज से बचाव?

और पढ़ें: हार्ट वॉल्व डिजीज के लिए बेहद उपयोगी हैं डाइयुरेटिक्स, हार्ट अटैक का खतरा कर सकती हैं कम!

विडोमेकर हार्ट अटैक से बचाव (Prevention of Widowmaker Heart Attack)

सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) के अनुसार अधिकतर लोगों में कार्डियोवैस्कुलर रिस्क फैक्टर्स (Cardiovascular risk factors) होते हैं इसके तीन मेजर रिस्क फैक्टर्स इस प्रकार हैं

हार्ट अटैक के रिस्क को कम करने के लिए आपको अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करने चाहिए। क्योंकि,अनहेल्दी जीवनशैली हार्ट अटैक का कारण बन सकती है। हार्ट अटैक्स से इस तरह से बचा जा सकता है:

  • फल, सब्जियों, साबुत अनाज और लीन प्रोटीन्स से भरपूर आहार का सेवन करें
  • आर्टिफिशियल ट्रांस फैट्स और एडिड शुगर्स को नजरअंदाज करें
  • शराब के सेवन को सीमित करें
  • स्मोकिंग करने से भी बचें
  • डॉक्टर की सलाह के अनुसार नियमित व्यायाम करें
  • तनाव से बचें
  • अपने वजन को सही बनाए रखें

और पढ़ें: हार्ट अटैक और स्ट्रोक का कारण बन सकता है हाय ब्लड प्रेशर!

Quiz : कितना जानते हैं अपने दिल के बारे में? क्विज खेलें और जानें

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

इसके अलावा डॉक्टर रोगी को ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल लेवल को लो करने के लिए दवाईयां भी दे सकते हैं यह तो थी विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) के बारे में पूरी जानकारी। यह एक गंभीर स्थिति है जिसमें रोगी की जान भी जा सकती है। ऐसे में सबसे जरूरी है इसके लक्षणों को पहचानना और सही समय पर उपचार। अगर ऐसा न हो तो यह कई जटिलताओं का कारण बन सकता है। हालांकि, सभी हार्ट अटैक्स (Heart Attacks) की शुरुआत छाती में दर्द या बाजू के सुन्न होने से नहीं होती है। कुछ हार्ट अटैक धीरे से शुरू होते हैं और इस दौरान रोगी को बिलकुल भी कोई समस्या नहीं होती है। यही नहीं, कई बार रोगी को यह पता भी नहीं चलता कि उसे हार्ट अटैक हुआ है।

हार्ट अटैक के लक्षण हर व्यक्ति के लिए अलग हो सकते हैं। विडोमेकर हार्ट अटैक (Widowmaker Heart Attack) या हार्ट डिजीज को लेकर आपके मन में कोई भी सवाल है तो अपने डॉक्टर से बात करना न भूलें। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर भी पूछ सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Why a ‘Widowmaker’ Heart Attack Is So Dangerous. https://health.clevelandclinic.org/why-a-widowmaker-heart-attack-is-so-dangerous/

.Accessed on 11/8/21

A Doctor Explains What Makes a Heart Attack a ‘Widowmaker’. https://healthblog.uofmhealth.org/widowmaker-heart-attack-explained .Accessed on 11/8/21

The ‘widow-maker’ heart attack hits women. https://www.novanthealth.org/healthy-headlines/how-to-check-your-heart-health.Accessed on 11/8/21

 widowmaker heart attack .https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7478500/ .Accessed on 11/8/21

Widowmaker. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12705226/ .Accessed on 11/8/21

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/08/2021 को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x