home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

जानें किन कारणों से बढ़ता है हाय ब्लड प्रेशर?

जानें किन कारणों से बढ़ता है हाय ब्लड प्रेशर?

हाय ब्लड प्रेशर की समस्या अब उम्र की मौहताज नहीं रही है। यह आज किसी को भी हो सकती है। बुजुर्गों के साथ युवा भी इसका शिकार हो रहे हैं। हाय ब्लड प्रेशर या हायपरटेंशन का अर्थ है आपका रक्तचाप हाई होना यानी जब 120 80 से अधिक रक्तचाप हो तो समझ जाइए कि ब्लड प्रेशर बढ़ रहा है। हायपरटेंशन का कारण (Cause of Hypertension) खराब जीवनशैली से लेकर कोई बीमारी या दवा कुछ भी हो सकता है। आइए जानते हैं हायपरटेंशन का कारण (Cause of Hypertension) क्या-क्या हो सकता है?

हायपरटेंशन का कारण (Cause of Hypertension) बन सकती हैं अन्य बीमारियां

किडनी की बीमारी हो सकती है हायपरटेंशन का कारण

किडनी की बीमारी के कारण ब्लड प्रेशर बढ़ना या ब्लड प्रेशर के कारण किडनी की बीमारी होना, दोनों ही एक-दूसरे के पूरक बन सकते हैं। ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने के लिए किडनी अहम भूमिका निभाती हैं। यदि किडनी खराब हो जाए तो वह ब्लड से अतिरिक्त तरल पदार्थ व वेस्टेज को फिल्टर कर पाने में असक्षम हो जाती है। इस कारण ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है।

डायबि​टीज बन सकती है हायपरटेंशन का कारण

टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 Diabetes) वाले 25 प्रतिशत लोगों को और टाइप 2 डायबिटीज वाले 80 प्रतिशत लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है। डायबिटीज और हायपरटेंशरन का कारण कहीं ना कहीं मोटापा, खराब लाइफस्टाइल आदि एक जैसा ही है। मधुमेह के कारण हृदय रोग (Heart disease), स्ट्रोक (Stroke), गुर्दे की बीमारी (Kidney disease) और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) होने से भी यह खतरा बढ़ जाता है। हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) और डायबिटीज (Diabetes) एक साथ होने पर स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं और अधि बढ़ सकती हैं।

और पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन के लक्षण क्या होते हैं?

स्लीप एप्निया (Sleep apnea) बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

स्लीप एप्निया के दौरान ब्लड में ऑक्सिजन का स्तर अचानक कम होने लगता है। इस कारण ब्लड प्रेशर का बढ़ना और कार्डियोवस्कुलर सिस्टम में तनाव (Tension) पैदा होता है। इसलिए कहा जा सकता है कि स्लीप एप्निया हायपरटेंशन का कारण हो सकता है।

थायरॉयड भी बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

जब थायरॉयड ग्लैंड पर्याप्त थायराॅइड हार्मोन (हाइपोथायरायडिज्म) नहीं बना पाता या अधिक थायराइड हार्मोन (हाइपरथायरायडिज्म) बनाता है तो यह हायपरटेंशन को बढ़ाने का कारण बन सकता है।

मोटापा बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

वजन बढ़ने के साथ ही शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ता है। यह आपकी धमनी की दीवारों पर दबाव डालता है, जिससे आपका रक्तचाप (Blood pressure) बढ़ जाता है। अतिरिक्त वजन अक्सर हार्ट रेट (Heart rate) को बढ़ाता है और रक्त वाहिकाओं के रक्त प्रवाह में बाधा डालता है। इसके साथ ही फैट के जमा होने के कारण उनमें से कुछ केमकल निकलते हैं, यह भी हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) को बढ़ाते हैं। यह सभी कारण अंतत उच्च रक्तचाप को बढ़ाने का कारण बनते हैं।

प्रेग्नेंसी बन सकती है हायपरटेंशन का कारण

प्रेग्नेंसी में हॉर्मोन में होने वाले बदलाव व बजन बढ़ने आदि जैसे अन्य बदलाव भी हाय ब्लड प्रेशर को बढ़ाने में मददगार होते हैं।

कोटेशन ऑफ द एओर्टा (Coarctation of the aorta) बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

यह विकार जन्म के साथ ही उत्पन्न हो सकता है। इसमें शरीर की महाधमनी यानी एओर्टा संकुचित हो जाती है। महाधमनी के संकुचित हो जाने के कारण हृदय को महाधमनी और शरीर के बाकी हिस्सों से रक्त प्राप्त करने में ज्यादा कठिनाई होती है। इस कारण हायपरटेंशन बढ़ता है।

और पढ़ें : हाइपरटेंसिव क्राइसिस (Hypertensive Crisis) क्या है?

