home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स : हाय ब्लड प्रेशर को मैनेज करने में यह ड्रग्स हैं असरदार!

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स : हाय ब्लड प्रेशर को मैनेज करने में यह ड्रग्स हैं असरदार!

हायपरटेंशन (Hypertension) यानी हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) आर्टरी वॉल्स के अगेंस्ट ब्लड के प्रेशर को कहा जाता है। हाय ब्लड प्रेशर एक गंभीर समस्या है, जिसके बारे में अधिकांश रोगियों को पता भी नहीं होता। समय के साथ हाय ब्लड प्रेशर के कारण ब्लड वेसल्स डैमेज हो सकते हैं, जिससे कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं जैसे किडनी डिजीज (Kidney Disease), स्ट्रोक (Stroke), हार्ट फेलियर (Heart Failure) और कई अन्य परेशानियां। हायपरटेंशन की समस्या के उपचार के लिए कई दवाईयों का प्रयोग किया जाता है, जिनमें से एक हैं सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents)। आइए, जानते हैं सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) के बारे में विस्तार से।

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) क्या हैं?

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) हार्ट रेट को लो करने और ब्लड प्रेशर को कम करने का काम करती हैं। इसके लिए यह दवाईयां रोगी के मस्तिष्क से नर्वस सिस्टम तक उस सिग्नल को ब्लॉक करती हैं। जिसके कारण हार्ट तेजी से बीट करता है और वेन्स और आर्टरीज तंग हो जाती हैं। इसका परिणाम यह होता है कि सिग्नल के ब्लॉक होने पर हार्ट को काम करने में अधिक समस्या नहीं होती है और ब्लड वेसल्स के माध्यम से ब्लड आसानी से फ्लो हो सकता है। जिससे हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) को लो होने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं कि सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) का इस्तेमाल कब किया जाता है?

और पढ़ें : बीटा ब्लॉकर्स: हायपरटेंशन से लेकर हार्ट अटैक तक दिल से जुड़ी बीमारियों के इलाज में हैं उपयोगी

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स का प्रयोग किन स्थितियों में किया जा सकता है? (Use of Central-Acting Agents)

यह तो आप जान ही गए होंगे कि सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) का प्रयोग हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) को लो करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही इसका प्रयोग इन समस्याओं के लक्षणों को कम करने के लिए भी किया जा सकता है, जैसे:

  • अटेंशन-डेफिसिट हायपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (Attention-Deficit Hyperactivity Disorder)
  • ड्रग विदड्रावल जैसे ओपिओयड पेन मेडिकेशन्स (Drug Withdrawal)
  • मेनोपॉज़ में हॉट फ्लेशेज (Hot Flashes in Menopause)
  • टॉरेट सिंड्रोम (Tourette Syndrome)

इसके अलावा अन्य स्थितियों में भी डॉक्टर इन दवाईयों को लेने की सलाह दे सकते हैं। इन ड्रग्स को कभी भी डॉक्टर की सलाह के बिना नहीं लेना चाहिए। इस ड्रग्स के उदाहरण क्या हैं, जानिए।

और पढ़ें : हायपरटेंशन बन सकता है कंजेस्टिव हार्ट फेलियर की वजह, आज से ही शुरू कर दें इस पर नजर रखना

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) कौन से हैं?

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स को सेंट्रल एड्रेनेरजिक इन्हिबिटर्स (Central Adrenergic Inhibitors), सेंट्रल अल्फा एगोनिस्ट (Central Alpha Agonists) और सेंट्रल एगोनिस्ट (Central Agonists) भी कहा जाता है। कई सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स बाजार में उपलब्ध हैं। रोगी के लिए कौन सी ड्रग बेहतरीन रहेगी, यह बात रोगी के स्वास्थ्य और जिस कंडिशन के लिए इसका प्रयोग किया जा रहा है, उस पर निर्भर करती है। सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) का उदाहरण इस प्रकार हैं:

क्लोनिडीन (Clonidine)

क्लोनिडीन (Clonidine) के ब्रांड नेम्स हैं कैटाप्रेस (Catapres) और केपवे (Kapvay)। सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) में से इस दवाई को अकेले या अन्य दवाईयों के साथ कंबाइन करके हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) के उपचार के लिए प्रयोग किया जाता है। इसके साथ ही केपवे (Kapvay) ब्रांड का इस्तेमाल अटेंशन डेफिसिट हायपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (Attention Deficit Hyperactivity Disorder) के उपचार के लिए भी किया जा सकता है। यह दवा हार्ट रेट को कम करने और ब्लड वेसल को रिलेक्स करने का काम करती है, जिससे ब्लड फ्लो में आसानी होती है और ब्लड प्रेशर सही रहने में मदद मिलती है। क्लोनिडीन (Clonidine) दिमाग के उस भाग को प्रभावित करती हैं जो अटैंशन और इम्पल्सिविटी को कंट्रोल करता है। जिससे अटेंशन डेफिसिट हायपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (Attention Deficit Hyperactivity Disorder) के ट्रीटमेंट में मदद मिलती है।

मेडलायनप्लस (MedlinePlus) के अनुसार क्लोनिडीन (Clonidine) की सलाह कई अन्य स्थितियों में भी दी जा सकती है। जैसे डिस्मेनोरिया (Dysmenorrhea), हायपरटेन्सिव क्रायसिस (Hypertensive crisis ), टॉरेंट सिंड्रोम (Tourette syndrome) आदि। यही नहीं, इस ड्रग का प्रयोग स्मोकिंग सेसेशन थेरिपी (Smoking Cessation Therapy) में सहायता के रूप में और फियोक्रोमोसाइटोमा (Pheochromocytoma) के निदान के लिए भी किया जाता है। इसके अलावा भी इस ड्रग के कई लाभ हो सकते हैं।

इस दवाई को लेने से पहले डॉक्टर से इसके फायदों और नुकसान के बारे में जान लें। इस दवाई की सलाह कई स्थितियों में नहीं दी जाती हैं जैसे गर्भावस्था, ब्रेस्टफीडिंग, किसी सर्जरी के बाद, बुजुर्गों को आदि। इस दवा को लेने के बाद कई साइड-इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे चक्कर आना, बेहोशी आदि। ऐसे में इस ड्रग के सेवन के बाद कोई ऐसा काम न करें, जिसमें ध्यान लगाने की जरूरत हो जैसे ड्राइविंग। क्लोनिडीन (Clonidine) की 0.15 mg स्ट्रेंथ की दस टेबल्स ऑनलाइन लगभग 1000 रुपये में उपलब्ध हैं।

और पढ़ें : ये लक्षण आपमें हो सकते हैं मैलिग्नेंट हायपरटेंशन के, संकट से बचने के लिए इसे न करें अनदेखा…

गुआनफैसीन (Guanfacine)

गुआनफैसीन को इंटुनिव (Intuniv) और टेनेक्स (Tenex) जैसे ब्रांड नेम्स से भी जाना जाता है। यह दवा हार्ट और ब्लड वेसल्स की नर्व इम्पलसिस को कम करती है। गुआनफैसीन ब्लड वेसल्स को रिलेक्स करने का काम भी करती है जिससे ब्लड प्रेशर लो रहता है और ब्लड फ्लो सुधरता है। इसके टेनेक्स (Tenex) ब्रांड का इस्तेमाल हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) के उपचार के लिए किया जा सकता है। टेनेक्स (Tenex) को रोगी को अन्य दवाईयों के साथ कंबाइन करके दिया जा सकता है। इसके इंटुनिव (Intuniv) ब्रांड का उपयोग अटेंशन डेफिसिट हायपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (Attention Deficit Hyperactivity Disorder) के ट्रीटमेंट के लिए किया जा सकता है।

इस दवा को केवल तभी लेना चाहिए अगर आपके डॉक्टर ने इसे लेने की सलाह दी हो। यही नहीं, इसे कितनी मात्रा में लेना है, यह जानकारी भी डॉक्टर से लेना जरूरी है। इसकी डोज रोगी की मेडिकल कंडिशन, वजन, अन्य दवाईयां जो रोगी ले रहा है आदि पर निर्भर करती है। इस दवाई को लेने से रोगी कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकता है जैसे ब्लड प्रेशर, स्लो हार्ट रेट आदि। ऐसा जरूरी नहीं है कि हर रोगी को इन दुष्प्रभावों का अनुभव हो। लेकिन, अगर इस दवा के सेवन के बाद रोगी को कोई भी साइड इफेक्ट नजर आए तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। अपनी मर्जी से इस दवाई को लेना बंद भी नहीं करना चाहिए, नहीं तो रोगी की कंडिशन बदतर हो सकती है।

और पढ़ें : Alpha-beta blockers: जानिए हायपरटेंशन में अल्फा-बीटा ब्लॉकर्स के फायदे और नुकसान

मिथैलडोपा (Methyldopa)

मिथैलडोपा (Methyldopa) का ब्रांड नेम है एल्डोमेट (Aldomet)। यह ड्रग खून में कुछ खास केमिकल्स के लेवल को कम कर के ब्लड प्रेशर को लो करने में मदद कर सकती है। इससे ब्लड वेसल्स (Blood Vessels) को रिलेक्स करने में मदद मिलती है। इस दवाई का प्रयोग हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) यानि हायपरटेंशन (Hypertension) के उपचार के लिए किया जाता है। अगर आपको लिवर संबंधी कोई समस्या है तो आपको मिथैलडोपा (Methyldopa) को नहीं लेना। चाहिए, क्योंकि यह दवा इस स्थिति को बदतर बना सकती है। इस ड्रग का सेवन तभी करें अगर डॉक्टर ने इसकी सलाह दी हो। यही नहीं, इसकी कितनी डोज लेनी चाहिए आपको इसके बारे में भी पता होना चाहिए। अपनी मर्जी से इस दवाई को लेना शुरू या बंद करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है और इससे रोगी की स्थिति बिगड़ सकती है।

अगर आप कोई और दवा ले रहे हैं, आपको कोई हेल्दी प्रॉब्लम है या आप एलर्जिक हैं, तो इसके बारे में डॉक्टर को पहले ही बता दें। गर्भावस्था या ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को भी इसे लेने से बचना चाहिए। इस दवाई को लेने के बाद कुछ लोग चक्कर आना, कमजोरी या सिरदर्द आदि का अनुभव भी कर सकते हैं। अगर यह साइड इफेक्ट्स गंभीर हो या ठीक न हो रहे हों तो डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।मिथैलडोपा (Methyldopa) की 250mg स्ट्रेंथ की एक टेबलेट आपको ऑनलाइन लगभग 20 -30 रुपये में मिल जाएगी।

यह तो थी सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) के बारे में जानकारी। लेकिन, इनमें किसी भी दवाई को बिना डॉक्टर से पूछें न लें, क्योंकि ऐसा करना रोगी की कंडिशन को बदतर बना सकता है। इसके अलावा, इनके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। आइए जानते हैं क्या हैं इनके दुष्प्रभाव?

सेंट्रल -एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents)

और पढ़ें : पोर्टल हायपरटेंशन : कहीं इस हाय ब्लड प्रेशर का कारण लिवर की समस्याएं तो नहीं?

सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Central-Acting Agents)

इन ड्रग्स के कारण कई लोग बहुत गंभीर साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। हालांकि, ऐसा जरूरी नहीं है कि इस दवाई का सेवन करने वाले हर व्यक्ति को यह दुष्प्रभाव हों। अगर अन्य दवाईयां ब्लड प्रेशर को लो करने में प्रभावी न हो तो सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स को अन्य ड्रग्स के साथ कंबाइन कर के दिया जा सकता है। सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) के कारण होने वाले साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं

  • असामान्य तरीके से हार्ट रेट का कम होना (Abnormally Slow Heart Rate)
  • कब्ज (Constipation)
  • चक्कर आना (Dizziness)
  • बेहोशी (Drowsiness)
  • मुंह का सुखना (Dry mouth)
  • थकावट (Fatigue)
  • बुखार (Fever)
  • सिरदर्द (Headache)
  • नपुंसकता (Impotence)

यही नहीं, सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) को सही मात्रा में लेना भी जरूरी है। अगर आप इस ड्रग को एकदम लेना बंद कर देते हैं तो इसके कारण आप ब्लड प्रेशर में बढ़ोतरी महसूस कर सकते हैं। इसलिए कभी भी इस दवाई को न तो डॉक्टर की सलाह के बिना लेना शुरू करें और न ही बंद करें। यही नहीं, अगर आप कोई और दवाई ले रहे हैं, एलर्जिक हैं, गर्भवती या स्तनपान करा रही हैं या किसी गंभीर समस्या से पीड़ित हैं, तो पहले ही डॉक्टर को इनके बारे में बताना अनिवार्य है।

कितना जानते हैं अपने दिल के बारे में? क्विज खेलें और जानें

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

और पढ़ें : Hypertension : हायपरटेंशन क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

उम्मीद है कि आप सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) के बारे में जान गए होंगे। सेंट्रल-एक्टिंग एजेंट्स (Central-Acting Agents) को हायपरटेंशन के उपचार के लिए प्रभावी माना गया है। इन्हें अन्य दवाईयों के साथ कंबाइन कर के रोगी को दिया जा सकता है। लेकिन ध्यान रखें कि यह दवाईयां आपके इलाज का केवल एक भाग हैं। इसके साथ ही नियमित चेकअप और हेल्दी हैबिट्स को अपनाना भी बेहद जरूरी है। इसलिए हार्ट हेल्थी आहार का सेवन करें (Heart Healthy Food), व्यायाम करें (Regular Exercise), अगर आपका वजन अधिक है तो वजन कम करें (Reduce Weight), पर्याप्त नींद लें (Enough Sleep), आराम करें (Take Rest) एल्कोहॉल से बचें (Avoid Alcohol) और धूम्रपान (Don’t Smoke) से दूर रहें।ऐसा करने से आपको स्वस्थ और एक्टिव रहने में मदद मिलेगी। हैलो स्वास्थ्य किसी भी ब्रांड का प्रचार नहीं कर रहा है। डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद ही इन ड्रग्स का सेवन करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/07/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x