एल्डोस्ट्रीनिज्म (Aldosteronism) बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

एल्डोस्ट्रीनिज्म में एड्रि​निल ग्लैंड से एल्डोस्टेरोन हॉर्मोन बहुत अधिक मात्रा में निकलता है। इसके कारण किडनी पानी और नमक को शरीर में बनाए रखते हैं और पोटेशियम को बाहर निकालते हैं। यह ब्लड प्रेशर को हाई करने का कारण बनता है।

दवाएं बन सकती हैं हायपरटेंशन का कारण

गर्भनिरोधक दवाएं, पेन किलर, एंटिडिप्रेस्सेंट आदि ऐसी कई दवाएं हैं जो हाय ब्लड प्रेशर को बढ़ावा दे सकती हैं।

हायपरटेंशन का कारण यह अन्य कारक भी हो सकते हैं (Other cause of Hypertension)

जेनेटिक भी हो सकता है हायपरटेंशन का कारण

यदि आपके परिवार में हायपरटेंशन की समस्या है तो यह भी हायपरटेंशन का कारण (Cause of Hypertension) बन सकता है।

स्मोकिंग बन सकती है हायपरटेंशन का कारण

स्मोकिंग से हाई ब्लड प्रेशर को बढ़ावा मिलता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार स्मोकिंग (Smoking) के कारण आने वाले वक्त में मौत की संख्या में इजाफा होगा। स्मोकिंग छोड़ने के 12 घंटे के अंदर ही कार्बन मोनोऑक्साइड का स्तर शरीर में कम होने लगता है। इस कारण शरीर के सभी हिस्सों में रक्त का संचार बढ़ता है। यानी कह सकते हैं कि स्मोकिंग को छोड़ते ही हाइपरटेंशन से बचाव संभव है।

और पढ़ें : क्या है फुफ्फुसीय हाइपरटेंशन?

एल्कोहॉल बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

यदि स्टडी की मानें तो कई दिनों तक लगातार शराब का सेवन करने से ब्लड प्रेशर में वृद्धि होती है। लगातार और लंबे समय तक भारी मात्रा में शराब पीने से क्रोनिक हायपरटेंशन की समस्या उत्पन्न हो सकती है। क्रोनिक हायपरटेंशन कोरोनरी आर्टरी की बीमारी का एक बहुत बड़ा कारण बन सकती है। एथेरोस्क्लेरोसिस जर्नल (Journal Atherosclerosis) के अनुसार वैज्ञानिकों ने पाया है कि लगातार शराब का सेवन करने से आर्टरी का संकुचित हो जाती है। इससे दिल का दौरा या स्ट्रोक आ सकता है। इसलिए अमेरीकन हार्ट एसोसिएशन ने सुझाव दिया है कि पुरुषों को प्रति दिन 2 से अधिक ड्रिंक्स नहीं पीने चाहिए और महिलाओं को प्रतिदिन 1 से अधिक ड्रिंक का सेवन नहीं करना चाहिए।

[mc4wp_form id=”183492″]

खराब खान-पान बन सकता है हायपरटेंशन का कारण

यदि खान-पान खराब हो तो हाय ब्लड प्रेशर ही नहीं अन्य कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं। इसलिए हेल्दी डायट फॉलो करना बहुत जरूरी है।

व्यायाम ना करना हो सकता है हायपरटेंशन का कारण

नियमित रूप से यदि आप एक्सरसाइज नहीं करते हैं तो शरीर में मोटापा बढ़ता है और शरीर का स्टेमिना कम होता है। शरीर के ऑर्गन भी शरीर के साथ आलसी होने लगते हैं। यदि आप नियमित रूप से एक्टिव रहते हैं तो शरीर के हिस्से भी एक्टिव बनते हैं। इसलिए दिन में हर रोज कम से कम आधे घंटे एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी है।

और पढ़ें: हाइपरटेंशन से बचाव के लिए जरूरी है लाइफस्टाइल में ये बदलाव

तनाव से बढ़ सकता है हाय ब्लड प्रेशर

तनाव हायपरटेंशन का कारण (Cause of Hypertension) बन सकता है। चूंकि तनाव के कारण आप ज्यादा खाकर मोटापा बढ़ा सकते हैं। तनाव के कारण इंसोम्निया की दिक्कत होती है यह भी उच्च रक्तचाप को बढ़ाता है। स्ट्रेस के कारण दिल कमजोर होता है। दिल के कमजोर होने पर रक्त प्रवाह में समस्या आती है और इस कारण हाय ब्लड प्रेशर की समस्या बढ़ती है।

उम्र बन सकती है हायपरटेंशन बढ़ाने का कारण

बढ़ती उम्र के साथ हायपरटेंशन की समस्या बढ़ सकती है। चूंकि उम्र के साथ फिजिकल एक्टिविटी कम हो जाती है और सांस लेने में समस्या और कई अन्य बीमारियों के कारण ब्लड सर्कुलेशन में समस्या होने लगती है।

हायपरटेंशन का कारण (Cause of Hypertension) जानने के बाद उसके बचाव को समझना ज्यादा मुश्किल नहीं है। जीवनशैली में परिवर्तन ही हाई ब्लड प्रेशर से बचाव का पहला कदम है।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड